Monsoon Business Ideas In Hindi |मानसून सीजन (बारिश) में कौन सा बिजनेस करें

मानसून के व्यवसाय (बिज़नेस) आइडियाज (Monsoon Season Business Ideas, News, Rainy Season, Options, Plan, Profit in Hindi)

गर्मी के बाद जब मानसून आता हैं तो लोगों को गर्मी की चिलचिलाती धूप से राहत मिल जाती हैं. इस साल मानसून ने जल्दी दस्तक दे दी हैं. और देश के विभिन्न हिस्सों में मानसून की पहली बारिश की बूँदें जमीन को छू चुकी हैं. अब जब मानसून आ गया हैं तो आपको बता दें कि यह कई सारे व्यवसाय के अवसर भी आपके लिए ले कर आया हैं. जी हाँ मानसून सीजन आते ही कुछ व्यवसाय काफी अधिक चलने लग जाते हैं. इन दिनों छाते, वाटरप्रूफ स्कूल बैग, रबड़ के जूते एवं चप्पल, रेन कोट एवं रेन सूट आदि कुछ ऐसे उत्पाद होते हैं, जिनकी वैल्यू कहीं अधिक बढ़ जाती है. आपके लिए इस मानसून सीजन में छोटे स्तर पर शुरू किये जाने वाले व्यवसाय में से कुछ की जानकारी हम यहाँ प्रदर्शित कर रहे हैं. इन व्यवसायों से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को भी लाभ प्राप्त हो सकता है.

monsoon business ideas

मानसून व्यवसाय के आइडियाज (Monsoon Business Ideas)

गर्मी के बाद आने वाले मानसून सीजन के आने का इन्तेजार सभी लोगों को होता हैं. खास तौर पर इस सीजन का इन्तेजार सबसे ज्यादा बच्चे करते हैं. क्योकि इस सीजन में बच्चों के स्कूल भी खुल जाते है. स्कूल खुलते ही स्कूल जाने के लिए बच्चों को वाटरप्रूफ बैग, रबड़ के जूते, रेन कोट एवं रेन सूट आदि की आवश्यकता पड़ने लगती हैं. इसके साथ ही लोगों को भी घर से बाहर काम पर जाने के दौरान छाता, छतरी, रेन कोट एवं रेन सूट आदि की जरुरत होती है. इसलिए इन सभी उत्पादों की मांग भी इन दिनों में काफी अधिक बढ़ने लग जाती है. इस वजह से लोगों के लिए काफी सारे व्यवसाय के अवसर भी पैदा हो जाते हैं. मानसून के सीजन में इन उत्पादों को छोटे स्तर पर रिटेल शॉप खोल कर बेचने का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं. क्योकि यह काफी मुनाफा देने वाले व्यवसाय हो सकते हैं.

चप्पल बनाने के व्यवसाय में हैं काफी मुनाफा, इसे बनाने की मशीनरी कौन सी हैं, कौन सा कच्चा माल उपयोग होगा, कैसे इस व्यवसाय को कर सकते हैं सभी जानकारी प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

कुल लागत (Total Cost)       

हमने ऊपर जिन व्यवसायों की बात की हैं, उनमें केवल 5 हजार रूपये तक का निवेश करने की ही आवश्यकता पड़ती हैं. और ये व्यवसाय गांव में रहने वाले लोग भी आसानी से शुरू कर सकते हैं. इससे उन्हें लाभ कमाने का अच्छा मौका मिल सकता है, क्योकि यहाँ इसकी डिमांड ज्यादा होती हैं. ऐसे में वे छोटे स्तर पर यह शुरू कर सकते हैं.

मुनाफा (Profit)

इस व्यवसाय को आप छोटे स्तर पर शुरू करें या बड़े स्तर पर, आपको इससे काफी सारा मुनाफा ही मिलने वाला है. हालांकि यदि आप इसे बड़े स्तर पर करते हैं तो आपको इसमें निवेश करने की राशि को बढ़ाना पड़ सकता है. इन सभी उत्पादों के व्यापार से आपको कम से कम 20 से 25 प्रतिशत का मार्जिन भी आसानी से मिल जाता है.

छोटे शहर एवं गांव में रहने वाले लोग शुरू कर सकते हैं ये व्यवसाय, जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.  

जगह का चुनाव (Select Location)

आपको इन उत्पादों को खरीदने के बाद इसे स्टॉक करके रखने के लिए एवं इसे रिटेल में बेचने के लिए दुकान के रूप में एक जगह लेनी होगी. जोकि खास तौर पर बाजार में हो तो ज्यादा बेहतर होगा, क्योकि इससे आपको मुनाफा अधिक मिलने की सम्भावना होती है. इसके साथ ही आप लोगों को आकर्षित करने के लिए अपनी दुकान का फर्नीचर आकर्षक बनवा सकते हैं.

आवश्यक लाइसेंस (Required License) 

यदि आप एक छोटी ही शॉप के रूप में इस व्यवसाय को शुरू कर रहे हैं, तो आपको उस शॉप के नाम से केवल ट्रेड लाइसेंस प्राप्त करना आवश्यक हैं, क्योकि इससे आपकी दुकान कानूनी रूप से सरकार के अंडर में दर्ज हो जाती है. इसके साथ ही यदि आप इसे एमएसएमई के तहत रजिस्टर करेंगे, तो इससे आपका व्यवसाय तो रजिस्टर हो ही जायेगा. साथ में आपको एमएसएमई के तहत मिलने वाले लाभ का फायदा भी मिल जायेगा. इस व्यवसाय को शुरू करने में आपको शिशु मुद्रा लोन की सुविधा मिलती हैं. जिसमें हालही में 2 % की ब्याज छूट भी मिल रही हैं. लोन लेने से आपको माल खरीदने में आसानी हो जाएगी.

उद्योग आधार क्या हैं एवं इसके लिए अपना व्यवसाय कैसे रजिस्टर कर सकते हैं प्रक्रिया जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.    

माल कहाँ से खरीदें (Where to Buy Material)

छाते, वाटरप्रूफ स्कूल बैग, रबड़ के जूते एवं चप्पल, रेन कोट एवं रेन सूट आदि की रिटेल शॉप खोल कर व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको ये सभी उत्पादों को थोक में खरीदना होगा. ये माल आप थोक में बड़े शहरों से खरीद सकते हैं. जैसे इसके लिए दिल्ली का सदर बाजार, चांदनी चौक आदि बहुत अच्छे विकल्प हैं. यहाँ आपको ये माल कम दाम में और आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं. यदि आपको सिलाई करने का शौक हैं, तो आप यहाँ से छाते, वाटरप्रूफ स्कूल बैग, रेन कोट एवं सूट आदि बनाने के लिए कच्चा माल भी खरीद सकते हैं. और इसका अपने निज निवास में निर्मित कर अपनी शॉप में बेच सकते हैं. इसके अलावा आप चाहें तो बना बनाया थोक माल भी खरीद सकते हैं. दोनों से आपको मुनाफा ही मिलने वाला है. 

तो ये थे इस मानसून सीजन में मुनाफा कमाने के बेहतरीन बिज़नस आइडियाज, जिसे आप चाहे तो घर से भी स्टार्ट कर सकते हैं, जोकि आपको अच्छा मुनाफा दे सकता है.

एफएक्यू (FAQ’s)

Q : मानसून सीजन में शुरू किये जाने वाले व्यवसाय कौन से हैं ?

Ans : मानसून सीजन में शुरू किये जाने वाले व्यवसाय में छाते, रेनकोट, चना ज़ोर गरम आदि के व्यवसाय शुरू कर सकते हैं.

Q : क्या मानसून सीजन में शुरू किये जाने वाले व्यवसाय से मुनाफा मिलेगा ?

Ans : जी हाँ, यदि मानसून सीजन में उपयोग होने वाले उत्पादों का व्यवसाय आप शुरू करते हैं तो आपको इससे अच्छा खासा मुनाफा हो सकता है.

Q : रैनी सीजन में पैसे कैसे कमा सकते हैं ?

Ans : रैनी सीजन में सीजनल चीजों का बिज़नस करने से अच्छे खासे पैसे कमायें जा सकते हैं.

Q : बिना पैसों के रैनी सीजन में क्या कर सकते हैं ?

Ans : बिना पैसों के रैनी सीजन में आप कुछ यम्मी चीजें बना सकते हैं, लाइब्रेरी बना सकते हैं, क्राफ्ट कर सकते हैं. घर पर ही पिकनिक कर सकते हैं.बोर्ड गेम खेल सकते हैं. एवं इसी तरह की और भी आयोजन कर सकते हैं. साथ ही इनसे पैसे कमाने का कुछ जरिया भी तलाश सकते हैं.

Q : रैनी सीजन में किसी व्यवसाय को शुरू करने से कितना लाभ मिल सकता है ?

Ans : रैनी सीजन में रैनी उत्पादों का व्यवसाय शुरू करने से 20 से 25 प्रतिशत का लाभ मार्जिन मिल सकता है.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *