Sunday , November 18 2018

चादर बेचने का व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Bed sheet Retail Business in hindi

चादर बनाने और चादर बेचने का व्यापार कैसे शुरू करें (How To Start Bedding or bed sheet making and Retail Business In Hindi)

चादर एक ऐसी चीज है जिसका इस्तेमाल हर घर में किया जाता है और इनकी मांग भी काफी रहती है. इसलिए चादरों के व्यापार को करने में काफी फायदा हैं और इस व्यापार को आसानी से किसी भी जगह से किया जा सकता है. हालांकि चादर के व्यापार को करने से पहले आपको चादरों से जुड़ी जानकारी होना आवश्यक है.

Bedsheet Business | चादरों का व्यापार

किस तरह से करें इस व्यापार को शुरू (Way To Start bedsheet Business)

चादर बनाने का व्यापार आप तीन तरह से कर सकते हैं और इन तीनों विकल्पों में से आपको जो विकल्प सही लगे आप उसको चुनकर इस व्यापार को शुरू कर दें.

  1. प्रथम विकल्प के तहत, आप चाहें तो खुद से चादर बनाकर उन्हें अपनी दुकान खोलकर बेच सकते हैं और मुनाफा कमा सकतें है.
  2. दूसरे विकल्प के तहत किसी चादर बनाने वाले व्यापारी से आप इन्हें खरीद कर इनको अपनी दुकान के जरिए बेच सकते है .
  3. आखिरी विकल्प में आप चादर बेचने वाली प्रसिद्ध कंपनी की फ्रेंचाइजी लेकर भी इनको बेचने का कार्य कर सकते हैं.

खुद से चादर बनाकर बेचने का व्यापार(How to make bed sheets)-

अगर आप अपनी कंपनी स्थापित करके इन्हें बनाकर बेचना चाहते हैं, तो ऐसा करने के लिए आपको इस व्यापार से जुड़ी हर जानकारी होनी चाहिए, जैसे कि किस तरह से इनको बनाया जाता है, किन किन कपड़ों से ये बन सकती है, इनमें किस तरह से प्रिंट किया जाता है और इत्यादि.

कितने आकार की होती हैं चादर (Type of bed sheet)

चादर का व्यापार काफी बड़ा है और बाजार में कई तरह की चादर बेची जाती हैं. इसलिए आपको भी सभी प्रकार की चादर बनानी होगी. जैसे की सिंगल, डबल, सेमी डबल, किंग लॉन्ग, क्वीन साइज और वाइड डबल साइज की चादरें. इसके अलावा छोटे बच्चों के लिए अलग तरह की चादरे भी बनाई जाती हैं.

किन कपड़ों से बनती हैं चादर (Bedding Materials) –

चादर को कई प्रकार के कपड़ों से बनाया जाता है, इसलिए आपको भी ये तय करना होगा, कि आप किस कपड़े से चादर को बनाना चाहते हैं. बाजार में बिकने वाली अधिकतर चादरें कॉटन,  साटन , रेशम , पॉलिएस्टर , सिंथेटिक और कॉटन के मिश्रण से बनाई जाती हैं. इसके अलावा कुछ व्यापारियों द्वारा सूक्ष्मफाइबर और ऊन से भी इन्हें बनाया जाता है.

चादर के सेट (Bedding Set)

चादर कई प्रकार के सेट के रूप में भी आती है जैसे कि कुछ चादर बिना तकिये के कवर के साथ बेची जाती है, तो कुछ चादरों में तकिये के कवर साथ में दिये जाते हैं. इसी प्रकार कुछ चादरों के साथ रजाई का कवर, कंफ़र्टर, रजाई, कंबल और इत्यादि चीजे दी जाती है. इसलिए आप चादरों का अलग अलग सेट बनाकर भी इन्हें बेच सकते हैं.

संसाधन (Resource Required)

इस व्यापार को करने के लिए कई प्रकार के संसाधन की जरूरत पड़ती है और इन संसाधनों के बारे में आपको अच्छे से पता होना चाहिए, जैसे –

  • अच्छे स्रोत का मिलना जहां से आप कम कीमत पर अच्छी क्वालिटी वाले, चादर बनाने वाले कपड़े को खरीद सकें और साथ में ही आपको अच्छी गुणवत्ता वाली चादर के कपड़े की पहचान होना आवश्यक है.
  • चादर को किस प्रकार से पैक किया जाता है, इस बात का ज्ञान होना और इसकी पैंकिंग करने के लिए अच्छे सामान का चयन करना. चादर पर प्रिंट और अच्छा कार्य करने वाले कारीगरों को ढूंढना.

चादर बनाने के लिए आवश्यक सामग्री और कहां से खरीदें (Place to buy Bedding Material)

  • चादर का व्यापार शुरू करने के लिए आपको कई प्रकार की सामग्री की जरूरत पड़ेगी जैसे कि चादर बनाने का कपड़ा, इनपर प्रिंट करने के लिए तरह तरह के रंग, कई प्रकार के धागे, और इत्यादि चीजे.
  • वहीं अगर आप खुद से कपड़ा तैयार करके उसकी चादर बनाकर बेचना चाहते हैं तो ऐसा करने के लिए आपको कपास को खरीदना होगा.

चादर बनाने के लिए मशीन (Machine) –

चादर बनाने के लिए आपको कई तरह की मशीनों को भी खरीदना होगा और इसे बनाने के लिए आपको निम्नलिखित मशीनों की जरूरत पड़ेगी.

संख्यामशीन का नामकहां से खरीदे
1कढाई की मशीनhttps://dir.indiamart.com/impcat/sewing-embroidery-machine.html 
2यूनिफ्लोक मशीनhttps://www.indiamart.com/proddetail/11-unifloc-automatic-bale-opener-3081131662.html 
3कार्डिंग मशीनhttps://dir.indiamart.com/impcat/carding-machines.html 
4फ्लैट लॉक सिलाई मशीनhttps://dir.indiamart.com/impcat/flat-lock-machine.html
5सिलाई मशीनhttps://www.usha.com/sewing-machines

 किस तरह से बनाने चादर (Process to manufacture bed sheet) –

चादर को आप दो तरह से बना सकते हैं पहले तरीके के तहत आप जिस कपड़े से इन्हें बनाना चाहते हैं, आप उसे थोक के दामों में खरीद लें और फिर उसकी चादर बनाकर उसे बेच दें. या फिर आप कपास को खरीदकर उससे पहले कपड़ा बनाकर, फिर उस कपड़े को चादर का आकार देकर बाजार में बेच सकते हैं. हालांकि दोनों प्रक्रियाओं के तहत आपको कपड़े पर प्रिंट करना होगा और प्रिंट करने के लिए आपको प्रिंट करने वाली मशीन और रंगों की जरूरत पड़ेगी.

कपास से चादर बनाने की प्रक्रिया

  • चादर का कपड़ा तैयार करने के लिए आपको सबसे पहले कपास को खरीदना होगा और फिर इन्हें यूनिफ्लोक मशीन में डालना होगा. इस मशीन की मदद से कपास में से अशुद्धियां निकल जाएगी और कपास आपस में अच्छे से ब्लेंड हो जाएगा.
  • ऊपर बताई गई प्रक्रिया के बाद कपास को कार्डिंग मशीन, स्पून (spun) , रैप (warped) और स्लेश (slashed) प्रक्रिया से गुजरना होगा. इन प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद कपास की बुनाई, सफाई, ब्लीचिंग और रंगाई की जाती है और इस तरह से आपका कपड़ा तैयार हो जाता है. फिर आपको इस कपड़े को चादर के आकार में काटना होता है, उसकी सिलाई करनी होती और फिर इसे पैक करना होगा.

किसी और व्यापारी से चादर खरीदकर बेचना  (-

दूसरे तरीके के तहत आप किसी और व्यापारी से उनके द्वारा बनाई कई चादरों को खरीदकर, अपनी दुकान के जरिए बेच सकते हैं और ऐसा करने के लिए आपको उन व्यापारी से मिलना होगा, जो कि चादर बनाया करते हैं और उन्हें बेचा करते हैं. 

किस तरह से बेचें चादर (Marketing the Bedding)

एक बार चादर तैयार करने के बाद या फिर किसी व्यापारी से इन्हें खरीदने के बाद, आपको उन लोगों से मिलना होगा, जो कि चादर खरीदने के व्यापार से जुड़े हुए हैं या फिर आप होलसेलर के माध्यम से भी इन्हें बेच सकते हैं.

किन जगहों पर इन्हें बेच सकते हैं (Major Bedding Customers)

चादरों का इस्तेमाल होटल, रेस्ट हाउस, हॉस्टल, अस्पताल, बोर्डिंग स्कूल जैसे जगहों पर काफी अधिक किया जाता है और समय समय पर इन जगहों में चादरों की जरूरत पड़ती है. इसलिए आप इन जगहों के मालिकों के साथ मिलकर उनके साथ चादर सप्लाई करने का अनुबंध कर उन्हें समय समय पर ये बेच सकते हैं.

  • अपनी दुकान खोलकर (Shop) –

आप अपने द्वारा बनाई गई चादरों को या अन्य व्यापारी से खरीदी गई चादरों को दुकान खोलकर भी बेच सकते हैं. ऐसा करने में आपको थोक विक्रेता जैसे लोगों को कमीशन भी नहीं देनी पड़ेगी और आपका मुनाफा भी अधिक होगा.

हालांकि चादर बेचने वाली दुकान को खोलने की जगह आपको सोच समझ कर चुननी होगी और ऐसे स्थान पर दुकान खोलनी होगी जहां पर अधिक लोग आते जाते हों और जो अच्छी लोकेशन में स्थित हो.

  • मेलों में लगा सकते हैं स्टॉल (Stall)

समय समय पर कई शहरों में कई प्रकार के मेले लगते रहते हैं और इन मेलों को देखने के लिए कई लोग आते हैं. ऐसे में आप इन मेलों में अपनी चादरों का स्टॉल लगाकर इन्हें बेच सकते हैं. मेलों के अलावा आप मॉल के अंदर या फिर बाहर भी स्टॉल लगा कर अपनी चादरों को बेच सकते हैं.

  • मोबिलिटी वैन (Mobility Van) –
  1. आजकल मोबिलिटी वैन में स्टोर खोलकर भी लोगों द्वारा कई सामान बेचे जा रहे हैं और आप भी चाहें तो मोबिलिटी वैन (जो कि एक जगह से दूसरी जगह पर लेकर जाई जाती है) के जरिए अपनी चादरों को बेच सकते हैं.
  2. इस वैन के जरिए चादर बेचने के लिए आपको इस वैन में कई तरह के कार्य करवाने होंगे, जैसे कि इस वैन में पेंट करवाना होगा और इस पर अपनी कंपनी का नाम, चादरों से जुड़ी जानकारी लिखनी होगी.
  3. मोबिलिटी वैन के जरिए आप समय समय पर अपनी जगह बदल सकते हैं और ऐसा होने से आप अधिक से अधिक लोगों तक अपना सामान पहुंचा सकते हैं.

फ्रेंचाइजी के जरिए चादर बेचने का व्यापार करना (Franchise Opportunity)

पहले से बाजार में ऐसी कई सारी अच्छी फ्रेंचाइजी कंपनियां मौजूद हैं, जो कि चादर बनाने और उन्हें बेचने के व्यापार में अच्छे से स्थापित हैं. और अगर आप खुद से चादर बनाकर या फिर किसी व्यापारी से इन्हे खरीदकर नहीं बेचना चाहते हैं, तो आप किसी कंपनी के साथ जुड़कर इनकी चादर की फ्रेंचाइजी लेकर इनके द्वारा बनाई जाने वाली चादरों को बाजार में बेच सकते हैं.

फ्रेंचाइजी लेने के फायदें (Advantages of Bedding Franchise Dealership)

  • प्रचार करने की जरुरत नहीं

यदि कोई व्यापारी किसी प्रसिद्ध चादर बनाने वाली कंपनी की फ्रेंचाइजी लेता हैं तो उसे अपनी दुकान का किसी भी प्रकार का प्रचार नहीं करना पड़ेगा. क्योंकि फ्रेंचाइजी देने वाली अधिकतर कंपनियां काफी प्रसिद्ध होती हैं और इनके बारे में लोगों को पहले से पता होता है.

  • कम निवेश में शुरू कर सकते हैं

खुद से चादर बनाना फिर उनको दुकान के माध्यम से बेचना फ्रेंचाइजी लेने की तुलना में थोड़ा महंगा पड़ जाता है. इसलिए अगर आपके पास चादर के व्यापार को शुरू करने के लिए ज्यादा पूंजी नहीं हैं तो आप फ्रेंचाइजी ले सकते हैं और कम लागत में अपना व्यापार शुरू कर सकते हैं.

  • ट्रेनिंग और अन्य सहायता

किसी कंपनी की फ्रेंचाइजी लेने पर उस कंपनी द्वारा समय समय पर कई प्रकार की ट्रेनिंग दी जाती है. जिसकी मदद से आपको इस व्यापार को करने में  मदद मिलती है. साथ में ही कंपनी की और से कई प्रकार की सहायता भी प्रदान की जाती है और आपको ये व्यापार करने में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होती है.

  • गुणवत्ता वाले उत्पाद –

फ्रेंचाइजी लेकर बेची जाने वाली चादरों की गुणवत्ता काफी अच्छी होती हैं और लोगों का विश्वास भी कंपनी के साथ जुड़ा होता है. ऐसा होने से आपके ग्राहक खुद ब खुद बन जाते हैं.

ऊपर बताए गए फायदों के अलावा अगर आप फ्रेंचाइजी लेकर चादर बेचते हैं तो आपको ग्राहक सेवा, पहले से स्थापित व्यापार मॉडल, प्रभावी विपणन रणनीति जैसे फायदे भी मिलते हैं.

कितने में मिलेगी फ्रेंचाइजी (Cost)

फ्रेंचाइजी लेने के लिए इन कंपनियां द्वारा निर्धारित की गई शर्तों को पूरा करना आवश्यक होता है. जैसे कि ‘बॉम्बे डाइंग एंड मैन्युफैक्चरिंग कंपनी लिमिटेड’ नामक कंपनी की फ्रेंचाइजी लेने के लिए आपको कम से कम 800 वर्ग फुट की दुकान की जरूरत पड़ेगी. साथ में ही इस कंपनी के साथ व्यापार करने के लिए आपके पास 20 लाख रुपए होना भी जरूरी है.

इस व्यापार को करने से जुड़ी अन्य बातें (some important point related bedding business)

  • आप दुकान के जरिए ना केवल चादर बल्कि और भी चीजे बेच सकते हैं. जैसे कि तकिये, परदे, कारपेट, घर को सजाने का सामान और इत्यादि.
  • अधिक से अधिक लोगों को अपना सामान बेचने के लिए आप ऑनलाइन शॉपिंग का सहारा भी ले सकते हैं और अपनी वेबसाइट या फिर अन्य शॉपिंग की वेबसाइट के साथ जुड़कर चादर बेच सकते हैं.
  • ग्राहकों द्वारा चादर को उनपर बने डिजाइन देखकर पसंद किया जाता है इसलिए आप केवल अच्छे डिजाइन की चादर बनाए या केवल सुंदर डिजाइन की चादर ही व्यापारी से खरीदें.
  • केवल उसी प्रकार के कपड़े को खरीदें जो कि कम से कम दो साल तक चल सके और जल्दी से फीका भी नहीं पड़े.

चादर बेचने का व्यापार के लिए लाइसेंस (License for bedsheet business)–

चादर के व्यापार को शुरू करने के लिए आपको कई प्रकार के लाइसेंस की आवश्यकता पड़ेगी. अगर आप चादर बनाने कि कंपनी को शुरू करते हैं तो आपको अपनी कंपनी को शुरू करने से जुड़े लाइसेंस लेने के लिए अप्लाई करना होगा. जबकि अगर आप फ्रेंचाइजी लेकर इनको बेचते हैं तो आपको उस कंपनी के साथ कई प्रकार समझौते करने होंगे जिस कंपनी के साथ आप काम कर रहे हैं.

निष्कर्ष

चादर के व्यापार को किसी भी शहर में शुरू किया जा सकता है क्योंकि इसकी मांग हर जगह होती है और हर वर्ग के लोगों द्वारा इन्हें खरीदा जाता है. इसलिए इस चादर के व्यापार से केवल मुनाफा ही जुड़ा हुआ है.

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *