गांव में रहकर भी कर सकते हैं अच्छी कमाई, सरकार दे रही है कारोबारी बनने का मौका

अगर आप गांव में रहकर अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो आपके लिए सरकार द्वारा एक बहुत ही अच्छी योजना शुरू की गई है. अगर नव युवक युवती अपने गांव में रहकर ही कारोबारी बनना चाहते हैं तो यह सुनहरा अवसर है, आज हम आपको इस आर्टिकल में उसे योजना के बारे में विस्तार से बताएंगे.

केंद्र सरकार द्वारा सामान्य सेवा केंद्र खोले जा रहे हैं जिसके जरिए वह भारत के नागरिकों को अपनी योजनाओं पहुंचाते हैं. यह योजना ग्राम स्तर पर भी कार्य कर सकें, इसीलिए सरकार ने यह निर्णय लिया है कि सामान्य सेवा केंद्र ग्रामीण स्तर पर भी शुरू किए जाए. इस तरह जो लोग गांव में रहकर पैसा कमाना चाहते हैं, वह सीएससी सेंटर अथवा सामान्य सेवा केंद्र शुरू करके अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं और गांव में रहकर ही लाखों कमा सकते हैं.

छोटे शहरों या गांवों में रहने वाले लोगों को कम लागत में किसी लघु उद्योग की शुरूआत करनी हैं तो वे इसकी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

क्या है सामान्य सेवा केंद्र (What is Common Service Center)

सामान्य सेवा केंद्र डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के अंतर्गत कार्य करते हैं और यह सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजनाओं को जन नागरिक को तक पहुंचाते हैं. इन सेवा केंद्रों के जरिए नागरिक पीएम आवास योजना, पीएम किसान सम्मान निधि योजना पीएम किसान पेंशन योजना एवं अन्य तरह की सभी योजनाएं जो सरकार द्वारा चलाई जा रही हैं के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं एवं इन केंद्रों पर जाकर इन योजनाओं के लिए पंजीयन करवा सकते हैं, यह सभी कार्य की सेवाओं के अंतर्गत कार्य करते हैं.

इस तरह के सेवा केंद्र शुरू करके पढ़ा लिखा व्यक्ति एक गांव में भी सीएससी सेंटर खोल सकता है इसके लिए जरूरी है कि उनके पास इंटरनेट की सुविधा मौजूद हो और उन्हें कंप्यूटर से संबंधित सामान्य ज्ञान प्राप्त हो.

सीएससी सेंटर से होने वाली कमाई (CSC Center Earnings)

सीएससी सेंटर पर जो भी सेवाएं सेंटर द्वारा नागरिकों तक पहुंचाई जाती है, उसके बदले में सरकार उन्हें कमाने का एक अच्छा मौका देती है और इस तरह हर महीने एक अच्छी कमाई व्यक्ति द्वारा की जा सकती है. साथ ही जन सेवा के कार्य से जोड़कर एक अच्छा कार्य भी व्यक्ति द्वारा किया जाता है.

सीएससी सेंटर खोलने से संबंधी सभी छोटे बड़े सवालों का जवाब अगर आप जानना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करके पढ़ सकते हैं.

कैसे करें सीएससी सेंटर के लिए आवेदन (How to Apply for CSC Center)

  1. सीएससी सेंटर के लिए आवेदन करना बहुत मुश्किल कार्य नहीं है जो भी लोग इस योजना के अंतर्गत सेंटर खोलना चाहते हैं संबंधी जानकारी आधिकारिक पोर्टल से प्राप्त कर सकते हैं और वहीं से रजिस्ट्रेशन फॉर्म भर कर योजना का पंजीयन प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं.
  2. आधिकारिक पोर्टल पर लाइसेंस प्राप्त करने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है, इसके लिए सीएससी पंजीकरण लिंक पर जाना होगा और पूछी गई जानकारी को सही तरह से भरना होगा .साथ ही कैप्चा कोड भरकर सबमिशन की प्रक्रिया को पूरा करना होगा.
  3. इतनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद दिए गए मोबाइल नंबर अथवा ईमेल आईडी पर पोर्टल द्वारा ओटीपी भेजा जाएगा जिसे सबमिट करने के बाद वेरिफिकेशन की प्रक्रिया पूरी मान ली जाएगी.
  4. इस पोर्टल के अंतर्गत फॉर्म रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के बाद सीएससी केंद्र की एक फोटो भी पोर्टल में अपलोड करना जरूरी है, इसके बाद ही रजिस्ट्रेशन फॉर्म एक्सेप्ट किया जाएगा.
  5. रजिस्ट्रेशन फॉर्म एक्सेप्ट करने के बाद लाभार्थी को रजिस्ट्रेशन नंबर दिया जाएगा जिसके जरिए वे अपने एप्लीकेशन के स्टेटस को पता कर सकते हैं.

कौन अप्लाई कर सकता है (Who Can Apply for CSC Center)

  1. योजना के अंतर्गत वही व्यक्ति अप्लाई कर सकता है जो कि कम से कम दसवीं तक पढ़ा लिखा हो.
  2. साथ ही व्यक्ति को लोकल लैंग्वेज, अंग्रेजी भाषा एवं कंप्यूटर का सामान्य ज्ञान होना अनिवार्य है.
  3. उस व्यक्ति के पास स्वयं का आधार कार्ड होना भी जरूरी है.

यदि आप जीएसटी सुविधा केंद्र खोल कर पैसे कमाना चाहते हैं तो इसके लिए यहाँ क्लिक करें.

सीएससी सेंटर पर मिलने वाली सुविधायें (CSC Center Facilities)

सीएससी सेंटर पर इंटरनेट से संबंधित सुविधाएं दी जाती हैं जो कि सामान्य जनता खुद नहीं कर पाती इनमें खासतौर पर b2c अर्थात बिजनेस टू कंजूमर और b2b अर्थात बिजनेस टू बिजनेस सर्विसिस, g2c अर्थात गवर्नमेंट टू कंस्यूमर सेवाएं प्रदान की जाती हैं.

  1. b2c सर्विसेज के अंतर्गत- कृषि सेवाएं, ई-कॉमर्स सेल, आईआरसीटीसी संबंधी सेवाएं, फ्लाइट एवं बस टिकट बुकिंग, मोबाइल अथवा डीटीएच सर्विस संबंधी रिचार्ज, ऑनलाइन कोर्स, सीएससी बाजार आदि.
  2. b2b सेवाओं के अंतर्गत डाटा कलेक्शन का कार्य किया जाता है जिसे डिजिटल प्रक्रियाओं के द्वारा पूरा किया जाता है.
  3. g2c सर्विस के अंतर्गत वे सभी सर्विसेस प्रदान की जाती है जिसके अंतर्गत नागरिक कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज बनवाते हैं जो कि सरकारी कार्य के अंतर्गत आते हैं – जैसे कि पैन कार्ड, पासपोर्ट, बैंक सर्विसेस, एनआईओएस रजिस्ट्रेशन, आधार रजिस्ट्रेशन, प्रिंटिंग पेंशन इंश्योरेंस पोस्टल सर्विसेज, जन्म एवं मृत्यु प्रमाण पत्र आदि.

ऊपर दिए गए सभी कार्य सीएससी सेंटर के माध्यम से बहुत ही आसान तरीके से संपन्न करवाए जाते हैं जिसके बदले में सरकार द्वारा सीएससी सेंटर को बहुत अच्छी रकम भी दी जाती है. इस तरह से आसानी से कहीं भी कोई भी सीएससी सेंटर को खोलकर पैसा कमा सकता है. आज के समय में इसकी सबसे ज्यादा आवश्यकता ग्रामीण स्तर पर है क्योंकि ग्रामीण स्तर पर इंटरनेट उपभोक्ता बहुत ही कम होते हैं एवं इंटरनेट फैसिलिटी भी बहुत ही कम स्तर पर प्रदान की जाती है. ऐसे में देश का डिजिटल बनना बहुत मुश्किल है, उस दिशा में सीएससी सेंटर ही सबसे बेहतर तरीके से कार्य कर सकते हैं.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *