बाइक एजेंसी कैसे लें | Bike Agency Business in Hindi

बाइक एजेंसी कैसे लें, (कैसे खोलें, व्यवसाय, डीलरशिप, योग्यता, खर्च, लाइसेंस, लाभ), (Bike Agency Business in Hindi), (Kaise Khole, Cost, Dealership, Profit)

आज के समय में लगभग हर एक घर में आपको टू व्हीलर आसानी से मिल जाएगी. समय के साथ साथ टू व्हीलर के निर्माण में काफी ज्यादा बढ़ोतरी हुई है और इस क्षेत्र में बहुत बड़ी-बड़ी कंपनियां भारत के हर एक प्रदेश एवं जिले में अपनी डीलरशिप प्रदान कर रही है, जिससे उनके ग्राहकों को बेहतर सुविधा प्राप्त हो सके. आज के समय में भारत के प्रत्येक प्रदेश एवं जिलों में सभी टू व्हीलर एजेंसी अपना अपना डीलरशिप लोगों को वितरित कर रही है. आप भी बड़ी आसानी से किसी भी बाइक एजेंसी का डीलरशिप प्राप्त कर सकते हैं और इस क्षेत्र में अपने व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं. यदि आप भी खुद की बाइक एजेंसी लेकर अपना व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं, तो आज के हमारे इस विषय पर आधारित इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक अवश्य पढ़ें.

bike Agency Business in Hindi

गैस एजेंसी डीलरशिप : इस बिज़नेस से होती हैं करोड़ों की कमाई, जानें कैसे ले सकते हैं.

बाइक एजेंसी का व्यवसाय क्या है

बाइक एजेंसी का व्यवसाय कोई ज्यादा कठिन नहीं है. आपने अपने लिए बाइक या स्कूटी खरीदी है, तो इसे खरीदने के लिए आपको एजेंसी जाना पड़ा होगा, जहां पर आपको अलग-अलग टू व्हीलर का निर्माण करने वाली कंपनियों का वाहन दिखाई दिया होगा. जहां से हम टू व्हीलर खरीदते हैं, उसे हम टू व्हीलर एजेंसी के नाम से जानते हैं. यह सभी टू व्हीलर एजेंसी अलग-अलग वाहन का निर्माण करने वाली कंपनियों की डीलरशिप लेते हैं और उसके बाद अपने एजेंसी के जरिए इसे ग्राहकों को बेचने का कार्य करते हैं.

बाइक एजेंसी के व्यवसाई की मांग

आज बहुत बड़ी संख्या में दिन प्रतिदिन टू व्हीलर बिकते हैं और इस दृष्टिकोण से इस व्यवसाय की मांग आज हमारे भारतीय बाजार में अधिक है. अभी भी बहुत सी ऐसी जगह है, जहां पर एक भी बाइक एजेंसी लोगों को नहीं मिलती है. ऐसे लोगों को टू व्हीलर खरीदने के लिए या फिर इसके स्पेयर पार्ट को खरीदने के लिए बहुत दूर जाना पड़ता है. ऐसे में यदि कोई ऐसे क्षेत्र में टू व्हीलर की एजेंसी लेता है, जहां पर पहले से कोई भी टू व्हीलर एजेंसी मौजूद नहीं है, तो इस दृष्टिकोण से यह व्यवसाय काफी लाभकारी है.

टायर का बिज़नेस करने से होती हैं प्रतिदिन 50 हजार रूपये तक की कमाई, ऐसे करें शुरुआत.   

बाइक एजेंसी लेने के लिए योग्यता या मापदंड

किसी भी टू व्हीलर का निर्माण करने वाली कंपनियों का डीलरशिप प्राप्त करने के लिए आपको किसी भी प्रकार के विशेष शैक्षणिक योग्यता या फिर प्रशिक्षण की आवश्यकता नहीं पड़ती. हर वह ऐसा व्यक्ति बाइक एजेंसी खोल सकता है, जो इस प्रकार के व्यवसाय में अपना निवेश कर सकता है.

बाइक एजेंसी खोलने के लिए लोकेशन

आप बाइक एजेंसी खोलने के लिए ऐसी लोकेशन का चुनाव कर सकते हैं, जहां पर सभी प्रकार की बाइकों की एजेंसी पहले से मौजूद ना हो. इसके साथ ही आप सभी कंपनियों के बाइक के स्पेयर पार्ट को भी अपने एजेंसी में सेल कर सकते हैं. यदि आपकी बाइक एजेंसी ऐसे स्थान पर होगी, तो अत्यधिक मात्रा में संभावना है, कि यह आपको लाभ प्रदान करेगी.

जानें रिक्रूटमेंट एजेंसी बिज़नेस शुरू करके लाखों रूपये कैसे कमा सकते हैं.

बाइक एजेंसी खोलने में लगने वाला खर्च

  • बाइक एजेंसी खोलने में लागत आपके ऊपर निर्भर करता है, क्योंकि आप जिस भी कंपनी का डीलरशिप लेंगे वह आपको अपनी योजना के अनुसार लागत बताएंगे. विभिन्न बाइक एजेंसी की डीलरशिप प्रदान करने वाली कंपनियां अपनी अलग-अलग योजनाओं के अनुसार कार्य करती हैं. आप जिस भी कंपनी की डीलरशिप लेंगे आपको उस कंपनी के योजना के अनुसार कार्य या फिर निवेश करना होगा.
  • आप जिस भी स्थान पर बाइक एजेंसी की डीलरशिप लेने के लिए तैयार हो उस जगह पर आपको सबसे पहले इंटीरियर डेकोरेशन का कार्य करना होगा और इस कार्य में आपको कम से कम 10 से 15 लाख रुपए तक का निवेश करना पड़ सकता है.
  • ऐसी बहुत सी बाइक एजेंसी देने वाली कंपनियां हैं, जो अपने डीलर को उनके क्रेडिट के अनुसार बाइक बेचने के लिए देती है. मगर बहुत सी ऐसी कंपनियां भी हैं, जो डीलर को बाइक सेलिंग के लिए प्रदान करने से पहले प्रति बाइक का शुल्क लेती हैं. अगर आप हर महीने कम से कम 100 बाइक बेचते हैं, तो ऐसी परिस्थिति में आपको प्रति बाइक के पीछे 50 हजार रुपए तक का निवेश करना होगा. इस दृष्टिकोण से आपको प्रति बाइक के पीछे कम से कम 50 लाख रुपए तक का निवेश करना ही पड़ेगा.
  • इसके अतिरिक्त यदि आप बाइक कंपनियों का स्पेयर पार्ट भी अपनी एजेंसी में सेल करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको अलग से कम से कम 10 से 15 लाख रुपए तक का निवेश करना पड़ सकता है.
  • लगभग बहुत सी ऐसी बाइक एजेंसी है, जो अपने डीलर को डीलरशिप प्रदान करने से पहले किसी गारंटीड बैंक से गारंटी भी मांगने के लिए अनुरोध करती हैं.

बाइक एजेंसी लेने के लिए ट्रेनिंग

वैसे तो सभी बाइक एजेंसी कंपनियों का अपना अपना डीलरशिप प्रदान करने का योजना रहता है, परंतु ज्यादातर कंपनियां अपने डीलर्स को डीलरशिप देने के लिए कुछ सहायता भी प्रदान करती है. जो इस प्रकार निम्नलिखित है.

  • सभी डीलरशिप प्रदान करने वाली कंपनियां अपने डीलर्स को वर्कशॉप एवं एजेंसी को डेकोरेट करने के लिए अपनी तरफ से लेआउट, ड्राइंग एवं इंटीरियर डिजाइन को तैयार करके प्रदान करती हैं और आपको इसी हिसाब से अपने एजेंसी या फिर वर्कशॉप को डिजाइन करवाना होता है.
  • सभी टू व्हीलर डीलरशिप प्रदान करने वाली कंपनियां आपके वर्कर को फ्री में आवश्यक प्रशिक्षण जैसे कि – ग्राहकों से कैसे बात करनी है, ग्राहकों से कैसे डील करना है और उन्हें अपने टू व्हीलर के बारे में एवं इसके फीचर के बारे में कैसे बताना है, आदि जानकारी बताती हैं. क्योंकि टू व्हीलर डीलरशिप के कार्य में सभी लोगों को प्रोफेशनल होना आवश्यक है, यदि आप प्रोफेशनल होंगे, तो इसका प्रभाव आपके डीलरशिप प्रदान करने वाली कंपनी के ऊपर भी पड़ेगा.
  • आपके सेल्स टीम को मैनेज करने एवं उन्हें प्रशिक्षित करने का कार्य भी सभी डीलरशिप प्रदान करने वाली कंपनियां ही करती हैं.

ओला कैब बिज़नेस में अपनी गाड़ी को लगा सकते हैं काम पर, होगी बेहतरीन कमाई.

बाइक एजेंसी को कैसे खोलें

यदि आप एक बड़ा निवेश कर सकते हैं, तो आप बाइक डीलरशिप की एजेंसी को खोल सकते हैं. तो चलिए जानते हैं, आगे बाइक एजेंसी को कैसे हासिल किया जाए.

  • बाइक एजेंसी खोलने से पहले आपको आपने लोकल मार्केट में रिसर्च करनी होगी पता लगाना होगा, कि आपके लोकल एरिया में लोग किस कंपनी की बाइक एवं कैसी बाइक को खरीदना पसंद करते हैं.
  • बाइक एजेंसी लेने के लिए आपको बाइक डीलरशिप प्रदान करने वाली कंपनी की अधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा.
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपको इस कंपनी का डीलरशिप प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन एक आवेदन फॉर्म भरकर उन्हें सबमिट करना होगा.
  • जब कंपनी आपका आवेदन स्वीकार कर लेगी तो वह आगे की प्रक्रिया आपको कॉल या फिर ईमेल के माध्यम से बता देगी.

बाइक एजेंसी खोलने के लिए लाइसेंस एवं पंजीकरण प्रक्रिया

आपको बाइक एजेंसी खोलने के लिए किसी भी प्रकार के रजिस्ट्रेशन या फिर लाइसेंस के लिए खुद से आवेदन नहीं करना होगा. आप जिस भी कंपनी की डीलरशिप प्राप्त करते हैं, वह कंपनी आपको सब कुछ स्वयं करके देती है. बस आपको उनकी डीलरशिप प्राप्त करके बाइक सेलिंग करने का कार्य करना पड़ता है. फिर भी आप चाहे, तो आप अपने नजदीकी लघु एवं मध्यम वर्गीय उद्योग विभाग में इससे अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

अपने बिज़नेस को उद्योग आधार में रजिस्टर करें, इससे आपका बिज़नेस कानूनी रूप से वैध बना जायेगा.

बाइक एजेंसी खोलने का लाभ

बाइक एजेंसी खोलने से आपको अनेकों लाभ हो सकते हैं, क्योंकि आप देख सकते हैं, कि इस समय में अधिकतर लोगों में बाइकों का क्रेज आ रहा है और इस दृष्टिकोण से बाइक सेलिंग एवं बाइक स्पेयर पार्ट्स बेचने के क्षेत्र में भी काफी ज्यादा विकास हुआ है. यदि आप प्रतिदिन दो से 4 बाइक को बेचते हैं, तो आप बड़ी आसानी से 1 दिन में 3 से 4 हजारों रुपए आसानी से कमा सकते हैं. प्रतिमाह की इनकम लगभग एक लाख रुपए से भी अधिक हो सकती है, यह पैमाना आपके बाइक सेलिंग के आधार पर निर्भर करता है.

बाइक एजेंसी के व्यापार में जोखिम

बाइक एजेंसी के व्यापार में आपको जोखिम होने के बहुत ही कम चांस रहते हैं. व्यापार में आपको सबसे पहले अपने ग्राहकों के प्रति विनम्र स्वभाव और आदर का भावना रहना चाहिए. आप जितने अच्छे से अपने ग्राहकों को डील करेंगे, आपको उतने ही जोखिम होने के चांस कम हो जाते हैं.

ड्राइविंग स्कूल बिज़नेस से कमा सकते हैं हर महीने हजारों रूपये, होती हैं बेहतर कमाई.

इस तरह से आप कोई बड़ा बिज़नेस करने के बारे में सोच रहे हैं तो बाइक एजेंसी बिज़नेस के साथ जा सकते हैं. यह आपको बहुत मुनाफा दे सकता है.

FAQ

Q : बाइक एजेंसी लेने के लिए क्या करें ?

Ans : बाइक कंपनियों की अधिकारिक वेबसाइट में जाकर ऑनलाइन आवेदन करें.

Q : बाइक एजेंसी प्राप्त करने के लिए क्या हमें निवेश करना पड़ेगा ?

Ans : जी बिल्कुल आपको लाखों रुपए निवेश करने पड़ेंगे.

Q : बाइक एजेंसी लेने लाइसेंस हमें कैसे प्राप्त होगा ?

Ans : आपको यह नहीं बनवाना है यह कंपनी आपको बनवा कर देगी.

Q : बाइक एजेंसी कहां पर खोल सकते हैं ?

Ans : बाइक एजेंसी आप कहीं पर भी खोल सकते हैं.

Q : बाइक एजेंसी से हम कितना कमा सकते हैं ?

Ans : बाइक एजेंसी से आप हर महीने 1 से 2 लाख कमा सकते हैं.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *