Sunday , November 18 2018

भारत में फास्ट फूड का बिजनेस कैसे शुरू करे | How to Start a Small Fast Food Business in India in hindi

भारत में फास्ट फूड का बिजनेस कैसे शुरू करे | How to Start a Small Fast Food Business (Outlet restaurant license ) in India in hindi

अगर आप खाना बनाना पसंद करते है और अपना खुद का बिजनेस स्टार्ट करना चाहते है, तो आप अपना स्वयं का फास्ट फूड का बिजनेस स्टार्ट कर सकते है. अपना स्वयं का फास्ट फूड का रेस्टोरेंट  खोलना या स्टॉल लगाना एक बहुत ही अच्छा आईडिया है क्योंकि आजकल लोग अपनी व्यस्त दिनचर्या के कारण ऐसी जगहों पर जाना बहुत पसंद करते है. आजकल फास्ट फूड रेस्टोरेंट को क्विक सर्विस रेस्टोरेंट  के नाम से भी जाना जाता है, यहाँ पर ग्राहकों को अपना आर्डर करने के बाद इंतजार नहीं करना पड़ता, बल्कि उन्हें तुरंत आर्डर करते से अपना खाना तैयार मिलता है. आज की इस व्यस्त दिनचर्या में इस तरह के रेस्टोरेंट  बहुत चलन में है.

परंतु आज के समय में फास्ट फूड का बिजनेस स्टार्ट करना और उसमे सफलता पाना इतना आसान नहीं है. यहाँ हम अपने आर्टिकल के द्वारा आपको इस बिजनेस से संबंधित कुछ टिप्स देने जा रहें है जो आपको आपके नये सफर की शुरुआत में सहायक होंगे.

फास्ट फूड बिजनेस

बिजनेस के लिए टिप्स (Tips for the business)

  • सबसे पहले आपको अपने लिए एक अच्छा बिजनेस प्लान तैयार करना होगा. एक अच्छे बिजनेस प्लान में बहुत सारी बातें जैसे आपका बिजनेस कैसे स्टार्ट होगा, कुल खर्चा, प्रॉफिट और आपके ग्राहकों का अनुमान लगाना आदि शामिल होगा. इसके अतिरिक्त आपको अन्य बातें जैसे जरुरी लाइसेंस, सरकार की तरफ से परमिट आदि बातोँ का भी ध्यान रखना होगा.
  • इसके अतिरिक्त आपको फूड विभाग से भी संबंधित लाइसेंस लेना होगा. इसके लिए आपको सर्वप्रथम अपने क्षेत्र के फूड ऑफिस जाकर संबंधित जानकारी लेनी होगी और अपने दस्तावेज प्राप्त करने होंगे. आपको यह लाइसेंस प्राप्त होने के पहले फूड विभाग द्वारा आपके सामान और जगह का परीक्षण किया जायेगा.
  • बाजार में अपनी अच्छी छवि स्थापित करने के लिए आपको अपने रेस्टोरेंट से अच्छी क्वालिटी और स्वादिष्ट खाना परोसना चाहिये, ताकि इससे अन्य ग्राहक भी आपकी ओर आकर्षित हो.
  • आपको यह ध्यान में रखना होगा कि लोग बाहर का खाना पसंद करते है, परंतु वे इसके लिए अपनी सेहत के साथ समझौता कतई बर्दाश नहीं करते. इसलिए अपने रेस्टोरेंट के लिए मेन्यु और अन्य विकल्प चुनते वक्त इस बात का ध्यान अवश्य रखे.
  • एक रेस्टोरेंट के मालिक होने के नाते आपको आर्डर लेना और डिलीवरी देने के अलावा अन्य बातोँ की भी जिम्मेदारी आपको लेनी होगी. क्योंकि ग्राहक किसी भी चीज में समझौता स्वीकार नहीं करते.

अपने बिजनेस के लिए जगह का चयन कैसे करे? (How to select a place for the business?)

बिजनेस की सफलता पर उसकी जगह का बहुत असर पड़ता है. अगर आपका बिजनेस सही जगह पर स्थापित है, तो आप इसके द्वारा अधिक लाभ कमा सकते है. जब आप अपने रेस्टोरेंट  के लिए जगह का चुनाव करते है, तो आपको उस जगह को चुनना चाहिये, जहाँ अधिक ट्रैफिक होता हो और लोग जहाँ आसानी से पहुँच पाते हो.

कई प्रसिध्द रेस्टोरेंट  में अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए जब फ्रैंचाइज़ी ऑफर की जाती है तो उसके लिए भी व्यापार का स्ट्रक्चर और जगह के लिए रूल पहले से निर्धारित होते है. अगर आप इन कंडीशन को ध्यान में रखकर अपने खुद के व्यापार के लिए जगह का चयन करेंगे, तो यह आपके व्यापार को भी फायदा पहुंचायेगी.

फास्ट फूड बिजनेस आउटलेट के लिए अप्लाई कैसे करे ? (How to apply for small fast food outlet ?)

एक फास्ट फूड बिजनेस स्टार्ट करने के लिए आपको 5 लाइसेंस की जरुरत होगी, जिनमे एफएसएसएआई के द्वारा फूड लाइसेंस, लोकल मुन्सिपलिटी द्वारा हेल्थ लाइसेंस, सेफ्टी लाइसेंस, पुलिस विभाग की तरफ से लाइसेंस और जीएसटी लाइसेंस आदि शामिल होते है. इन सभी लाइसेंस को प्राप्त करने के लिए आपको संबंधित ऑफिस जाना होगा, और इसके लिए आवश्यक कागजी कार्यवाही संपन्न करनी होगी. इस सब प्रक्रिया को पूर्ण करने के लिए  आपको लगभग 3 महीनें का वक्त लगेगा.

फास्ट फूड बिजनेस के लिए लाइसेंस कैसे बनवाएं (How to apply for fast food business License in India in hindi)

अपने फास्ट फूड बिजनेस के लिए लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आपको फास्ट फूड सेफ्टी और स्टैंडर अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया की ऑफिशियल वेबसाइट www.fssai.gov.in पर विजिट करना होगा. यहाँ पर इसके लिए आपको लाइसेंस प्राप्त करने के लिए इसके लिए आवश्यक फीस भरनी होगी, जो लगभग 5000 रुपय होती है.

अपना जी एसटी सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए आपको किसी सीए से संपर्क करना होगा. हेल्थ और सेफ्टी सर्टिफिकेट के लिए मुन्सिपल कार्पोरेशन के ऑफिस में संपर्क करना होगा यहाँ आपको सर्टिफिकेट के लिए आवश्यक फीस भी जमा करनी होगी, यह फीस लगभग 3000 रुपय तक होगी.

मार्केटिंग आईडिया  (Marketing ideas):

किसी भी बिजनेस को स्टार्ट करने के बाद या कुछ पहले जो सबसे अहम चीज होती है वह है उसकी मार्केटिंग. जितना लोगों को आपके न्यू स्टार्टअप के बारे में पता होगा उतना लोग आपसे जुडेंगे और आप तक आयेंगे. फास्ट फूड बिजनेस के लिए कुछ मार्केटिंग आइडिया नीचे दिये गये है जो आपके काम आयेंगे .

  • स्थानीय फूड ब्लॉगर से संपर्क करे : आज के डिजिटल वर्ल्ड में यह मार्केटिंग का बहुत अच्छा तरीका है. ब्लॉगर मुख्यतः सेम फील्ड के ब्लॉगर आपके बिजनेस को और अधिक पहचान दिलाने में सहायता करते है. इनके द्वारा आपके नये फास्ट फूड रेस्टोरेंट की जानकारी अपने रीडरर्स तक पहुचाई जाती है और इनके अलावा इसे अन्य जगह भी पब्लिसिटी मिलती है.
  • सोशल नेटवर्क के द्वारा मार्केटिंग : आज कल युवा वर्ग के साथ साथ हर वर्ग के लोग सोशल मीडिया पर किसी ना किसी तरह से एक्टिव रहते है. इसलिए अपने नये बिजनेस की जानकारी सबतक पहुचाने का यह सबसे अच्छा जरिया होता है. इस सब के साथ सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की इस पर अपनी पब्लिसिटी करने के लिए आपको ज्यादा पैसा भी खर्चा नहीं करना पढता.
  • आकर्षक पंपलेट और लोगो डिजाईन : आपके बिजनेस का लोगो बहुत ही आकर्षक होना चाहिये. इसी के साथ आप अपने बिजनेस का विज्ञापन लोकल चैनल और पंपलेट के द्वारा भी कर सकते है. जिससे लोगों को इसके बारे में जानकारी मिलेगी.

कुल निवेश (Total investment)

एक छोटा सा नार्मल फास्ट फूड रेस्टोरेंट  खोलने के लिए आपको ज्यादा निवेश करने की आवश्यक्ता नहीं होती, यह लगभग 50 हजार से 1 लाख के बीच होता है. परंतु फिर भी यह राशि आपके प्लान पर ज्यादा निर्भर करती है, यदि आप बडी जगह में ज्यादा व्यवस्थाओ के साथ बिजनेस चालू करना चाहते है तो खर्च ज्यादा होगा. अगर आप फ्रेंचाइजी ले रहें है तो इसके लिए निवेश राशि फ्रेंचाइजी देने वाले पर निर्भर करती है, इसके अतिरिक्त आपको इसके लिए उनकी शर्तो के अनुसार डिपाजिट भी करना होता है. हर फ्रेंचाइजीके अनुसार जमा की जाने वाली राशि और शर्ते भिन्न भिन्न होती है.

आप अपने बिजनेस के लिए किसी भी नेशनलाइज फाइनेंशियल इंस्टिट्यूट जैसे बैंक से मदत लेकर अपना बिजनेस स्टार्ट कर सकते है. आजकल अच्छे बिजनेस प्लान पर सरकार द्वारा भी सपोर्ट किया जा रहा है.

मुनाफा (Profit margin)

किसी भी बिजनेस के लिए मुनाफा सबसे महत्वपूर्ण चीज है, इसी के लिए कोई भी व्यक्ति इतनी मेहनत करता है. आपके फास्ट फूड बिजनेस में अधिक मुनाफे के लिए हम आपको नीचे कुछ टिप्स दे रहें है जो आपके काम आयेंगे.

  • जब हम अपने बिजनेस के लिए मुनाफे की बात करते है तो यह बहुत आवश्यक है की आप अपने सप्लायर के साथ अच्छी और सही डील करे जो आपके बिजनेस के लिए फायदेमंद होगी. इसके अतिरिक्त आपको यह भी ध्यान रखना चाहिए कि आप अपने लिए उतना ही राशन खरीदे जितने की आपको अभी जरुरत हो, आवश्यक्ता से अधिक खरीदी करने से आपके पैसे ब्लाक हो जाते है.
  • अगर हम रेस्टोरेंट में चीजों की प्राइस फिक्स करने की बात करे तो यदि आप अपना प्राइस 10 प्रतिशत कम रखते है तो आपको अपने बिजनेस को तीन गुना बढाना होगा तभी आप अपना टारगेट पुरा कर पायेंगे. और अगर यदि आप अपना प्राइस 10 प्रतिशत बढाकर रखते है तो आपके बिजनेस में कुछ प्रतिशत गिरावट आयेगी परंतु आप अपने प्राइस के द्वारा इसे कवर कर सकते है , इसके लिए आपको अपने ग्राहकों को उच्च स्तर की सेवा प्रदान करनी होगी.
  • आपको अपने अकाउंट और अन्य फाइनेंस को 6 महीने में क्रॉस चेक करना चाहिये इसके द्वारा आप अनुमान लगा सकते है कि आपको कहाँ और कैसे बदलाव की आवश्यक्ता है.

जोखिम (Risk factors)

अगर किसी भी तरह का बिजनेस स्टार्ट करने से पहले आप इसमे आने वाले जोखिमो की सूची तैयार कर लेते है तो यह आपको सफलता के लिए मार्गदर्शन प्रदान करेगी और साथ ही साथ आप अपने रास्ते में आने वाले जोखिमो से भी निपट पायेंगे. अधिक्तर जगह लोग अपने बिजनेस के लिए कई चीजों जैसे पूंजी निवेश, जगह , अन्य कामकाज आदि को लेकर गलत अंदाजा लगा लेते है जिससे उन्हें नुकसान का सामना करना पड़ता है.

इन चीजों के अलावा एक फास्ट फूड रेस्टोरेंट  के मालिक को अन्य चीजों जैसे अच्छा खाना, आकर्षक जगह और बैठक, काम के लिए अच्छे और सही लोगो का चयन आदि बातों का भी ध्यान रखना चाहिये.

एक सफल रेस्टोरेंट  के लिए आपको एक अच्छी प्लानिंग करनी होती है क्योंकि फूड का प्राइस और काम करने वालो की तनख्वाह आदि जैसी छोटी-छोटी बातें आपके रेस्टोरेंट  के मुनाफे को बहुत ज्यादा प्रभावित करते है.

अन्य नए व्यापार शुरू करने के बारे में पढ़े:

2 comments

  1. Thanks for sharing this helful information

  2. Sir me ek stailish food corner kholna h

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *