प्लास्टिक की कंघी बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | Plastic Hair Comb Business in Hindi

प्लास्टिक की कंघी बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें (Plastic Hair Comb and Hair brushes Business, investment  in Hindi)

रोजमर्रा की जिंदगी में उपयोग होने वाली चीजों की हमेशा बहुत मांग रहती है. फिर चाहे वह कोई छोटी सी चीज ही क्यों न हो, जैसे कि प्लास्टिक की कंघी. जिसे लोग रोजाना उपयोग करते हैं. लड़की हो या लड़का कोई भी हो सभी अपने बालों के प्रति अधिक सावधानी बरतते हैं. ऐसे में वे लोग अच्छी क्वालिटी की कंघी खरीदना पसंद करते हैं. आज कल बाजार में तरह – तरह की कंघियाँ आ रही है. यदि आप अच्छी क्वालिटी की अलग – अलग आकार की कंघियों का निर्माण कर इसे होलसेल मार्केट में बेचते हैं, या आप अपनी खुद की ब्रांड की  कंघी बनाकर इसे रिटेल में बेचते हैं, तो यह आपके लिए लाभकारी हो सकता है. यह कैसे किया जा सकता है इसके बारे में विस्तार से जानकारी इस प्रकार है.

Plastic Hair Comb Business

कच्चा माल (Raw Material for Plastic Hair Comb Business)

इस व्यापार को शुरू करने में जो सबसे जरुरी कच्चा माल उपयोग होगा वह है पॉलिप्रोपीलीन, जोकि प्लास्टिक ग्रेनुअल्स यानि प्लास्टिक के छोटे – छोटे दाने होते हैं. यह आपको अलग – अलग रंगों में मार्केट में मिल जायेंगे.

पॉलीप्रोपीलीन कहाँ से खरीद सकते हैं ? (Where to Buy ?)

ये प्लास्टिक के दाने यानि पॉलीप्रोपीलीन को कई कंपनियों द्वारा बनाया जाता है. जिसे आप खरीद कर कंघी का निर्माण कर व्यापार कर सकते हैं. इन प्लास्टिक के दानों को पीआईएल, श्रीराम, चेम्प्लास्ट एवं एनओसीआईएल, रिलायंस आदि कंपनियों द्वारा बनाया जाता है. इसे आप ऑनलाइन इंडियामार्ट, प्लास्टमार्ट या अलीबाबा जैसी वेबसाइट में सर्च करके खरीद सकते हैं. यहाँ से यह आपको 50 से 100 रूपये प्रति किलोग्राम की दर से मिल जायेगा. इसके अलावा यदि आप कंघी बनाने के बाद बचे हुए प्लास्टिक का पुनर्नवीनीकरण कर उपयोग करते हैं ,तो इससे आप अपने पैसे बचा सकते हैं. अतः आपको इसके लिए बहुत ज्यादा पैसे खर्च नहीं करने होंगे.

मशीनरी (Machinery)

प्लास्टिक की कंघी बनाने का व्यापार शुरू करने के लिए हमें मशीन की आवश्यकता होती है, क्योंकि इसका निर्माण केवल मशीन के माध्यम से ही किया जा सकता है. इसके लिए निम्न मशीन की आवश्यकता पड़ेगी –

  • सेमी ऑटोमेटिक या ऑटोमेटिक हाइड्रोलिक इंजेक्शन मोल्डिंग मशीन :– यह मशीन 2 से 10 लाख रूपये तक के बीच में आ जाएगी. मशीन की कीमत मशीन की क्षमता और उसकी फंक्शनिंग पर निर्भर करती है.
  • स्क्रैप ग्राइंडर :- यह 50,000 से लेकर 2 लाख रूपये तक के बीच में आ जाता है.
  • बफिंग, पॉलिशिंग और हॉट स्टैम्पिंग मशीन :- कंघी बन जाने के बाद बफिंग, पॉलिशिंग एवं हीट स्टैम्पिंग मशीन का उपयोग किया जाता है. यह सब आपको 10,000 से 1 लाख रूपये तक में मिल जायेगी.
  • अलग अलग मोल्ड्स :- आप एक अकेली हाइड्रोलिक इंजेक्शन मोल्डिंग मशीन का उपयोग न सिर्फ कंघी बनाने में कर सकते हैं बल्कि आप इससे कई तरह के छोटे – छोटे प्लास्टिक के आइटम जैसे बाल्टी, मग, जग, प्लास्टिक टूथपिक आदि और भी कई चीजें बना सकते हैं. इसके लिए आपको अलग – अलग तरह के मोल्ड की जरुरत होगी. जो अलग – अलग आइटम को आकार देने में मदद करेंगे. इसके लिए आपको 5,000 से 50,000 रूपये तक खर्च करना पड़ सकता है.
  • ग्रीसिंग और कुलिंग उपकरण :- इसके अलावा कंघी तैयार करते समय कुछ छोटे हैण्ड टूल्स जैसे ग्रीसिंग एवं कुलिंग उपकरण  आदि की भी आवश्यकता होगी, जोकि आपको 10,000 से 30,000 रूपये तक में मिल जायेंगे.
  • टेस्टिंग उपकरण :- इन सभी के अलावा टेस्टिंग उपकरण जैसे माइक्रोमीटर बैलेंस की भी आवश्यकता पड़ती है जोकि लगभग 10,000 से 1 लाख रूपये तक आ जायेगा.

इन सभी मशीनों को भी आप इंडियामार्ट, प्लास्टमार्ट या अलीबाबा जैसी ऑनलाइन वेबसाइट से ऑडर दे कर खरीद सकते हैं.

व्यापार का रजिस्ट्रेशन (Business Registration)

अपने व्यापार को स्थापित करने से पहले आपको निम्न रजिस्ट्रेशन कराने आवश्यक है –

  • उद्योग आधार में रजिस्ट्रेशन :- किसी भी व्यापार को चलाने से पहले आप अपने व्यापार को उद्योग आधार में रजिस्टर करना न भूलें. इसे आप ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से भी रजिस्टर कर सकते हैं. 
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन :- इसके अलावा आपको अपने व्यापार का जीएसटी रजिस्ट्रेशन कराना भी आवश्यक है, इसके लिए आप अपने स्थानीय क्षेत्र के किसी चार्टर्ड अकाउंटेंट यानि सीए की मदद ले सकते हैं.
  • नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट :- जब आप किसी व्यापार को शुरू करते हैं और उसके लिए आप मशीन का इस्तेमाल करते हैं, तो आपके पास इसके लिए नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट होना आवश्यक है. यदि आप शहर में यह व्यवसाय कर रहे हैं तो आपको शॉप एक्ट लाइसेंस या नगर निगम / नगरपालिका में रजिस्ट्रेशन करा कर एनओसी प्राप्त करनी होगी. और यदि गाँव में यह व्यवसाय कर रहे हैं, तो उस गाँव की पंचायत में रजिस्ट्रेशन करा कर वहां से आपको एनओसी प्राप्त करना होगा.

स्थान की आवश्यकता (Place Requirements)

अपना व्यापार शुरू करने के लिए आपको ऐसे स्थान की आवश्यकता होगी, जहाँ आप आसानी से कंघी बनाने की मशीन स्थापित कर सकें. अतः आपको इसके लिये कम से कम 2000 वर्ग फीट के स्थान की आवश्यकता होगी.

प्लास्टिक की कंघी बनाने में निवेश (Investment in Plastic Hair Comb Business)

इस व्यवसाय को स्थापित करने में आपको शुरुआत में 5 से 6 लाख रूपये तक का खर्चा आ सकता है. जोकि अधिकतर इसमें उपयोग होने वाली मशीनरी का खर्च है. इसमें मशीन चलाने या कंघी की पैकेजिंग करने के लिए कुछ कर्मचारियों की भी आवश्यकता पड़ेगी, इसलिये आपको उन्हें भी वेतन देना होगा. आप शुरुआती निवेश के लिए किसी सरकारी या सहकारी बैंक से लोन या माइक्रोफाइनेंस जैसी वित्तीय संस्थान से लोन उठा सकते है. इसके अलावा आप सरकारी मुद्रा लोन या खादी सब्सिडी लोन भी प्राप्त कर सकते हैं. हालाँकि आपने एक बार व्यवसाय स्थापित कर लिया, इसके बाद आपको केवल इसके कच्चे माल एवं कर्मचारियों के वेतन के लिए ही निवेश करना होगा.

कंघी बनाने की प्रक्रिया (Comb Making Process by Moulding Machine)

कंघी का निर्माण हाइड्रोलिक इंजेक्शन मोल्डिंग मशीन पर ही किया जाता है. इसका उपयोग कैसे किया जाता है यह सभी जानकारी आपको जहाँ से इस मशीन को खरीदेंगे वहां से मिल जाएगी. मशीन बेचने वाले व्यक्ति द्वारा आपको इसकी पूरी ट्रेनिंग भी दी जाएगी. ताकि आप इसका इस्तेमाल अच्छे से कर सकें. इसके लिए आपको अलग से बाहर किसी संस्थान में ट्रेनिंग लेने नहीं जाना पड़ेगा. यहाँ हमने मशीन के माध्यम से कंघी बनाने के बारे में कुछ जानकारी दी है, जोकि आपके काम आ सकती है.

  • कंघी बनाने के लिए सबसे पहले आपको इसके रॉ मटेरियल पॉलिप्रोपीलीन यानि प्लास्टिक ग्रेनुअल्स को मशीन में डालना होता है.
  • मशीन में हीटर लगा हुआ होता है, जिसमें से ये प्लास्टिक के दाने गुजरते हैं और इसे पिघला देते हैं.
  • इसके बाद मशीन में अलग – अलग तरह के मोल्ड लगाये जाये हैं, आप कंघी बनाने का व्यापार शुरू कर रहे हैं इसलिए आप इसमें तरह – तरह की कंघी के मोल्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे हैंडल वाली कंघी, बड़ी कंघी, छोटी कंघी आदि. अतः मार्केट में कई प्रकार के कंघी बनाने वाले मोल्ड उपलब्ध हैं.
  • इसमें लगे हुए कंघी के मोल्ड तक यह पिघला हुआ प्लास्टिक एक इंजेक्शन पाइप के माध्यम से पहुंचता है. फिर यह कंघी का रूप ले लेता है. मोल्ड में एक बार में 1 से अधिक कंघी भी बन जाती है, जितने एक मोल्ड में ब्लाक बने होते हैं.
  • इसके बाद मशीन में कूलिंग प्रोसेस होती है, जोकि मोल्ड में लगे हुये गर्म प्लास्टिक को ठंडा करने का काम करता है. जब यह ठंडा हो जाता है, तो इसे खोल कर कंघी को बाहर निकाल लिया जाता है.
  • इसके साथ ही कंघी की फिनिशिंग की जाती है, जैसे कि यदि इसमें कुछ अतिरिक्त प्लास्टिक चिपका हुआ हो, तो उसे स्क्रैप ग्राइंडर की मदद से निकाल दिया जाता है.
  • कंघी बन जाने के बाद उसे आकर्षक बनाने के लिए इसमें पॉलिश की आवश्यकता होती हैं, इसके अलावा आप अपनी बनाई हुई कंघियों में अपने ब्रांड का नाम भी ऐड करवा सकते हैं.
  • ब्रांड का नाम कंघी पर ऐड करने के लिए एक हॉट स्टैम्पिंग मशीन की आवश्यकता होती है. इसके लिए आप अपने ब्रांड का एक स्टाम्प बनवाकर इसे हॉट स्टैम्पिंग मशीन में फिट करें और इसे कंघी पर ऐड कर दें.
  • यह पूरी प्रक्रिया हो जाने के बाद आखिरी में इसकी टेस्टिंग की जाती है, जिसके लिए माइक्रोमीटर का इस्तेमाल किया जाता है.

इस तरह से कंघी का निर्माण मशीनों की सहायता से बहुत ही आसानी से किया जा सकता है.

कहाँ बेच सकते हैं ? (Where to Sell Plastic Combs)

अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए आपने उत्पाद तो तैयार कर लिया लेकिन इससे पहले आपका यह जानना आवश्यक है कि आपको इसे कहाँ बेचना है. इसके लिए आप अपने स्थानीय क्षेत्र में होलसेलर या डिस्ट्रीब्यूटर का पता लगायें जहाँ आप इसे होलसेल में बेच सकते हैं, इसके साथ ही आप चाहे तो इसे रिटेल में भी बेच सकते हैं लेकिन इससे आपको उतना फायदा नहीं होगा. इसके अलावा यदि आप इसे ऑनलाइन माध्यम से बेचना चाहते हैं तो आप अपनी बनाई हुई कंघियों को अमेज़न, फ्लिपकार्ट, ईबे जैसी ऑनलाइन वेबसाइट के माध्यम से भी बेच सकते हैं. इस तरह से आप इसका ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों ही तरीकों का इस्तेमाल कर व्यापार कर सकते हैं.

मार्केटिंग (Marketing)

चूकि प्लास्टिक की कंघी ऐसा उत्पाद है, जिसकी आवश्यकता हर घर, होटल, पार्लर जैसी किसी भी स्थानों पर होती ही है. यह प्लास्टिक का बना होता है, इसलिए यह वजन में हल्का होता है, साथ ही यह आसानी से टूट भी सकता है, इसलिए इसकी काफी डिमांड रहती है. इसके लिए विशेष ब्रांड की आवश्यता नहीं होती है. इसे आप अपने स्थानीय ब्रांड के नाम से या खुद का अपना ब्रांड बनाकर भी बेच सकते हैं. एक बार आपका डिस्ट्रीब्यूशन या सेलिंग नेटवर्क अच्छा हो जाये, तो इसे आसानी से बेचा जा सकता हैं. अतः इस व्यापार को शुरू करने में आपको मार्केटिंग या इसका विज्ञापन करने की भी कोई आवश्यकता नहीं होती है.

उत्पाद की कीमत एवं लाभ (Product Cost and Profit Margin)

जब आप उत्पाद को बेचेंगे, तो उससे पहले आपको इसकी कीमत निर्धारित करना आवश्यक है. इसके लिए आप यह देखें कि बाजार में आपके अन्य प्रतिस्पर्धी इसे किस दर से यह बेच रहे हैं, उसके अनुसार आप अपने उत्पाद की कीमत निर्धारित करें. वैसे अच्छी गुणवत्ता वाली कंघी को आप होलसेल में 70 से 150 रूपये प्रति दर्जन के हिसाब से बेच सकते हैं. और यह आपको 20 से 50 प्रतिशत तक का लाभ मार्जिन प्रदान कर सकता है.

इस तरह से यह व्यापार करना बहुत ही आसान हैं. आप इससे न केवल कंघी बल्कि प्लास्टिक के तरह – तरह के छोटे – छोटे सामान बनाकर उसे भी होलसेल बाजार में बेचें, तो आपको इससे और अधिक मुनाफा प्राप्त हो सकता है.

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *