Home खाद्य और पेय जैम और जेली का व्यापार घर पर कैसे शुरू करें | How...

जैम और जेली का व्यापार घर पर कैसे शुरू करें | How to Start Jam and Jelly Business In Hindi

Back

2. जैम और जेली का व्यापार घर पर कैसे शुरू करें | How to Start Jam and Jelly Business at home In Hindi

जैम और जेली ऐसी खाने की चीज हैं जो कि हर तरह के आयु के लोगों को पसंद आती हैं. हमारे देश में जैम और जेली के व्यापार की मांग भी काफी अच्छी है. जैम और जेली के व्यापार को कोई भी व्यक्ति स्टार्ट कर सकता है. इस व्यापार को करने के लिए किसी विशेष तरह के ज्ञान की जरुरत नहीं होती है. इस बिजनेस को छोटे स्केल से भी शुरू किया जा सकता है और धीरे-धीरे बड़े स्केल में तब्दील भी किया जा सकता है. इसके अलावा आप अपने घर से भी इस व्यापार को कर सकते हैं.

जैम और जेली बनाने की प्रक्रिया लगभग एक जैसी ही होती है. इनको बनाने के लिए कुछ सामग्री और मशीनों की आवश्यकता पड़ती है. लेकिन इन सब चीजों की जानकारी होने से पहले, आपको इस बात की जानकारी होना बेहद जरुरी है कि आखिर हमारे देश में इस व्यापार से जुड़ी मार्केट की कितनी ग्रोथ है और घरों के अलावा इस उत्पाद को कहां कहां इस्तेमाल किया जाता है.

जैम और जेली के व्यापार से जुड़ी महत्वूपर्ण जानकारी (jams and jellies industry Details)

जैम और जेली व्यापार की ग्रोथ (Growth)-  हमारे देश में जैम और जेली का व्यापार शुरू से ही कामयाब रहा है, इस व्यापर से जुड़ी हर कंपनी शुरू से ही फायदे में रही हैं. वहीं आनेवाले समय में इस व्यापार में और वृद्धि होने का अनुमान है. क्योंकि जैम और जेली खाने के उत्पाद हैं और खाने के उत्पादों में ना के सामान ही गिरावट आती है. इसलिए आप बिना डर के ये बिजनेस शुरू कर सकते हैं

किन किन जगह होता है जैम और जेली इस्तेमाल (Uses)जैम और जेली का इस्तेमाल केवल घरों तक ही सीमित नहीं है और ये खाने के उत्पाद होटल में भी इस्तेमाल किए जाते हैं. इनका इस्तेमाल कई तरह की रेसिपी को बनाने में भी किया जाता है, जैसे की केक, आइसक्रीम शेक और आदि.

भारत में जैम और जेली की सबसे प्रसिद्ध कंपनिया (Companies)-  इस व्यापार से जुड़ी कई कंपनियां बाजार में मौजूद हैं. लेकिन किसान  (kissan) और टॉप्स (Tops) कंपनी जैम और जेली बनाने के क्षेत्र में अन्य कंपनियों से ज्यादा प्रसिद्ध हैं. इन दोनों कंपनियों द्वारा कई तरह के जैम बनाए जाते है.  इसके अलावा ये दोनों कंपनियां जेली भी बनाती हैं.

इन दोनों कंपनियों द्वारा बनाए जानवाले ये दोनों खाने के सामान बाजार में खूब बिकते हैं. वहीं अगर आप ने इन कंपनियों के बने हुए जैम और जेली खाएं होंगे तो आपको पता ही होगी कि ये कितने स्वादिष्ट होते हैं और बच्चों के साथ-साथ बड़े लोगों को भी पसंद आते हैं.

इस व्यापार को शुरू करने से पहले आपको ये अच्छे से पता होना चाहिए की आखिर जैम और जेली होती क्या हैं और इनमें क्या अंतर है. इसके अलावा आपको इनके फ्लेवर के बारे में भी जानकारी होने चाहिए.

जैम और जेली में अंतर – जैम और जेली लगभग एक ही तरीके से बनाई जाती हैं, इन दोनों का स्वाद भी एक सा होता है. बस जैम जेली के मुकाबले में थोड़ा सा पतला होता है और जेली थोड़ी सी मोटी होती है. एकतरफ जहां जेली एक टॉफी की तरह इस्तेमाल होती है. वहीं जैम को रोटी या फिर ब्रेड के साथ खाया जाता है.

जैम और जेली के फ्लेवर- जैम और जेली के कई तरह के फ्लेवर होते हैं और अगर आप इस व्यापार में कामयाब होना चाहते हैं, तो आपको भी इन सभी फ्लेवर के जैम और जेली बनाने होगें. बाजार में लगभग 10 से ज्यादा जैम और जेली के फ्लेवर मौजूद हैं. इसलिए अगर आप ये सोच रहें है कि आप केवल एक फ्लेवर का जैम और जेली बनाकर अपना व्यापार सफल बना सकते हैं तो आप गलत हैं.

जैम और जेली बनाने में इस्तेमाल होने वाली चीजें

जैम और जेली को कोई भी आसानी से घर पर बना सकता है, अगर आपका बजट थोड़ा ज्यादा है तो आप ये व्यापार एक बड़े स्तर पर भी शुरू कर सकते हैं. इनको बनाने के लिए कुछ मशीनों और सामग्री की जरुरत पड़ती हैं

जैम और जेली को बनाने में लगने वाली सामग्री (Ingredients details)– जैम और जेली बनाने के लिए आपको कई तरह की सामग्री चाहिए होती हैं और ये सामग्री आपको आसानी से कही भी मिल जाती हैं. वहीं नीचे जैम और जेली को बनाने में इस्तेमाल होने वाली चीजों की जानकारी और उनकी कीमतें बताई गई हैं.

फल (Fruit)किसी भी तरह की जेली और जैम को बनाने के लिए सबसे जरुरी सामग्री फल हैं. फल के जरिए ही जैम और जेली को स्वाद दिया जाता है. आप जिस स्वाद यानी फ्लेवर की जेली या जैम बनाना चाहते हैं. आपको उस स्वाद वाले फल की जरुरत पड़ेगी. इसके अलावा कोशिश करें की आप हमेशा ताजा फलों का ही इस्तेमाल करें.

बाजार में आम, ब्लूबेरी, स्ट्रॉबेरी, रास्पबेरी जैसे फलों के जैम बिकते हैं इसलिए आपको इन सभी फलों की जरुरत पड़ेगी. वहीं अगर आप मिक्स फ्रूट का जैम या जेली बनाते हैं, तो आपको ऊपर बताए गए फलों के अलावा अन्य फलों की भी जरुरत पड़ेगी.

कहां से खरीदे फल और इनकी कीमत- आप इन फलों को अपने शहर की किसी भी फल मंड़ी से खरीद सकते हैं. इसके अलावा आजकल ऑनलाइन भी इनकी बिक्री की जाती है. वहीं फलों की कीमत हमेशा एक जैसी नहीं रहती है और समय-समय पर बदलती रहती है. इसलिए इनकी सही कीमत बताना मुश्किल है.

पेक्टिन (Pectin)पेक्टिन पाउडर की मदद से ही फलों के रस को जेल (gel) का आकार यानी थोड़ा मोटा किया जाता है. वहीं कुछ प्रकार के फलों में उच्च गुणवत्ता में पेक्टिन उत्पाद प्राकृतिक रूप से पाया जाता है. जिन फलों में पेक्टिन प्राकृतिक रूप से पाया जाता है उनके नाम इस प्रकार हैं नाशपाती, सेब, गवा, कुंजा, प्लम, गुज़बेरी, और संतरे और अन्य खट्टे फल. वहीं जिन फलों में पेक्टिन प्राकृतिक रूप से कम होता है, उनके नाम चेरी, अंगूर और स्ट्रॉबेरी हैं. इसलिए जब आप कम पेक्टिन की श्रेणी में आनेवाले फलों का जैम या जेली बनाते हैं, तो आपको पेक्टिन पाउडर थोड़ी ज्यादा मात्रा में डालना पड़ता है.

कहां से खरीदे पेक्टिन पाउडर- आप अपने शहर की किसी भी किराने की दुकान से इसे खरीद सकते हैं. अगर आपको ये किराने की दुकान में नहीं मिलता है, तो आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं. नीचे बताए लिंक पर जाकर आप इस पाउडर का ऑडर दे सकते हैं. dir.indiamart.com/

पेक्टिन पाउडर की कीमत -एक किलोग्राम पेक्टिन पाउडर की कीमत 1500 रुपय है. वहीं अगर आप इसे ज्यादा क्वांटिटी में लेते हैं, तो आपको ये थोड़ा सस्ता पड़ सकता है. ऑनलाइन भी इस पाउडर की कीमत इतनी ही है.

एसिड (Acid)एसिड का इस्तेमाल भी फलों को जेल (gel) की तरह बनाने के लिए किया जाता है. इसके अलावा एसिड की मदद से जैम और जेली को स्वाद भी दिया जाता है. जिस प्रकार कई फलों में पेक्टिन पाउडर प्रकृतिक रूप से पाए जाते हैं, उसी तरह से एसिड भी कई फलों में प्राकृतिक रूप से पाया जाता है. ब्लूबेरी, आड़ू, नाशपाती, जैसे फलों में एसिड ना के सामान होता है. इसलिए जब आप इन फलों से जैम और जेली बनाते हैं, तो आपको साइट्रिक एसिड की जरुरत पड़ती है.

कहां से मिलेंगा साइट्रिक एसिड- साइट्रिक एसिड काफी आम चीज है जो कि हर किसी दुकान में आसानी से मिल जाती है. इसके अलावा आप इसे ऑनलाइन dir.indiamart.com भी खरीद सकते हैं.

साइट्रिक एसिड की कीमत- एक किलो साइट्रिक एसिड 70 रुपए का आता है. लेकिन अगर आप इसे ज्यादा मात्रा में खरीदते हैं तो आपको कुछ छुट मिल सकती है.

शुगर (Sugar)– शुगर यानी चीनी का इस्तेमाल भी जैम और जेली बनाने के लिए किया जाता है. और ये भी बाजार में आसानी से मिल जाती है. इनकी कीमत 25 रुपए से शुरू होती है. वहीं अगर आप इसको ज्यादा मात्रा में लेते हैं तो ये भी आपको थोड़ी सस्ती पड़ सकती है. आप चाहे तो शुगर की जगह इसका पाउडर भी ले सकते हैं.

जैम और जेली बनाने में इस्तेमाल होने वाली मशीनें (Jam Jelly Making Machines & Equipment Details) –

छोटे स्तर के व्यापार में इस्तेमाल होने वाली मशीन (Small scale)

जैम और जेली बनाने के लिए आपको कई तरह की मशीनों की जरुरत पड़ेगी और इन मशीनों के नाम इस प्रकार हैं- पल्पर, मिक्सर, जूस एक्स्ट्रेक्टर, , स्लाइसर, कैप सीलिंग मशीन, बर्तन धोने वाली मशीन.

आप इन सब मशीनों को indiamart.com/proddetail/

और canningsupply.com/prod_detail_list/jelly-making

लिंक पर जाकर खरीद सकते हैं.

मशीनों के दाम (Machines & Equipment Price)

पल्पर, मिक्सर, जूस एक्स्ट्रेक्टर, स्लाइसर जैसी मशीनें एक लाख रुपए के अंदर आ जाएंगी. वहीं कैप सीलिंग मशीन, बर्तन धोने वाली मशीन की कीमतें 25 हजार रुपए से शुरु होती हैं.

बड़े स्केल पर इस्तेमाल होने वाली मशीनें (Large Scale)

यदि आप बड़े पैमाने में इस व्यापार को शुरू करना चाहते हैं, तो आपको बड़े स्तर पर जैम और जेली का उत्पादन शुरू करना होगा. कम समय में ज्यादा उत्पाद करने के लिए आपको पूरी तरह से स्वचालित इकाई स्थापित करनी होगी. स्वचालित उत्पादन इकाई स्थापित करने के लिए आपका कुल खर्चा 10 लाख रुपए तक का आएगा.

वहीं आप ये मशीनें https://dir.indiamart.com/impcat/fruit-jelly-making-machine.html लिकं पर जाकर खरीद सकते हैं.

जैम और जेली बनाने की प्रक्रिया (Jam Jelly Making Process Details)

जैम बनाने की प्रकिया- (Jam Making Process)

  • सबसे पहले आप फल को पानी की मदद से साफ कर लें और फिर उनके छिलके छील लें. इसके बाद आप फल को स्लाइसर की मदद से छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें.
  • पल्पर की मदद से इन फलों का रस निकाल लें. उसके बाद इस रस को एक बड़े से बर्तन में डाल दें और इस बर्तन में पानी मिला दें. पानी मिलाने के बाद गैस पर इन्हें उबाल लें.
  • जब ये (रस) अच्छे से पानी में मिक्स हो जाएं तो आप एक उपयुक्त मात्रा में चीनी और साइट्रिक एसिड, पेक्टिन पाउडर इसमें डाल दें. इस मिश्रण को कुछ देर तक उबालने के बाद इसे रेफ्रिजरेटर में रख दें. जब ये ठंडा हो जाए तो इसे रेफ्रिजरेटर से निकाल दें और मशीन की मदद से बोतलों में पैक कर दें.

जेली बनाने की प्रक्रिया (Jelly Making Process)

जेली बनाने की प्रक्रिया भी जैम की प्रक्रिया की तरह होती है, बस जब आप जेली बनाते हैं, तो आपको इसको बनाते समय इसमें पेक्टिन पाउडर थोड़ी सी ज्यादा मात्रा में डालना होगा. ताकि ये जैम के मुकाबले थोड़ी मोटी हो सके.

घर पर भी बना सकते हैं जेली और जैम  (Home Based Process)

अगर आपके पास जैम और जेली के व्यापार को शुरू करने के लिए ज्यादा पैसे नहीं है, तो आप इस व्यापार को घर से भी शुरू कर सकते हैं . आप घर के किचन में रखे हुए समान का इस्तेमाल करके जैम और जेली बना सकते हैं.

जैम जैली व्यापार
Back

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

New Business : ये व्यापार बना सकता है आपको बड़ा बिजनेसमैन,...

0
बांस की बोतल बनाने का व्यवसाय शुरू करें, बिज़नेस, कैसे बनाई जाती है, तरीका, लागत, कच्चा माल, लाभ, मुनाफा (Bamboo Bottle Making...