Wednesday , July 18 2018
अन्य व्यापार

अमूल पार्लर की फ्रेंचाइजी कैसे हासिल करें | How To Get Amul Parlour Franchise In Hindi

अमूल पार्लर की फ्रेंचाइजी कैसे हासिल करें (How To Get Amul Parlour Franchise In Hindi)

अमूल कंपनी भारत की प्रसिद्ध और कामयाब कंपनियों में से एक है. इस कंपनी द्वारा कई तरह के खाने के उत्पाद बाजार में बेचे जाते हैं और अमूल कंपनी के प्रोडक्ट्स की मांग हमेशा ही बाजार में बनी रहती है. इसके अलावा अमूल कंपनी फ्रेंचाइजी के जरिए अपने उत्पादों को देश के हर कोने तक पहुंचाने में भी लगी हुई है. ताकि अमूल कंपनी अपने बनाए गए उत्पादों को ज्यादा लोगों तक पहुंचा सके.

अमूल पार्लर फ्रेंचाइजी | Amul Parlour Franchise

अमूल कंपनी की फ्रेंचाइजी (Amul Franchise)

अमूल कंपनी भी अन्य बड़ी कंपनियों के जैसे अपनी फ्रेंचाइजी देकर अपने व्यापार को और बढ़ाने में लगी हुई है. कोई भी व्यक्ति अमूल कंपनी की फ्रेंचाइजी ले सकता है. हालांकि अमूल ने अपनी कंपनी की फ्रेंचाइजी देने के लिए कुछ नियम बना रखें हैं, जिनके आधार पर ही ये कंपनी अपनी फ्रेंचाइजी दिया करती है.

क्या होती है फ्रेंचाइजी ( What Is Franchise)

फ्रेंचाइजी के अंतर्गत कोई भी कंपनी, किसी भी व्यक्ति को अपनी कंपनी का नाम इस्तेमाल करने की अनुमति दे देती है और बदले में उस व्यक्ति से पैसे लेती हैं. विश्व भर में ऐसी कई कंपनी हैं, जो कि अपनी कंपनी की फ्रेंचाइजी देने का कार्य करती हैं और ठीक इसी तरह अब अमूल कंपनी भी अपनी फ्रेंचाइजी देने का कार्य भारत में कर रही है.

अमूल  कंपनी की जानकारी (Amul Company)

अमूल कंपनी की शुरुआत गुजरात राज्य में हुई थी और इस कंपनी को साल 1946 में त्रिभुवंदास पटेल द्वारा स्थापित किया गया था. ये कंपनी भारत में हुई सफेद क्रांति से जुड़ी हुई है.

इस कंपनी ने कम समय के अंदर ही भारत में डेयरी के व्यापार में प्रथम स्थान हासिल कर लिया था और आज ये कंपनी भारत में कई तरह के डेयरी और फ़ास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स को बेचती है.

अमूल कंपनी द्वारा बेचे जाने वाले उत्पाद (Amul Products)

अमूल द्वारा कई तरह के प्रोडक्ट बाजार में बेचे जा रहे हैं और इन उत्पादों का लोगों द्वारा काफी अधिक इस्तेमाल भी किया जाता है. इस कंपनी द्वारा बेचे जाने वाले कुछ प्रोडक्ट के नाम इस प्रकार हैं.

  • अमूल दूध,
  • ब्रेड स्प्रेड,
  • चीज़,
  • बेवरेजेज
  • आइसक्रीम,
  • पनीर,
  • दही,
  • घी,
  • मिल्क पाउडर,
  • चॉकलेट्स
  • पाउच मिल्क ,
  • फ्रेश क्रीम और इत्यादि.

क्यों लें अमूल कंपनी की फ्रेंचाइजी (Why You Should Buy Amul Franchise)

  • बाजार में और भी कंपनी हैं, जिनकी आप फ्रेंचाइजी ले सकते हैं. लेकिन अमूल कंपनी का दावा है कि अगर आप अमूल कंपनी की फ्रेंचाइजी लेते हैं, तो आपको कम समय में ज्यादा मुनाफा होगा.
  • इस कंपनी के मुताबिक आप हर महीने इस कंपनी के उत्पादों को बेच कर 5 लाख रुपए से लेकर 10 लाख रुपए की बिक्री कर सकते हैं. हालांकि इस कंपनी ने ये भी साफ किया है कि आपकी ये सेल इस बात पर निर्भर करेगी कि आप किस स्थान पर कंपनी की फ्रेंचाइजी खोलते हैं.
  • अमूल कंपनी के अनुसार उनकी कंपनी की फ्रेंचाइजी लेने वाले किसी भी व्यक्ति को किसी भी रॉयल्टी का भुगतान या अमूल के साथ कोई राजस्व साझा नहीं करना होगा. इसलिए अमूल कंपनी की फ्रेंचाइजी लेने पर आपको अधिक लाभ हो सकता है.

अमूल द्वारा दी जाने वाली फ्रेंचाइजी के प्रकार (Type of Amul Franchise Information)

अमूल कंपनी दो तरह की फ्रेंचाइजी देने का काम करती है और आप इन दोनों तरह की फ्रेंचाइजी में से कोई सी भी फ्रेंचाइजी ले सकते हैं. इन फ्रेंचाइजी के नाम नीचे बताए गए हैं.

  1. अमूल प्रिफेयरड आउटलेट या अमूल रेलवे पार्लर या अमूल क्‍योस्‍क और
  2. अमूल आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर

अमूल प्रिफेयरड आउटलेट या अमूल रेलवे पार्लर या अमूल क्‍योस्‍क (Amul Preferred Outlet or Amul Railway Parlor or Amul Kiosk-)

इस प्रकार की अमूल की फ्रेंचाइजी देने के लिए अमूल कंपनी द्वारा कुछ नियम बनाए गए हैं. ये नियम जगह और एरिया यानी क्षेत्र से जुड़े हुए हैं और इन नियमों के बारे में नीचे बताया गया है.

स्थान का चयन (Franchise Site Selection)

  • अमूल कंपनी के अनुसार अगर किसी व्यक्ति को अमूल प्रिफेयरड आउटलेट / अमूल रेलवे पार्लर / अमूल क्‍योस्‍क प्रकार की फ्रेंचाइजी लेनी है. तो उस व्यक्ति को एक ऐसे स्थान से इस फ्रेंचाइजी को शुरू करना होगा, जहां पर अच्छी मात्रा में लोगों का आना जाना हो.
  • अमूल कंपनी के नियमों के मुताबिक किसी रेलवे स्टेशन, बाजार, स्कूल प्रमुख शैक्षणिक संस्थान, अस्पतालों के आस पास ही इस तरह की फ्रेंचाइजी को खोला जा सकता है. इसलिए अगर कोई व्यक्ति अमूल की इस प्रकार की फ्रेंचाइजी को लेना चाहता है, तो उस व्यक्ति को ऊपर बताई गई जगह के आस पास ही किसी दुकान को किराए पर लेना होगा.

कितनी बड़ी होनी चाहिए दुकान (Area)

  • अमूल आउटलेट को शुरू करने के लिए कम से कम 100 से लेकर 150 स्क्वायर फीट बड़ी दुकान की जरुरत पड़ेगी. इसलिए दुकान को किराए पर लेते समय आप ये सुनिश्चित कर लें, कि उस दुकान का एरिया अमूल द्वारा निर्धारित किए गए एरिया के जितना ही हो.

अमूल प्रिफेयरड आउटलेट या अमूल रेलवे पार्लर या अमूल क्‍योस्‍क को खोलने में निवेश (Investment)

  • अगर आपके पास फ्रेंचाइजी लेने के लिए ज्यादा राशि नहीं हैं, तो अमूल कंपनी की ओर से दी जाने वाली इस फ्रेंचाइजी को लेना एक अच्छा विकल्प है. क्योंकि अमूल कंपनी द्वारा दी जाने वाली इस प्रकार की फ्रेंचाइजी पर केवल दो लाख रुपए के निवेश का ही खर्चा आता है.
  • दो लाख रुपए में से 25 हजार रुपए गैर वापसीयोग्य ब्रांड सुरक्षा के तौर पर आप से अमूल कंपनी द्वारा लिए जाते हैं. जिसके बाद दुकान के रेनोवेशन करवाने और उपकरण को खरीदने पर आपका एक लाख रुपए और 75 हजार रुपए तक का खर्चा आएगा. इस तरह से ये फ्रेंचाइजी लेने पर कुल खर्चा दो लाख रुपए के आस पास का होगा.

एवरेज रिटर्न्स ऑन एमआरपी यानी कमीशन  (Average Returns on MRP)

अमूल द्वारा अमूल आउटलेट/पार्लर/क्‍योस्‍क के जरिए बेचे जाने वाले अमूल उत्पादों पर अगल-अगल तरह का एवरेज रिटर्न्स ऑन एमआरपी निर्धारित किया गया है. अगर आप पाउच मिल्क  बेचते हैं, तो आपको एमआरपी पर एवरेज रिटर्न्स 2.5% मिलेगा. मिल्क प्रोडक्ट्स बेचने पर आपको एमआरपी पर एवरेज रिटर्न्स 10%, दिया जाएगा. इसके अलावा अमूल कंपनी की आइसक्रीम बेचने पर आपको एमआरपी पर एवरेज रिटर्न्स  20% दिया जाएगा.

संख्या उत्पाद का नाम एवरेज  रिटर्न्स ऑन   एमआरपी 
1 मिल्क प्रोडक्ट्स 10%
2 आइसक्रीम 20%
3 पाउच मिल्क   2.5%

अमूल आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर (Amul Ice Cream Scooping Parlour)

अमूल कंपनी द्वारा जो दूसरी प्रकार की फ्रेंचाइजी दी जाती है वो अमूल आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर है और इस पार्लर को खोल कर आप इस कंपनी द्वारा बनाई गई आइसक्रीमों को ग्राहकों को बेच सकते हैं.

क्या होता है आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर (What Is Ice Cream Scooping Parlour)

आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर भी एक तरह की दुकान होती है जहां पर कई तरह की आइसक्रीम को बेचा जाता है. इस तरह के पार्लर में जाकर कोई भी व्यक्ति अपनी पसंद की आइसक्रीम को कप या फिर कोन के अंदर ले सकता है और चाहें तो उसी दुकान में बैठकर अपनी आइसक्रीम को खा भी सकता है. आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर में शेक्स,  पिज़्ज़ाज़, सैंडविचेज़ , बर्गर, हॉट चॉकलेट ड्रिंक, कॉफी जैसी चीजे भी बेची जाती हैं.

आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर  के लिए स्थान का चयन (Location)

आप केवल उसी दुकान का चयन आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर को खोलने के लिए करें, जो कि किसी स्कूल, मार्केट और एजुकेशनल इंस्टीट्यूट, जैसी जगहों पर बनी हो. क्योंकि अमूल की कंपनी केवल इन्हीं जगहों पर (भीड़ भाड़ वाली) अपनी कंपनी की फ्रेंचाइजी खोलने की अनुमति देती है.

कितनी बड़ी होनी चाहिए दुकान (Area)

अमूल कंपनी द्वारा आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर की फ्रेंचाइजी को देने के लिए बनाए गए नियमों के मुताबिक, आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर खोलने के लिए आपके पास कम से कम 300 स्क्वायर फीट पर बनी हुई, एक दुकान होनी चाहिए ( ये दुकान किराए की भी हो सकती है या फिर आपकी खुद की भी). इसके अलावा आप चाहें तो किसी भी ऑपन स्पेस पर भी अपना ये पार्लर शुरू कर सकते हैं.

कितना आएगा खर्चा (Estimated Cost Of Opening An Amul Ice Cream Parlour)

  • आइसक्रीम पार्लर खोलने के लिए आपके पास कम से कम 6 लाख रुपए होने चाहिए. इन छह लाख रुपए में से अमूल कंपनी 50 हजार रुपए नॉन रिफंडेबल ब्रांड सिक्योरिटी के तौर पर आप से लेगी.
  • दुकान की रेनोवेशन पर आपका करीब 4 लाख रुपए तक का खर्चा आएगा. उपकरण (जैसे फ्रिज, मिक्सी, और एटी ) पर एक लाख पचास हजार रुपए तक का खर्चा आएगा और इस प्रकार स्‍कूपिंग पार्लर खोलने के लिए आपको छह लाख का निवेश करना होगा.

एवरेज रिटर्न्स ऑन एमआरपी  (Average Returns on MRP)

अमूल की ओर से आइसक्रीम स्‍कूपिंग पार्लर खोलने पर आपको केवल अमूल के उत्पादों को ही बेचना होगा और अमूल कंपनी अपने अलग- अलग तरह के उत्पादों को बेचने पर आपको कुछ प्रतिशत का मुनाफा देगी.

  • प्री पैक्ड आइसक्रीम बेचने पर आपको 20 % एवरेज रिटर्न्स ऑन एमआरपी पर मिलेगा. अमूल कंपनी की आइसक्रीम बेचने के अलावा अगर आप इस कंपनी द्वारा बनाए गए अन्य उत्पादों को इस पार्लर में बेचते हैं. तो आपको उन उत्पादों पर एवरेज रिटर्न्स ऑन एमआरपी 10% दिया जाएगा.
  • अगर आप शेक्स, पिज़्ज़ाज़, सैंडविचेज़, बर्गर, हॉट चॉकलेट ड्रिंक,कॉफी जैसे सामान अमूल पार्लर खोलकर बेचते हैं. तो आपको इन समानों की बिक्री पर 50% मुनाफा मिलेगा. इसलिए आप कोशिश करें की आप बर्गर, कॉफी और हर तरह के शेक्स अपने पार्लर के जरिए जितना ज्यादा हो सकें उतना बेचें. क्योंकि ऐसा करने से आपका मुनाफा ही बढ़ेगा.
संख्या उत्पाद का नाम एवरेज  रिटर्न्स ऑन   एमआरपी 
1 प्री पैक्ड आइसक्रीम 20%
2 कंपनी के अन्य उत्पादों पर 10%
3 शेक्सपिज़्ज़ाज़, सैंडविचेज़, बर्गर, हॉट चॉकलेट ड्रिंक,कॉफी और इत्यादि 50%

अमूल की ओर से की जाएगी मदद-

अगर आप ऊपर बताई गई दोनों प्रकार की अमूल की फ्रेंचाइजी में से किसी भी प्रकार की फ्रेंचाइजी को चुनते हैं. तो आपको अमूल कंपनी की ओर से उस फ्रेंचाइजी को स्थापित करने के लिए हर तरह की मदद की जाएगी, जैसे कि स्टोर उद्घाटन में कंपनी आपकी मदद कर सकती है या फिर उपकरण खरीदने में भी अमूल कंपनी आपकी सहायता कर सकती है. ताकि आपको फ्रेंचाइजी खोलने में किसी प्रकार की परेशानी ना हो.

अमूल फ्रेंचाइजी लेने से जुड़ी अन्य बातें-      

कंपनी के हिसाब से करवानी होगी रेनोवेशन (Renovation) –

अमूल की फ्रेंचाइजी खोलने के लिए आप जिस दुकान का चयन करते हैं. आपको उस दुकान का रेनोवेशन अमूल कंपनी द्वारा बताए गए तरीके और डिजाइन के हिसाब से करवाना होगा.

कितने समय के लिए होगा ब्रांड डिपॉजिट (Brand Deposit)

अमूल कंपनी को आप जो पैसे ब्रांड डिपॉजिट के तौर पर देंगे उन पैसों को कंपनी एक साल के लिए अपने पास डिपॉजिट कर के रखेगी. अगर आप इस फ्रेंचाइजी को बीच में ही बंद कर देते हैं तो आपको ये पैसे एक साल के बाद ही मिलेंगे.

थोक डीलर से मिलेंगे अमूल के उत्पाद

आपको अमूल कंपनी की फ्रेंचाइजी लेने के बाद किसी भी जगह जाकर इस कंपनी के उत्पादों को खरीदने की जरुरत नहीं है. क्योंकि अमूल कंपनी के थोक डीलर आपकी शॉप पर ही आकर आपको अमूल कंपनी के प्रोडक्ट्स दें दिया करेंगे और ऐसा करने से आपका काफी समय भी बचेगा.

लोगों का चयन (Recruitment)

अमूल की फ्रेंचाइजी खोलने के समय आपको कुछ लोगों को भी नौकरी पर रखना होगा और इन लोगों की आय का खर्चा आपको अपने मुनाफे में से ही देना होगा. इसलिए केवल उतने ही आदमियों को आप नौकरी पर रखें जिनको आप महीने के अंत में आसानी से तनख्वाह दे सकते हैं.

अपनी फ्रेंचाइजी का प्रमोशन (Promotion)

  • अमूल कंपनी पहले से ही एक जानी मानी कंपनी हैं. इसलिए आपको इस कंपनी की फ्रेंचाइजी लेने के बाद, अपनी अमूल की दुकान यानी फ्रेंचाइजी के लिए किसी भी प्रकार का प्रमोशन नहीं करना होगा.
  • लेकिन जब आप अपने पार्लर को किसी एरिया में खोलते हैं, तब आपको इसकी जानकारी उस एरिया के लोगों को देने की जरुरत पड़ सकती है, जिसमें थोड़ा सा खर्चा आता है. हालांकि अमूल कंपनी के नियमों के अनुसार, अमूल कंपनी इस प्रकार के लोकल प्रोमशन में भी आपकी मदद करेगी.

फ्रेंचाइजी खोलने का बजट और लोन (Loan)

  • अमूल की फ्रेंचाइजी खोलने में आपका कितना खर्चा आएगा. इसके बारे में आपको ऊपर अच्छे से जानकारी दे दी गई है. जिसकी मदद से आप इस बात का सही अनुमान लगा सकते हैं कि अमूल फ्रेंचाइजी खोलने में आपको कितना राशि की जरुरत पड़ेगी.
  • अगर आपके पास अमूल की फ्रेंचाइजी खोलने के लिए पैसों की कमी आ रही है तो आप किसी भी बैंक से लोन ले सकते हैं. बस लोन हासिल करने के लिए आपको कुछ सबूत और किसी भी तरह के जमीन के कागजात बैंक में जमा करवाने पड़ेंगे.

कैसे करें अमूल फ्रेंचाइजी लेने के लिए आवेदन (How To Apply For Amul Franchise in hindi)

  • अमूल की फ्रेंचाइजी लेने के लिए आपको सबसे पहले इस कंपनी की ऑफिशियल वेबसाइट http://www.amul.com/ पर जाना होगा. आपको अमूल की इस साइट पर सबसे नीचे राइट साइड पर अमूल पार्लर लिखा हुआ दिखेगा और आपको अमूल पार्लर पर क्लिक करना होगा.
  • अमूल पार्लर पर क्लिक करते ही एक नया पेज खुल जाएगा और उस पेज पर आपको अमूल के पार्लर खोलने से जुड़ी हर तरह की जानकारी पढ़ने को मिल जाएगी.
  • अमूल पार्लर पेज पर ही आपको तीसरे नंबर पर ‘ऑनलाइन फॉर्म फॉर अमूल पार्लर’ लिखा हुआ दिखेगा और आपको उस पर क्लिक करना होगा.
  • ऑनलाइन फॉर्म फॉर अमूल पार्लर पर क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुल जाएगा और उस पेज में आपसे कुछ जानकारी भरने को कहा जाएगा.
  • जानकारी भरने के बाद आपको उसी पेज में सबसे नीचे सबमिट लिखा हुआ दिखेगा और आप उस पर क्लिक करे दें. क्लिक करने के साथ ही आपका अमूल पार्लर खोलने से जुड़ा ये फॉर्म सबमिट हो जाएगा.
  • फॉर्म सबमिट होने के कुछ महीनों बाद आपको अमूल कंपनी की और से फोन आ जाएगा. फोन में आपको आगे की प्रक्रिया के बारे में बताया जाएगा और आगे की प्रक्रिया को सही से करने के बाद आपको अमूल कंपनी की फ्रेंचाइजी प्राप्त हो जाएगी.

अमूल कंपनी भारत की सबसे पुरानी कंपनियों में से एक है, जिसे विश्व स्तर पर भी जाना जाता है और ऐसे में अमूल कंपनी के साथ जुड़ने में आपको केवल फायदा ही होगा. इस कंपनी के साथ काम करने से आपको डेयरी के व्यापार से जुड़ी कई जानकारी मिल सकेगी, जो कि आपके आगे के भविष्य के लिए लाभ दायक होगा.

अन्य व्यापर के बारे में पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *