हॉस्टल या पीजी का व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Hostel or Paying Guest Business in Hindi

हॉस्टल या पीजी का व्यापार कैसे शुरू करें (How to Start Hostel or PG or Paying Guest Business in Hindi)

दोस्तों आज के समय में शिक्षा बहुत महत्वपूर्ण हैं. ऐसे में छात्र / छात्राएं अच्छी शिक्षा के लिए घर से दूर रहकर अपनी पढ़ाई करते हैं. और अक्सर उन्हें रहने के लिए हॉस्टल या पीजी यानि पेइंग गेस्ट की जरुरत होती है. इसके अलावा कुछ स्थानों में पर्यटक भी रहने के लिए हॉस्टल या पीजी की तलाश करते हैं, क्योकि अधिकतर होटल का रेट बहुत अधिक होता है. ऐसे में यदि हॉस्टल या पीजी खोल कर व्यापार किया जाए, तो यह फायदेमंद हो सकता है. यहाँ कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताया जा रहा हैं, जिनकी आपको अपना खुद का हॉस्टल या पीजी का व्यापार चलाने और सेटअप करने में आवश्यकता पड़ेगी.

Hostel PG Business

हॉस्टल या पीजी क्या है ? (What is Hostel or PG)

हॉस्टल या पीजी एक बजट – ओरिएंटेड स्थान है, जहाँ लोग आम तौर पर लोगों के समूह के साथ रहते हैं, और यहाँ दी जाने वाली पूरी सेवा प्राप्त करते हैं. यहाँ विशेष कर छात्र / छात्राएं या एकल परिवार या कोई भी यात्री रह सकते हैं. लेकिन हॉस्टल एवं पीजी में कुछ अंतर होता है. हॉस्टल वह स्थान होता है, जोकि एक बड़े क्षेत्र में खोला जाता हैं और वहां बहुत से छात्र / छात्राएं रह सकते हैं, वहाँ स्टाफ भी होता है, जिनके द्वारा रहने, खाने जैसी सभी तरह की सुविधाएँ दी जाती है. दूसरी तरफ पीजी वह स्थान हैं, जोकि छोटे क्षेत्रों में उपलब्ध होता है. यहाँ लोग एकल परिवार या कुछ समूह में रहते हैं. यहाँ अधिकतर सिर्फ रहने की सुविधा दी जाती है. वहां रहने वालों को अपने खाने की व्यवस्था खुद करनी पड़ती है. अतः दोनों ही जगहों पर लोगों को इसके लिए पैसों का भुगतान होटल के मुकाबले थोडा कम करना पड़ता है.

हॉस्टल के प्रकार (Type of Hostel)

आप अपने हॉस्टल एवं पीजी के व्यवसाय में किस तरह का हॉस्टल या पीजी खोलना चाहते हैं, वह निम्न प्रकार के बताया जा रहा हैं :-

  • छात्र हॉस्टल :- ये वे हॉस्टल होते हैं, जोकि केवल छात्रों के लिए उपलब्ध होते हैं. लेकिन ये भी अलग – अलग प्रकार के हो सकते हैं जैसे –
  1. गर्ल्स हॉस्टल :- आप अपने व्यवसाय को शुरू करने के लिए केवल गर्ल्स हॉस्टल खोल सकते हैं. इसमें केवल लड़कियां और उनका समूह रह सकता है. इन हॉस्टल में कुछ अलग – अलग कमरे होते हैं, ये कमरे एकल, डबल और 4 – सीटर हो सकते हैं. जहाँ लड़कियों को अपना कमरा किसी दूसरी लड़की से साझा करना पड़ता है.
  2. बॉय हॉस्टल :- आप चाहे तो अपने व्यवसाय को शुरू करने के लिए बॉय हॉस्टल का विकल्प भी चुन सकते हैं. इस हॉस्टल में केवल लड़के और उनके समूह रह सकते हैं. एवं यहाँ भी गर्ल्स हॉस्टल की तरह अलग – अलग कई कमरे उपलब्ध होते है.
  3. मिश्रित हॉस्टल :- आज के समय में लड़के एवं लड़की दोनों का मिश्रित हॉस्टल भी उपलब्ध हो गया है. जहाँ लड़के व लड़कियों के अलग – अलग समूह एक ही हॉस्टल में रहते हैं. यहाँ भी उन्हें अलग – अलग कुछ कमरे उपलब्ध कराए जाते हैं.
  • पर्यटन हॉस्टल :- पर्यटन स्थल में बहुत से पर्यटक भ्रमण करने आते हैं. उन्हें रहने के लिए स्थान चाहिए होता है, लेकिन होटल महंगे पड़ने के कारण वे लोग हॉस्टल में रहना पसंद करते हैं. ऐसे लोगों के लिए ही पर्यटन हॉस्टल बनाये जाते हैं. इसमें लोगों को रहने एवं खाने की सभी सुविधाएँ दी जाती है. आप चाहे तो केवल रहने की जगह किराये पर दे सकते हैं.
  • पीजी :- पीजी यानि पेइंग गेस्ट के बारे में हमने आपको पहले ही बताया है, कि ये छोटे क्षेत्रों में होता है. इसमें लोग समूह में परिवार के साथ भी रह सकते हैं. इसमें बहुत सारे अलग – अलग समूह नहीं होते. इसमें उन्हें रहने के लिए एक कमरा या फ्लैट दिया जाता हैं.

हॉस्टल या पीजी के लिए स्थान की आवश्यकता (Location Required)

आपको एक ऐसे स्थान पर हॉस्टल या पीजी खोलना चाहिए, जहाँ लोग इसे ज्यादा खोजते हैं. अर्थात जहाँ लोगों को इसकी ज्यादा आवश्यकता होती है. इसके लिए आप किसी कॉलेज या स्कूल के पास के एरिया के बारे में सोच सकते हैं. क्योकि अधिकतर छात्र एवं छात्राएं कॉलेज या स्कूल के पास वाले हॉस्टल या पीजी में रहना पसंद करते हैं, ताकि उन्हें आने – जाने में कोई परेशानी न हो. तो आपको ऐसे स्थान का चयन करना आपके व्यापार को बढ़ाने में मदद करेगा.  इसके अलावा आप राजमार्गों या मुख्य सड़कों से दिखाई देने वाले रास्ते में भी हॉस्टल खोल सकते हैं. यदि आप पर्यटन हॉस्टल खोल रहे हैं, तो आपको पर्यटन स्थल के पास में हॉस्टल खोलना चाहिये, ताकि लोगों को यहाँ रहने में आसानी हो.

हॉस्टल या पीजी के व्यापार मे खर्च और कमाई (Investment and Profit in Hostel or Paying Guest Business)

किसी भी हॉस्टल या पीजी का व्यापार शुरू करने से पहले आपको इसमें कुछ निवेश करने की आवश्यकता होगी. क्योंकि इसमें आपको अपने ग्राहकों को कुछ आवश्यकता की चीजें उपलब्ध करना होता है, जैसे बिस्तर, कपड़े, बर्तन आदि इसी तरह की कुछ चीजें जो उनके उपयोग की हो. इसके अलावा आपको हॉस्टल खोलने के लिए एक बिल्डिंग की भी जरुरत होगी. हॉस्टल का लाइसेंस लेने के लिए भी आपको भुगतान करना होगा. इस तरह से इस व्यापार को शुरू करने में आपको कुछ निवेश करने की जरुरत तो होगी. किन्तु यदि आपने इसमें एक बार निवेश कर दिया, तो आपको इसके बाद इसमें बार – बार निवेश करने की आवश्यकता नहीं होगा.

बढ़ती प्रतिस्पर्धा में लागत कम रखने के लिए आपको इस व्यवसाय को कम निवेश के साथ सेट करना होगा. इसके अनुसार आप अपने प्रोजेक्ट की योजना बनाये. इसके लिए आप चरण -1 से शुरू करें, जहाँ आप केवल अपनी आय का 35-40% निवेश करते हैं, और अपना व्यवसाय शुरू कर इसे चलाते हैं. आप बाद में चरण – 2 और चरण -3 विकसित कर सकते हैं, ताकि यह आपको अपनी पिछली गलतियों को सुधारने और अपने पैसे को पूरी तरह से निवेश करने के लिए मार्जिन का समय दे.

इस व्यवसाय के सेट अप के लिए आवश्यकताएं (Requirements For Setup of The Business)

हॉस्टल का सेट अप तैयार करने के लिए आपको अपने हॉस्टल एरिया को अलग – अलग क्षेत्रों में विभाजित करना होगा. जैसे रहना, खाना, बाथरूम, खेलरूम, रसोई क्षेत्र, कॉमन क्षेत्र, रिसेप्शन क्षेत्र, मनोरंजन क्षेत्र और बार (यदि आवश्यक हो) आदि. इसके अलावा बिस्तर क्षेत्र को स्थापित करते समय आप अपने इनोवेशन को जोड़ सकते हो. आप एक कमरे में 3 या 4 बिस्तर भी उपलब्ध करा सकते हैं. इसके अलावा भी आप अपने स्थान एवं इनोवेटिव विचारों के साथ सेट अप जमा सकते हैं.

दी जाने वाली सुविधाएँ (Hostel Facilities)

हॉस्टल का व्यापार शुरू करने के लिए आपको कुछ सुविधाएँ अपने ग्राहकों को प्रदान करनी होगी, जोकि इस प्रकार है –

  • सुरक्षा लाकर्स :- हॉस्टल को छोटा होटल कहा जा सकता है. वे लगभग होटलों की तरह कार्य करते हैं. लेकिन होटल में रहने वालों को दी जाने वाली कुछ सुविधा यहाँ नहीं दी जाती है. इसमें रहने वालों के सामान के लिए सुरक्षा शामिल है. हॉस्टल में लोगों के पास केवल अपने सामान के लिए सुरक्षा लाकर्स होते हैं. अपने हॉस्टल व्यवसाय को शुरू करते समय आप रहने वालों के लिए सबसे अच्छे सुरक्षा लाकर्स प्रदान करें. नहीं तो इसके दुरूपयोग से आपकी एवं आपके हॉस्टल की प्रतिष्ठा ख़राब होगी.
  • बिस्तर :- अगर आप अपने हॉस्टल के कमरों में डबल – डेक या सिंगल डेक या दोनों को कंबाइन करके बिस्तर का उपयोग करना चाहते हैं, तो आपको इसका फैसला पहले करना होगा. आपको यहाँ रहने वालों की प्राइवेसी को भी ध्यान में रखने की आवश्कता होगी, क्योकि हॉस्टल में रहने वाले लोग अपने कमरे को एक – दूसरे से साझा करते हैं.
  • इंटरनेट की सुविधा :- आप अपने हॉस्टल में इंटरनेट की सुविधा भी अवश्य प्रदान करें, क्योकि आज के समय में यह अहम हो गई है. इंटरनेट का उपयोग या तो वाईफाई या लैंड-लाइन आधारित हो सकता है. इसके अलावा आपके मेहमानों को इंटरनेट का उपयोग करने के लिए लैपटॉप या कंप्यूटर को रखने की आवश्यकता होगी. आप अपने हॉस्टल में रहने वालों को यह रखने की अनुमति देकर इंटरनेट की सुविधा प्रदान करें, इसके लिए आप अतिरिक्त शुल्क भी ले सकते हैं.
  • नक्शे :- यदि आप पर्यटन हॉस्टल खोल रहे हैं, तो आपके मेहमान उस शहर के चारों ओर भ्रमण करना चाहेंगे, जहाँ वे रह रहे हैं. उनकी मदद करने के लिए और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आपको उन्हें उस जगह का नक्शा जरुर प्रदान करना होगा, ताकि उन्हें शहर में भ्रमण करते हुए मार्गदर्शन मिल सके. यदि आप टूर गाइड एजेंसी से लिंक करें, तो आप उसके माध्यम से भी उन्हें शहर का भ्रमण करा सकते हैं.
  • खाना पीना :- अधिकतर हॉस्टल में खाने की सुविधा दी जाती है. आप अपने हॉस्टल में एक मैश स्थापित कर सकते हैं ,जोकि आपके मेहमानों के लिए खाने – पीने की व्यवस्था करें, या फिर आप किसी टिफ़िन सर्विस सेंटर से भी संपर्क कर सकते है.

इस तरह से आप ये सभी सुविधा अपने ग्राहकों को देकर अपना व्यवसाय अच्छे से स्थापित कर सकते हैं.

लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन (License and Registration)

कई बार ऐसे होता है कि लोग हॉस्टल खोलकर बैठ जाते हैं और खुद को रजिस्टर नहीं करते हैं. ऐसे हॉस्टल सुरक्षित नहीं होते हैं. और लोग भी ऐसे स्थान में आना पसंद नहीं करते हैं. आपको इसका ध्यान रखना होगा. आपको अपने होटल या पीजी का रजिस्ट्रेशन करा कर लाइसेंस प्राप्त करने की आवश्यकता होगी. आप निम्न लाइसेंस को प्राप्त कर सकते हैं.

  • ट्रेड लाइसेंस :- हॉस्टल खोलते समय व्यापार लाइसेंस अनिवार्य है. ट्रेड लाइसेंस एक प्रमाण पत्र दस्तावेज है, जो व्यापार को जारी रखने की अनुमति देता है और इसके लिए ही यह दस्तावेज जारी किया जाता है.
  • एफएसएसएआई :- आप अपने हॉस्टल के व्यवसाय में खाद्य सुविधा देने जा रहे हैं, तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा, कि भोजन अच्छी गुणवत्ता का और स्वस्थ है, इससे किसी को किसी तरह का नुकसान नहीं होना चाहिये. इसके लिए आप आपने स्थानीय खाद्य एवं सुरक्षा सरकारी एजेंसियों पर जाएँ और वहां आप अपने आप को प्रमाणित करें, और एफएसएसएआई आवेदन देकर लाइसेंस प्राप्त करें.
  • एनओसी :- आपको अपने व्यापार में नगरपालिका निगम से एक एनओसी की भी आवश्यकता हो सकती है. आपको स्थानीय पुलिस स्टेशन में भी सूचित करना होगा. इसमें आमतौर पर सभी कागजात और परिसर की एक्सामिन शामिल होती है.

कर्मचारी (Employee)

हॉस्टल के व्यापार में सबसे जरूरी है, हॉस्टल में काम करने वाले कर्मचारी. आपको सबसे पहले हॉस्टल को संभालने करने के लिए एक ऐसे व्यव्क्ति की आवश्यकता होगी, जोकि आपके हॉस्टल में आने जाने वालों या अन्य चीजों का ध्यान रखे. इसके अलावा आपको सफाई कर्मचारी, गार्ड, मैश के कर्मचारी आदि की भी आवश्यकता होगी. ध्यान रहे आप अपने हॉस्टल में सबसे अच्छे कर्मचारी को हायर करें, क्योंकि वे ही आपके हॉस्टल की प्रतिष्ठा को बढ़ाने या घटाने में निर्भर करते हैं.

प्रचार / मार्केटिंग (Marketing)

आपको अपने व्यापार को विकसित करने के लिए आपको अपने हॉस्टल का प्रचार करना होगा, ताकि आपके हॉस्टल में ज्यादा से ज्यादा लोग आयें. आप अखबार में विज्ञापन  देकर, स्कूल या कॉलेज के बाहर होल्डिंग लगवा कर प्रचार कर सकते हैं. पर्यटन स्थल में भी होल्डिंग लगवा सकते हैं, और साथ ही पैम – प्लेट भी बाँट सकते हैं, ताकि लोग आपके हॉस्टल का विज्ञापन देखकर आकर्षित हो, और अधिक से अधिक लोग आकर आपके व्यवसाय को आगे बढ़ा सकें.

इस तरह से यह व्यवसाय शुरू कर आप कम निवेश में अधिक लाभ को प्राप्त कर सकते हैं. क्योकि यह लंबे समय तक चलने वाला व्यवसाय हैं.

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!