दोना पत्तल बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें ?

दोना पत्तल बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें (How to Start Dona Pattal Making Business in Hindi or Dona Pattal banane ka vyapar kaise kare )

यदि कोई भी व्यक्ति व्यवसाय करने में दिलचस्पी रखता है, तो सबसे पहले एक मुनाफे वाले व्यवसाय के बारे में खोज शुरू करता है. अब ऐसे में वह यह भी चाहता है, कि कम पूंजी में ही एक अच्छे व्यवसाय से उसे जल्द ही लाभ प्राप्त हो. एक ऐसा ही व्यवसाय हम आपके लिए लेकर आए हैं, जो कम पूंजी में अच्छा लाभ आपको प्रदान करा सकता है, उस व्यवसाय का नाम है दोना पत्तल व्यवसाय. आज हम जानेंगे की कितनी पूंजी और किस समय आपको दोना पत्तल का व्यवसाय आरंभ करना चाहिए और आप इस व्यवसाय में कितने प्रतिशत मुनाफा कमा कर जल्द ही धन अर्जित कर सकते हैं. तो आइए जान लेते हैं दोना पत्तल के बारे में विस्तार से….

Dona pattal business

क्या है दोना पत्तल ? (What is Dona Pattal ?)

आपने अक्सर शादी पार्टी या किसी फंक्शन में दोना पत्तल में खाना खाया होगा, कभी यह जानने की कोशिश नहीं की होगी, कि आखिरकार वे दोना पत्तल होते क्या है और बनते कैसे हैं? दरअसल दोना पत्तल कई प्रकार के पाए जाते हैं, जिनमें कुछ दोना पत्तल प्लास्टिक के होते हैं, जो डिस्पोजल भी कहे जाते हैं. कुछ दोना पत्तल ऐसे होते हैं, जो थर्माकोल से भी बने होते हैं और कुछ प्लास्टिक से भी बनाए जाते हैं. आज के समय में प्लास्टिक और थर्माकोल से बने दोने पत्तलों का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन पुराने समय में दोना पत्तल मुख्य रूप से पत्तों से बनाए जाते थे. जी हां बीते हुए समय में पेड़ के पत्तों के बनाए हुए दोना पत्तलों का इस्तेमाल बहुत ज्यादा अधिक मात्रा में हुआ करता था, लेकिन आज के समय में उनकी जगह प्लास्टिक और थर्माकोल के बनाए गए दोना पत्तलों ने ले ली है.

पहले के जमाने में या कहें आज भी कुछ जगहों पर सरगी झाड़ के पत्तों और केले के पेड़ के पत्तों को तोड़कर और उन्हें छांट कर पत्तल दोने बनाए जाते हैं और उनमें बांस की तीलियां छांट, काटकर उन्हें जोड़कर कटोरी व प्लेट बनाने के काम में लाया जाता है. जिनका उपयोग करना बेहद ही सरल और उन्हें नष्ट करना भी बेहद आसान है. परंतु प्लास्टिक और थर्माकोल के बने हुए दोना पत्तल को नष्ट करना व उन्हें समाप्त करना बेहद मुश्किल है. तो चलिए जानते हैं कि किस तरह से आप एक ऐसा बिजनेस कर सकते हैं, जो आपके लिए और पर्यावरण दोनों के लिए ही फायदेमंद होगा.

दोना पत्तल व्यवसाय का रजिस्ट्रेशन (Dona Pattal Business Registration)

व्यवसाय चाहे कोई भी हो यदि उसका कानूनी तौर पर रजिस्ट्रेशन हो जाता है, तो भविष्य में उसे लेकर किसी भी प्रकार की परेशानी या किसी समस्या का सामना एक व्यवसाय मालिक को नहीं करना पड़ता है. हालांकि इस व्यवसाय से जुड़ी  रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया बहुत लंबी चौड़ी नहीं है. दोना पत्तल व्यवसाय का भी रजिस्ट्रेशन कराना बेहद आवश्यक होता है, भले ही है यह छोटा व्यापार है परंतु बिना रजिस्ट्रेशन के आप यह व्यापार भी नहीं कर सकते हैं. तो आइए जानते हैं दोना पत्तल व्यवसाय की कानूनी तौर पर रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया:-

  • अपने व्यवसाय को आरंभ करते समय आपको एक नाम  ढूंढ लेना आवश्यक है, जिस नाम पर आप अपने व्यवसाय को एक पहचान देना चाहते हैं. एक ऐसा नाम जो सबसे अलग हो और किसी भी व्यवसाय से मिलता-जुलता ना हो.

  • जिस क्षेत्र व राज्य में आप अपना व्यापार आरंभ करना चाह रहे हैं,  उस क्षेत्र की नगरपालिका में जाकर आपको लाइसेंस की अर्जी लगाना अति आवश्यक है.

  • यदि आपके व्यापार में या फिर आपके द्वारा एकत्रित की गई व्यापार से संबंधित सभी चीजों में कोई त्रुटि नहीं होगी, तो नगरपालिका आपको आपके व्यापार के लिए कानूनी लाइसेंस प्रदान कर देगी.

  • भले ही दोना पत्तल बनाना एक गैर कानूनी काम नहीं है, लेकिन इसके लिए लाइसेंस प्राप्त करना और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से एनओसी लेना आपके लिए अनिवार्य है.

  • आप अपने व्यापार को एमएसएमई के रूप में एक उद्योग आधार के तहत रेजिस्ट्रेशन अवश्य करा लें, जिसके लिए आपको अपने पास के ही जिला उद्योग केंद्र जाने की आवश्यकता होगी.

  • संभवत आपने या तो किराए पर कोई दुकान ली होगी या फिर आपकी खुद की कोई दुकान होगी, जिसके लिए आपको बिजली की आवश्यकता भी पड़ेगी. बिजली की आवश्यकता पूरी करने के लिए आप स्टेट इलेक्ट्रिक बोर्ड से बिजली की मंजूरी ले सकते हैं और वहां पर व्यवसायिक मीटर लगवा सकते हैं, ताकि आपको बिजली की आपूर्ति से ना जूझना पड़े.

  • यदि आप अपने व्यवसाय में कुछ व्यक्तियों को श्रमिक के तौर पर रखना चाहते हैं, तो ध्यान रखें, कि आप किसी भी प्रकार के श्रम कानून का उल्लंघन ना करें, इसके लिए आपको कानूनी रूप से सजा हो सकती है.

दोना पत्तल व्यवसाय के लिए योजना (Dona Pattal Business Plan)

पत्तों से बने दोना पत्तल के व्यवसाय को आरंभ करने के लिए आपको उसके बारे में पूरी जानकारी होना आवश्यक है. यदि आपको जानकारी नहीं है, तो आपको एक ऐसा व्यक्ति ढूंढना आवश्यक है जिसको दोना पत्तल के व्यवसाय में पूरी जानकारी हो. इस व्यवसाय के लिए आपको अनुभवी कारीगरों की भी आवश्यकता होगी, जिन्हें पहले से दोना पत्तल बनाना आता हो या फिर उन्हें सिखा कर अपने काम में अपने साथ उन्हें लगाकर अपना व्यवसाय आरंभ किया जा सकता है.

दोना पत्तल व्यवसाय के लिए सही जगह (Location for Dona Pattal Business)

कोई भी व्यवसाय तभी सफल हो पाता है, जब उसे एक उचित जगह वह उचित स्थान पर चलाया जाए. ऐसे में यदि आप दोना पत्तल का व्यवसाय आरंभ करना चाहते हैं या फिर आरंभ करने के लिए इच्छुक हैं, तो आपको एक ऐसी जगह ढूंढनी होगी, जो आपके व्यवसाय के लिए उचित हो. दोना पत्तल की फैक्ट्री लगाते समय आपको एक ऐसी जगह देखना चाहिए, जहां पर आप के काम से किसी भी प्रकार की गंदगी ना फैले. कोई भी व्यवसाय भीड़भाड़ वाली जगह से दूर होना चाहिए, ताकि वहां पर किसी भी प्रकार की परेशानी आसपास में रहने वाले लोगों को ना हो. व्यवसाय की जगह खुली होनी चाहिए, ताकि वहां पर माल लाने और ले जाने के लिए साधन आसानी से आवागमन कर सकें. अब ऐसे में यदि आप किसी ऐसी जगह पर मौजूद होंगे, जहां पर कोई भी सप्लायर आसानी से पहुंच सके, तो आप कम समय में अधिक मुनाफा इस व्यापार को चलाकर कमा सकते हैं.

दोना पत्तल बिज़नस के लिए मार्किट पोटेंशियल (Dona Pattal Business Market Potential)

आज के समय में सबसे अधिक इस्तेमाल थर्माकोल और प्लास्टिक से बने दोना पत्तल का बढ़ गया है परंतु वह बिल्कुल भी सही नहीं है, क्योंकि प्लास्टिक और थर्माकोल दोनों ही हमारी प्रकृति के लिए नुकसानदायक है. दोना पत्तलों का इस्तेमाल हर जगह किया जाता है, चाहे वह रेलवे, होटल, रेस्टोरेंट, ढाबा या फिर कोई भी पब्लिक जगह हो. ऐसे में पत्तियों और कागज से बने दोना पत्तलों के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जा सकता है. जिसके लिए यदि पेड़ के पत्तों से बने हुए दोना पत्तल अधिक मात्रा में निर्मित किए जाएंगे, तो उनका इस्तेमाल भी अधिक मात्रा में किया जाएगा, जो पर्यावरण के लिए बिल्कुल भी हानिकारक पदार्थ नहीं है. क्योंकि इनका इस्तेमाल करने के बाद इन्हें आसानी से समाप्त भी किया जा सकता है. इसलिए बाजार की स्थिति के अनुसार देखा जाए, तो आज के समय की बहुत बड़ी जरूरत और सरलता वाला व्यवसाय पत्तों से बना दोना पत्तल का व्यवसाय है.

दोना पत्तल बनाने के लिए आवश्यक कच्चा माल (Dona Pattal Business Required Raw Material)

पत्तों से दोना पत्तल बनाने के लिए ज्यादा कच्चे माल की आवश्यकता नहीं होती है. जैसा कि एक छोटी सी जगह पर भी मशीन लगाकर इस व्यवसाय को आरंभ किया जा सकता है, उसी प्रकार थोड़े से कच्चे माल की सहायता से ही इस व्यवसाय में अधिक मुनाफा कमाया जा सकता है.

पत्तों से बने पत्तलों के लिए सबसे पहले आवश्यक वस्तु पेड़ और उसके पत्ते हैं. इनमें मुख्य रूप से केले के पेड़ के पत्ते इस्तेमाल किए जाते हैं. इसलिए आपको केले के पेड़ के पत्ते या फिर किसी ऐसे पेड़ के पत्ते जो आकार में थोड़े बड़े हो, उसकी जरुरत पड़ेगी.

दोना पत्तल व्यवसाय को आरंभ करने के लिए आवश्यक मशीनरी व उपकरण (Dona Pattal Business Machinery and Tools)

  • बिना मशीनों के भी इस व्यवसाय को किया जा सकता हैं, लेकिन मशीन के माध्यम से इस व्यवसाय को करना बेहद आसान है, इसके लिए सबसे पहले आपको एक सिंगल डाई मशीन चाहिए होगी, जोकि हैंड प्रेस होगी.

  • उसके बाद उससे एक थोड़ी सी बड़ी मशीन आती है, जिसे हैंड प्रेस डबल डाई मशीन कहते हैं, जिसमें दो प्रकार की डाई इस्तेमाल की जाती हैं. जो दोना पत्तल को सही आकार देती है.

  • सभी उपकरणों के साथ एक ऑटोमेटिक कप मशीन भी लगाई जाती है, जिसकी आवश्यकता दोना पत्तल बनाने के लिए पड़ती है.

  • मशीनों में कई प्रकार की डाई व मोड लगाई जाती है, उनके इस्तेमाल से पत्तों को अलग-अलग आकार में ढाल दिया जाता है.

  • दोना पत्तल की फैक्ट्री लगाते समय वहां पर ऑफिस फर्नीचर व अन्य सामग्रियों की भी आवश्यकता होगी, ताकि आपके साथ काम करने वाले सहयोगियों को कोई असुविधा ना हो.

दोना पत्तल बनाने की पूरी प्रक्रिया (Dona Pattal Manufacturing Process)

देखने में तो एकदम आसान लगता है, कि दोना पत्तल बनाना बेहद आसान काम है, लेकिन जब इस जटिल काम को अंजाम तक पहुँचाया जाता है, तब इस चीज का ज्ञान होता है, कि यह काम कितना मुश्किल है. परंतु किसी भी काम को करने से पहले उससे जुड़ा संपूर्ण प्रशिक्षण लेना आवश्यक होता है.

  • दोना पत्तल बनाने के लिए सबसे पहले आपको उस पेड़ के पत्ते इकट्ठे करने होंगे जिस पेड़ के पत्ते आकार में बड़े और टिकाऊ हैं.

  • उसके बाद उन पत्तों को अच्छी तरह से काटकर और छांटकर साफ कर लेना आवश्यक है. ताकि मशीन में डालने पर उनमें किसी भी प्रकार की गंदगी या फिर अटकलें ना आए.

  • उन पत्तलों को अच्छी तरह से छांटने के बाद मशीन में लगाया जाता है, जिसके बाद प्लेट और कटोरी के आकार में उन्हें ढाल दिया जाता है.

  • पत्तों की मदद से दोने पत्तल बनाना बेहद आसान प्रक्रिया है, इसके लिए आपको बस थोड़े से प्रशिक्षण की आवश्यकता है, ताकि आप कोई भी काम गलत करके अपना नुकसान ना करें.

  • जब पूरी तरह से ठीक आकार में दोना पत्तल बन जाए, तो उनकी गुणवत्ता की जांच करना अति आवश्यक होता है, ताकि उपभोक्ता इसे इस्तेमाल करते समय किसी भी तरह की कमी ना ढूंढ पाए.

  • गुणवत्ता जांचने के बाद उसकी एक आकर्षक पैकिंग करना भी आवश्यक है, ताकि उसकी पैकिंग से आकर्षित होकर उपभोक्ता आपके द्वारा बनाये गए उत्पाद को खरीद कर उनका उपयोग करें.

दोना पत्तल का व्यवसाय आरंभ करने में लगने वाली कीमत (Dona Pattal Business Cost)

दोनों पत्तलों के व्यवसाय में लगने वाली कीमत की बात की जाए, तो वे बेहद कम होने वाली है क्योंकि इसमें किसी भी प्रकार की प्लास्टिक या फिर थर्माकोल की आवश्यकता आपको नहीं पड़ेगी. इसके लिए आपको पत्तों की आवश्यकता पड़ेगी, जिसके लिए आप अपने आसपास पेड़ भी लगा सकते हैं और उनके पत्ते का इस्तेमाल दोना पत्तल बनाने में कर सकते हैं. दोना पत्तल बनाने के लिए मशीन का खर्च का अनुमान लगाया जाए, तो अधिकतम 10,000 से लेकर 20000 तक का खर्च करके आप आसानी से दोना पत्तल की फैक्ट्री लगा सकते हैं. धीरे धीरे छोटे पैमाने पर अपना व्यवसाय आरंभ करके आप अपने व्यवसाय को बड़ा आकार दे सकते हैं, जिसमें आप की धनराशि भी कम लगेगी और समय भी अधिक नष्ट नहीं होगा.

दोना पत्तल कहां भेजे जा सकते है? (Where to Sell Dona Pattal ?)

यदि आपने सफलतापूर्वक दोना पत्तल की फैक्ट्री लगा ली है और अपने माल को अब मार्केट तक पहुंचाना चाहते हैं, तो उसके लिए आपको कुछ ऐसे सप्लायर्स की आवश्यकता होगी, जो आपके बने हुए माल को मुख्य बाजार तक पहुंचा सके. यदि आप अपने लिए सप्लायर्स नहीं रखना चाहते हैं, तो आप स्वयं जाकर अपने आसपास की मार्केट में दुकानदारों से जो दोना पत्तल का व्यवसाय करते हैं और उन्हें रिटेल कीमत पर बेचते हैं, उनसे संपर्क में आ सकते हैं. उनसे उनकी आवश्यकता पूछ कर आप उन्हें उनकी आवश्यकता अनुसार खुद की फैक्ट्री में बनाया हुआ माल अपनी उत्पादित कीमत पर बेच सकते हैं. यदि उन दुकानदारों से उपभोक्ता माल ख़रीद कर आपके द्वारा बनाए गए उत्पादों को बेहद पसंद करते हैं, तो वे उस दुकान के पास नियमित उपभोक्ता बन जाएंगे. ऐसे में आप दोना पत्तल व्यवसाय में अधिक मुनाफा कमा पाएंगे, क्योंकि दुकानदार आपसे ही आप के बनाए हुए माल की अधिक मांग करेगा.

दोना पत्तल बिज़नस में कम लागत में अधिक मुनाफा (Dona Pattal Business Profit)

पेड़ आसानी से लगाए जा सकते हैं और उनकी देखभाल करके उन्हें आसानी से बढ़ाया भी जा सकता है. ऐसे में पेड़ के बने पत्तों से दोने पत्तल बनाकर उन्हें बाजार में बेचना कम कीमत पर अधिक मुनाफे को बनाने वाला काम है. भले ही यह एक बहुत छोटा सा उद्योग है, परंतु इसे आरंभ करने में ना तो ज्यादा समय लगता है और ना ही ज्यादा लागत परंतु कम समय में ही इस व्यवसाय के जरिए उचित मुनाफा अर्जित किया जा सकता है.

अंत में हम यही कहना चाहेंगे, कि यदि आप किसी भी प्रकार की नौकरी करते हुए या फिर किसी भी व्यवसाय को करने के बाद और सफल हो चुके हैं और थक चुके हैं तो आप पेड़ से बने पत्तों के दोने पत्तल का व्यवसाय आरंभ कर सकते हैं, जिसके लिए आपको अधिक पूंजी की आवश्यकता बिल्कुल भी नहीं है.

एफएक्यू’स (FAQ’s)

Q : पत्तों से बने दोने पत्तलों का व्यवसाय ही क्यों आरंभ करना चाहिए ?

Ans : जैसा की आप सभी देख पा रहे हैं कि आज के समय में प्रदूषण कितना ज्यादा हो रहा है ऐसे में थर्माकोल या प्लास्टिक से बने दोने पत्तलों का इस्तेमाल प्रकृति के साथ-साथ मानव जाति के लिए भी अभिशाप बनता जा रहा है. ऐसे में पत्तों से बने दोना पत्तलों का व्यवसाय आरंभ करना आपके लिए और प्रकृति दोनों के लिए ही फायदेमंद साबित हो सकता है.

Q : कितनी पूंजी में दोना पत्तल व्यवसाय आरम्भ कर सकते हैं?         

Ans : यह व्यवसाय कम लागत में आरंभ कर सकते हैं. यदि मशीनें ज्यादा महंगी नहीं आती हैं तो मात्र 20000 की रकम में आप इस व्यवसाय को आरंभ कर सकते हैं.

Q : क्या यह व्यवसाय छोटी जगह पर भी चलाया जा सकता है?

Ans : दोना पत्तल बनाने की मशीन छोटी होती है इसलिए इसे आप किसी भी छोटी जगह पर स्थापित कर सकते हैं.

Q : क्या इस व्यवसाय में अधिक कर्मचारियों की आवश्यकता होती है?

Ans : नहीं, इस व्यवसाय को करने के लिए 1-2 कर्मचारी ही काफी हैं.

Q : दोना पत्तल बनाने के लिए क्या कच्चा माल उपलब्ध होना आसान है?

Ans : जी हाँ, पत्ते से बने दोना पत्तल बनाने के लिए आसानी से कच्चा माल मिल जाता है.

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!