होम डिलीवरी सेवा व्यवसाय शुरु कर कमाए लाखों रुपए

होम डिलीवरी व्यवसाय, शॉपिंग, क्या है, (Home Delivery Business Ideas, Plan, Model, Cost, Profit, App, India, in Hindi)

कोरोना वायरस के संक्रमण ने लोगों को घर पर रहने के लिए मजबूर कर दिया है ऐसे में जरूरत के सामान को प्राप्त करने के लिए भी वे बाहर नहीं निकल पा रहे हैं. ऐसे समय में सबसे बड़ी समस्या है कि सामान कैसे प्राप्त किया जाए तो उसके लिए होम डिलीवरी का विकल्प सामने आता है. जिसकी इजाजत भारत सरकार ने भी दी है कि सभी कंपनी ऑनलाइन ऑर्डर लेकर होम डिलीवरी की सेवा आरंभ कर सकती हैं. तो ऐसे समय में कमाई का सबसे बड़ा साधन खुद का डिलीवरी बिजनेस आरंभ करना है. परंतु सवाल यह उठता है कि खुद का डिलीवरी बिजनेस कैसे आरंभ किया जा सकता है और कैसे इसे चलाया जा सकता है. तो चलिए घबराने की कोई भी बात नहीं है क्योंकि हम आपको डिलीवरी बिजनेस स्टार्टअप से जुड़े सभी मुख्य तथ्य इस पोस्ट में बताने वाले हैं.

home delivery bussiness hindi

क्या होता है होम डिलीवरी बिजनेस (What is Home Delivery Business)

डिलीवरी बिजनेस एक ऐसे प्रकार का बिजनेस होता है जिसमें आप उपभोक्ताओं के घर तक प्रोडक्ट पहुंचाने का काम करते हैं. इस स्टार्टअप व्यवसाय को आसानी से अपने फोन के जरिए भी आरंभ किया जा सकता है क्योंकि उपभोक्ता मुख्य रूप से इस व्यवसाय में फोन के जरिए ही अपना आर्डर देते हैं. जिसे पूरा करने का काम डिलीवरी बिजनेस में कार्यरत व्यक्तियों को करना होता है.

कोरोना वायरस के चलते हैण्ड सेनीटाईजर बनाने का व्यवसाय से लाभ कमाने के लिए यहाँ क्लिक करें.

होम डिलीवरी बिजनेस की मांग (Home Delivery Business Opportunity)

कोरोनावायरस के संक्रमण के बाद तो इस व्यवसाय की अपॉर्चुनिटी बहुत ज्यादा बढ़ गई है. हालांकि पहले भी बहुत ज्यादा थी क्योंकि आज के समय में लोग बाहर जाने से अच्छा घर में बैठकर ही सामान मंगाना और उपयोग करना ज्यादा पसंद करते हैं. फिर चाहे वह होटल से खाना मंगाने का क्यों ना हो. और यदि सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने की आवश्यकता आज के समय में बहुत ज्यादा है तो सबसे अच्छा विकल्प डिलीवरी व्यवसाय का है जो आज के समय में आसमान की बुलंदियों को छू सकता है.

होम डिलीवरी व्यवसाय (Home Delivery Business Ideas)

होम डिलीवरी व्यवसाय के यदि प्रकार गिने जाएं तो आप बहुत सारे प्रकारों के रूप में होम डिलीवरी बिजनेस आरंभ कर सकते हैं. उनमें से कुछ मुख्य विकल्प आपको नीचे हम बताने वाले हैं :-

किराने की डिलीवरी :- कोरोना वायरस के संक्रमण के दौरान जहां लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन रखने का संदेश बार-बार दिया जा रहा है. ऐसे में घर बैठे किराने का सामान यदि चाहिए हो तो सबसे अच्छा विकल्प होम डिलीवरी का है. इसलिए यदि कोई व्यक्ति होम डिलीवरी का व्यवसाय आरंभ करना चाहता है तो किराने से जुड़ी वस्तुएं आसानी से डिलीवर कर सकता है.

कुरियर सेवाएं :- कुरियर सेवा के जरिए लोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर पार्सल भेजने का काम करते हैं. यह ई-कॉमर्स क्षेत्र के साथ-साथ उपभोक्ताओं के बीच भी बहुत ज्यादा मशहूर है. कुरियर सेवा के जरिए लोग तनाव मुक्त शॉपिंग का फायदा उठाते हैं.

खाद्य वितरण सेवा :- जब घर पर खाना पकाने का मन ना हो तो तुरंत हम फोन करके होटल से बना हुआ खाना मंगा लेते हैं. ऐसे में खाद्य वितरण सेवा बहुत ज्यादा लाभदायक सिद्ध होती है.

गिफ्ट बास्केट वितरण :- घर में भले ही हम लॉकडाउन की स्थिति में हो परंतु जब किसी का जन्मदिन और एनिवर्सरी की बात आती है, तब उन्हें गिफ्ट भेजने का सबसे उचित विकल्प होम डिलीवरी  ही है.

समाचार पत्र वितरण सेवा :- समाचार पत्र लेने के लिए आज के समय में कोई भी बाहर नहीं जाता है ऐसे में यह वितरण सेवा का व्यवसाय भी बहुत ज्यादा लाभदायक और आमदनी भरा है.

पिज़्ज़ा डिलीवरी :- यदि आप खाना बनाने के शौकीन हैं और स्वादिष्ट खाना बना सकते हैं, तो ऐसे में आप स्वयं पिज़्ज़ा बनाकर लोगों के घर तक होम डिलीवरी का व्यवसाय भी आरंभ कर सकते हैं.

ड्राई क्लीनिंग सर्विस :- व्यस्तता भरे जीवन में लोग अपने कपड़े ड्राई क्लीनिंग कराने का काम बाहर दे देते हैं. ऐसे में ड्राई क्लीनिंग सर्विस देते हुए यदि कपड़ों की डिलीवरी उनके घर तक पहुंचाई जाए तो सोने पर सुहागा वाली बात हो जाती है. ऐसे में यह व्यवसाय बेहद सरल और मुनाफा कमाने वाला व्यवसाय है.

स्कूल बस सेवाएं :– स्कूल बस सेवाएं भी होम डिलीवरी सर्विसेज में आती हैं जिन्हें आसानी से आप चला सकते हैं. यदि कोई व्यक्ति बस चलाना जानता है तो वह स्कूल के संपर्क में आकर बच्चों को उनके घर तक पहुंचाने का काम आराम से कर सकते हैं.

दवा वितरण :– कुछ लोग ऐसे होते हैं जो बीमारी की वजह से घर से बाहर नहीं निकल पाते हैं. ऐसे में उन्हें दवाई के लिए घर से बाहर जाना पड़ता है, परंतु दवा वितरण सेवाएं उनकी इस समस्या को भी आसानी से हल करते हैं.

किराना स्टोर का व्यवसाय शुरू करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

होम डिलीवरी व्यवसाय के लिए वाहन एवं उपकरण (Required Vehicle and Equipment)

इस व्यवसाय में आपको विभिन्न प्रकार के साधनों की भी आवश्यकता होगी जिनमें से कुछ निम्नलिखित है:-

ट्रक अथवा वेन :– यदि आप बड़े – बड़े उत्पादों की होम डिलीवरी करने का विकल्प देखना चाहते हैं तो आपके पास ट्रक अथवा बैन होना चाहिए.

विभिन्न उपकरण :- सामान को एक जगह से दूसरे जगह पर लाने ले जाने और ट्रक अथवा वेन में से उतारने के लिए विभिन्न उपकरणों की आवश्यकता होती है. व्यवसाय आरंभ करते समय आपको उन उपकरणों की भी आवश्यकता होगी इसलिए उन उपकरणों को भी अवश्य खरीद ले.

होम डिलीवरी व्यवसाय का नामांकन और ब्रांडिंग (Registration and Branding)

आप यदि एक बड़े पैमाने पर व्यवसाय आरंभ करना चाहते हैं तो उसे एक अलग नाम अवश्य दें ताकि आपके व्यवसाय की पहचान लोगों को हो सके. एक ब्रांड के अनुसार आपको अवश्य काम करना चाहिए ताकि आप बाजार में अपनी एक अलग पहचान बनायें. इसलिए अपने व्यवसाय के लिए आपको एक ऐसा नाम चुनना चाहिए जो बेहद आकर्षक और लोगों की जुबान पर आसानी से आने वाला हो.

कार ड्राइविंग स्कूल या मोटर ट्रेनिंग स्कूल का व्यापार करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें.

होम डिलीवरी कंपनी लाइसेंस के लिए रजिस्ट्रेशन (License)

आपको अपने व्यवसाय के लिए पंजीकरण की आवश्यकता भी होगी. जिसके लिए जिस राज्य में व्यापार आरंभ करने वाले हैं उस राज्य के राजस्व दफ्तर में जाकर अपने व्यवसाय का पंजीकरण अवश्य करा लें. पंजीकरण होने के बाद आपकी कंपनी आसानी से रजिस्टर हो जाती है, जिससे आने वाले समय के लिए आप पूरी तरह से तैयार हो जाते हैं और आपको किसी समस्या का सामना भी नहीं करना पड़ता है. साथ ही लाइसेंस प्राप्त करने के बाद आप किसी भी प्रकार के गैरकानूनी हस्तक्षेप में नहीं फंसते हैं, आप आसानी से अपने सभी काम कानूनी रूप से कर सकते हैं.

होम डिलीवरी व्यवसाय एप (Home Delivery Business App)

उपभोक्ता द्वारा होम डिलीवरी के लिए मोबाइल फोन से ऑनलाइन ऑडर दिया जाता हैं. यदि आप इसके लिए एप बना लें तो उसके माध्यम से वे होम डिलीवरी के लिए ऑर्डर दे सकते हैं. एप्प में आपको दुकानों के साथ – साथ कस्टमर को रजिस्टर करने का विकल्प देना होगा, ताकि दुकानदार के प्रोडक्ट्स उपभोक्ता देखें और उसके अनुसार उसका ऑडर प्लेस कर सकें. इसलिए एक एप्प बनाना आवश्यक है.

ओला कैब के साथ व्यवसाय शुरू करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

होम डिलीवरी व्यवसाय के लिए स्थान का चयन (Business Location)

डिलीवरी सेवा व्यवसाय आरंभ करने से पहले आपको एक ऐसी लोकेशन का चुनाव करना चाहिए, जो एक ऐसे स्थान पर हो जहां पर आपके वाहन आसानी से आवागमन कर सकें. साथ ही डिलीवरी से जुड़े सामान के भंडारण के लिए आपके पास एक उपयुक्त गोदाम का होना भी आवश्यक है, ताकि आप वहां पर बड़े पैमाने पर सामान रख सकें और उपभोक्ताओं तक पहुंचाने तक उसे संभाल सके. आपके व्यवसाय की लोकेशन कुछ इस प्रकार होनी चाहिए कि आप बाजार के करीब हो और रिहायशी इलाकों से भी आपका आवागमन आराम से हो सके.

होम डिलीवरी व्यवसाय की मार्केटिंग (Marketing)

अपने व्यवसाय से जुड़ी मार्केटिंग करने के लिए आप ऑनलाइन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का भी सहारा ले सकते हैं. और साथ ही पंपलेट सब छपवा कर भी आप उन्हें अपने आसपास के क्षेत्र में पहुंचा सकते हैं. ताकि आपके व्यवसाय से अवगत होकर जल्द ही आपको काम मिलना आरंभ हो जाए.

एफिलिएट मार्केटिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमा सकते हैं इसकी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

होम डिलीवरी व्यवसाय में कुल लागत और लाभ (Total Cost and Profit)

होम डिलेवरी के  व्यवसाय को शुरू करने में आपको ज्यादा खर्च करने की आवश्यकता तो  होती नहीं है, परंतु यदि आपके पास कोई साधन नहीं है तो उन्हें खरीदने के लिए आपको पैसे खर्च करने पड़ सकते हैं. साधन पर लगने वाली लागत आपके साधन के आकार पर निर्भर करती है. यदि आप एक ट्रक खरीदना चाहते हैं तो ट्रक खरीदने की बजाय एक ऐसा ट्रक संचालक रख लें, जिसके पास खुद का एक ट्रक मौजूद हो. उसे आप सैलरी प्रदान कर सकते हैं जिसके बाद वह आपको अपनी सर्विसेज दे सकता है. यदि इसके अलावा आप 1 ट्रक खरीदने के इच्छुक हैं तो आपको 8 लाख से लेकर 10 लाख रुपये तक की राशि खर्च करनी होगी. इसके अलावा आपको सामान ढोने और लाने ले जाने के लिए उपकरणों की भी आवश्यकता होगी, जिन्हें खरीदने के लिए भी आपको राशि खर्च करनी पड़ेगी. यदि कुल मिलाकर देखा जाए तो गोदाम के लिए जगह और साथ ही उपकरण और साधनों को मिलाकर लगभग आपको 20 लाख रुपए से लेकर 30 लाख रूपए तक का खर्चा इस व्यवसाय में करना होगा.

हालांकि आज के समय में होम डिलीवरी व्यवसाय में अच्छा-खासा प्रोफिट्स देने वाला व्यवसाय है. क्योंकि इस व्यवसाय में जिस प्रोडक्ट को आप होम डिलीवर करने के लिए जाते हैं, उस पर आप उपभोक्ता से डिलीवरी चार्ज लेते हैं. जो प्रोडक्ट के अनुसार निर्धारित किया जाता है.

एफएक्यू (FAQ’s)

Q : होम डिलीवरी व्यवसाय कौन कौन से हैं ?

Ans : होम डिलीवरी व्यवसाय किराने के सामान की डिलीवरी, फ़ूड डिलीवरी सर्विस, कूरियर सर्विस, पिज़्ज़ा डिलीवरी, समाचार पत्र, स्कूल बस सेवा आदि और भी हैं.

Q : होम डिलीवरी व्यवसाय में कितना निवेश करना होगा ?

Ans : होम डिलीवरी व्यवसाय में आपको मुख्य रूप से वाहन एवं समान ढ़ोने के लिए कुछ उपकरणों आदि में निवेश करना होता हैं जोकि 8 से 10 लाख रूपये हो सकता हैं. यदि छोटी जगह पर यह व्यवसाय कर रहे हैं तो यह निवेश और कम हो सकता है. क्योकि इसमें फिर छोटे वाहन ही काम में आ जायेंगे.

Q : होम डिलीवरी व्यवसाय में कितनी कमाई हो सकती हैं ?

Ans : इन दिनों यह व्यवसाय काफी लोकप्रिय हैं इसलिए इससे काफी अच्छी कमाई हो सकती हैं.

Q : क्या होम डिलीवरी व्यवसाय आरंभ करने की बजाय किसी डिलीवरी सर्विस के साथ भी जुड़ा जा सकता है?

Ans : जी हां यदि आपके पास खुद का व्यवसाय आरंभ करने के लिए प्रचुर मात्रा में राशि मौजूद नहीं है, तो आप आसानी से किसी मशहूर कंपनी के साथ जुड़कर होम डिलीवरी से जुड़ी सेवाएं दे सकते हैं.

Q : घर बैठे ग्रॉसरी की डिलीवरी कैसे प्राप्त की जा सकती है?

Ans : यदि आप अपने घर बैठे ही उत्पाद प्राप्त करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको गूगल पर जाकर अपने आसपास के होम डिलीवरी सर्विस खोजने होंगे. जैसे ही आपको किसी सर्विस का नाम मिल जाता है उसके ऊपर क्लिक करते ही आपके सामने उससे जुड़े सभी दिशानिर्देश आपको प्राप्त हो जाते हैं. उसके बाद आप उनकी वेबसाइट अथवा एप्लीकेशन ओपन करके आसानी से अपना आर्डर वहां पर दे सकते हैं. उसके बाद वह आपको सूचना देंगे कि आप अपना सामान कितनी देर में घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं. कुछ मशहूर होम डिलीवरी ब्रांड के नाम की बात करें तो उनमें amazon, फ्लिपकार्ड, जोमैटो आदि का नाम सबसे पहले लिया जाता है.

Q : होम डिलीवरी व्यवसाय कैसे आरंभ किया जा सकता है?

Ans : होम डिलीवरी व्यवसाय आरंभ करने के लिए आप सबसे पहले आपको अपने व्यवसाय को आरंभ करने के लिए एक ट्रक, वैन, अथवा एक साधन जुटाना होगा. उसके बाद आप बाजार में जाकर अपने आसपास की स्ट्रैटेजी को देख सकते हैं. अपने व्यवसाय के लिए एक नाम का चुनाव करें. व्यवसाय के लिए बाजार में जाकर अपनी रेपुटेशन बनाएं और अपने व्यवसाय का प्रचार प्रसार करें. व्यवसाय आरंभ करने के बाद इंश्योरेंस कराना भी आवश्यक है क्योंकि होम डिलीवरी व्यवसाय में अक्सर व्यवसाय करने वाले व्यापारी को क्षति का सामना करना पड़ता है. अपने व्यवसाय का पंजीकरण करायें और लाइसेंस अवश्य प्राप्त करें. उसके बाद प्रत्येक सामान की डिलीवरी करने के लिए एक रजिस्टर्ड बिल अवश्य उपभोक्ता को दे.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *