Sunday , November 18 2018

ड्रॉपशिपिंग का व्यापार कैसे शुरू करें | Online Drop Shipping Business In Hindi

ड्रॉपशिपिंग का व्यापार कैसे शुरू करें और इस व्यापार से जुड़ी जानकारी (How to Make Money With An Online Drop Shipping Business In Hindi)

ड्रॉपशिपिंग का व्यापार क्या होता है? (What Is Drop shipping meaning)

ड्रॉपशिपिंग एक प्रकार का व्यवसाय मॉडल है, जो कि ऑनलाइन बिजनेस से जुड़ा हुआ है और ड्रॉपशिपिंग बिजनेस में कोई भी व्यक्ति बिना किसी प्रोडक्ट्स को खरीदे, उसे उच्च दामों में ग्राहकों को बेच सकता है और मुनाफा कमा सकता है. ड्रॉप शिपिंग को अगर और सरल शब्दों में समझा जाए, तो जब कोई ग्राहक किसी उत्पाद का आर्डर ऑनलाइन देता है, तो ड्रॉपशिपिंग कंपनी उस उत्पाद का आर्डर उसके रिटेलर के पास भेज देती है और वो रिटेलर उस उत्पाद को सीधे ग्राहक के पास भेज देता है.

Drop Shipping Business

किस तरह से कार्य करता है ड्रॉपशिपिंग बिजनेस (How does Drop shipping work)

  • ऑनलाइन के जरिए होने वाले इस बिजनेस को करने के लिए किसी भी तरह की इन्वेंटरी की मेंटेनेंस (Inventory Maintenance) करने की जरूरत नहीं पड़ती है और ना ही उत्पादों को रखने के लिए किसी स्टोर, गोदाम की जरूरत पड़ती है. इसके अलावा ड्रॉपशिपिंग बिजनेस में आपको ना तो आर्डर किए गए उत्पादों को ग्राहकों तक पहुंचाने की परेशानी उठानी पड़ती है.
  • ड्रॉप शिपिंग बिजनेस में मुख्य रूप से आप जो उत्पाद बेचते हैं, आप उन उत्पाद के मालिक नहीं होते है. दरअसल इस व्यापार में आप अपना एक ऑनलाइन स्टोर खोलते हैं या फिर किसी अन्य शॉपिंग की वेबसाइट के साथ मिलकर अपने उत्पादों को बेचते हैं .
  • अपने ऑनलाइन स्टोर के जरिए आप कई तरह के उत्पादों को बेच सकते हैं और जब उन उत्पाद को खरीदने का आर्डर आपके पास आता है, तो आप उस आर्डर को उस उत्पाद को बेचने वाले सप्लायर को भेज देते हैं. जिसके बाद वो सप्लायर आपकी कंपनी की तरफ से उस उत्पाद को सप्लाइ कर देता है.

ड्रॉपशिपिंग के जरिए कैसे कमाए जाते है पैसे (How to Make Money)

  • ड्रॉपशिपिंग के जरिए आपके जिन उत्पादों को ग्राहकों द्वारा खरीदा जाता है, उन उत्पादों में से ही आपको अपना मुनाफा निकालना होता है. यानी किसी उत्पाद का अगर थोक मूल्य 100 रुपए है और आप उसे 120 रुपए में बेचते हैं, तो उस उत्पाद की बिक्री पर आपको 20 रूपए का मुनाफा होगा.
  • इसलिए आप जो भी उत्पाद साइट के जरिए बेचे, उसका मूल्य, उसके सेल्लिंग दाम से काफी कम होना चाहिए. ताकि आप उन उत्पादों को बेचकर एक अच्छा लाभ अर्जित कर सकें.
  • इसके अलावा कई कंपनी अपने उत्पादों के थोक मूल्य में भी शिपिंग चार्ज जोड़ देती हैं, वहीं कुछ कंपनी अलग से आप से शिपिंग चार्ज लेती हैं और ये शिपिंग चार्ज आपको अपने मुनाफे से देना पड़ता है. इसलिए ज्यादा तर लोग अपने उत्पाद के सेल्लिंग दाम में पहले से ही शिपिंग चार्ज जोड़ देते हैं, ताकि उनका मुनाफा कम ना हो. वहीं कुछ लोग ग्राहकों से शिपिंग चार्ज अलग से ले लेते हैं.

ड्रॉप शिपिंग सप्लायर (Drop shipping Suppliers)

ड्रॉप शिपिंग बिजनेस को ड्रापशिप्पर सप्लायर की मदद के बिना नहीं किया जा सकता है और किसी भी तरह के उत्पाद को बेचने के लिए आपको ड्रापशिप्पर सप्लायर की जरूरत पड़ती है. इसलिए आपको ये अच्छे से पता होना चाहिए, कि आखिर ड्रापशिप्पर सप्लायर कौन होता हैं और ड्रॉपशिपिंग बिजनेस में उसका क्या रोल होता है.

ड्रापशिप्पर सप्लायर कौन होता है? (Who is Drop shipping Suppliers)

  • ड्रापशिप्पर सप्लायर वो व्यक्ति होता है, जिसके सामान को आप ऑनलाइन अपनी साईट के जरिए बेचते हैं. दरअसल ड्रॉप शिपिंग का बिजनेस स्टार्ट करने के लिए आपको सबसे पहले उस उत्पाद को चुनना होता है, जिसे आप बेचना चाहते हैं और फिर उस सामान के ड्रापशिप्पर सप्लायर से संपर्क करना होता है, जो कि उस उत्पाद को बेचने का कार्य करता है.
  • आपके द्वारा चुने गए उत्पाद के सप्लायर से मिलकर आपको ये सब तय करना होता है कि वो कितने दाम में, किस तरह से और कितने दिनों के अंदर उस सामान को उस व्यक्ति के पास डिलेवरी करवा देगा, जिसका ऑर्डर आप उसे देंगे.

क्या कार्य होता है ड्रापशिप्पर सप्लायर का (Role of Drop shipping Suppliers )

  • ड्रापशिप्पर सप्लायर से उसके उत्पादों को बेचने से जुड़ी डील होने के बाद वो आपको आपकी बेवसाइट या फिर किसी अन्य वेबसाइट पर अपने उत्पादों को बेचने की मंजूरी दे देता और आप उसके उत्पादों की फोटो, वेबसाइट पर लगा कर बेच सकते हैं. जिसके बाद आपको जैसे ही उस उत्पाद का ऑर्डर मिलता है, तो आप उस ऑर्डर को अपने ड्रापशिप्पर सप्लायर के पास भेज देते हैं और फिर वो उस उत्पाद को उस ग्राहक के पास भेज देता है, जिसने वो उत्पाद ऑडर किया होता है.
  • हालांकि ऐसे कई ड्रापशिप्पर सप्लायर भी होते हैं, जो कि आपके ग्राहकों को घटिया क्वालिटी का भी सामान डिलेवर कर देते हैं. इसलिए आपको काफी सोच समझकर ऐसे सप्लायर को चुनना होता है, जो सही क्वालिटी के उत्पादों को ही आपके ग्राहकों तक पहुंचाये.

ड्रापशिप्पर सप्लायर कैसे चुनें (How To Find The Best Dropshipping Suppliers)

सही ड्रापशिप्पर सप्लायर का चयन करना काफी कठिन काम है और ड्रापशिप्पर सप्लायर के ऊपर ही ये सारा बिजनेस आधारित होता है. अगर आप किसी गलत ड्रापशिप्पर सप्लायर का चयन कर लेते हैं, तो आपका बिजनेस स्टार्ट होने से पहले ही बंद हो जाएगा. वहीं ड्रापशिप्पर सप्लायर को चुनते समय किन बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है, उसके बारे में नीचे आपको जानकारी दी गई है.

  • प्रमाणित ड्रापशिप्पर  (Certified Drop shippers)

आपको कई ऐसे ड्रापशिप्पर सप्लायर मिलेंगे, जो कि उन उत्पादों को बेचने का कार्य करते होंगे, जिन उत्पादों को ड्रॉप शिपिंग के जरिए आप बेचने की इच्छा रखते होंगे. इसलिए आप जिस भी ड्रापशिप्पर सप्लायर का चयन करें, तो आप ये जरूर चेक कर लें, कि वो प्रमाणित ड्रापशिप्पर सप्लायर है कि नहीं. अगर वो प्रमाणित ड्रापशिप्पर सप्लायर निकलता है, तो आप तभी उसके साथ डील करें.

  • उत्पादों की जांच करें

जिस ड्रापशिप्पर सप्लायर के उत्पादों को आप बेचने का सोच रहे हैं, आप उसके द्वारा बनाए गए या फिर उसके द्वारा बेचे जानेवाले उत्पादों की जांच अच्छे से कर लें. और अगर आपको लगता है कि उसके उत्पाद सही हैं तो उसके साथ डील कर लें. वहीं उसके उत्पाद की क्वालिटी अगर आपको सही नहीं लगती है, तो उसके साथ व्यापार नहीं करने में ही समझदारी होगी. क्योंकि अगर आपके द्वारा ग्राहकों को बेकार क्वालिटी का उत्पाद बेचा जाएगा, तो इससे आपके ड्रॉप शिपिंग बिजनेस को केवल नुकसान ही होगा.

  • ज्यादा से ज्यादा ड्रापशिप्पर सप्लायर से संपर्क करें

अगर आप ऑनलाइन के जरिए किसी उत्पाद को बेचने वाले ड्रापशिप्पर सप्लायर के बारे में सर्च करेंगे, तो आपको हजारों ऐसे ड्रापशिप्पर सप्लायर मिल जाएंगे, जो की इस व्यापार से जुड़े होंगे. और ऐसी स्थिति में आपके लिए किसी एक ड्रापशिप्पर सप्लायर का चयन करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है. इसके अलावा इन ड्रापशिप्पर सप्लायर में से कुछ ऐसे सप्लायर भी होते हैं, जो कि नकली सामान बेचा करते हैं और ऐसे में सही ड्रापशिप्पर सप्लायर को चुनने में और सावधानी बरतनी पड़ती है. इसलिए आप कोशिश करें, कि आप ज्यादा से ज्यादा ड्रापशिप्पर सप्लायर से संपर्क करें और फिर इन ड्रापशिप्पर सप्लायर में से केवल उसी सप्लायर के साथ डील करें, जो कि विश्वासजनक हो.

  • आसान रिटर्न पॉलिसी

कई बार ऐसा होता है कि ग्राहकों को आपके द्वारा भेजा गया उत्पाद पसंद नहीं आता है और वो उस उत्पाद को रिटर्न करने की इच्छा रखते हैं. इसलिए आपके ड्रापशिप्पर सप्लायर की रिटर्न पॉलिसी काफी आसान होनी चाहिए, ताकि उत्पाद को रिटर्न करने में ना आपको और ना आपके ग्राहक को कई परेशानी हो.

  • सेटअप शुल्क या मासिक शुल्क (setup fees or monthly fees)

कई ऐसे ड्रापशिप्पर सप्लायर होते हैं, जो कि अपने आपको प्रमाणित ड्रापशिप्पर  सप्लायर कहते हैं और आपके साथ व्यापार करने के लिए आपसे सेटअप शुल्क या मासिक शुल्क मांगते हैं. लेकिन हकीकत में ऐसे नहीं होता है और किसी भी प्रमाणित सप्लायर द्वारा किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं मांगा जाता है. इसलिए अगर कोई ड्रापशिप्पर सप्लायर आप से किसी भी प्रकार का शुल्क मांगे, तो आप उसके साथ डील ना करें.

  • सही दाम में आपको दे उत्पाद

ड्रॉप शिपिंग बिजनेस में मुनाफा उत्पाद को बेचकर कमाया जाता है. इसलिए आप उस ड्रापशिप्पर सप्लायर के साथ कार्य करें, जो कि आपको अपना उत्पाद कम थोक मूल्य पर दें, ताकि आपको ज्यादा मुनाफा मिल सके.

ड्रॉपशिपिंग के जरिए कौन से उत्पाद बेचे जा सकते हैं (What Products Can Be Drop Shipped)

ऐसे कई प्रकार के उत्पाद हैं जिन्हें ड्रॉप शिपिंग के जरिए बेचा जा सकता हैं और अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता हैं और इन उत्पादों के नाम इस प्रकार हैं.

  • कंप्यूटर एक्सेसरीज (Computer Accessorise)

कंप्यूटर एक्सेसरीज को कई ड्रॉप शिपिंग कंपनियों द्वारा बेचा जाता है और ये काफी लोकप्रिय उत्पादों में से एक हैं. लोग लगातार अपने कंप्यूटर और प्रौद्योगिकी को अपग्रेड करने में लगे रहते हैं और अक्सर नए तरह के हार्डवेयर खरीदते रहते हैं. इसलिए कंप्यूटर एक्सेसरीज से जुड़े उत्पादों को आप ड्रॉप शिपिंग के जरिए बेच सकते हैं.

  • सौंदर्य उत्पाद (Beauty Product)

सौंदर्य उत्पाद को ज्यादातर लोग ऑनलाइन खरीदा करते हैं, इसलिए आप चाहें तो इन उत्पादों को बेचने पर भी विचार कर सकते हैं. साथ ही सौंदर्य से जुड़े हुए उत्पादों का जल्द ही इस्तेमाल हो जाते हैं और इसलिए इनको काफी अधिक खरीदा जाता है.

  • कपड़ों (Cloths)
  1. कपड़ों की शॉपिंग भी आजकल लोगों द्वारा ज्यादातर ऑनलाइन के जरिए की जाती है, इसलिए आप चाहें तो कई तरह के कपड़ों को भी ऑनलाइन ड्रॉपशिपिंग के जरिए बेच सकते हैं और इनके दाम अपने हिसाब से रख सकते हैं.
  2. आप अगर ड्रॉपशिपिंग के जरिए कपड़ों को बेचना चाहते हैं, तो आपको ये भी तय करना होगा, कि आप किस तरह के कपड़े बेचना जाते है, जैसे कि इंडियन वेयर या फिर वेस्टर्न वियर. इसके साथ ही आपको ये भी तय करना होगा, कि आप किस तरह के कपड़े बेचना चाहते हैं. कोशिश करें कि आप रेडीमेड कपड़ों को बेचें. क्योंकि ऐसा करने से हर प्रकार के लोग आपकी वेबसाइट के साथ जुड़ सकेंगे.
  • मोबाइल (Mobile)

सेलफोन एक ऐसी चीज है, जिसे हर वर्ग के व्यक्ति द्वारा इस्तेमाल किया जाता है. इसलिए आप ड्रॉपशिपिंग के जरिए सेलफोन को बेचने पर भी विचार कर सकते हैं. बाजार में कई कंपनियों द्वारा सेलफोन बेचे जाते हैं, इसलिए आपको इन सभी कंपनियों के रिटेलर और मैन्युफैक्चरर से संपर्क करना होगा और हर तरह के ब्रांड के सेलफोन  बेचने होंगे.

  • जेनेरिक दवाएं
  1. आजकल लोगों द्वारा मेडिसिन्स भी ऑनलाइन के जरिए खरीदी जाती है और इसलिए आप मेडिसिन्स को भी ऑनलाइन बेचने का कार्य कर सकते हैं.
  2. दवाई एक ऐसी चीज है, जो कि काफी जरूरी होती है इसलिए इनकी मांग हर वक्त अधिक रहती हैं. इसलिए इनको ड्रॉपशिपिंग के जरिए बेचना फायदेमंद ही साबित होगा.
  • बुक्स

जो अगला उत्पाद आप ड्रॉपशिपिंग बिजनेस करने के लिए चुन सकते हैं वो बुक्स हैं. आपको ये तय करना होगा कि आप किस प्रकार की बुक्स बेचना चाहते हैं, जैसे कि बच्चों से जुड़ी किताबें या फिर बड़े लोगों से जुड़ी बुक्स या स्टेशनरी दुकान का सामान.

  • खिलौने

बच्चों से जुड़े सामानों को भी आप ड्रॉपशिपिंग बिजनेस के जरिए बेच सकते हैं और ऐसा करने के लिए आपको खिलौने बनाने वाले निर्माता या इनको बेचने वाले थोक व्यापारियों से मिलना होगा. जो थोक व्यापारी आपको कम दामों में ये सामना बेचने के लिए तैयार हो जाए, आप उसके साथ डील कर लें.

  • फर्नीचर

फर्नीचर के सामान जैसे सोफे, चेयर और टेबल का भी ड्रॉपशिपिंग बिजनेस खोला जा सकता है. हालांकि इन सामनों की शिपिंग करवाने में अधिक खर्चा आता है, इसलिए आप चाहें तो ये शिपिंग खर्चा इन सामानों के दामों में जोड़ सकते हैं या फिर सीधे तौर पर इन सामानों का आर्डर करने वाले ग्राहकों से ले सकते हैं.

ड्रॉपशिपिंग के फ़ायदे (Benefits of Dropshipping)

ड्रॉपशिपिंग काफी फायदेमंद व्यापारों में से एक हैं और इस व्यापार के साथ इतने सारे फायदे जुड़े हुए हैं कि इस व्यापार को काफी लोगों द्वारा शुरू किया जा रहा है. इसके कुछ फायदे निचे दर्शाए गए है.

इस व्यापार को स्थापित करना काफी आसान है

अन्य व्यापारों की तुलना में इस व्यापार को करना काफी सरल है और ड्रॉपशिपिंग बिजनेस को करने के लिए किसी भी तरह की पढ़ाई या ट्रेनिंग लेने की जरूरत नहीं पड़ती है. बस थोड़ी समझ और मेहनत के दम पर ड्रॉपशिपिंग व्यापार को आसानी से किया जा सकता है.

कम पूंजी निवेश

ड्रॉप शिपिंग व्यापार को स्टार्ट करने में बहुत ही कम पूंजी निवेश की जरूरत पड़ती है. इसलिए जो लोग कम निवेश में कोई व्यापार शुरू करना चाहते हैं, उनके लिए ड्रॉपशिपिंग बिजनेस एक अच्छा विकल्प है. इस बिजनेस को करने के लिए बस एक वेबसाइट बनाने का खर्चा उठाना पड़ता है.

इसमें जोख़िम कम है

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए व्यक्ति को बस रिटेलर, होलसेलर, या मेनुफेक्चरर से संपर्क करना होता है और इनके द्वारा बनाए गए सामान को बिना इनसे खरीदे ऑनलाइन बेचना होता है. इसलिए अगर कोई व्यक्ति ये व्यापार शुरू करता है और किसी कारण से ये व्यापार कामयाब नहीं हो पाता है, तो ऐसी सूरत में उस व्यक्ति का ज्यादा नुकसान नहीं होता है.

कम जिम्मेदारी होती है

ड्रॉपशिपिंग बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए किसी भी इन्वेंटरी को खरीदने, उनके देखरेख करने की जिम्मेदारी और आर्डर किए गए उत्पाद की शिपिंग करवाने की जिम्मेदारी आपकी नहीं होती है.

उत्पादों का विस्तृत चयन

ड्रॉपशिपिंग का व्यापार उत्पादों को बेचने से जुड़ा हुआ व्यापार है और इस व्यापार के जरिए किसी भी तरह के उत्पादों को बेचा जा सकता हैं. इसलिए ड्रॉपशिपिंग का व्यापार शुरू करते समय काफी सारे उत्पादों को बेचने के विकल्प आपके पास होते हैं. जिनमें से आपको उन उत्पादों का चयन करना होता है, जो आप अपनी वेबसाइट के जरिए बेचना चाहते हैं.

आप घर बैठे पैसे कमा सकते हैं

जिस तरह आज के समय में घर बैठे महिलाओं या गृहिणियों के लिए रोजगार उपलब्ध है, उसी प्रकार ड्रॉपशिपिंग बिजनेस को किसी भी जगह से शुरू किया जा सकता है और इस व्यापार को करने के लिए किसी भी तरह के स्पेशल स्थान या फिर ऑफिस की जरूरत नहीं होता है. कोई भी व्यक्ति ड्रॉपशिपिंग बिजनेस को अपने घर से कर सकता हैं, बस उसके पास लैपटॉप या कंप्यूटर होना चाहिए.

अकेले भी शुरू कर सकते है ये व्यापार

ड्रॉपशिपिंग बिजनेस उन बिजनेस में से एक है जिनमें किसी प्रकार की भी लेबर या कर्माचारियों की जरूरत नहीं पड़ती है. जिसके कारण आपको किसी पर भी निर्भर नहीं रहना पड़ता है साथ ही आप हर महीने सैलरी देने के खर्चे से भी बच जाते हैं.

ड्रॉपशिपिंग बिजनेस को कैसे किया जाता है (How to Start a Drop Shipping Business)

ड्रॉपशिपिंग बिजनेस को दो तरह से किया जा सकता है, जिसमें से पहले तरीके के तहत आप अपनी खुद की वेबसाइट बना सकते हैं और अपने ड्रॉपशिपिंग बिजनेस को स्टार्ट कर सकते हैं. जबकि दूसरे तरीके के तहत, किसी ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट जैसे कि ईबे के साथ व्यापार या फिर अमेज़ॅन के साथ जुड़ कर ये बिजनेस कर सकते है.

ऐसे कई फेमस वेबसाइट हैं जिनके साथ जुड़कर आप कार्य कर सकते हैं और इन्हीं वेबसाइट में से ईबे और अमेज़ॅन सबसे प्रसिद्ध ऑनलाइन कंपनियां हैं, जिनके साथ मिलकर आप अपना ड्रॉपशिपिंग बिजनेस कर सकते हैं.

खुद की बेवसाइट के जरिए ड्रॉपशिपिंग बिजनेस स्टार्ट करना (Dropshipping With Your Own Online Store)

अमेज़ॅन और ईबे जैसी तीसरी पार्टी साइट के माध्यम से उत्पाद बेचने की जगह आप अपना ऑनलाइन स्टोर स्थापित कर सकते हैं. हालाकिं खुद के ऑनलाइन स्टोर खोलने के कुछ फायदे और नुकसान भी हैं जो कि इस प्रकार हैं.

खुद के ऑनलाइन स्टोर खोलने से जुड़े फायदे (Benfits)

अपना नियंत्रण अधिक होता है

अपना खुद का ऑनलाइन स्टोर खोलने से आपका नियंत्रण आपके कार्य पर अधिक हो जाता है और आपको तीसरी पार्टी साइट पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है. इसलिए खुद की वेबसाइट के जरिए ड्रॉपशिपिंग बिजनेस करना ज्यादा फायदेमंद है.

खुद की पहचान मिलती है

अपनी वेबसाइट को स्टार्ट करने से आपका अपने उत्पादों पर अधिक नियंत्रण तो होता ही है, साथ ही वेबसाइट की मदद से आपके बिजनेस को एक पहचान भी मिलती है. और जिस तरह से लोग के बीच अमेज़ॅन और ईबे जैसी वेबसाइट प्रसिद्ध हैं वैसे ही आपकी भी वेबसाइट प्रसिद्ध हो सकती हैं.

किसी तरह का शुल्क देने की जरूरत नहीं पड़ती है

अपनी वेबसाइट बनाकर ये व्यापार करने का जो अन्य फायदा है वो शुल्क से जुड़ा हुआ है. अपनी वेबसाइट बनाने से आपको तीसरी पार्टी को किसी भी तरह की फीस नहीं देनी पड़ती है, जिसका मतलब है कि आपके प्रॉफिट पर सिर्फ आपका ही अधिकार होता है.

खुद के ऑनलाइन स्टोर खोलने से जुड़े नुकसान (Disadvantage)

  • ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है

अपनी वेबसाइट बनाना आसान काम नहीं है और अगर आप खुद की वेबसाइट बनाते हैं तो आपका अधिक खर्चा होता और आपको काफी मेहनत भी करनी पड़ेगी. साथ ही अपनी वेबसाइट बनाते समय आपको अपनी वेबसाइट के लुक , नाम और अन्य चीजों पर भी खासा ध्यान देना पड़ता है. क्योंकि अगर आपकी वेबसाइट ज्यादा अट्रैक्टिव नहीं होगी तो लोगों द्वारा आपकी वेबसाइट पसंद नहीं कि जाएगी और ऐसा होने से आपके व्यापार को नुकसान होगा.

  • वेबसाइट को सेट करने में लगता है टाइम

पहले से कई ऐसी शॉपिंग वेबसाइट हैं जिन्होंने अपने आपको अच्छे से इस व्यापार में स्थापित कर लिया है. इसलिए जब आप अपनी वेबसाइट बनाएंगे, तो आपकी वेबसाइट को स्थापित होने में अच्छा खासा टाइम लगेगा.

  • ज्यादा पैसे करने होंगे निवेश

अपनी साइट की ट्रैफिक बढाने के लिए आपको एसईओ, विपणन और विज्ञापन जैसी चीजों का सहारा लेने पड़ता है और ऐसे करने में खर्चा आता है. इसलिए  ड्रॉपशिपिंग बिजनेस अगर आप अपने वेबसाइट के जरिए करते हैं तो आपको इन चीजों का भी खर्चा अपने बजट में जोड़ना होगा.

किसी वेबसाइट के साथ ड्रॉपशिपिंग बिजनेस स्टार्ट करने के फायदे (Dropshipping Website Benefits )

किसी अन्य वेबसाइट यानी तीसरी पार्टी के जरिए अपने सामान को बेचने के काफी फायदे होते हैं और वो इस प्रकार हैं.

  • व्यापार शुरू करने में आसानी

तीसरी पार्टी के जरिए अगर आप अपने ड्रॉपशिपिंग बिजनेस को स्टार्ट करते हैं तो आपको इस व्यापार को स्थापित करने में काफी आसानी होगी. क्योंकि ये साइट पुर्णतः स्थापित होती हैं और आप जैसे ही अपने उत्पाद को इन साइट पर अपलोड करते हैं तो आपको जल्द ही आर्डर मिलना शुरू हो जाते हैं. ऐसा होने से आपका ड्रॉपशिपिंग बिजनेस आसानी से शुरू हो जाता है.

  • मार्केटिंग करने की जरूरत नहीं पड़ती         

जब आप अपनी साइट बनाते हैं तो आपको उसकी मार्केटिंग करने की जरूरत पड़ती हैं और इसमें काफी खर्चा आता है. वहीं अगर आप किसी फेमस वेबसाइट के जरिए ये कार्य स्टार्ट करते हैं तो आपको मार्केटिंग की टेंशन लेने की जरूरत नहीं पड़ती है, क्योंकि ये साइट पहले से ही काफी प्रसिद्ध होती हैं.

  • ज्यादा लोगों तक पहुंचते हैं आपके उत्पाद

ईबे और अमेज़ॅन साइट काफी पूरानी और काफी फेमस वेबसाइट हैं और काफी लोगों द्वारा इन साइट से उत्पाद खरीदे जाता हैं. अगर आप इन साइट पर अपने उत्पादों को अपलोड करते हैं तो इन साइट के ग्राहक आपके ग्राहक भी बन जाता हैं और ऐसा होने से कम समय में ही आप ज्यादा लोगों से जुड़ जाते हैं.

किसी वेबसाइट के साथ ड्रॉपशिपिंग बिजनेस स्टार्ट करने के नुकसान (Disadvantage)

  • फीस का खर्चा

किसी अन्य वेबसाइट के साथ आप तभी जुड़कर व्यापार कर सकते हैं, जब आप उनके द्वारा तय की गई फीस उन्हें देते हैं. दरअसल जब भी कोई ग्राहक आपके उत्पादों को उनकी साइट से खरीदता है तो ये साइट उस उत्पाद के प्राइज में से कुछ पैसे फीस के तौर पर काट लेते हैं. उदाहरण के लिए, अगर आपके उत्पाद का प्राइज 100 रुपए हैं और वो उत्पाद अगर किसी के द्वारा खरीद लिया जाता है, तो उस उत्पाद के प्राइज का 10 या 15 प्रतिशत हिस्सा, फीस के तौर पर वो वेबसाइट अपने पास रख लेती है, जो कि एक प्रकार की फीस होती है.

  • आपका खुद का कंट्रोल नहीं होता

हर किसी वेबसाइट के अपने रूल होते हैं और जब आप इन वेबसाइट के साथ व्यापार करते हैं, तो आपको इनके रूल्स को फॉलो करना पड़ता हैं. जिसके कारण आपका कंट्रोल अपने उत्पादों पर अधिक नहीं होता है और आपको उन साइट के अधीन होकर कार्य करना होता है.

एक सफल ऑनलाइन ड्रॉप शिपिंग व्यापार के शुरू करने से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी-

सही उत्पाद का चयन करना

  • बाजार में कई तरह के उत्पाद बेचे जाते हैं, जिनमें से कुछ उत्पादों की काफी अधिक मांग होती है, तो कुछ उत्पादों को लोगों द्वारा ज्यादा नहीं खरीदा जाता है. इसलिए आप जब ड्रॉप शिपिंग बिजनेस को शुरू करें तो पहले ये तय कर लें की आप कौन से उत्पाद को बेचना चाहते हैं और कौनसे उत्पाद को नहीं.
  • कोशिश करें तो केवल उन्हीं उत्पादों का चयन करें जिनकी शॉपिंग लोगों द्वारा ऑनलाइन के जरिए काफी अधिक की जाती हो. साथ ही अपनी वेबसाइट में हर तरह के वेराइटी प्रोडक्ट को जरूर बेचे.

रिसर्च करना भी है जरूरी (Research)

  • ड्रॉपशिपिंग के जरिए पैसे कमाना इतना आसान नहीं हैं और इसके जरिए पैसे कमाने के लिए काफी अच्छी रिसर्च करना जरूरी होता है.
  • रिसर्च के जरिए आपको उन उत्पादों का चयन करने में आसानी होती है, जिनको लोगों द्वारा ऑनलाइन के जरिए काफी खरीदा जाता है.
  • रिसर्च करने के बाद जिन उत्पादों का चयन आप बेचने के लिए करेंगे आपको उन उत्पादों के होल सेलर, मैन्युफैक्चरर और ड्रापशिप्पर सप्लायर से संपर्क करना होता है.
  • होल सेलर, मैन्युफैक्चरर और ड्रापशिप्पर सप्लायर से उनके उत्पादकों को बेचने से जुड़ी डील करने के बाद ही आप अपनी बेवसाइट में उनके उत्पादों को बेच सकते हैं. हालांकि डील करते हुए ये चीज अच्छे से सुनिश्चित कर लें की आपको उन उत्पादों को बेचने में कितना प्रॉफिट मार्जिन मिलेगा.

अपनी ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाने से जुड़ी जानकारी

सोच समझकर बनाएं ई-कॉमर्स वेबसाइट

  • ई-कॉमर्स वेबसाइट के जरिए ही लोग आपसे आपके उत्पादों को खरीद सकते हैं. इसलिए आपको अपनी ई-कॉमर्स वेबसाइट को काफी सोच समझकर बनाना होगा. साथ ही अपनी ई-कॉमर्स वेबसाइट के लिए एक अच्छा सा नाम भी चुनना होगा.
  • ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाने से पहले आपको ये भी तय करना होगी कि आप कौन से उत्पाद अपनी ई-कॉमर्स वेबसाइट के जरिए बेचने वाले हैं. और ये तय होने के बाद आप अपने उत्पाद के हिसाब से, किसी भी वबेसाइट बनाने वाली कंपनी से अपनी लिए वेबसाइट बनवा लें.

वेबसाइट के बारे में जानकारी देना है जरूरी

आपकी वेबसाइट चाहें कितनी भी आकर्षित हो लेकिन जब तक लोगों को आपकी वेबसाइट के बारे में जानकारी नहीं मिलेगी, तब तक आप इस बिजनेस में ग्रोथ नहीं कर पाएंगे. इसलिए आपको अपनी वेबसाइट के प्रचार से जुड़ी एक अच्छी रणनीति बनानी होगा, ताकि लोगों को आपकी वेबसाइट के बारे में पता चल सके.

अपने ग्राहकों से संपर्क करें

जरूरी नहीं है कि हर ड्रापशिप्पर सप्लायर हर वक्त सही उत्पाद की डिलेवरी करें. इसलिए जब भी आपके ग्राहकों को उनके द्वारा आर्डर किए गए उत्पाद मिल जाएं, तो आप उनसे संपर्क कर उनका रिव्यू ले लें. इसके अलावा आप चाहें तो अपनी वेबसाइट में कमेंट सेक्शन भी जोड़ सकते हैं जिसके जरिए आप अपने ग्राहकों से जुड़ सकते हैं.

निष्कर्ष

ड्रॉपशिपिंग व्यापार स्टार्ट करने से पहले आप इस व्यापार से जुड़े प्लान को अच्छे से तैयार कर लें और उस प्लान के अनुसार ही अपने ड्रॉपशिपिंग व्यापार को स्टार्ट करें. साथ ही कोशिश करें कि ड्रॉपशिपिंग व्यापार को करने से पहले आप इस व्यापार से जुड़ी कुछ किताबों को भी अच्छे से पढ़े लें. क्योंकि इन किताबों को पढ़ने से आपको इस व्यापार से जुड़ी कई महत्वपूर्ण इनफार्मेशन भी मिल जाएगी.

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *