Saturday , November 17 2018

मोमबती के व्यापार की शुरुआत कैसे करें | How to start Candle making business in hindi

How to start Candle making business in hindi मोमबत्ती का व्यावसाय एक ऐसा व्यावसाय है जो नए उद्धमियों या स्टार्टअप के लिए एक सुनहरा अवसर हो सकता है, जिसको शुरू करने में बहुत ज्यादा लागत की भी जरुरत नहीं पड़ती है और ये ऐसी चीज है कि इसकी मांग भी कभी कम नहीं हो सकती है. क्योकि लोग धार्मिक कार्यों, घर की सजावटों इत्यादि के लिए मोमबत्ती का उपयोग करते है. इस व्यावसाय को करके आप अतिरिक्त या पूर्णकालिक रूप से पैसे को कमा सकते है. 2010 के एक रिपोर्ट के अनुसार वैक्स की मांग 10,000 मिलियन पाउंड तक बढ़ गयी है, जिनमे 50% तक मोमबत्तियाँ शामिल है और यह मांग निरंतर बढती ही जा रही है. भारतीय मोम उद्योग में सार्वभौमिक बढती मांग को देखते हुए आप एक उद्यमी के रूप में उपभोक्ताओं की मांगों को पूरा करने के लिए अपने मोमबत्ती व्यावसाय का विस्तार कर सकते है. यह व्यवसाय आपके भविष्य को सवांरने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है.  

Candleमोमबती के व्यापार की शुरुआत कैसे करें

How to start Candle making business in hindi      

मोमबती के व्यापार के लिए वित्तीय योजना (Candle making business financial plan )

मोमबत्ती के व्यवसाय को शुरू करने से पहले आप अपनी वित्तीय योजना का एक प्रारूप तैयार कर ले, जिससे आपको ये पता चल जायेगा कि आप अपने व्यावसाय को छोटे या बड़े तौर पर किस तरह से चला सकते है. अगर आपको लोन की आवश्यकता लेनी पड़ी, तो उसका कितना ब्याज कटेगा इन सब जानकारी को इकठ्ठा कर ले, व्यवसाय के स्थापन का खर्च सबका एक खाका तैयार करने से व्यवसाय को शुरू करने में परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है. अगरबत्ती बनाने का व्यापार शुरू कैसे करें  जानने के लिए पढ़े.

मोमबत्ती के निर्माण में लगने वाली कच्ची सामग्री (Candle making business raw materials with price)  

मोमबत्ती को बनाने में लगनेवाली सामग्री उसकी न्यूनतम मात्रा और उसके अनुसार उनके मूल्य को नीचे सूची के माध्यम से दर्शाया गया है, जिससे एक लघु उद्योग का छोटा सा अंदाजा लगाया जा सके. मूल्यों में अंतर भी हो सकता है :  

कच्ची सामग्री मात्रा मूल्य
पैराफिन मोम1 किलो ग्राम115 रूपये
बर्तन या पॉट1 पैन250 रूपये
कैस्टर तेल1 लीटर310 रूपये
मोमबत्ती के धागे1 रोल35 रूपये
विभिन्न रंग1 पैकेट85 रूपये
थर्मामीटर1160 रूपये
सुंगंध के लिए सेंट1 बोतल250 रुपये
ओवन15000 रूपये

 मोमबत्ती बनाने के लिए कच्ची सामग्रियों को लेने का स्थान (Where to buy raw materials for Candle making)

मोमबत्ती की कच्ची सामग्रियों की आपूर्ति आप स्थानीय दुकानों से भी कर सकते है, लेकिन थोक विक्रेताओं से सामग्रियों को लेने का फ़ायदा ये होता है कि वो आपकी मांग के अनुसार आपको आवश्यक मात्रा प्रदान करने में हमेशा सक्षम रहते है. हमेशा कच्ची सामग्रियों को लेते वक्त गुणवता का ख्याल रखना चाहिए. आप इस तरह के थोक विक्रेताओं को अपने एरिया या ऑनलाइन माध्यम से ढूंढ सकते है. आपको इस लिंक के माध्यम से कच्ची सामग्रियों की खरीद के बारे में जो भी जानकारी प्राप्त करनी हो मिल जाएगी. 

  • https://dir.indiamart.com/impcat/candle-raw-material.html
  • https://dir.indiamart.com/kolkata/paraffin-wax.html
  • https://www.justdial.com/Kolkata/Wax-Candle-Dealers-in-Burrabazar/nct-10534022

वैसे ऑफ़लाइन जानकारी लेने के लिए हमने कुछ कंपनी के नाम  विवरण भी दिया है. मोमबत्ती की कच्ची सामग्रियों को उपलब्ध कराने वाली कुछ कंपनियों के नाम इस प्रकार है जैसे-

  • कैंडलचेम, लिंक इन्टरनेशनल जोकि मुम्बई की कम्पनी है और मस्जिद इलाके में स्थित है. 
  • वेल्बुर्ण कैंडल्स प्राइवेट जो कि बेंगलूर की कम्पनी है यह कंपनी बिदादी में स्थित है,
  • पूजा क्राफ्ट एंड एमब्रोड़री यह कंपनी मुम्बई की पश्चिम बोरीवली इलाके में मौजूद है. 

इसी तरह की और भी बहुत सी कम्पनियाँ मोमबत्ती की कच्ची सामग्रियों को उपलब्ध कराती है, जो अलग अलग जगहों पर स्थित है. बेकिंग पाउडर उत्पादन का व्यापार की शुरुआत कैसे करें जानने के लिए पढ़े.

मोमबत्ती के व्यवसाय को शुरू करने के लिए स्थान की आवश्यकता (Area for Candle making business)  

आप इस व्यावसाय की शुरुआत अपने घर से या किराये पर 12×12 की एक छोटे से कमरे के साथ भी कर सकते है. इस व्यवसाय की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसको शुरू करने के लिए बहुत बड़े जगह की आवश्यकता नहीं पड़ती है, लेकिन घर से या बड़े रूप से भी शुरू करने के लिए इस बात का ध्यान रखना जरुरी है कि आपके पास मोम को पिघलाने की पर्याप्त जगह हो, उसकी कच्ची सामग्रियों के रख रखाव के लिए भी स्थान हो, साथ ही तैयार मोमबत्ती को भी स्टोर करने के लिए जगह हो, इसके लिए कंपनी के कार्यालय के रूप में एक कमरा या कुछ स्थान हो. इस तरह से आपको इतनी जगह जरुर रखनी चाहिए, जहाँ से अधिक कुशलता से और व्यवस्थित तरीके से कार्यो को अंजाम दिया जा सके. साथ ही इस व्यावसाय में बिना किसी बाधा के उत्पादन के कार्य को बढ़ाने के लिए पर्याप्त स्थान के साथ आप आसानी से कारखाने को एक स्थान से दुसरे स्थान पर स्थानान्तरित भी कर सकते है.    

मोमबत्ती को बनाने में लगने वाला समय (Candle making time)

मोमबत्ती को बनाने में लगने वाला समय इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस तरह से इसका निर्माण कर रहे है. अगर मशीन का इस्तेमाल कर रहे है, तो उसकी मशीनें कितने समय में कितनी मोमबत्तियों का उत्पादन करती है ये मशीन पर निर्भर करता है. जैसे की अगर आप अर्ध स्वचालित मशीन का उपयोग कर रहे है, तो यह मशीन 15 मिनट में 300 मोमबत्तियों का उत्पादन कर सकती है. और यदि आप छोटे तौर पर घर में मोमबत्ती को बनाते है तो मोमबत्ती को बनाने में लगे कर्मचारियों की संख्या और उनकी कार्यक्षमता पर निर्भर करता है, कि वे कितनी मोमबत्ती का उत्पादन कर सकते है. वैसे मोमबत्ती बनाने की पूरी प्रक्रिया एक व्यक्ति के द्वारा 30 से 35 मिनट में हो सकती है, और सांचे की संख्या के आधार पर 90 मोमबत्तियों का निर्माण आसानी से किया जा सकता है.      

मोमबत्ती को हाथ से बनाने की प्रक्रिया (Candle making process)  

मोमबत्ती को हाथों से बनाने के लिए मोम को गर्म करके 290 डिग्री से 380 डिग्री तक पिघलाया जाता है. उसके बाद मोम को सांचे में डाल कर ठंडा होने पर इसमें ड्रिल मशीन या मोटे से सूई के माध्यम से धागे को लगा कर फिर उस पर गर्म मोम को डाल कर उसे बराबर कर दिया जाता है. फिर इसको पैक कर आप इसकी बिक्री कर सकते है,

मोमबत्ती के व्यावसाय को शुरू करने में लगने वाली कुल लागत (Candle making business total cost)

अगर आप अपने व्यापार की शुरुआत बहुत अधिक पूंजी का निवेश करते हुए नहीं करना चाहते है और व्यवसाय को कम निवेश के साथ आगे बढ़ाना चाहते है, तो आप इसको लघु तौर पर 10,000 से 50,000 तक की लागत के साथ शुरू कर सकते है. 

मोमबत्ती को बनाने में रखने वाली सावधानी (Candle making precautions)

जब भी आप मोम को पिघला रहे हो, हमेशा सावधान रहे क्योकि कभी भी किसी चीज पर तापमान का नियन्त्रण नहीं होता है, जिस वजह से आग भी लग सकती है. वैसे 290 डिग्री से 380 डिग्री तापमान के बीच मोमबत्ती को बनाना हमेशा सुरक्षित रहता है, लेकिन सावधानी सबसे बड़ी सुरक्षा होती है.

मोमबत्ती की पैकिजिंग (Candle packaging)

सबसे अंतिम प्रक्रिया मोमबत्ती को बनाने की उसकी पैकिजिंग होती है. इसकी पैकिंग हाथ से और मोमबत्ती फिलिंग मशीन से दोनों तरह से की जा सकती है. पैकिंग से ही मोमबत्तियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाती है कि अत्यधिक गर्मी या अन्य कारको की वजह से मोमबत्ती का कही रिसाव न हो. इसकी पैकिंग उसके आकार के अनुसार और रंगों के अनुसार विभिन्न सजावटी पेपर या रंगीन पलास्टिक के माध्यम से की जाती है. साथ ही इसको डब्बो या कंटेनरों में भी पैक किया जाता है.

  • साधारण रूप से मोमबत्ती की पैकिंग के लिए पतली सी कार्डबोर्ड बॉक्स मोमबत्ती के आकार के अनुसार लें.
  • फिर मोमबत्तियों को बबली रैप या बुलबुले वाले लपेटे में लपेट कर कार्डबोर्ड बॉक्स में डाल कर उन्हें पैक कर दे.
  • उसके बाद ब्रांड नाम के साथ में वेबसाइट लिखा हुआ स्टीकर भी चिपका दें.

मोमबती के व्यापार के लिए लाभ मार्जिन की आवश्यकता (Candle making business profit)

मोमबत्ती के व्यवसाय के लिए कई कर्मचारियों की आवश्यकता नहीं होती है, जिस वजह से मोमबत्ती के व्यावसाय में अन्य व्यावसाय की तुलना में कम लागत में अधिक मुनाफा हो सकता है. आपको अपने प्रत्येक मोमबत्ती को बनाने में लगने वाले खर्चो के आधार पर लाभ का मार्जिन रखते हुए मूल्य का निर्धारण करना चाहिए, साथ ही यह भी सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि इस व्यावसाय से जुड़े आपके प्रतिद्वंदी मोमबत्ती उत्पाद के लिए कितना मूल्य रखे हुए हैं. आपको उनसे कम मूल्य रखने की कोशिश करनी चाहिए.

मोमबती के व्यापार को शुरू करने के लिए क़ानूनी प्रक्रिया (Legal procedure to start candle making business)

मोमबत्ती के व्यवसाय के लिए जो भी क़ानूनी प्रक्रिया है, हमने क्रमागत रूप से विवरणों के साथ उसे आपके सामने रखने की कोशिश की है, जो निम्नवत है –

  • कम्पनी की संरचना : अगर आप मोमबत्ती व्यवसाय को छोटे पैमाने पर करना चाहते है, तो आप अपने अकेले की स्वामित्व वाली कम्पनी या एलएलसी अर्थात सीमित देयता कंपनी और साझेदारी के विकल्प चुन सकते है.
  • व्यापार का रजिस्ट्रेशन : कंपनी की संरचना के अनुसार आप अपना व्यवसाय पहले दर्ज करे. आप व्यवसाय को शुरू करने से पहले जिस शहर से आप व्यापार शुरू कर रहे है वहाँ से परमिट प्राप्त कर ले, इसके लिए आप शहर के क्लर्क कार्यालय से पूछताछ कर सकते है और व्यापार को एसएसआई यूनिट में पंजीकरण करा लें.
  • पैन कार्ड : व्यवसाय के लिए पैन कार्ड का आवेदन करे. जिस भी तरह का आप व्यवसाय करने जा रहे हो, उसके लिए सबसे पहले व्यावसाय पैन कार्ड को प्राप्त कर लें. 
  1. व्यावसायिक खाता : आप किसी भी बैंक से एक व्यावसायिक खाता खोल सकते है, इसका फ़ायदा यह होगा कि आपको व्यापारिक खरीद में किसी भी तरह की परेशानी नहीं होगी और यह आपकी निजी खर्चो को भी अलग रखने में मदद करेगा. जिस वजह से पता आसानी से चलेगा कि आपने इस व्यवसाय के लिए कितना खर्च किया या प्राप्त किया. इस पर नजर रखने के लिये आप अपने खाते का ट्रैक रखे.
  2. करों का भुगतान : मोमबत्ती व्यवसाय के लिए आपको राज्य और संघ को करों का भुगतान करना होगा, जिसके लिए आपको पहले अपने राज्य में पंजीकरण कराना होगा. आमतौर पर इस कर का भुगतान साल में एक बार ही करना पड़ता है, इसके बारे में आप अपने राज्य के नियम को अच्छी तरह से जान ले. जो भी आपके उत्पादों पर बिक्री कर एकत्र होंगे, उसके लिए आपको पुनर्विक्रय का प्रमाणपत्र भी राज्य या संघ से प्राप्त होगा.  

इसके अलावा यदि आप बड़े स्तर पर मोमबत्ती का व्यापार शुरू करना चाहते है, तो निम्न प्रक्रिया अपनाये.  

  1. कंपनी का नाम : कम्पनी उत्पाद के ब्रांड नाम को पंजीकृत करा कर आप अपना व्यापार शुरू कर सकते है. नाम एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है किसी भी व्यवसाय को शुरू करने के लिए, इसलिए अच्छी तरह सोच कर और पर्याप्त समय लेकर अपनी रचनात्मकता का परिचय देते हुए कम्पनी का नामकरण करें. फिर इसको ट्रेड मार्क में पंजीकृत करा के आप अपने व्यावसाय के ब्रांड के नाम को सुरक्षित कर ले और वैट रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन कर उसे प्राप्त करे.
  2. न्योक्ता पहचान संख्या (इआईएन) के साथ पंजीकरण : इआईएन के लिए आवेदन करे, इस संख्या के माध्यम से आपके व्यापार को आईआरएस से पहचान संख्या मिलेगी. आप इसे आईआरएस की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन माध्यम से भी इआईएन के लिए आवेदन कर सकते है. इससे आपके समय की बचत होती है और जल्द ही आपको न्योक्ता पहचान संख्या प्राप्त हो जाती है.       

मोमबत्ती बनाने के लिए आवश्यक मशीन (Candle making machine)

मोमबत्ती को बनाने के लिए कैंडल मशीन की आवश्यकता होगी यह मशीन अलग अलग तरह की और अलग क्षमताओं की होती है. मोमबत्ती बनाने की मशीन बाजार में आपको आसानी से मिल जाएगी, मशीन के अनुसार इनकी कीमत 35,000 से 2 लाख तक की हो सकती है. उसकी कीमत उसके उत्पादन क्षमता के ऊपर निर्भर करती है. व्यापक रूप से तीन तरह की मोमबत्ती निर्माण की मशीनों को प्राप्त किया जाता है जो निम्न प्रकार से है :-

  • मैनुअल मशीन : इसको ऑपरेट करना सहज होता है, इस मशीन के माध्यम से प्रति घंटे 1800 तक मोमबत्तियों का निर्माण किया जा सकता है.
  • अर्द्ध स्वचालित मशीन : इस मशीन को संचालित करना आसान होता है इसमें मोमबत्तियों के आकार को सेट करने की सुविधा भी रहती है. यह मशीन तकनीकी रूप से बहुत उन्नत होती है इस मशीन में मोम को तुरंत ठंडा करने के लिए पानी का भी संचालन होता है.
  • पूर्ण ऑटोमेटिक मशीन : इस मशीन के माध्यम से आप विभिन्न साईज जैसे की जन्मदिन में लगने वाली मोमबत्ती का आकार, चौकोर, गोल हर तरह की मोमबत्ती का निर्माण कर सकते है. इस मशीन के द्वारा प्रति मिनट 200 से 250 मोमबत्तियों का निर्माण किया जा सकता है. इसके अलावा आप तरह तरह के सांचे का भी इस्तेमाल कर अलग डिजाईन की मोमबत्ती का निर्माण कर सकते है.           

मोमबती के व्यापार की मार्केटिंग (Marketing for Candle making business)

किसी भी व्यापार को जब आप शुरू कर रहे है तो उस व्यवसाय या व्यापार के बारे में लोगों को बताना बहुत जरुरी हो जाता है. इससे बाजार में आपकी कंपनी की तरफ लोगों का ध्यान बटेगा और आपकी मोमबत्तियों की बिक्री भी बढ़ेगी. आपको अपने उत्पाद के प्रचार और प्रसार के लिए कई उचित तरीके ढूंढने होंगे, जिनको आप अपनाकर अधिकतम परिणाम प्राप्त कर सकते है. आप अपने व्यवसाय का प्रचार कई तरीकों से कर सकते है जो की निम्न प्रकार से है

  • पोस्टरों के माध्यम से या पेम्पलेट के द्वारा ; आप अपनी कम्पनी के नाम से पेम्पलेट या आकर्षक पोस्टर के द्वारा शहरोँ में या दूर दराज क्षत्रों में इसको लगा कर और बंटवाकर अपनी कम्पनी का प्रचार कर सकते है. इसका फ़ायदा ये होगा की बहुत से लोगों को आपके उत्पादों के बारे में पता चल जायेगा, जिनमें से कुछ लोग निश्चित रूप से आपके ग्राहक भी बन सकते है.
  • ऑनलाइन माध्यम से : यदि आप अपने मोमबत्ती के उत्पाद को ऑनलाइन माध्यम से बेचने या प्रसारित करने की सोच रहे है, तो आपको पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन स्टोर में अपने उत्पाद को सूचीबद्ध कराना होगा. फिर आपको अपने उत्पाद की आकर्षक चित्र, उत्पाद की खूबी का वर्णन और आवश्यक सुविधाओं की पोर्टल के द्वारा जानकारी देनी होगी, जिससे कभी भी कोई खरीदार अगर मोमबत्ती को खरीदने के लिए सर्च या खोज करेगा तो आपके उत्पाद या कम्पनी को अपने आप दर्शित करने लगेगा और खरीदार तस्वीरों और दिए गए विवरणों को देख कर अपने जरुरत और पसंद के अनुसार मोमबत्ती के उत्पाद को खरीद सकेगा.
  • सोशल साइट के माध्यम से : सोशल साइट भी आपको नए ग्राहकों से जुड़ने में बहुत मदद करती है. इससे आप अपने उत्पादों और ऑनलाइन की लिंक को शेयर करके ग्राहकों को अपनी तरफ आकर्षित कर अपने उत्पाद का प्रचार कर सकते है. इसके अलावा गूगल या किसी और सर्च इंजन के माध्यम से पीपीसी पर भी विज्ञापन दे सकते है. इसके लिए आपको कुछ रुपये का भुगतान करना होगा, इससे नेटवर्क उपयोगकर्ता को खोज माध्यम से आपके उत्पाद का लिंक आसानी से मिल जायेगा और उससे उसको सारी जानकारी मिल जाएगी.

अन्य पढ़े:

3 comments

  1. Mai mombatti ka business start karna chahta hoo. Iske lie mujhe licence kaha se banana hoga

  2. Mombati manual machine kaha milega koi number ho to do

  3. Chander Prakash ahuja

    well I’m start for aroma candil buzness but I don’t have proper information
    so will you share me candil making details machine coast buzness start bugut or labour details or machine supplier etc all send me @ my mail I’d or whatsapp me
    promoteyou8@gmail.com
    wttsapp
    +919540234809

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *