Diwali Business : इस दिवाली शुरू करें यह बिज़नेस, होगी जबरदस्त कमाई, जानें क्या है यह बिज़नेस

साफ सफाई मानव जीवन के लिए सबसे ज्यादा अहम होती है. और वर्तमान समय की बात करें, तो पिछले कम से कम 2 सालों से देखा जा रहा है कि हमारे देश में लोग स्वच्छता पर विशेष ध्यान देते हुए अपने आसपास सफाई रखने लगे हैं. लोगों को इसके लिए प्रेरित करने के लिए मोदी सरकार ने स्वच्छता अभियान भी चलाया है. आजकल हर कोई अपने घर की सफाई या तो खुद करते हैं या फिर कुछ कर्मचारियों को बुलाकर उनसे करवाते हैं, उनके द्वारा दी जाने वाली सेवा को हाउसकीपिंग सर्विस कहते हैं. फिलहाल दिवाली का सीजन आ गया है लोगों ने अपने घरों में साफ सफाई का काम करना चालू कर दिया है. ऐसे में यदि कोई व्यक्ति अपनी हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस की शुरुआत करता हैं, तो उसे बहुत अधिक लाभ हो सकता है. इस बिज़नेस क्या हैं और कैसे कर सकते हैं यह जानकारी आपको यहाँ मिल जाएगी.

diwali business idea

बाथरूम क्लीनर घर पर बनाएं और शुरू करें खुद का व्यवसाय, अच्छा मुनाफा मिलेगा.  

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस क्या है

हाउसकीपिंग का अर्थ होता है घर आधारित प्रबंधन कार्य करना. वर्तमान में इसे विशेष रूप से स्वच्छता और साफ सफाई सर्विस के रूप में जाना जाना है. लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि हाउसकीपिंग का कार्य करने करने वाले लोग केवल साफ़ सफाई का काम ही करते हैं, बल्कि उनसे ऐसा कोई भी काम करवा सकते है जिसमें शारीरिक परिश्रम लगता है यानि कि मैनपॉवर की आवश्यकता होती है. इसमें बिज़नेस को करने वाले लोग बड़ी जगहों में एक कंपनी से जुड़े होते हैं. जिन्हें अपने घर पर या ऑफिस में हाउसकीपिंग का काम कराना है वह उस कंपनी से संपर्क करता है फिर वह कंपनी अपने कर्मचारियों को हाउसकीपिंग सर्विस के लिए भेजती है. इसमें लोगों को पैसे उस कर्मचारी को नहीं देने होते बल्कि कंपनी को देने होते हैं. फिर वह कंपनी अपने कर्मचारियों को खुद अपने अनुसार पैसे देती हैं. छोटी जगहों की बात करें तो वहां पर इस तरह की कोई कंपनी नहीं होती, लोग कुछ कर्मचारियों को ऐसे ही काम कर रखते हैं और उन्हें दिन या महीने के अनुसार खुद ही पैसे देते हैं. यही हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस कहलाता है.

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस की मांग

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस की बाजार में मांग की बात करें तो आजकल लोगों में साफ सफाई का क्रेज कुछ ज्यादा ही हो गया है. इसलिए वे अपने घर या दफ्तर को साफ रखने के लिए हर महीने हाउसकीपिंग सर्विस लेना पसंद करते हैं. ऐसे में इस बिज़नेस की मांग बहुत ज्यादा बढ़ जाती है. खास करके दिवाली के सीजन में तो इस बिज़नेस की मांग इतनी ज्यादा होती हैं कि कंपनी के पास कर्मचारियों की कमी हो जाती हैं जिसके कारण लोगों को बुकिंग पहले से करनी पड़ती है. इस बिज़नेस की मांग इतनी ज्यादा होती हैं तो सोचिये कि इस बिज़नेस को करने वाले लोगों एवं कंपनी को कितना फायदा मिलता होगा. आपको यह भी जानकारी दे दें कि इस बिज़नेस की मांग घरों से ज्यादा व्यवसायिक क्षेत्रों में ज्यादा होती हैं. और इस बिज़नेस को करने वाले लोग इन क्षेत्रों में यह काम करना ज्यादा पसंद भी करते हैं.

हैण्डवाश सोप की डिमांड इन दिनों बहुत ज्यादा है, ऐसे शुरू कर सकते हैं यह बिज़नेस.  

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस कैसे शुरू करें

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस की शुरुआत करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको कर्मचारी इकठ्ठे करने होंगे. इसके बाद आपको अपनी कंपनी की शुरुआत करने के लिए एक ऑफिस चाहिए होगा. इस बिज़नेस की शुरुआत करने के लिए आपको कुछ पूँजी एवं जगह की भी आवश्यकता होगी. यह सभी चीजों की एक सूची बनाते हुए उस पर एक – एक करके काम करने से इस बिज़नेस की शुरुआत आसानी से की जा सकती है.

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस के लिए लोकेशन

इस बिज़नेस की शुरुआत करने के लिए आपके पास एक बेहतरीन लोकेशन का होना आवश्यक है, इसके लिए आप बड़े शहरों या फिर ऐसी जगहों का चुनाव कर सकते हैं जहां उद्योग धंधे बहुत ज्यादा हैं. जैसे कि दिल्ली, नोएडा, बंगलौर, मुंबई आदि. आप ऐसे क्षेत्र का चयन इसलिए करें क्योंकि हाउसकीपिंग सर्विस की मांग यहाँ पर ज्यादा होती हैं और कर्मचारी भी यही पर काम करना ज्यादा पसंद करते हैं. अपनी हाउसकीपिंग सर्विस कंपनी खोलने के लिए आपको कम से कम 200 वर्ग मीटर जगह की आवश्यकता होगी. जहां पर आप बैठ कर अपने कर्मचारियों को काम दे सकते हैं. हालाँकि इसे घर से भी ऑनलाइन माध्यम से शुरू किया जा सकता है इसके लिए आपको कोई जगह नहीं लेनी होगी.

टिश्यू पेपर या पेपर नैपकिन की आवश्यकता आजकल हर जगह होती हैं, इसे बनाने के बिज़नेस से अच्छा लाभ प्राप्त हो सकता है.

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस में लागत एवं पूंजी की व्यवस्था

इस बिज़नेस में लागत की बात करें तो यह एक सर्विस देने वाले बिज़नेस हैं इसमें ज्यादा निवेश नहीं करना पड़ता है. लेकिन इसमें आपको अपने कर्मचारियों को वेतन देना होता हैं इसके लिए आपको पूँजी की आवश्यकता होती हैं. हालाँकि यह वेतन आप आने ग्राहकों से मिलने वाले पैसे के अनुसार निश्चित करके देते हैं. इसके अलावा आपको इस बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन करने एवं लाइसेंस प्राप्त करने के लिए भी कुछ पूँजी की आवश्यकता हो सकती है. कुल पूँजी की बात करें तो इसमें कम से कम 5 लाख रूपये का निवेश करना आवश्यक होता है.

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस के लिए लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन

इस बिज़नेस में निम्न लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन कराने की आवश्यकता होगी –

  • कंपनी रजिस्ट्रेशन :- हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस में चुकी एक कंपनी शुरू की जा रही है इसलिए उद्यमी को अपने बिज़नेस को कंपनीज अधिनियम के तहत मिनिष्ट्री ऑफ़ कॉर्पोरेट अफेयर्स में अपनी कंपनी को रजिस्टर करना आवश्यक है.
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन :- इसके साथ ही उद्यमी को अपनी कंपनी को टैक्स रजिस्ट्रेशन यानि जीएसटी रजिस्ट्रेशन एवं स्थानीय नगर निगम से ट्रेड लाइसेंस भी प्राप्त करना होगा.
  • ईपीएफ या ईएसआई रजिस्ट्रेशन :- उद्यमी को ईपीएफ या ईएसआई रजिस्ट्रेशन भी कराना आवश्यक है क्योंकि इस बिज़नेस में 10 से ज्यादा कर्मचारी शामिल है.
  • टीएएन नंबर :- उद्यमी को अपने कर्मचारियों के कुल वेतन से टैक्स काटने के लिए टीएएन नंबर भी लेना होगा.

नोट :- आपको बता दें कि ये सभी लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन कराने में उद्यमी को अपने पैन कार्ड नंबर, आधार कार्ड एवं चालू खाता की आवश्यकता पड़ेगी.  

अपने बिज़नेस को एमएसएमई के तहत रजिस्टर करें, और लोन प्राप्त करके अपने इस बिज़नेस के लिए पूँजी की व्यवस्था करें.

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस में मैनपॉवर की खोज

इस बिज़नेस में अब बारी आती है मैनपॉवर की. आपको अच्छे मैन पॉवर की खोज करनी होगी. खोज करने के बाद आप उन्हें नियुक्त करने से पहले उनकी पूरी डिटेल ले लें, और उन्हें बोल दें कि जब कोई काम होगा उन्हें फोन करके बुला लिया जायेगा. मैनपॉवर की खोज whatsapp, फेसबुक जैसे सोशल मीडिया के जरिये की जा सकती है. हालाँकि इसके लिए पेपर में ऐड देना या फिर पंपप्लेट छपवाना आदि कर सकते हैं.    

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस में लगने वाली मशीनरी एवं उपकरण

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको कुछ साफ सफाई से संबंधित मशीनरी एवं उपकरणों की आवश्यकता होती है. जोकि इस प्रकार है –

  • वैक्यूम क्लीनर :- इससे कारपेट, सोफे, कुर्सी, वर्कस्टेशन, बिस्तर आदि की सफाई बहुत अच्छे से हो जाती है. यह वाहनों के अंदर की सफाई भी अच्छे से कर देता है. यह बाजार में 50 हजार से लेकर 1 लाख रूपये में मिल जायेगा.  
  • स्क्रबिंग मशीन :- फर्श साफ करने के लिए इस मशीन की आवश्यकता होती है. जोकि 70 से 80 हजार रूपये में मिल जाएगी.
  • कुछ सफाई उपकरण :- मशीन के अलावा कुछ सफाई उपकरण जैसे सोप आयल, मॉप्स, स्कॉट पैड, बाल्टी, एसिड, वाइपर, कारपेट शैम्पू आदि की भी आवश्यकता होगी. यह सभी चीजें 1000 रूपये तक में आ जाएगी.
  • एक वाहन :- एक स्थान से दुसरे स्थान किसी सामान को लाने ले जाने का काम करने के लिए एक वाहन की आवश्यकता होगी. यह सेकंड हैण्ड चल जाएगी. चाहें तो इसे किरायें पर भी ले सकते हैं.

मूवर्स एवं पैकर्स का बिज़नेस ऐसे शुरू करें, इस मदद से आपका सामान आसानी से एक जगह से दूसरी जगह पहुँच जाता है.

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस के लिए ग्राहक बनाएं

आपको अपने इस बिज़नेस में ग्राहक जुटाने होंगे, इसके लिए आप विभिन्न संस्थानों एवं कंपनियों से सम्पर्क कर सकते हैं. उन्हें ओना विजिटिंग कार्ड एवं बाउचर दे सकते हैं. ताकि वे इस सर्विस को लेने के लिए आकर्षित हो सकें और आपको ऑर्डर दें. ग्राहकों यदि यह आपका काम पसंद आयेगा, तो उसे वे अन्य लोगों को भी बतायेंगे.   

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस से मिलने वाला लाभ

इस बिज़नेस से आपकी कम से कम 3 से 5 लाख रूपये तक की कमाई हो जाती हैं. आप अपने ग्राहकों से जितने पैसे लेने उसका कुछ कमीशन आप अपने लिए काटकर कर्मचारी को वेतन प्रदान करेंगे. इससे कर्मचारियों को तो रोजगार मिल ही जायेगा. साथ में आपको भी इससे बहुत मुनाफा मिलेगा.

नहाने का साबुन बनाने का व्यवसाय आप अपने घर से शुरू कर सकते हैं, देता है हमारों कमाने का बेहतरीन मौका.

हाउसकीपिंग सर्विस बिज़नेस में जोखिम

इस बिज़नेस में थोड़ा जोखिम तो होता है, क्योंकि यह बिज़नेस हर समय एक समान नहीं होता है. कभी इसकी मांग इतनी ज्यादा होती हैं कि लोगों को बुकिंग करना होता हैं तो कभी बहुत कम ग्राहक आते हैं. इसलिए इस बिज़नेस में यही बड़ा जोखिम होता हैं.

इस तरह से इस दिवाली आप इस बिज़नेस की शुरुआत करके बहुत अच्छा लाभ कमा सकते हैं. क्योंकि दिवाली के समय इसकी मांग बहुत अधिक बढ़ जाती है.

FAQ

Q : हाउसकीपिंग बिज़नेस क्या होता है ?

Ans : यह लोगों को उनके घरों या ऑफिस में साफ सफाई के साथ ही मैनपावर वाले काम यानि शारीरिक श्रम जैसी सेवा प्रदान करने वाला बिज़नेस है.

Q : हाउसकीपिंग बिज़नेस में आवश्यक लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन क्या हैं ?

Ans : मिनिस्ट्री ऑफ़ कॉर्पोरेट अफेयर्स के तहत रजिस्ट्रेशन, जीएसटी रजिस्ट्रेशन, ट्रेड लाइसेंस, ईपीएफ या ईएसआई रजिस्ट्रेशन एवं टीएएननंबर आदि आवश्यक है.

Q : हाउसकीपिंग बिज़नेस में कर्मचारी कहाँ मिलेंगे ?

Ans : whatsapp, फेसबुक जैसे सोशल मीडिया में.

Q : हाउसकीपिंग बिज़नेस में लगने वाली कुल लागत कितनी है ?

Ans : 8 से 10 लाख रूपये जिसमें मशीनरी, उपकरण एवं कर्मचारियों का वेतन शामिल है.

Q : हाउसकीपिंग बिज़नेस में कितनी कमाई होती है ?

Ans : 3 से 5 लाख रूपये तक.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *