गत्ते के डिब्बे बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | Corrugated Cardboard Box Making Business in Hindi

गत्ते के बॉक्स या डिब्बे बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें (Corrugated Cardboard Box Making Business cost, Investment, profit in Hindi)

आज के समय में किसी भी आइटम या सामान की पैकेजिंग के लिए गत्ते से बने बॉक्सेस की आवश्यकता होती हैं. और यदि आप इसका निर्माण कर इसका व्यवसाय करें, तो यह आपके लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता है. क्योंकि यह एक ऐसा व्यवसाय हैं जिसकी जरुरत अन्य किसी भी तरह के व्यवसाय में पड़ती ही है. यहाँ इस लेख के माध्यम से इस व्यवसाय से जुड़ी सभी जानकारी हम आपके लिए ले कर आये हैं.

Corrugated Cardboard Box Business

स्कोप एवं उपयोग (Scope and use)

गत्ते से बने बॉक्सेस की आज के समय में बहुत डिमांड है. इलेक्ट्रॉनिक आइटम हो, कपड़े हो, कांच एवं चीनी मिट्टी के आइटम हो, खाद्य या पेय आइटम हो, घर का सामान, व्यक्तिगत या घरेलू सामान, जूते, कागज के सामान, ऑटोमोबाइल, रबड़ आइटम, रसायन, तंबाकू आइटम या अन्य कोई भी तरह का व्यवसाय हो उन्हें अपने आइटम की पैकेजिंग के लिए गत्ते के बॉक्सेस का उपयोग करना पड़ता है. जिससे वे आइटम को सुरक्षित एक स्थान से दूसरे स्थान ले जा सकते हैं. इस तरह से इसका उपयोग लगभग 80% व्यवसायों में पैकेजिंग के लिए किया जाता है. यहाँ तक कि उनकी पैकेजिंग ही उनकी व्यवसाय को आकर्षक बनाती है.

ऐसे में यदि आप गत्ते से बने अलग – अलग आकार के बॉक्सेस का निर्माण कर उसका व्यवसाय शुरू करने के बारे में सोचें, तो यह बहुत अच्छा विकल्प एवं फायदेमंद व्यवसाय होगा. ये वजन में बहुत हल्के एवं स्टोर करने में आसान होते हैं, और इसे आसानी से रीसायकल भी किया जा सकता है. ये पर्यावरण के अनुकूल भी होते है. चूंकि इसकी कीमत बहुत कम होती है, इसलिए इसका व्यापक रूप से विभिन्न उद्योगों में उपयोग किया जाता है. यह पैकेजिंग बाजार में सबसे तेजी से बढ़ रहे क्षेत्रों में से एक है, और इसलिए इसका स्कोप हमेशा एक समान बरकरार रहेगा.

योजना (Plan)                                                  

इस व्यवसाय में सफल होने के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण है कि आपके पास उत्पाद और उसकी निर्माण प्रक्रिया के बारे में ज्ञान और कौशल दोनों हो, और साथ ही आप पैकेजिंग उद्योग के विभिन्न पहलुओं से अवगत हो. इसके लिए आप इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पैकेजिंग में एक कोर्स कर इस व्यवसाय के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. इसके साथ – साथ मशीनों का उपयोग कैसे करें, यह जानने के लिए भी आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है, क्योंकि मशीन को सप्लाई करने वाले व्यक्ति आपको इस मशीन को संचालित करने की सारी जानकारी दे देंगे. फिर आप अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं.

गत्ते के डिब्बे बनाने का व्यापार के लिए लाइसेंस ( Corrugated Cardboard Box Making Business License and registration)

भारत में या अन्य देशों में भी किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले आपको अपने व्यवसाय का रजिस्ट्रेशन कराना आवश्यक होता है. इसलिए निवेश रेश्यो और मैनेजमेंट पैटर्न के अनुसार, आपको व्यवसाय संगठन के सही रूप को चुनने की आवश्यकता होगी. इसके बाद आपको गत्ते के बॉक्सेस बनाने का व्यवसाय शुरू करने के लिए स्थानीय ऑथोरिटी से व्यापार लाइसेंस लेने के लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा. आप व्यवसाय को अकेले या पार्टनरशिप किसी भी रूप में शुरू कर सकते हैं. आप एमएसएमई और उद्योग आधार ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का विचार भी कर सकते हैं. यह आपको सरकारी ग्रांट और सब्सिडी प्राप्त करने में मदद करेगा.

आम तौर पर, छोटे पैमाने पर ऑपरेशन किसी भी बड़े लाइसेंस की मांग नहीं करता है. लेकिन फिर भी आपको फैक्ट्री लाइसेंस प्राप्त करने की भी आवश्यकता होगी. जहाँ आप कई तरह की मशीनरी का उपयोग करेंगे. इन सभी के साथ आपको प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से व्यवसाय के संचालन के लिए स्थापना और सहमति के लिए आवेदन करना होगा. और आपको टैक्स फाइलिंग के लिए जीएसटी नंबर के लिए आवेदन करने की भी आवश्यकता होगी.

डिब्बे बनाने के लिए कच्चा माल (Raw Material for Cardboard Box Business)                                 

गत्ते से बने बॉक्सेस का निर्माण करने के लिए मुख्य कच्ची सामग्री क्राफ्ट पेपर है. आपको यह अच्छी क्वालिटी का लेना चाहिये, क्योकि क्राफ्ट पेपर के गुण वास्तव में आपके बॉक्सेस की गुणवत्ता निर्धारित करते हैं. यह आपको बाजार में 40 रूपये प्रति किलोग्राम की दर से उपलब्ध हो जायेगा. इसके अलावा आपको कुछ अन्य कच्चे माल की भी आवश्यकता पड़ेगी वे हैं – पीला स्ट्रॉबोर्ड, गोंद और सिलाई तार आदि.

गत्ते डिब्बे बनाने के लिए  आवश्यक मशीनरी (Machine Required for Cardboard Making)

इस व्यवसाय को चलाने के लिए निम्न मशीन उपयोग में लाई जायेंगी, जिनको आप स्थानीय निर्माताओं से या ऑनलाइन बी 2 बी मार्केटप्लस जैसे इंडियामार्ट और ट्रेडइंडिया से ऑडर देकर खरीद सकते हैं.

  1. सिंगल फेस पेपर कॉरगेशन मशीन
  2. रील स्टैंड लाइट मॉडल के साथ 2 बोर्ड कटर
  3. शीट चिपकाने वाली मशीन
  4. शीट प्रेसिंग मशीन
  5. 4-बार रोटरी कटिंग और क्रिएसिंग मशीन
  6. एसेंट्रिक स्लॉट मशीन
  7. दो सिलाई मशीनें –
  • एक 36 इंच आर्म, एंगुलर हेड
  • एक 48 इंच आर्म, एंगुलर हेड

नोट :- मशीन खरीदने का निर्णय लेने से पहले मशीन कंपनी के बारे में ग्राहक की समीक्षा की जाँच करना न भूलें.

गत्ते डिब्बे बनाने की मशीन की कीमत (Cardboard Box Machine Price )

इस व्यवसाय में उपयोग होने वाली मशीनों की कीमत नीचे दर्शाई गई है –

क्र. म.मशीनेंकीमत
1.सिंगल फेस पेपर कॉरगेशन मशीन4 लाख रूपये
2.रील स्टैंड लाइट मॉडल के साथ 2 बोर्ड कटर1 लाख रूपये
3.शीट चिपकाने वाली मशीन75 हजार रूपये
4.शीट प्रेसिंग मशीन1 लाख रूपये
5.4-बार रोटरी कटिंग और क्रिएसिंग मशीन2 लाख रूपये
6.एसेंट्रिक स्लॉट मशीन2 लाख रूपये
7.दो सिलाई मशीनें

  • एक 36 इंच आर्म एंगुलर हेड
  • एक 48 इंच आर्म एंगुलर हेड
 

55 हजार रूपये

50 हजार रूपये

नोट :- आप मशीनों की कीमत के लिए सप्लायर से बातचीत कर सकते हैं, और यह भी सुनिश्चित कर सकते हैं कि मशीनों के लिए वारंटी अवधि उपलब्ध हो.

गत्ते के बोर्ड बनाने की प्रक्रिया (Making process of Corrugated Cardboard)

गत्ते के बॉक्स कितनी मोटाई के होने चाहिए, यह भी इस व्यवसाय में जरूरी है. क्योकि इसमें अलग – अलग मोटाई एवं अलग – अलग आकार के बॉक्स का निर्माण किया जाता है. इसमें 2 – प्लाई, 3 – प्लाई, 5 – प्लाई, 7 – प्लाई और 9 – प्लाई तक की मोटाई वाले विभिन्न कार्डबोर्ड का निर्माण कर बॉक्सेस तैयार किये जाते हैं, तो बॉक्स बनाने से पहले हम यहाँ इसके कार्डबोर्ड का निर्माण करने के बारे में बता रहे हैं –

सबसे पहले आपको क्राफ्ट पेपर शीट से कार्डबोर्ड का उत्पादन करना होगा, जिसे कॉरगेटेड बोर्ड भी कहा जाता है. फ्लैट शीट के कॉरुगेशन के लिए या 2 – प्लाई बोर्ड की तैयारी के लिए एक कॉरगेटिंग मशीन को उपयोग में लें. फ्लैट शीट को गर्म फ्लूटेड रोल से गुजारें, जिससे इसकी एक परत कॉरगेटेड यानि जिग-ज़ैग हो जाती है. अब आप दो फ्लैट शीट के बीच में इस कॉरगेटेड शीट को लगायें, इसे चिपकाने के लिए आप गोंद एवं चिपकाने वाली मशीन का उपयोग करें. चिपकाने वाली मशीन पर कॉरुगेटेड साइड पर गोंद लगायें, इससे यह चिपक भी जाएगी और साथ ही रोल भी हो जाती है. यह रोल सिंगल फेस या 2 – प्लाई कॉरगेटेड बोर्ड का बन कर तैयार हो जायेगा. फिर बोर्ड कटर मशीन के साथ इस रोल को काट लें. इसके ऊपर आप एक और कॉरगेटेड शीट लगाकर एक और फ्लैट शीट रखकर इसे चिपकाएँ और दबायें. इस तरह से इससे आपको डबल फेस या 3 – प्लाई कॉरुगेटेड बोर्ड मिलेगा. इसी प्रकार आप मोटे बोर्ड बनाने के लिए एक के ऊपर एक शीट चिपकाते जाएँ, और आप 5 – प्लाई, 7 – प्लाई एवं 9 – प्लाई जैसी किसी भी मोटाई के बोर्ड बना सकते हैं.

बॉक्स की डिजाईन (Box Design)

कॉरगेटेड बोर्ड बन जाने के बाद अब बारी आती है बॉक्स को डिजाईन करने की. अब आप इन बोर्ड से बॉक्स का उत्पादन कर सकते हैं. इसके लिए सबसे पहले आप उन बोर्ड्स को सुखा लें. हमेशा बॉक्स का आकार उसके अंदर के डायमेंशन पर निर्भर करता है. अतः आपको इसकी लम्बाई, चौड़ाई और गहराई का ध्यान रखना होगा. किसी भी दी गई क्यूबिक सामग्री के लिए सबसे किफायती बॉक्स में 2 : 1 : 2 का अनुपात होता है. हालाँकि आप अपने हिसाब से इसका उपयोग कर सकते हैं. साथ ही आप अपने ग्राहक की मांग के अनुसार बॉक्स का आकार निश्चित करें. बॉक्स बनाने के लिए आप 4-बार रोटरी कटिंग और क्रिएसिंग मशीन एवं एसेंट्रिक स्लॉट मशीन का उपयोग करें. इस मशीन को संचालित कैसे करना है, यह आपको मशीन सप्लायर द्वारा बता दिया जायेगा. आप प्रिंटेड बॉक्सेस का उत्पादन भी कर सकते हैं. अधिकतर ग्राहक अपनी कंपनी के लोगो, उसका नाम या उत्पाद की डिजाईन कुछ भी बॉक्स के बाहरी तरफ प्रिंट करवाते हैं. आप यह करके इसके लिए अतिरिक्त चार्ज ले सकते हैं.

इस तरह से बॉक्स को डिज़ाइन कर आप अपना व्यवसाय अच्छे से संचालित कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं.

अंत में, आपको प्रोडक्ट की गुणवत्ता एवं विशेष विवरण पर सावधानीपूर्वक ध्यान देना होगा. बीआईसी यानि भारतीय मानक ब्यूरो ने विभिन्न एप्लीकेशंस के लिए विशेष विवरण प्रकाशित किये है. इसलिए आपको कार्ड बोर्ड बॉक्स बनाने वाले व्यवसाय में उस बीआई गाइड का पालन करना होगा.

गत्ते डिब्बे के व्यापर के लिए कुल खर्च (Cardboard Box Making Business Investment )

इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए जमीन और बिल्डिंग की आवश्यकता पड़ेगी. इसके अलावा मशीनरी के लिए कुछ रुपयों की आवश्यकता होगी, और अगर आप इसे छोटे पैमाने पर शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं, तो आपको ज्यादा खर्च नहीं करना है. 

इन मशीनों के साथ ही पैकेजिंग, फॉरवार्डिंग, एक्साइज, इन्शुरन्स, सेल्स – टैक्स और माल ढुलाई आदि के लिए, ऑफिस फर्नीचर के लिए एवं निर्माण और विद्युतीकरण के लिए कुछ रूपये लग सकते हैं. अतः कुल मिलाकर आपको मशीनों एवं अन्य चीजों के लिए  2 लाख के आस पास खर्च करने होंगे.

गत्ते के व्यापर के लिए लाभ (Cardboard Box Making Business Profit)

चूंकि इस व्यवसाय की मांग बाजार में हमेशा रहेगी, इसलिए इस व्यवसाय का प्रॉफिट मर्जिन बहुत अच्छा है. यदि आप ग्राहक बनाने में सक्षम होते हैं, तो इससे आप लगभग 10 से 15 लाख रूपये प्रति माह कमा सकते हैं.

इस व्यवसाय की अधिक मांग होने कारण बाजार में आपके कई प्रतिस्पर्धी भी हो सकते हैं. इसलिए हमारा सुझाव है कि आप इस व्यवसाय को अच्छी तरह से समझने के बाद ही इसे शुरू करें.

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *