खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना 2021 | Khadi Agarbatti Atmanirbhar Mission in Hindi

खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना 2021, लाभ, रोजगार, बिज़नेस, दस्तावेज, पात्रता, आवेदन कैसे करें [Khadi Agarbatti Atmanirbhar Mission Scheme in Hindi] (Profit, Benefit, Business, Documents, Eligibility, Application, Portal)

देश में लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जाती है। उन्हीं योजनाओं की सूची में केंद्र सरकार द्वारा एक नयी योजना का शुभारम्भ किया गया है। इस योजना को केंद्र सरकार ने खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना नाम दिया है। भारत के एम.एस.सी विभाग द्वारा इस योजना के शुभारंभ की घोषणा की गई है। इस लेख में आपको इस योजना के संदर्भ में पूरी जानकारी प्रदान की जायेगी। अतः आप इस लेख को अंत तक पढ़े ताकि आपको इसके संदर्भ में पूरी जानकारी प्राप्त हो सके। 

khadi agarbatti atmnirbhar mission scheme in hindi

खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना 2021

योजना का नामखादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना
लांच तारीखसन 2020-21
शुरू की गईकेन्द्र सरकार द्वारा 
लाभार्थीभारत के गरीब व जरूरतमंद श्रमिक
कहा किया गया लागूदेश के सभी राज्यों में
योजना का संचालनसूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय
अधिकारिक वेबसाइटयहाँ क्लिक करें
टोल फ्री नंबरNA

खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना उद्देश्य

  • देश को देशी अगरबत्ती निर्माण क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाना भी इसका मुख्य उद्देश्य है ताकि लोगों को इन चीजों के लिए बाहर न जाना पड़े।
  • देश के नागरिकों को इस योजना के तहत रोजगार देना। वर्तमान में हो रहे सूक्ष्म और लघु उद्योगों को बढ़ावा देकर सैकडो – हजारों रोजगार का सृजन करना।
  • देश के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में घरेलू रोजगार से महिलाओं को रोजगार देकर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना।
  • प्रधानमंत्री के सबसे महत्वपूर्ण अभियान आत्मनिर्भर भारत अभियान में तेजी लाना।
  • स्थानीय उद्योगों व उद्योगो से जुडे कारीगरों को बढ़ावा देना।

खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना लाभ [Benefit]

  • इस योजना को ग्रामीण आंचल के लोगों के लिए बनाया गया है। जिसमें देश के जरूरतमंद श्रमिकों को आत्मनिर्भर बनाया जाएगा ताकि वे अपने पैरों पर खड़े हो सके। 
  • देश में लागू इस योजना के तहत ग्रामीण इलाकों के साथ शहरी क्षेत्रों में रोजगार के अवसर बढ़ाये जायेंगे, ताकि लोगों को एक निश्चित रोजगार मिल सके। 
  • श्रमिकों को अपने ही आसपास के कच्चे माल से अगरबत्ती बनाने हेतु प्रोत्साहित किया जाएगा। भारत में वर्तमान में हों रहे अगरबत्ती के उत्पादन में और तेजी से वृद्धि की जाएगी।
  • इससे क्षेत्रीय व स्थानीय रोजगारों को बढ़ावा मिलेगा।
  • देश में ग्रामीण स्तर पर ग्रामीण अंचल की महिलाओं को इस योजना से घरेलू रोजगार उपलब्ध हो सकेगा।
  • वर्तमान में कोरोना कोल में लॉक डाउन के कारण बेरोजगार प्रवासी मजदूरों को लाभदायक रोजगार मिलेगा।
  • सरकार के अनुसार इस योजना से श्रमिकों को प्रतिदिन की मजदूरी 250 रुपये या उससे अधिक मिल सकती है।
  • इस योजना के तहत प्रति मशीन पर 4 मजदूरों को रोजगार मिलेगा वहीं इस योजना के तहत हजारों रोजगार पैदा हो सकते हैं।
  • भारत में पूर्व से ही चल रहे आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति मिलेगी।
  • इस योजना की मदद से स्वरोजगार और स्थानीय व्यापार को बढ़ावा मिलेगा।
  • भारत में अगरबत्ती उत्पादन बढ़ने से विदेशी आयात कम होगा व देशी प्रोडक्टशन में बढोतरी होगी।
  • अगरबत्ती मशीन का निर्माण करने वाली कंपनियों से मशीन खरीदने से कंपनियों को लाभ होगा।

खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना Implementation

  • भारत का सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा इस योजना के मिशन को सफल बनाने के लिए 55 करोड़ रुपये की रूपरेखा तैयार की गई है।
  • क्षेत्रीय इलाकों में नए उद्यमियों को अगरबत्ती निर्माण के लिए जरूरी मशीनें, खादी और ग्रामोद्योग आयोग उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • इस व्यवसाय में मशीनों के खरीद पर खादी और ग्रामोद्योग आयोग द्वारा व्यवसाय करने वाले को 25 प्रतिशत की सब्सिडी देगा। बाकी बचे 75 प्रतिशत दाम को उद्यमी आसान किस्तों में चुका सकते हैं ताकि व्यवसायियों को आर्थिक समस्याओं का सामना न करना पड़े। 
  • इस योजना के तहत 1500 अगरबत्ती निर्माण से जुड़े उद्यमियों को 3 करोड़ 45 लाख रूपए तक की तत्काल सहायता की जाएगी।
  • इस योजना के तहत अगरबत्ती की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए कनौज जिल में दो विकास केंद्र केंद्र खोले जायेंगे।
  • देश में 50 करोड़ की लागत से 10 नए निर्माण क्लस्टर इस योजना व इस कार्यक्रम के अंतर्गत बनाये जायेंगे।
  • इस योजना में खादी और ग्रामोद्योग आयोग, प्राइवेट व्यापार क्षेत्र से मिल कर इस व्यवसाय से जुड़े नए कारीगरों को प्रशिक्षण देने का खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। 
  • योजना में व्यापार से जुड़े उद्योग कारीगरों को अगरबत्ती निर्माण का कच्चा माल देंगे।

खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना पात्रता [Eligibility]

  • प्रार्थी जो इस योजना में आवेदन करना चाहते है वो भारत के किसी भी राज्य का मूल निवासी होना चाहिए। 
  • इस योजना में आवेदन करने वाले प्रार्थी की वार्षिक आय 2 लाख के कम होनी चाहिए। 
  • प्रार्थी जो इस योजना में आवेदन करना चाहते है वे भारत में निर्धारित गरीबी रेखा से नीचे होना चाहिए, एवं उनके परिवार में कोई ऐसा न हो जिसकी कोई नौकरी हो या कोई सदस्य भारत में टैक्स चुकाता हो।

खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना दस्तावेज [Documents]

इस योजना में आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेज इस प्रकार हैं –

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • आय प्रमाण
  • मोबाईल नंबर
  • बैंक पासबुक
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना आवेदन [How to Apply]

इस योजना में आवेदन करने के लिए फिलहाल कोई पोर्टल लागू नहीं किया गया है। अगर भविष्य में इस योजना से संबंधित कोई भी पोर्टल लांच किया जाता है तो आपको इस लेख के जरिये बता दिया जाएगा। आप केन्द्र सरकार द्वारा जारी इस पोर्टल पर इस योजना से संबंधित जानकारी ले सकते है।

खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना बजट [Budget]

इस योजना में केन्द्र सरकार द्वारा 50 करोड़ रूपये का बजट निर्धारित किया है। इस योजना के तहत लाभार्थियों को इस व्यवसाय से जुड़े सामान खरीदने के लिए सब्सिडी भी दी जाएगी।

हमारे इस लेख में खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना के बारे में बताया गया है। उम्मीद करते है कि सरकार द्वारा शुरू की गई इस पहल से आपको इस कोरोनकाल में लगे लॉकडाउन के चलते कुछ राहत मिलेगी।

FAQ 

Q : खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना कहां लागू की गई है ?

Ans : केन्द्र सरकार द्वारा देश में हर राज्य में लागू की गई है। 

Q : खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना का संचालन किसके द्वारा किया जा रहा है ?

Ans : सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय द्वारा संचालित किया जा रहा है। 

Q :  खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

Ans : देश में अगरबत्ती व्यवसाय के क्षेत्र में ग्रामीण लोगों को आत्मनिर्भर बनाना है। 

Q : खादी अगरबत्ती आत्मनिर्भर मिशन योजना में कौन आवेदन कर सकता है ?

Ans : भारत का हर वो नागरिक आवेदन कर सकता है जो इस योजना की पात्रता में आता है।

अन्य पढ़ें –

Latest articles

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here