How to start Pathology Lab Business 2023: पैथोलॉजी लैब बिजनेस, Profit

पैथोलॉजी लैब बिजनेस कैसे शुरू करें, कैसे खोलें, प्रक्रिया, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, टेस्ट लिस्ट, कोर्स, लागत, मुनाफा, लाइसेंस, मार्केटिंग (How to Start Pathology Lab Business) (Plan, Model, Profession, Registration, Test List, Course, Investment, Profit, License, Marketing)

Pathology Lab Business हर कोई अधिक से अधिक पैसे कमाने के लिए और जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए बिजनेस करने के बारे में सोचता है, परंतु कई बार तो कुछ ऐसे लोग होते हैं, जिन्हें यह पता ही नहीं होता है कि कौन सा बिजनेस किया जाए? अगर आपको मेडिकल की फील्ड में इंटरेस्ट है, तो आप पैथोलॉजी लैब का बिजनेस स्टार्ट करके काफी अच्छी इनकम कर सकते हैं।

pathology lab business in hindi

Table of Contents

पैथोलॉजी लैब बिजनेस कैसे शुरू करें (How to Start Pathology Lab Business)

जब तक इंसान इस धरती पर है, तब तक उसे कुछ ना कुछ बीमारी होती ही रहेंगी, चाहे कोई व्यक्ति अपने आपको स्वस्थ रखने का कितना ही प्रयास क्यों ना कर ले। कुछ ना कुछ अनदेखी अथवा कमी के कारण कभी न कभी वह बीमार पड़ता ही है। ऐसे में उसे अपना इलाज करवाने के लिए डॉक्टर के पास जाना ही पड़ता है और डॉक्टर उसका इलाज तभी करता है, जब उसके खून की या फिर उसके पेशाब की जांच हो जाती है, क्योंकि खून, पेशाब की जांच होने के बाद ही डॉक्टर यह बता पाता है कि व्यक्ति को क्या प्रॉब्लम है।

पैथोलॉजी लैब बिजनेस स्टार्ट करने की प्रक्रिया (Pathology Lab Business Process)

आज के टाइम में पैथोलॉजी लैब का बिजनेस काफी फायदेमंद बिजनेस माना जा रहा है, क्योंकि जब व्यक्ति को अपने खून, अपने पेशाब की जांच करवानी होती है, तो वह पैथोलॉजी लैब के द्वारा ही अपने खून अथवा पेशाब की जांच करवाता है। ऐसे में पैथोलॉजी लैब का बिजनेस स्टार्ट करना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इस आर्टिकल में हम आपको यह बताने वाले हैं कि, पैथोलॉजी लैब का बिजनेस स्टार्ट करने के लिए आपको क्या करना पड़ेगा और पैथोलॉजी लैब का बिजनेस कैसे स्टार्ट करें।

पैथोलॉजी क्या है (What is Pathology)

पैथोलॉजी एक प्रकार की स्टडी होती है, जिसमें अभ्यर्थियों को बीमारी के कारणों का पता किस प्रकार से लगाया जाता है, इसकी जानकारी दी जाती हैं, साथ ही इसमें प्रैक्टिकल भी करवाया जाता है। पैथोलॉजी में अभ्यर्थी बैक्टीरिया, वायरस और माइक्रोब्स के बारे में स्टडी करते हैं, जिनके द्वारा मानव शरीर में अनेक बीमारियां उत्पन्न होती हैं।

पैथोलॉजी में टेस्ट किस प्रकार से किया जाता है, यह भी प्रैक्टिकल तौर पर सिखाया जाता है, क्योंकि किसी भी बीमारी के कारण का पता लगाने के लिए टेस्ट करना आवश्यक होता है। पैथोलॉजी में व्यक्ति को ब्लड टेस्ट, यूरिन टेस्ट और दूसरे अन्य कई टेस्ट कैसे किया जाता है, यह सिखाया जाता है।

पैथोलॉजी में जो भी पढ़ाई करवाई जाती है, वह रिसर्च के ऊपर ही आधारित होती है। पैथोलॉजी के कोर्स में अभ्यर्थियों को जीवाणु और बैक्टीरिया का पता लगाना होता है और इसीलिए इसमें ज्यादा जोर प्रैक्टिकल पर ही दिया जाता है।

पैथोलॉजी लैब क्या है (What is Pathology Lab)

सामान्य तौर पर पैथोलॉजी लैब किसी भीड़भाड़ वाले इलाके में या फिर हॉस्पिटल के बगल होती है।

अगर सरल भाषा में हम कहे तो पैथोलॉजी लैब एक ऐसी लैब होती है,जहां पर डॉक्टर के द्वारा मरीजों को उनके खून अथवा पेशाब की जांच कराने के लिए भेजा जाता है और पैथोलॉजी लैब के कर्मचारी के द्वारा मरीजों के खून या फिर पेशाब का सैंपल लिया जाता है और फिर मरीजों को एक दो दिन बाद आकर रिपोर्ट ले जाने के लिए कहा जाता है।

इस दरमियान पैथोलॉजी लैब में मरीजों के खून और पेशाब की जांच की जाती है और उसकी रिपोर्ट तैयार की जाती है। इसके बाद यह रिपोर्ट ले जाकर मरीज अपने डॉक्टर को दिखाता है और उसी आधार पर डॉक्टर मरीज का इलाज करते हैं और यह बता पाते हैं कि मरीज को कौन सी दिक्कत है।

पैथोलॉजी लैब बिज़नेस में काम (Pathology Lab Business Work)

जब डॉक्टर के आदेश पर कोई मरीज पैथोलॉजी लैब में जाकर के अपना यूरिन टेस्ट, ब्लड टेस्ट या फिर अन्य कोई टेस्ट करवाता है, तो पैथोलॉजी लैब के कर्मचारी के द्वारा उसकी पेशाब, उसके खून या फिर वह जो टेस्ट करना चाहता है उसका सैंपल लिया जाता है और इसके बाद मरीज को तकरीबन 2 से 3 दिन के बाद आने के लिए कहा जाता है। इस दरमियान पैथोलॉजी लैब में उसके सैंपल की काफी गहनता के साथ आधुनिक मशीनों का इस्तेमाल करके जांच की जाती है और जांच पूरी होने के बाद एक रिपोर्ट तैयार की जाती है और फिर मरीज को बुला करके वह रिपोर्ट दी जाती है। इसके बाद जब मरीज इस रिपोर्ट को ले जा कर के अपने डॉक्टर को दिखाता है, तो डॉक्टर उसी रिपोर्ट के आधार पर यह जान जाता है कि मरीज को क्या दिक्कत है और फिर डॉक्टर उसी दिक्कत के आधार पर मरीज का इलाज करना प्रारंभ करता है।

पैथोलॉजी लैब कौन खोल सकता है (Who Can Open Pathology Lab Business)

कई लोगों के मन में यह क्वेश्चन आता है कि, पैथोलॉजी लैब को ऐसा ही आदमी ओपन कर सकता है, जिसने पैथोलॉजी का कोर्स किया हो, परंतु हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, पैथोलॉजी लैब हर वह व्यक्ति ओपन कर सकता है, जो एक सर्टिफाइड पैथोलॉजिस्ट हो, इसके अलावा जिसने पैथोलॉजी से संबंधित कोई शार्ट टर्म का कोर्स किया।

पैथोलॉजी लैब बिजनेस स्टार्ट करने से पहले (Pathology Lab Business Strategy)

पैथोलॉजी लैब बिजनेस को ओपन करने से पहले आपको इसमें कितने पैसे लगाने पड़ेंगे? कितनी जगह की आवश्यकता पड़ेगी? इसमें कितने लोग काम करेंगे तथा लाइसेंस और आवश्यक प्रक्रिया के बारे में पता कर लेना चाहिए। अगर आप इन सभी चीजों के बारे में पता करके पैथोलॉजी लैब बिजनेस स्टार्ट करते हैं, तो यह आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

पैथोलॉजी लैब बिजनेस कोर्स (Pathology Lab Business Course)

पैथोलॉजी लैब का बिजनेस स्टार्ट करने के लिए आपको कुछ आवश्यक कोर्स की पढ़ाई करनी होती हैं, जिसकी जानकारी नीचे हम आपको दे रहे हैं।

CMLT कोर्स

सर्टिफिकेशन इन मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी एक प्रकार का सर्टिफिकेट कोर्स होता है, जिसे दसवीं कक्षा को पास करने के बाद या फिर 12वीं कक्षा को पास करने के बाद किया जा सकता है। यह कोर्स कुल 6 महीने से लेकर 1 साल तक का होता है और इस कोर्स को करने के लिए अभ्यर्थियों को तकरीबन ₹15,000 से लेकर ₹20000 तक की फीस भरनी पड़ती है।

DMLT कोर्स

डीएमएलटी अर्थात डिप्लोमा इन मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी का कोर्स 12वीं कक्षा को साइंस के सब्जेक्ट के साथ पास करने के बाद किया जा सकता है। 1 साल की अवधि के इस कोर्स को करने के लिए अभ्यर्थियों को तकरीबन ₹20000 से लेकर ₹25000 तक की फीस देनी पड़ती है।

BMLT कोर्स

इस कोर्स को 12वीं कक्षा को साइंस के सब्जेक्ट के साथ पास करने के बाद कर सकते हैं। यह कुल 3 साल का कोर्स होता है और अभ्यर्थियों को इस कोर्स को करने के लिए सालाना तौर पर तकरीबन ₹30000 से लेकर ₹32000 तक की फीस भरनी पड़ती है। इसका पूरा नाम बैचलर इन मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी होता है।

MLT कोर्स

मास्टर इन लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी एक उच्च स्तरीय कोर्स होता है। इस कोर्स को कंप्लीट करने के बाद अभ्यर्थी पैथोलॉजी लैब का बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं और आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, जो भी अभ्यर्थी इस कोर्स को पूरा कर लेता है वह उसके बाद पैथोलॉजी लैब में नौकरी करता है, तो उसकी सैलरी भी काफी अच्छी होती है।

क्योंकि जो अभ्यर्थी इस कोर्स को पूरा करता है, उसे पैथोलॉजी सेक्टर के बारे में काफी ज्ञान प्राप्त हो जाता है। इस कोर्स में अभ्यर्थियों को सभी प्रकार के टेस्ट कैसे किया जाते हैं,इसकी इंफॉर्मेशन प्रदान की जाती है।

पैथोलॉजी लैब बिजनेस मशीनरी एवं उपकरण (Pathology Lab Business Machinery and Equipment)

पैथोलॉजी लैब का बिजनेस चालू करने के लिए आपको कुछ मशीनरी और साधनों की भी आवश्यकता पड़ेगी, जिनके नाम इस प्रकार हैं

• फ्रीज़

• इनक्यूबेटर

• टेस्ट ट्यूब

• फ्लास्क

• स्लाइड

• माइक्रोस्कोप

• सेंट्रीफ्यूज

• कैलोरीमिटर

• डेस्कटॉप/लैपटॉप

• सॉफ्टवेयर

• डस्टबीन

• टॉयलेट

• पिपेट(pippete)

• इंजेक्शन

पैथोलॉजी लैब में जांच (Pathology Lab Test)

पैथोलॉजी लैब में जो मुख्य तौर पर जांच होती है, उनके नाम इस प्रकार हैं।

• फॉरेन बॉडीज

• इलेक्ट्रान माइक्रोस्कोपी डायग्नोस्टिक

• बाइल डक्ट ब्रशिंग

• ब्लैडर वाशिंग

• अनल स्मीयर सिटोलॉजी

• थोरासिक फ्लूइड सिटोलॉजी

• यूरिन सिटोलॉजी

• कॉमन बाइल डक्ट ब्रशिंग

• अस्सिटेस फ्लूइड सिटोलॉजी

• बॉडी कैविटी वाशिंग

• सिस्ट फ्लूइड सिटोलॉजी

• ब्रोंचैल ब्रशिंग

• ब्रोंचैल वाशिंग

• डायरेक्ट इम्मुनोफ्लुओरेसेन्ट माइक्रोस्कोपी

• ड्यूओडेनल ब्रशिंग

• एसोफेगेल ब्रशिंग

• गैस्टिक ब्रशिंग

• ब्रैस्ट कोर बायओप्सी टिश्यू एग्जामिनेशन

• फाइन नीडल एस्पिरेशन

• सीएसएफ सिटोलॉजी

• बोन मेरो बायओप्सी टिश्यू एग्जामिनेशन

• गैस्ट्रोइनटेस्टिनल बायऑप्सी टिश्यू एग्जामिनेशन

• गायनेकोलाजिकल पैप स्मीयर

• किडनी बायओप्सी टिश्यू एग्जामिनेशन

• इंट्राऑपरेटिव कंसल्टेशन

• लिवर बायऑप्सी टिश्यू एग्जामिनेशन

• लिम्फ बायओप्सी टिश्यू एग्जामिनेशन

• पेरिकार्डीयल फ्लूइड सिटोलॉजी

• पैन्क्रेअटिक ब्रशिंग

• पेरिटोनीअल फ्लूइड सिटोलॉजी

• स्पटम सिटोलॉजी

• सिनोविअल फ्लूइड सिटोलॉजी

• प्रोडक्ट ऑफ़ कन्सेप्शन फॉर टिश्यू एग्जामिनेशन

• रेक्टल ब्रशिंग

• स्किन बायओप्सी

पैथोलॉजी लैब बिज़नेस लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन (Pathology Lab Business License and Registration)

• पैथोलॉजी लैब का रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको पैथोलॉजी कंट्रोल बोर्ड रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता पड़ेगी।

• इसके अलावा आपको पैरामेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया से कानूनी तौर पर मान्यता भी लेनी पड़ेगी।

• आपको पैथोलॉजिस्ट का रजिस्ट्रेशन भी करवाना पड़ेगा।

• अपनी नगरपालिका से आपको एनओसी भी प्राप्त करनी होगी।

पैथोलॉजी लैब की फ्रेंचाइजी (Pathology Lab Franchise)

अगर आप अपनी खुद की पैथोलॉजी लैब स्टार्ट नहीं करना चाहते हैं, तो आप चाहे तो दूसरी नामी-गिरामी पैथोलॉजी कंपनी की फ्रेंचाइजी ले सकते हैं. और अपने पैथोलॉजी के बिजनेस को स्टार्ट कर सकते हैं। वर्तमान के समय में डॉ लाल पैथ लैब्स, थायरोकेयर, मैनकाइंड पैथ लैब, रैनबेक्सी पैथोलॉजी लैब लोगों को फ्रेंचाइजी देने का काम कर रही है।

ऐसे में आप इनसे संपर्क कर सकते हैं और इनकी फ्रेंचाइजी को ले करके अपना पैथोलॉजी का बिजनेस चालू कर सकते हैं।

पैथोलॉजी लैब बिज़नेस के लिए स्थान (Location)

हमें यह पता है कि आप पैथोलॉजी बिजनेस से ज्यादा फायदा कमाना चाहते हैं, इसीलिए आपको अपनी पैथोलॉजी लैबोरेट्री को ऐसी जगह पर ओपन करना होगा, जहां पर भीड़भाड़ वाला इलाका हो अथवा जहां पर हॉस्पिटल स्थित हो, क्योंकि अधिकतर लोग जब हॉस्पिटल में अपना इलाज करवाने के लिए आते हैं, तो डॉक्टर के द्वारा उन्हें टेस्ट करवाने के लिए पैथोलॉजी लैब भेजा जाता है। ऐसे में अगर आपकी पैथोलॉजी लैब हॉस्पिटल के आसपास होगी, तो वह मरीज आपके पास ही आएगा। पैथोलॉजी लैबोरेट्री ओपन करने के लिए ढाई सौ स्क्वायर फुट की जगह काफी होती है।

पैथोलॉजी लैब बिज़नेस में लागत (Investment)

जैसा कि आप जानते हैं कि, किसी भी प्रकार के बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए उसमें कुछ ना कुछ फंड अवश्य लगाना पड़ता है। अगर पैथोलॉजी लैब को स्टार्ट करने में लगने वाली लागत के बारे में बात करें तो यह थोड़ा ज्यादा इन्वेस्टमेंट मांगती है, क्योंकि इसमें जो मशीनरी इस्तेमाल होती है, वह थोड़ी महंगी आती है। इस प्रकार पैथोलॉजी लैब अगर आप छोटे स्तर पर स्टार्ट करते हैं, तो आपको तकरीबन 2,00,000 से ₹3,00,000 तक खर्च करने पड़ सकते हैं, वही बड़े लेवल पर इसे स्टार्ट करने में आपको 10,00000 से लेकर ₹12 लाख तक खर्च करने पड़ सकते हैं।

पैथोलॉजी लैब बिज़नेस कर्मचारियों की आवश्यकता (Staff Requirements)

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, पैथोलॉजी लैब में जो रिपोर्ट तैयार होती है, उसे अप्रूवल देने का काम एमडी पैथोलॉजिस्ट या फिर एमडी माइक्रोबायोलॉजिस्ट करता है, क्योंकि रिपोर्ट में इनके हस्ताक्षर होने के बाद ही रिपोर्ट को सही माना जाता है। इसके अलावा कर्मचारी के तौर पर आपको पैथोलॉजी लैब में लैब टेक्नीशियन की भी आवश्यकता पड़ेगी। यह लैब टेक्नीशियन डीएमएलटी का कोर्स किया हुआ होना चाहिए। इसके बाद आप अपनी आवश्यकता के हिसाब से पैथोलॉजी लैब में कर्मचारियों की नियुक्ति कर सकते हैं।

पैथोलॉजी लैब बिज़नेस कमाई एवं मुनाफा (Earning and Profit)

पैथोलॉजी लैब का बिज़नेस करने में आपको कम से कम 20 से 30 हजार रूपये का मुनाफा प्रतिमाह होता है. और यदि आपका यह बिज़नेस अच्छे से चलता है तो आपको 50 हजार रूपये तक का मुनाफा हो सकता है. हालांकि पैथोलॉजी लैब से आप कितना पैसा कमा सकते हैं, यह इस बात पर डिपेंड करता है कि आपकी पैथोलॉजी लैब में कितने ज्यादा ग्राहक आते हैं। जितने ज्यादा ग्राहक आपकी पैथोलॉजी लैब में जांच करवाने के लिए आएंगे,आपकी कमाई उतनी ही ज्यादा होगी, साथ ही आपकी कमाई इस बात पर भी डिपेंड करती है कि, आप कौन सी रिपोर्ट पर कितना मुनाफा जोड़ करके टेस्ट करते हैं।

पैथोलॉजी लैब बिज़नेस मार्केटिंग (Marketing)

पैथोलॉजी लैब की मार्केटिंग करना बहुत ही आसान है। इसके लिए आप चाहे तो अपने शहर में सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले अखबार में अपनी पैथोलॉजी लैबोरेट्री की एडवर्टाइजमेंट छपवा सकते हैं।

इसके अलावा आप सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके भी लोगों को अपनी नई पैथोलॉजी लैबोरेट्री के बारे में इंफॉर्मेशन दे सकते हैं, साथ ही आप अपने दोस्तों, अपने रिश्तेदारों के साथ भी अपने पैथोलॉजी बिजनेस के बारे में शेयर कर सकते हैं।

इसके अलावा आप चाहे तो शहर के भीड़भाड़ वाले इलाके में चौराहे पर अपने पैथोलॉजी लैबोरेट्री का विज्ञापन भी छपवा सकते हैं या फिर आप छोटे-छोटे पेंपलेट प्रिंट करके उसे लोगों के घर बटवा भी सकते हैं।

पैथोलॉजी लैबोरेट्री बिजनेस जोखिम (Risk)

अगर आप अपना काम पूरी ईमानदारी के साथ करते हैं और लोगों को सही रिपोर्ट देते हैं तो आप इस बिजनेस में लंबे समय तक टिके रहेंगे और अगर आप इस बिज़नेस में लोगों को झूठी रिपोर्ट देते हैं या फिर आधी अधूरी रिपोर्ट देते हैं अथवा उनसे ज्यादा पैसे लेते हैं, तो आप काफी कम समय में ही इस बिजनेस से बाहर हो जाएंगे, इसीलिए पूरी ईमानदारी के साथ अपना काम करें और लोगों को सही रिपोर्ट दें, क्योंकि जब आप लोगों को सही रिपोर्ट देंगे, तो वह आप पर भरोसा करने लगेंगे और वह हर बार आपकी लैबोरेट्री से ही जांच करवाएंगे।

होमपेजयहाँ क्लिक करें

FAQ

Q : पैथोलॉजी लैबोरेट्री का बिजनेस स्टार्ट करने में कितने पैसे इन्वेस्ट करने पड़ेंगे?

Ans :  बड़े लेवल पर चालू करने पर ज्यादा पैसे और छोटे लेवल पर चालू करने पर थोड़े कम पैसे आपको इन्वेस्ट करने पड़ेंगे।

Q : पैथोलॉजी लैबोरेट्री को स्टार्ट करने के लिए सबसे बेस्ट जगह कौन सी है?

Ans : इस बिजनेस को करने हेतु लैब की लोकेशन प्राइवेट या फिर गवर्नमेंट हॉस्पिटल के समीप होनी चाहिए।

Q : पैथोलॉजी लैबोरेट्री में कौन-कौन से टेस्ट किए जाते हैं?

Ans : पैथोलॉजी लैबोरेट्री में जो भी टेस्ट किए जाते हैं, उन सभी टेस्ट के नाम हमने आपको ऊपर आर्टिकल में दे रखे हैं।

Q : पैथोलॉजी कोर्स कितने दिनों का होता है?

Ans : पैथोलॉजी के लिए कई कोर्स होते हैं और हर कोर्स को करने की अवधि भी भिन्न – भिन्न होती है।

Q : पैथोलॉजी क्या है?

Ans : पैथोलॉजी मेडिकल साइंस की एक ब्रांच है।

Q : पैथोलॉजी को हिंदी में क्या कहते हैं?

Ans : पैथोलॉजी को हिंदी में रोग लक्षण विद्या कहते हैं।

अन्य पढ़ें –

  1. मेडिकल की दुकान शुरू करें
  2. मेडिकल ऑक्सीजन सिलिंडर प्लांट शुरू करें
  3. पीपीई किट मैन्युफैक्चरिंग बिज़नेस शुरू करें
  4. एम्बुलेंस सर्विस कैसे शुरू करें

Leave a Comment