शहर जाने वाले ग्रामीण युवा शुरू करें गांव में रहकर ये 5 व्यवसाय, यकीन मानिये शहर जाना भूल जायेंगे

आज गांव से लोग शहर की ओर जा रहे हैं इसका मुख्य कारण हैं शहर में व्यवसाय के अवसर का होना. शहरों में व्यवसाय के प्रावधान एवं गांवों के व्यवसाय के प्रावधानों में थोड़ा अंतर होता हैं. किन्तु ऐसा नहीं हैं कि गांव के लोगों के लिए व्यवसाय के अवसर केवल शहरों में हैं गांव में नहीं हैं. गांव के कुछ ऐसे लोग जोकि अधिक पैसा कमाने के लिए शहर जाने के बारे में सोच रहे हैं, तो उनके लिए हम यहाँ कुछ ऐसे व्यवसाय आइडियाज शेयर कर रहे हैं जिससे वे शहर जाना भूल जायेंगे, और गांव में ही रहकर अपना व्यवसाय जारी रखने के बारे में सोचेंगे. कौन से हैं ऐसे व्यवसाय के तरीके जिससे गांव के लोगों के मन में हो सकता हैं इतना बड़ा बदलाव, जानने के लिए नीचे दी गई बिन्दुओं पर नजर डालिए.

gaon ke vyapar

गांव के व्यापार (Village Business Idea)

गांव से शहर जाने वाले लोगों के लिए शहर न जाकर गांव में ही रहकर शुरू करने वाले कुछ व्यापार के आइडियाज इस प्रकार हैं –

  • आटा चक्की :-

शहर में लोगों के पास इतना समय एवं जगह नहीं होती कि वे गेंहू, दाल, चांवल आदि राशन की चीजें स्टॉक करके रखें. इसलिए वे पिसा हुआ आटा, धुली एवं सूखी दालें आदि थोड़ा – थोड़ा खरीदते हैं. लेकिन इसके विपरीत जो लोग गांव में रहते हैं, वे राशन बाजार से न खरीदते हुए सोसायटी से खरीद कर स्टॉक करके रखते हैं, ऐसे में उन्हें कुछ दिनों में आटा पिसवाना होता हैं. इस दौरान आटा चक्की की मांग बढ़ती है. आप गांव में आटा चक्की लगा सकते हैं. आटा चक्की में जरुरी नहीं कि आप आटा ही पीसें, आप आटा के साथ – साथ, बेसन, हल्दी, मिर्ची, मक्का, धनिया आदि भी पीस सकते हैं. इसके लिए आवश्यक है कि आप मशीन खरीदें, लेकिन आपके पास पर्याप्त बिजली होना आवश्यक है. गांव में रहकर ये सुविधा देकर आप प्रतिदिन हजार रूपये तक की कमाई कर सकते हैं. 

छोटे शहर या गांव में कम लागत में शुरू करने वाले विभिन्न बिज़नेस आइडियाज की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

  • खुदरा दुकान

गांव में एक खुदरा दुकान खोलना भी एक अच्छे विकल्प के रूप में सामने आता है. ये खुदरा दुकानें कपड़ें की दुकान, किराने की दुकान, हार्डवेयर की दुकान कोई भी हो सकती हैं. इसके अलावा कुछ सेवा देने वाली खुदरा दुकानें जैसे नाई की दुकान, कपड़े की सिलाई का बुटिक आदि भी फायदा देने वाले अच्छे विकल्पों में से एक हैं. आप गांव में रहकर मिठाई, फल एवं सब्जी की दुकानें लगाकर भी पैसा कमा सकते हैं. ये सभी खुदरा दुकानों के विकल्प गांव में रहने वाले लोगों के लिए फायदेमंद हैं. और इन सभी में आपको लागत भी काफी कम पड़ेगी.

  • थ्रेशिंग मशीन को किराये पर देने का व्यवसाय

यदि आपके पास इतनी पूंजी हैं कि आप एक ट्रेक्टर या थ्रेशिंग मशीन या बीज बोने वाली मशीन या सिंचाई की मशीन या फिर खेत जोतने में जो भी मशीनों की आवश्यकता होती हैं वह सब खरीद सकते हैं. तो इससे आपको पैसे कमाने के लिए शहर नहीं जाना होगा. कैसे ? इसे आप इस तरह से समझ सकते हैं कि गांव में रहने वाले कई ऐसे लोग होते हैं, जिनके पास इतने पैसे नहीं होते कि वे ये सभी मशीनें खरीद कर खेती कर सकें. ऐसे में वे किराये से इन मशीनों को उठाकर खेती करते हैं. तो यदि आपके पास ये मशीनें होंगी तो आप ऐसे लोगों को किराएँ से मशीनें देकर उनसे पैसे ले सकते हैं. यदि आप विभिन्न तरह की मशीनें रखते हैं तो जाहिर सी बात हैं कि तो लोग आपके पास ही आएंगे. ऐसे में ये व्यवसाय आपके लिए लखपति बनाने का अवसर पैदा कर सकता है. 

केवल 20 % भुगतान कर केंद्र सरकार की कस्टम फार्म मशीनरी (सीएचसी) योजना का फायदा उठाने के लिए यहाँ क्लिक करें

  • रेशम उत्पादन का बिज़नेस

रेशम उत्पादन का बिज़नेस भारत में कुटीर उद्योग की श्रेणी में हैं. जहाँ विभिन्न  तरह के रेशम का उत्पादन किया जाता है. आपको बता दें कि रेशम का उत्पादन करने के लिए रेशम के कीड़ों का पालन करना होता है. ये कीड़ें विभिन्न तरह के भी हो सकते हैं. रेशम के कीड़ें के पालन के व्यवसाय में आपको बहुत कम लागत की आवश्यकता होती है. यह एक कृषि पर आधारित व्यवसाय हैं. अब यदि रेशम की मांग की बात करें तो रेशम के कपड़े लोगों को पहनना काफी पसंद होते हैं. यह दिखने में चमकीला रेशेदार किन्तु पहनने में काफी आरामदायक होता है. अतः आप बहुत कम पूंजी लगाकर रेशम का उत्पादन का व्यवसाय शुरू करें, और इसे अपनी आय का साधन बनाएं.

  • झाड़ू बनाने का व्यवसाय

झाड़ू एक ऐसा प्रोडक्ट हैं जोकि हर घर, दुकान, ऑफिस हर जगह पाया जाता है. जिसे लोग सफाई करने में उपयोग करते हैं. सफाई का काम 1 – 2 दिन का काम तो होता नहीं हैं सफाई तो रोज करनी होती हैं. ऐसे में इस उत्पाद के ख़राब होने के चांस भी काफी होते हैं. इसलिए लोग इसे खरीदते भी बहुत हैं. अब अगर हम इस प्रोडक्ट की बात करें तो इसे बनाने के कई तरीके भी होते हैं. इसे घास, नारियल या खजूर के पत्ते, कॉर्न हस्क आदि से निर्मित किया जाता हैं. इस व्यवसाय में आपको न तो अधिक लागत की आवश्यकता होती हैं और न ही कोई बहुत बड़े जगह की. इसके अलावा आप इसे अपने हाथों से भी बना सकते हैं, नहीं तो इसे बनाने की मशीनें भी बाजार में मिलती हैं. आप किसी नये तरीके के व्यवसाय को शुरू करने का सोच रहे हैं, तो आप इस विकल्प का चयन कर सकते हैं. यह पैसे कमाने के लिए काफी अच्छा विकल्प हो सकता है.

चप्पल बनाने के व्यवसाय से कमा सकते हैं 50 हजार रूपये प्रतिमाह, कैसे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

तो ये सभी नए व्यवसाय के अवसर हैं जोकि गांव में रहने वाले लोगों के लिए हैं जो शहर जाने के बारे में सोचते हैं. वे सभी अपनी इस सोच को छोड़कर अपने गांव में रहकर ही काफी मुनाफा कमाने के साधन खोज सकते हैं.

अन्य पढ़ें –  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *