प्लास्टिक से बने सामान का व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Plastic Material Making Business in Hindi

प्लास्टिक से बने उत्पाद बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें (How to Start Plastic Material Making Business in Hindi)

प्लास्टिक से कई तरह की चीजें बनती हैं, जैसे आप इससे बर्तन हो, खिलौने हो, दैनिक आधार पर उपयोग होने वाली चीजें हो, कुछ भी छोटी से छोटी चीज भी बना सकते हैं, यहाँ तक कि आप लाइट होल्डर, प्लास्टिक जार, एलईडी में लगने वाले डिफ्यूजर एवं प्रैक्टिकल ट्रांसफार्मर वाइंडिंग जैसी चीजें भी बना सकते हैं. यदि आप प्लास्टिक से बनी इन सभी चीजों को बनाकर व्यापार करते हैं तो इससे आपको काफी मुनाफा हो सकता है. आइये इस लेख में आज हम आपको प्लास्टिक से बनने वाले इन उत्पादों को बनाकर इसका व्यापार शुरू करने के बारे में बतायेंगे. इसके लिए आपका हमारे लेख को अंत तक पढ़ना आवश्यक है.

Plastic product making Business

आवश्यक कच्चा माल (Required Raw Material)

प्लास्टिक से बनने वाले जैसे लाइट होल्डर, प्लास्टिक जार, एलईडी में लगने वाले डिफ्यूजर एवं प्रैक्टिकल ट्रांसफार्मर वाइंडिंग आदि में जो आवश्यक कच्चा माल उपयोग होता है, वह है पॉलीब्यूटिलीन टेरेफ्थेलेट (पीबीटी), जोकि एक थर्माप्लास्टिक इंजीनियरिंग पोलिमर है. हालाँकि इसके अलावा इसमें नायलॉन या प्लास्टिक ग्रेनुअल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन पीबीटी का उपयोग विशेष रूप से इलेक्ट्रिकल्स एवं इलेक्ट्रॉनिक्स इंडस्ट्री में एक इंसुलेटर के रूप में किया जाता है. इसलिए आप इस व्यापार में इसी कच्चे माल का उपयोग करें, तो बेहतर होगा.

कीमत एवं कहाँ से खरीदें (Price and Where to Buy ?)

प्लास्टिक से बने इन उत्पादों के लिए कच्चा माल आपको ऑनलाइन इंडियामार्ट या अलीबाबा जैसी वेबसाइट के माध्यम से मिल जायेगा. जिले आप घर बैठे आसानी से 100 से 200 रूपये प्रति किलोग्राम की दर से खरीद सकते हैं.

आवश्यक मशीनरी (Required Machinery)

इन प्लास्टिक के उत्पादों में केवल एक ही तरह की मशीन की आवश्यकता होती है. जोकि पूर्ण रूप से स्वचालित होती है. इसमें केवल आपको अलग – अलग तरह के उत्पाद बनाने के लिए डाई की आवश्यकता होगी, जोकि आपको मशीन के साथ में ही मिल जायेंगे. और विभिन्न डाई का इस्तेमाल कर आप प्लास्टिक के किसी भी आइटम का निर्माण कर सकते हैं.

मशीन की कीमत एवं कहाँ से खरीदें ? (Machine Price and Where to Buy it ?)        

इस मशीन की शुरूआती कीमत 1.5 लाख रूपये हैं और यह 20 लाख रूपये तक की भी आती हैं. आप इसे अपने बजट और अपने व्यापार की प्रगति के अनुसार खरीद सकते हैं. इसे खरीदने के लिए आप अपने आसपास इस तरह के उत्पाद बनाने वाले व्यापार मालिकों से संपर्क कर सकते हैं, इसके अलावा आप इसे ऑनलाइन भी अलीबाबा या इंडियामार्ट जैसी वेबसाइट से खरीद सकते हैं.

प्लास्टिक से सामान बनाने की प्रक्रिया (Plastic Material Making Process)

प्लास्टिक से बने इन उत्पादों को बनाने की प्रक्रिया केवल मशीन के माध्यम से हैं. यानी आप इसे घर पर नहीं बना सकते हैं. इसके लिए आपको मशीन खरीदनी ही पड़ेगी. मशीन के माध्यम से प्लास्टिक के ये उत्पाद बनाना बेहद आसान है, और मशीन का संचालन कैसे किया जायेगा, किस तरह से इसमें विभिन्न डाई लगाकर अलग – अलग उत्पाद बनाये जा सकते हैं, यह सब आपको जहाँ से आप मशीन खरीदते हैं वे बता देंगे. फिर इसे आप आसानी से मशीन का उपयोग कर विभिन्न उत्पाद का निर्माण कर सकते हैं, और अपना व्यापार कर सकते हैं.

व्यापार के लिए स्थान की आवश्यकता (Required Place for Plastic Business)

इस व्यापार को शुरू करने के लिए आपके पास बेहतर स्थान भी होना चाहिए. आपको कम से कम 2000 वर्ग फुट की जगह चाहिए होगी, इतने में आप मशीन स्थापित भी कर सकते हैं और साथ ही आपको कच्चा माल एवं बनाये गये विभिन्न उत्पादों को रखने के लिए भी स्थान मिल जायेगा. जहाँ आप इसकी पैकेजिंग करके इसे रख सकते हैं. यदि आपके पास खुद का यह स्थान हैं, तो बेहतर हैं, नहीं तो आप यह स्थान किराये पर ले सकते हैं.

ध्यान रहे आप यह व्यापार ऐसे स्थान पर शुरू करें, जहाँ आसपास के लोगों को इससे कोई परेशानी न हो, क्योंकि आप जिस मशीन का उपयोग कर रहे हैं, उसकी आवाज एवं प्लास्टिक से होने वाले प्रदूषण के चलते आस-पास के लोगों को परेशनी हो सकती है.

उत्पादों को कहाँ और कितने में बेचें ? (Where to Sale it ?)

प्लास्टिक से बने लाइट होल्डर, एलईडी में लगने वाले डिफ्यूजर एवं प्रैक्टिकल ट्रांसफार्मर वाइंडिंग आदि उत्पादों की आवश्यकता अधिकतर इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक्स समान बनाने वाली कंपनियों को पडती हैं. आप इन कंपनियों से संपर्क कर अपने इन उत्पादों को होलसेल में बेच सकते हैं. ये सभी उत्पाद आप 100 से 200 रूपये प्रति डिब्बे के आधार पर बेच सकते हैं, जिसमे आपको 20 से 50 रूपये तक का मुनाफा हो सकता है. आप चाहे तो इसे खुद रिटेल में भी बेच सकते हैं.

इसके अलावा जब आप प्लास्टिक से बने जार एवं अन्य उत्पाद बनाते हैं, तो इसे आप प्लास्टिक की किसी रिटेल शॉप में या होलसेल मार्केट में आसानी से बेच सकते हैं. खुद की रिटेल शॉप में भी आप इसे अच्छे दामों में बेचकर काफी सारा मुनाफा कमा सकते हैं. हालाँकि इसे होलसेल मार्केट में बेचना बेहतर विकल्प हो सकता है, क्योंकि आपके लिए रिटेल एवं उत्पाद मैन्युफैक्चरिंग दोनों काम साथ में करने में थोड़ी मुश्किल हो सकती है.

कुल निवेश एवं मुनाफा (Total Investment and Profit)

इस व्यापार को शुरू करने के लिए कच्चा माल, मशीनरी, स्थान एवं अन्य खर्चों को मिलाकर आपको लगभग 3 से 4 लाख रूपये का शुरूआती निवेश करना पड़ेगा. तभी आप इस व्यापार को स्थापित करने में सक्षम हो सकेंगे. हालाँकि इसमें विभिन्न तरह के उत्पादों का निर्माण हो सकता है, इसलिए आप अलग – अलग उत्पाद की अलग – अलग कीमत निर्धारित कर मुनाफा कमा सकते हैं. यदि आपका यह व्यापार बेहतर तरीके से स्थापित हो गया, तो इससे आप प्रतिदिन 5000 रूपये तक की कमाई भी कर सकते हैं.

व्यापार का रजिस्ट्रेशन (Business Registration)

व्यापार को स्थापित करने से पहले आपको अपने व्यापार को कानूनी रूप से रजिस्टर करना इसलिए आवश्यक है, ताकि इससे यह साबित हो सके, कि आप कोई भी गैर – कानूनी काम नहीं कर रहे हैं, इसके लिए आपको निम्न रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस की आवश्यकता होगी –

  • व्यापार रजिस्ट्रेशन :- यह रजिस्ट्रेशन किसी भी व्यापार के लिए परमावश्यक हैं. अतः आप अपने इस व्यापार को एक यूनिक ब्रांड के नाम के साथ स्थानीय लोकल अधिकारी के कार्यालय में जाकर रजिस्टर करा सकते हैं.
  • एमएसएमई के तहत रजिस्ट्रेशन :- यदि आप कोई व्यापार शुरू करते हैं, तो उस व्यापार को आपको भारत सरकार के एमएसएमई उद्योग आधार में भी रजिस्टर करना चाहिए.
  • एनओसी :- चूकिं प्लास्टिक से बने इन उत्पादों को बनाने में प्रदूषण भी हो सकता है, इसलिए आपको अपने लोकल अधिकारीयों से एनओसी भी प्राप्त करनी आवश्यक है. जब तक आपको एनओसी नहीं मिलेगी, आप अपना व्यवसाय शुरू नहीं कर सकेंगे. इसलिये आपको अपने व्यापार को शुरू करने के लिए बेहतर स्थान का चयन करना बहुत जरुरी है. ताकि आपको एनओसी आसानी से मिल सके.
  • जीएसटी नंबर :- आपको अपने व्यापार को रजिस्टर करने के बाद इसके लिए एक जीएसटी नंबर भी लेना होगा. क्योंकि आज यह भी बहुत जरूरी हैं.

मार्केटिंग (Marketing)

आज बाजार में इन उत्पादों की मांग बहुत अधिक बढ़ गई है. क्योंकि लोग अपने घर में लाइट तो लगाते ही है. तो उन्हें इसकी आवश्यकता होती हैं. यदि आपके द्वारा बनाया गया उत्पाद बेहतर हैं तो आप इसे खुद का एक ब्रांड नाम दे कर बाजार में बेच सकते हैं. किन्तु आपका यह ब्रांड सभी को पसंद आये, इसके लिए आपको अपने उत्पाद की विशेषता बताते हुए इसकी मार्केटिंग करनी होगी. इसके लिए आप एक पेम्प्लेट छपवा कर समाचार पत्र के साथ वितरित करा सकते हैं. या जगह – जगह इसकी होल्डिंग लगाकर भी इसकी मार्केटिंग की जा सकती है.

तो इस प्रकार इस आसान से व्यापार को आप छोटे स्तर पर शुरू कर बड़े स्तर तक पहुँच सकते हैं. ऐसा आप ऊपर के सभी बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए कर सकते हैं.

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!