क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में क्या अंतर है

क्रेडिट और डेबिट कार्ड में क्या अंतर है, किसे कहते हैं, (What is the Difference Between Credit and Debit Card, Meaning, Benefit, Works, Apply, Uses in Hindi)

दिन प्रतिदिन सभी डिजिटल होते जा रहे हैं, ऐसे में बाजार में शॉपिंग करते समय कैश कौन लेकर जाता है. सभी यही कोशिश करते हैं, कि उनके पास डेबिट या क्रेडिट कार्ड होना चाहिए. वैसे भी आजकल क्रेडिट कार्ड और डेबिट का इस्तेमाल करना बेहद आसान हो गया है. कोई भी व्यक्ति आसानी से कार्ड का इस्तेमाल करके किसी भी प्रकार की शॉपिंग या बिल भुगतान कर सकता है.  यदि आप नहीं जानते हैं, की डेबिट और क्रेडिट कार्ड होते क्या है, आपने अब तक सिर्फ इनका नाम सुना है, तो चलिए आज विस्तार से इनके बारे में जान भी लेते हैं.

Debit and Credit Card

डेबिट कार्ड क्या होता है ? (What is Debit Card ?)

डेबिट कार्ड एक ऐसा कार्ड होता है, जो आपके बैंक द्वारा आपके अकॉउंट से जोड़ कर आपको प्रदान किया जाता है. वह एक ऐसा कार्ड होता है, जिसकी सहायता से आप अपने बैंक के जरिए किसी भी शॉपिंग या बिल का भुगतान सीधे ही कर सकते हैं. मान लीजिए यदि आपके बैंक में 10,000 रूपये मौजूद हैं, जिसमें से यदि आप डेबिट कार्ड की सहायता से शॉपिंग करते हैं या फिर कोई बिल का भुगतान करते हैं, तो वह राशि आपके बैंक अकाउंट से सीधे ही काट ली जाएगी. इस कार्ड के जरिए कहीं पर भी आपके बैंक अकाउंट से सीधे ही किसी भी राशि का भुगतान बिना कैश के कर दिया जाता है.

डेबिट कार्ड कैसे काम करता है ? (How Debit Card Works?)

किसी भी बैंक में यदि आपका खाता मौजूद है, तो उस बैंक के द्वारा ही आपका डेबिट कार्ड जारी किया जाता है. यह आपको किसी भी तरह का भुगतान करने की पूरी अनुमति देता है, जिसके लिए बैंक द्वारा एक पिन कोड सेट करने की अनुमति भी दी जाती है, जो आपके लिए बेहद अनिवार्य है इस पिन कोड की सहायता से डेबिट कार्ड का कोई भी गलत इस्तेमाल नहीं कर सकता है. इस कार्ड के जरिए आप सिर्फ उसी राशि का इस्तेमाल कर सकते हैं, जो आपके खाते में पहले से मौजूद है. यदि आप उससे अधिक राशि का इस्तेमाल करते हो या करना चाहते हो, तो वह ओवरड्राफ्ट राशि होती है, जिसके लिए कुछ अतिरिक्त राशि के तौर पर आपको बैंक में भुगतान करना होता है.

डेबिट कार्ड के फायदे (Benefits and advantages of Debit Card)

डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करने से आप शॉपिंग तो कर सकते हो और साथ ही इसके और भी कई सारे फायदे उठा सकते हो आइए जानते हैं विस्तार से….

  •  फीस और सर्विस चार्ज से बचना –

डेबिट कार्ड इस्तेमाल करने का सबसे महत्वपूर्ण लाभ यही है, कि इसके इस्तेमाल से हम बैंक द्वारा किसी भी अतिरिक्त शुल्क या सर्विस चार्ज से बच सकते हैं. परंतु फ़ीस और सर्विस चार्ज से बचने के लिए आपको अपना डेबिट कार्ड सावधानी से इस्तेमाल करना होता है.

  • खर्च का रखें पूरा ब्यौरा –

डेबिट कार्ड द्वारा आप किसी भी राशि का भुगतान करते हैं, तो उसका पूरा ब्योरा आपके रजिस्टर्ड नंबर या ईमेल आईडी पर सीधा भेजा जाता है. इसकी पूरी जानकारी बैंक द्वारा जारी की गई पासबुक में भी आप समय-समय पर प्रिंट करा सकते हैं.

  • शीघ्र भुगतान –

डेबिट कार्ड द्वारा आप कहीं पर भी आसानी व शीघ्रता से किसी भी राशि का भुगतान अपने बैंक अकाउंट से ही कर सकते हैं. इसमें आपको कोई भी विलंब का सामना नहीं करना पड़ता है और ना ही किसी चार्ज का भुगतान करना पड़ता है.

  • संपूर्ण सुरक्षा –

जेब में पर्स रखने से पर्स चोरी होने की संभावना अधिक रहती है, परंतु यदि आप डेबिट कार्ड रखकर शॉपिंग करने जाते हैं या फिर घूमने फिरने जाते हैं, तो आप आसानी से निश्फिक्र होकर अपने सभी काम पूरे कर सकते हैं. वहीं दूसरी ओर यदि आपका डेबिट कार्ड चोरी भी हो जाता है, तो उसका आपके बैंक अकाउंट में मौजूद राशि पर कोई असर नहीं होगा. उस कार्ड का कोई इस्तेमाल नहीं कर सकता, क्योंकि उसमें एक पिन नंबर होता है, जो सिर्फ उस कार्ड का मालिक ही जानता है.

  • ऑफर्स –

कुछ मॉल, शॉपिंग सेंटर और ऑनलाइन पेमेंट के लिए डेबिट कार्ड पर ऑफर्स भी रखे जाते हैं, जिनसे शॉपिंग करने या बिल पेमेंट करने से वहां पर आपको कुछ ना कुछ इनाम राशि भी प्राप्त होती है या फिर छूट मिलती है. एक यह भी सबसे बड़ा लाभ है, जिसकी वजह से उपभोक्ता डेबिट कार्ड का अधिक इस्तेमाल करते है.

डेबिट कार्ड रखने के नुकसान (Debit Card Limitations and disadvantages)

डेबिट कार्ड रखने के जितने फायदे हैं, तो उतने नुकसान भी मौजूद हैं आइए जानते हैं डेबिट कार्ड से जुड़े नुकसान के बारे में…

  • क्रेडिट की अनुमति नहीँ –

डेबिट कार्ड के जरिए आप किसी भी राशि का भुगतान तो कर सकते हैं, परंतु उस कार्ड से आप किसी भी अतिरिक्त राशि को बैंक से नहीं निकाल सकते हैं, अर्थात उधार नहीं ले सकते है.

  • धोखाधड़ी के उपयोग पर विवाद मुश्किल –

यदि आपका डेबिट कार्ड कहीं चोरी हो जाता है या फिर उसका कोई गलत इस्तेमाल कर लिया जाता है, तो इस विवाद को सुलझा पाना बेहद मुश्किल हो जाता है.

  • अतिरिक्त शुल्क –

यदि आप डेबिट कार्ड के जरिए कुछ अतिरिक्त राशि बैंक से निकाल लेते हैं, जो आपके बैंक में मौजूद भी नहीं है, तब डेबिट कार्ड की लेनदेन पर एक अतिरिक्त शुल्क का भुगतान आपको बैंक में करना होता है.

क्रेडिट कार्ड क्या है ? (What is Credit Card ?)

क्रेडिट कार्ड एक इलेक्ट्रॉनिक और प्लास्टिक कार्ड है, जिसे वित्तीय संस्थानों द्वारा एक उपभोक्ता की सुविधाओं के लिए जारी किया जाता है. यह एक ऐसी सुविधाएं है, जिसकी सहायता से कोई भी उपभोक्ता अपनी जरूरत के अनुसार या अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए वित्तीय संस्थानों से पैसे उधार ले सकता है.

क्रेडिट कार्ड कैसे काम करता है ? (How Credit Card Works ?)

क्रेडिट कार्ड धारक को किसी भी वित्तीय संस्थान या बैंक से जरूरत पड़ने पर एक सीमित राशि उधार लेने की अनुमति प्रदान करता है. परंतु उस राशि को बैंक या वित्तीय संस्थानों में वापस लौटाने के लिए उन्हें 1 सीमित अवधि का समय भी दिया जाता है, जो आमतौर पर 25 से 30 दिन या उससे ज्यादा का हो सकता है. यदि एक उपभोक्ता क्रेडिट कार्ड द्वारा किए गए भुगतान की राशि को समय अवधि से पहले वित्तीय संस्थान में लौटा देता है, तो उसे कोई भी अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ता है, परंतु यदि वह उस सीमा अवधि के दौरान वह राशि का भुगतान नहीं कर पाता है, तो उस व्यक्ति को अतिरिक्त राशि के तौर पर ब्याज का पेमेंट करना पड़ता है.

क्रेडिट कार्ड के क्या फायदे हैं ? (Benefits of Credit Card)

जिस तरह से डेबिट कार्ड इस्तेमाल करने के बहुत से फायदे हैं, इसी तरह से क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने से भी आप बहुत सारे फायदे प्राप्त कर सकते हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित है:-

  • रिवार्ड्स –

क्रेडिट कार्ड के जरिए आप किसी भी प्रकार का भुगतान कर सकते हैं, जैसे फ़्लाइट बुक करना कार के किराया या फिर पेट्रोल भरना और किराने की खरीदारी जैसी सभी सुविधाओं को प्राप्त करने के बदले आपको क्रेडिट कार्ड रीवार्ड प्वाइंट प्राप्त होते हैं. जिनसे आप सभी सुविधाओं के बदले कुछ पुरस्कार भी प्राप्त करते हैं.

  • साइनअप बोनस –

क्रेडिट कार्ड में कई और आकर्षक सुविधाएं प्रदान की जाती हैं, जैसे क्रेडिट कार्ड में साइन अप करने के लिए आपको कुछ राशि का कैशबैक मिलता है और साथ ही बड़ी मात्रा में बोनस अंक भी प्राप्त होता है. इसमें ब्याज के रूप में किसी भी क्रिया को करने के लिए जैसे किसी चीज का भुगतान करना या फिर कोई लंबे समय के लिए लोन लेना, उस पर कम ब्याज की दर लागू की जाती है.

  • कैशबैक ऑफर्स –

कई सारी शॉपिंग वेबसाइट और कई सारी दुकानें भी क्रेडिट कार्ड से स्वाइप करके भुगतान करने पर कैशबैक ऑफर्स देती हैं, जिसकी सहायता से मासिक खर्च से ऊपर तक राशि की बचत हो जाती है.

  • बीमा सुविधा –

क्रेडिट कार्ड कंपनियों द्वारा क्रेडिट कार्ड जारी करते समय कई प्रकार के बीमा की सुविधा भी प्रदान की जाती है. जिसमें यात्रा कार बीमा, यात्रा बीमा, खरीदे गए सामान पर सुरक्षा का बीमा आदि शामिल हैं.

  • धोखाधड़ी से सुरक्षा –

क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल बहुत ही सरल होता है और इसे पूरी तरह से वित्तीय संस्थानों को बैंक द्वारा धोखा रहित बनाया जाता है. इस कार्ड के जरिए किसी भी प्रकार की शॉपिंग या पेमेंट का भुगतान करते समय धोखाधड़ी का कोई अवसर नहीं रहता है.

  • सुविधाजनक और सुरक्षित ऑनलाइन शॉपिंग –

ऑनलाइन शॉपिंग का दौर है और यह कार्ड आपको इतनी सुविधाएं प्रदान करता है, जो बेहद सुरक्षित होती है, जिसके जरिए आप मन चाहे जितनी ऑनलाइन शॉपिंग करके अपनी सभी जरूरतों को पूरा कर सकते हैं. जिसके लिए आपको कोई भी शुल्क नहीं देना पड़ता है, बल्कि इसके बदले आपको दैनिक खरीदारी के उपयोग के लिए क्रेडिट पॉइंट प्रदान किए जाते हैं.

  • कम नकदी में बनता है सहारा –

मान लीजिये आपको घर में किसी फंक्शन या फिर किसी जरूरत के अनुसार बहुत सारी शॉपिंग करनी है, और आपके पास धन के रूप में कुछ भी मौजूद नहीं है. ऐसे में क्रेडिट कार्ड आप का सबसे गहरा मित्र बनकर सामने आता है. क्योंकि वित्तीय संस्थान द्वारा आपकी सभी शॉपिंग का भुगतान किया जाता है, जिसके लिए आप बाद में उन्हें वापस राशि दे सकते हैं.

  • किसी भी मुद्रा में करता है काम –

क्रेडिट कार्ड विभिन्न प्रकार की मुद्रा में काम करता है, जिसकी वजह से हमें विदेशों में भी शॉपिंग करना होता है, जैसे यदि आप विदेशों में घूमने जाते हैं, तो ऐसे में आप आराम से क्रेडिट कार्ड के जरिए किसी भी प्रकार की मुद्रा को अपनी मुद्रा में बदल सकते हैं, यानि उस देश की करेंसी में बदल कर आराम से शॉपिंग या बिलों का भुगतान कर सकते हैं.

क्रेडिट कार्ड के नुकसान (Credit Card Limitations)

चीज चाहे कोई भी हो उसके फायदे होते हैं, तो नुकसान भी होते हैं, इसी प्रकार क्रेडिट कार्ड के भी कुछ नुकसान होते हैं, जो निम्नलिखित है:-

  • ऋण की संभावना –

क्रेडिट कार्ड एक ऐसा कार्ड है, जिससे शॉपिंग करते समय आपको भुगतान की गई राशि का अनुमान नहीं रहता है, अर्थात आप आनंद लेते हुए लगातार शॉपिंग करते जाते हैं और ऐसे में यदि आप उस राशि का भुगतान बैंक के वित्तीय संस्थान में वापस नहीं करते हैं, तो आपके ऊपर एक बहुत बड़ी राशि का ऋण चढ़ जाता है और आपको इस बात का अंदाजा तक नहीं लग पाता है.

  • क्रेडिट स्कोर –

क्रेडिट कार्ड के सभी काम इसका पूरा खेल क्रेडिट कार्ड से जुड़े क्रेडिट स्कोर पर निर्भर करता है. इसलिए यदि आपके क्रेडिट स्कोर में कहीं ना कहीं भुगतान ना करने की वजह से कमी आ जाती है, तो ऐसे में भविष्य में आप क्रेडिट कार्ड अप्लाई करने के लायक भी नहीं रहते हैं.

  • अतिरिक्त शुल्क का डर –

मान लीजिए आप वित्तीय संस्थानों द्वारा क्रेडिट कार्ड के जरिए भरे बिलों का पूरा भुगतान नहीं कर पाते हैं तो ऐसे में आपको अतिरिक्त शुल्क का भुगतान करना होता है. और यदि आप समयावधि के अंदर उस राशि का भुगतान नहीं करते हैं, तो उस ब्याज की राशि पर दुगना ब्याज लगा दिया जाता है जिससे आपके द्वारा भुगतान करने वाली राशि धीरे-धीरे दोगुनी से चौगुनी होती जाती है.

  • सीमित उपयोग –

किसी भी चीज का इस्तेमाल यदि सीमित व निर्धारित सीमा के अंदर किया जाए, तो वह आपको नुकसानदेह नहीं होता है, परंतु यदि आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल एक निर्धारित की गई सीमाओं से ज्यादा करने लगते हैं, तो ऐसे में वह आपको कई सारे नुकसान की भरपाई करवा सकता है.

क्रेडिट और डेबिट कार्ड का इस्तेमाल कब और कैसे करना उचित है ? (When and How to Use Credit and Debit Card ?)

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड दोनों ही अलग-अलग परिस्थितियों में इस्तेमाल किए जा सकते हैं.

  • व्यवसाय के लिए कार्ड का इस्तेमाल ( Credit and Debit Card use for Business)-

व्यवसाय आरंभ करने में अधिक प्रकार की जरूरतें होती हैं जिन्हें पूरा करने के लिए वित्त की आवश्यकता होती है ऐसे में यदि आपके पास वित्त मौजूद नहीं है तो आप अपने व्यवसाय से जुड़े सभी शॉपिंग व खरीदारी क्रेडिट कार्ड के जरिए कर सकते हैं. जिसके लिए आपको असीमित राशि का लोन क्रेडिट लेने की अनुमति होती है. उसके बदले में आपको एक मासिक राशि का भुगतान वित्तीय संस्थानों को करना होता है. वही उसके विपरीत यदि आप डेबिट कार्ड से अपने व्यवसाय से जुड़ी सभी सुविधाओं को प्राप्त करने के लिए भुगतान करते हैं, तो आपके बैंक खाते में मौजूद राशि से वे सभी भुगतान आसानी से कर दिए जाते हैं और इसके बदले आपके ऊपर कोई भी कर्ज नहीं चढ़ता है.

  • व्यवसाय के लिए लाभ –

यदि आप अपने व्यवसाय के लिए बार-बार क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो इसके बदले आपको कुछ रिवॉर्डज भी प्राप्त होते हैं व आपका क्रेडिट स्कोर भी बढ़ता है. परंतु सीमित समय अवधि में राशि को ना चुकाने से आपको इसके लिए एक अतिरिक्त शुल्क का भुगतान करना होता है. यदि आप अपने डेबिट कार्ड से सभी भुगतानो को संपूर्ण करते हैं तो ऐसे में आपको किसी भी अतिरिक्त शुल्क का भुगतान नहीं करना होता और साथ ही आप पर कोई उधार नहीं आता है.

  • व्यवसाय के लिए नुकसान –

क्रेडिट कार्ड से आप अपनी सभी सुविधाएं तो आसानी से प्राप्त कर सकते हैं परंतु एक व्यवसाय के लिए इतना अधिक वित्तीय ऋण अच्छा नहीं होता है. कर्ज में डूबा हुआ व्यवसाय कभी भी उन्नति की ओर नहीं बढ़ता है यह एक ऐसा मुख्य कारण है जिससे आप अपने व्यवसाय को नुकसान पहुंचा सकते हैं. वहीं इसके विपरीत यदि आप डेबिट कार्ड के इस्तेमाल से अपने व्यवसाय की सभी जरूरतों को पूरा करते हैं तो आपको अतिरिक्त ऑफर भी प्रदान किए जाते हैं और आप अपने व्यवसाय को सुविधा पूर्वक बिना किसी ऋण के चला सकते हैं.

डेबिट कार्ड के लिए कैसे अप्लाई करें ? (How to Apply for Debit Card ?)

आप डेबिट कार्ड अपने बैंक द्वारा आसानी से प्राप्त कर सकते हैं लेकिन उसके लिए आपको एक प्रक्रिया से गुजरना होता है जो निम्नलिखित है:-

  • डेबिट कार्ड के लिए अप्लाई करने के लिए आपको सबसे पहले बैंक में जाकर खाता खोलने की आवश्यकता होती है. यदि आप पहले से ही किसी बैंक में खाता चला रहे हैं तो आपको डेबिट कार्ड के लिए एक अन्य खाता खोलने की आवश्यकता नहीं है.
  • डेबिट कार्ड के लिए आवेदन भरने के लिए आपको स्वयं से जुड़ी सभी जानकारियाँ एकत्र करनी होंगी जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड नंबर और आपके वर्तमान नौकरी की जानकारी साथ ही आपको अपनी ईमेल आईडी या रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर भी बैंक में जमा कराना होता है.
  • डेबिट कार्ड आवेदन के लिए आप ऑनलाइन भी आवेदन पत्र भर सकते हैं उसमें भी आपको अपनी सभी निजी जानकारियां सम्मिलित करनी होती हैं.
  • इसके बाद आपके सभी दस्तावेजों की जांच पड़ताल करने के बाद आपको बैंक द्वारा डेबिट कार्ड जारी कर दिया जाता है.
  • आमतौर पर किसी भी उपभोक्ता को डेबिट कार्ड 7 दिन या फिर 15 दिन के अंदर जारी कर दिया जाता है. कार्ड जारी होने के बाद यह लगभग 1-2 दिन या 24 घंटे के अंदर एक्टिवेट भी हो जाता है.

क्रेडिट कार्ड कैसे प्राप्त करें (How to Get and apply for Credit Card ?)

  • क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आपको कुछ जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जिसमें आपका पैन कार्ड, आधार कार्ड, और आपकी पासपोर्ट साइज फोटो शामिल है.
  • इन सभी दस्तावेजों के साथ-साथ इसमें आपके बैंक स्टेटमेंट की फोटो कॉपी और आपके आयकर रिटर्न की रसीद भी लगाई जाती है.
  • सभी दस्तावेजों को इकट्ठा करके आप किसी वित्तीय संस्थान या बैंक में जाकर एजेंट से मिल सकते हैं वह क्रेडिट कार्ड प्रक्रिया में आपकी पूरी सहायता करते हैं.
  • जब आपके सभी दस्तावेजों की पूरी तरह जांच पड़ताल कर ली जाती है तो आपके क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाती है.
  • यदि आपके दस्तावेज पूरी तरह से ठीक है तो उसके बाद आपको 7 या 15 दिन के अंतराल में क्रेडिट कार्ड प्रदान कर दिया जाता है.

FAQ’s

Q : आपके व्यवसाय के लिए कौन सा कार्ड सबसे अच्छा है?

Ans : यदि वैकल्पिक रूप में देखा जाए तो आपके व्यवसाय के लिए दोनों ही कार्ड अच्छे हैं यदि आप उनका ठीक से इस्तेमाल करें. यदि आप डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो आपको अपनी एक सीमित राशि का इस्तेमाल करना होगा जो भविष्य में आपके व्यवसाय के लिए फायदेमंद साबित होता है. वही क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल की कोई सीमा नहीं होती इसलिए यदि आप अपने व्यवसाय के लिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो वह और सीमित राशि तक चला जाता है जिसकी वजह से भविष्य में आपके व्यवसाय को कई सारे नुकसानों का सामना करना पड़ सकता है.

Q : बिजनेस डेबिट कार्ड या बिजनेस क्रेडिट कार्ड क्या होता है?

Ans : बिजनेस डेबिट कार्ड एक ऐसा कार्ड होता है जिससे आप अपने व्यवसाय की जरूरतें पूरा करने के लिए सीधे ही अपने बैंक में मौजूद राशि का इस्तेमाल कर पाते हैं. वहीं दूसरी ओर बिजनेस क्रेडिट कार्ड एक ऐसा कार्ड होता है जिसकी मदद से आप अपने व्यवसाय की जरूरतें पूरा करने के लिए बैंक से लोन या फिर उधार राशि प्राप्त कर सकते हैं जिसके बदले आप प्रतिमाह एक निश्चित राशि का भुगतान करने का वायदा वित्तीय संस्थान व बैंक को करते हैं.

Q : क्या बिना क्रेडिट स्कोर के क्रेडिट कार्ड प्राप्त हो सकता है?

Ans : हां,बाजार में ऐसी बहुत सी वित्तीय कंपनियां मौजूद है जो बिना क्रेडिट स्कोर के भी उपभोक्ताओं को क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराती हैं.

Q : ऑनलाइन शॉपिंग के लिए क्रेडिट या डेबिट कार्ड में से कौन सा कार्ड सही विकल्पों में आता है?

Ans : यदि समझदारी की बात की जाए तो डेबिट कार्ड से ऑनलाइन शॉपिंग करना बेहद फायदेमंद है क्योंकि इससे अधिक वारंटी के साथ साथ पुरस्कार भी मिलता है और डेबिट कार्ड से शॉपिंग करने में सुरक्षा भी शामिल होती है. यदि इसके लाभों को गिना जाए तो सबसे पहला लाभ यही है कि आपका धोखाधड़ी से बचाव होगा. क्योंकि इससे किसी भी राशि का भुगतान सीधे आपके बैंक द्वारा हो जाता है. यदि आप किसी वस्तु को वापस भी भेजना चाहते हैं तो भी भुगतान की गई राशि वापस आपके बैंक खाते में आ जाती है.

Q : कैशबैक क्या है?

Ans : कैशबैक वह राशि होती है जो आपको कोई भी ट्रांजैक्शन करने पर राशि के भुगतान के बदले कुछ प्रतिशत राशि वापस मिलती है. उस राशि को कैशबैक राशि कहते हैं.

अन्य पढ़े –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *