Sunday , November 18 2018

सामान्य सेवा केंद्र कैसे शुरू करें

सामान्य सेवा केंद्र  कैसे खोलें, ऑनलाइन सीएससी पंजीकरण प्रक्रिया (How To Open common service centres, CSC full form, registration process, how to apply In Hindi)

केंद्र सरकार ने सामान्य सेवा केंद्र योजना शुरू की है और इस योजना के तहत लाभ लेने इच्छुक अपने जिले या शहर में सामान्य सेवा केंद्र खोलने के लिए आवेदन कर सकता है और इस केंद्र को खोलकर अच्छी राशि कमा सकता है. ये योजना डिजिटल इंडिया कार्यक्रम से जुड़ी हुई है और इन केंद्र की मदद से सरकार देश के उन इलाकों में ई-सेवाएं पहुंचाना चाहती है, जहां पर लोगों के पास कंप्यूटर और इंटरनेट की सुविधा नहीं हैं.

Common Service Centres

क्यों शुरू की गई ये योजना      

सामान्य सेवा केंद्र में जाकर लोग कई प्रकार की ई-सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे और साथ में ही जिन लोगों द्वारा ये केंद्र खोला जाएगा, वो प्रति महीने अच्छी आय अर्जित कर सकेंगे. इसलिए अगर आप कुछ व्यापार या नया कार्य शुरू करना चाहते हैं, तो आप सामान्य सेवा केंद्र खोलने पर विचार कर सकते हैं.

कौन होते हैं गांव स्तर उद्यमी (Village Level Entrepreneur)

जिन लोगों द्वारा ये केंद्र खोला जाएगा, वो गांव स्तर उद्यमी कहलाएंगे और हाल ही में सरकार ने सामान्य सेवा केंद्र को खोलने से जुड़ी एक नई वेब साइट शुरू की है. इसलिए जिन लोगों ने पूरानी वाली सामान्य सेवा केंद्र से जुडी वेबसाइट में अपना पंजीकरण करवाया हुआ है, उनको नई वेबसाइट में जाकर फिर से अपने आपको पंजीकृत करवाना होगा.

सामान्य सेवा केंद्र खोलने से जुड़ी जानकारी –   

कौन खोल सकता है सामान्य सेवा केंद्र कोई भी भारतीय
किसके द्वारा शुरु की गई ये योजनाभारत सरकार और इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय
कितना आएगा खर्चा1.50 लाख रुपए तक
केंद्र खोलने के लिए आवेदन करने से जुड़ी वेबसाइटhttps://digitalseva.csc.gov.in/ 

 

कितनी हो सकती हैं आमदनीकम से कम 20 हजार प्रति महीना

 सामान्य सेवा केंद्र के तहत दी जाने वाली सुविधा (Services Provided By Common Service Centers (CSCs))

सामान्य सेवा केंद्र की मदद से सरकार कई तरह की सेवा या सुविधा लोगों को कंप्यूटर के जरिए देना चाहित हैं, जैसे कि शैक्षणिक सेवाएं, बी टू सी (बिजनेस टू कंज्यूमर), बी टू बी (बिजनेस टू बिजनेस), जी टू सी (गवर्नमेंट टू कंज्यूमर) इत्यादि.

बी टू सी और बी टू बी सेवाएं

बिजनेस टू कंज्यूमर नामक सेवा के अंदर उपभोक्ता नेट सुविधा का इस्तेमाल कर कई सारी सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं, जैसे कि वो ऑनलाइन क्रिकेट कोर्स, सीएससी बाजार, कृषि सेवाएं, ई वाणिज्य बिक्री, ऑनलाइन अंग्रेजी बोलने का पाठ्यक्रम, आईआरसीटीसी, एयर और बस टिकट सेवाएं, मोबाइल और डीटीएच रिचार्ज करवा सकेगा. इसी प्रकार से बी टू बी सेवा के अंदर बाजार अनुसंधान, ग्रामीण बीपीओ (डेटा संग्रह, डेटा का डिजिटलीकरण) जैसी सेवाएं शामिल की गई है.

जी टू सी (गवर्नमेंट टू कंज्यूमर) सेवाएं

सरकार से जुड़ी कई प्रकार की सेवाएं जी टू सी के अंतर्गत रखी हई हैं और सामान्य सेवा केंद्र में जाकर कोई भी व्यक्ति ऑनलाइन के जरिए इन सेवाओं का लाभ उठा सकता है.

जी टू सी के तहत आनेवाली सेवा

संख्याजी टू सी के अंतर्गत आने वाली सेवाएं
1पैन कार्ड
2पासपोर्ट बनाना
3बैंक से जुड़ी सेवा
4ई-नागिक और ई-जिला सेवाएं {जन्म / मृत्यु प्रमाणपत्र आदि}
5एनआईओएस पंजीकरण
6निएलआईटी सेवाएं
7आधार प्रिंटिंग और नामांकन
8पेंशन सेवाएं
9पोस्ट विभाग की सेवाएं
10बीमा सेवाएं
11चुनावी सेवाएं जैसे वोटर कार्ड बनवाना
12 ई-न्यायालय और परिणाम सेवाएं
13राज्य विद्युत और जल विधेयक संग्रह सेवाएं
14डिजिटाइज भारत
15साइबरग्राम

 शैक्षणिक सेवाएं (Educational Services) –

  • वयस्क साक्षरता (Adult Literacy) तारा अक्षर + जो कि साक्षरता कार्यक्रम है उसके जरिए बड़े लोगों को साक्षर बनाया जाता है और सामान्य सेवा केंद्र में तारा अक्षर + की मदद से लोगों को पढ़ाया जाएगा.
  • इग्नू सेवाएं (IGNOU Services) – सीएससी द्वारा इग्नू कॉलेज के परीक्षा फॉर्म, नतीजों के परिणाम, पाठ्यक्रम की जानकारी हासिल करने, जैसी सुविधा भी दी जाएगी. इनके अलावा इन केंद्रों में महाराष्ट्र नॉलेज कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एमकेसीएल), एनआईओएस सर्विसेज और कम्प्यूटर कोर्स की भी सुविधा मिलेगी.

वित्तीय समावेशन सेवा (Financial Inclusion Service)

  • बैंक से जुड़ी सेवा- बैंक में पैसा जमा करवाना, ओवरड्राफ्ट, खुदरा ऋण, सामान्य प्रयोजन क्रेडिट कार्ड, किसान क्रेडिट कार्ड, उधारकर्ता क्रेडिट और आदि जैसी बैंकिंग सुविधाओं का लाभ सीएससी के माध्यम से लिया जा सकता है. और इन सेवाओं को लोगों तक पहुंचाने के लिए सार्वजनिक, निजी और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के साथ साझेदारी की गई है.
  • बीमा- इस सेंटर के माध्यम से बीमा सुविधाए जैसे कि लाइफ, स्वास्थ्य बीमा, फसल बीमा, व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा, मोटर बीमा इत्यादि भी उपलब्ध करवाया जाएगा.
  • पेंशन प्रणाली – सीएससी ओपनिंग टायर 1 और टायर 2 अकाउंट्स के जरिए ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली को भी बढ़ावा देगा. इसके अलावा कृषि,  भर्ती, आयकर भरने कि सुविधा सीएससी के माध्यम से लोगों तक पहुंचाई जाएगी.

कौन कर सकता है  (Who Can Apply/ Eligibility)

केंद्र सरकार के अधीन चलाए जाने वाले, सामान्य सेवा केंद्र को खोलने के लिए सरकार ने कुछ योग्यता तय की हैं और जिन लोगों के पास ये योग्यताएं होगी, केवल वो ही सामान्य सेवा केंद्र के लिए आवेदन कर सकते हैं.

  • सामान्य सेवा केंद्र को खोलने के लिए जो न्यूनतम आयु सीमा सरकार द्वारा निर्धारित की गई है, वो 18 वर्ष की है. साथ में ही जो व्यक्ति इस केंद्र को खोलना चाहते हैं, उनका 10 वीं पास होना भी अनिवार्य हैं और उनको अपने राज्य की लोकल और अंग्रेजी भाषा और मूल कंप्यूटर ज्ञान होना भी जरूरी है.
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास आधार कार्ड होना आवश्यक है इसलिए अगर आप ये केंद्र खोलना चाहते हैं और अगर आपके पास ये कार्ड नहीं है तो तुरंत आप इस बनवा लें.

सामान्य सेवा केंद्र खोलने के लिए कैसे करें आवेदन (Village Level Entrepreneur  Or New Registration)

जो लोग सामान्य सेवा केंद्र खोलना चाहते हैं उन्हें ऑनलाइन के जरिए एक आवेदन फॉर्म भरना होगा. वहीं सामान्य सेवा केंद्र खोलने के लिए जिन लोगों का चुनाव किया जाएगा, उनको ये केंद्र खोलने से जुड़ा हुआ एक लाइसेंस सरकार द्वारा दिया जाएगा और ये लाइसेंस जिन लोगों को मिलेगा वो अपने शहर में ये केंद्र आसानी से शुरू कर पैसे कमा सकेंगे.

कैसे करें आवेदन (how to apply)

  • सामान्य सेवा केंद्र को शुरू करने से जुड़ा लाइसेंस प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आपको इस लिंक https://register.csc.gov.in/register/fresh पर जाकर पंजीकरण करवाना होगा.
  • ऊपर बताए गए यूआरएल में जाकर एक पेज खुलेगा और उस पेज पर आपको ‘सीएससी पंजीकरण के लिए’ (For CSC Registration) लिखा हुआ दिखेगा और उसके नीचे ही आपको पूछी गई जगहों पर अपना आधार नंबर, नाम और कैप्चा टेक्स्ट भरना होगा.
  • याद रहे कि आधार कार्ड बनाते समय आपके द्वारा जो मोबाइल नंबर और ई-मेल आईडी उसमें दायर की गई हैं, उसपर ही आपको ओटीपी भेजा जाएगा, जिसे आपको फॉर्म भरते टाइम यूस करना होगा. इसलिए अप्लाई करते समय केवल अपना आधार नंबर ही फॉर्म में भरें.
  • सही ओटीपी भरने के बाद प्रमाणीकरण प्रक्रिया पूरी हो जाएगी और आपको एक फॉर्म भरने को कहा जाएगा. इस फॉर्म को भरने के बाद आपको अपने सीएससी केंद्र की एक फोटो भी अपलोड करनी होगी. अब आप अपना फॉर्म सबमिट कर सकते है.
  • फॉर्म सबमिट होने के बाद आपको एक एप्लीकेशन आईडी दी जाएगी और इस आईडी को आपको संभालकर रखना होगा. क्योंकि इस एप्लीकेशन आईडी की मदद से आप अपने आवेदन पत्र की स्थित जान सकेंगे.

फिर कर सकते हैं अप्लाई

अगर किसी कारणवश आपकी आवेदन को सरकार द्वारा स्वीकार नहीं किया जाता है, तो हताश होने की आवश्यकता नहीं हैं. क्योंकि आप इस केंद्र को खोलने के लिए दोबारा भी आवेदन दे सकते हैं. हालांकि दोबारा आवेदन करते समय वो गलती ना करें जो अपने प्रथम बार आवेदन फॉर्म भरते हुए की थी.

सीएससी केंद्र के लिए आवश्यक चीजें और स्थान (Requirements Equipment And Infrastructure)

  • सीएससी केंद्र खोलने के लिए कई चीजों की आवश्यकता पड़ेगी और केवल उन्हीं लोगों को सरकार द्वारा प्राथमिकता दी जाएगी, जिनके पास कंप्यूटर होंगे.
  • इस केंद्र को खोलने से जुड़े नोटिफिकेशन के अनुसार आवेदनकर्ताओं के पास कंप्यूटर होना चाहिए, जिसमें 120 जीबी हार्ड डिस्क, सीडी, डीवीडी ड्राइव और विंडोज ओएस होना चाहिए.
  • कंप्यूटर में नेट कनैक्शन होने के साथ-साथ प्रिंटर, वेब कैमरा, डिजिटल कैमरा और स्कैनर की सुविधा भी आवेदनकर्ता को मुहैया करवानी होगी. इसके अलावा आपके पास 100 से 150 वर्ग फुट की जगह होना भी जरूरी है.
  • आवेदन करते समय आवेदनकर्ताओं को उस जगह की फोटो भी अपने आवेदन फॉर्म के साथ लगानी होगी, जहां पर वो ये केंद्र खोलने वाले हैं. यानी आवेदन करने से पहले ही आपको उस जगह का भी चयन करना होगा जिस जगह पर आप ये केंद्र शुरू करना चाहते.

कितने पैसे कमा सकते हैं (How Much Can You Earn)

सामान्य सेवा केंद्र के माध्यम से कोई भी व्यक्ति महीने में कम से कम 20 हजार की आमदनी कर सकता है. वहीं अगर ये क्रेंद्र आपके द्वारा अच्छे से चलाया जाए तो आप अधिकतम 40 हजार रुपए भी हर महीने कमा सकते हैं. हालांकि आपकी आय आपके काम पर निर्भर करेगी, यानी अगर आप अच्छे से कार्य करेंगे तो आप अधिक पैसे कमा सकेगे.

सामान्य सेवा केंद्र शुरू करने में आने वाली लागत (Budget)

सामान्य सेवा केंद्र शुरू करने में एक लाख रुपए से लेकर 1.50 लाख रुपए का खर्चा आ सकता है. इस खर्चे के अंतर्गत जगह का खर्च (किराए), बिजली इत्यादि प्रकार के खर्चों को शामिल नहीं किया गया है.

कैसे पता करें अपने आवेदन पत्र की स्थिति (Track the Status of Registration / application)

  • आवेदन करने के बाद अगर आपका चयन कर लिया जाएगा तो आपको इस बात की सूचना दे दी जाएगी. वहीं अगर आप अपने आवेदन पत्र की स्थिति पता करना चाहते हैं, तो ये सुविधा भी इसके वेब पोर्टल में दी गई है.
  • आप https://register.csc.gov.in/register/status इस लिंक पर जाकर अपने आवेदन की स्थिति हासिल कर सकते हैं. यहाँ पर आपको अपनी मेल आईडी और आधार संख्या भरनी होगी. ये सबमिट करने के बाद आपको आपकी आवेदन की स्थित पता चल जाएगी.

निष्कर्ष –

जो भी व्यक्ति नौकरी की तलाश में हैं वो इस केंद्र को खोलने के लिए आवेदन कर सकता है. सामान्य सेवा केंद्र के जरिए कई लोगों को रोजगार मिल सकेगा और साथ में ही हमारे देश की जनता ई – सेवाओं से भी जुड़ सकेंगी.

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *