पॉपकॉर्न बनाने का बिजनेस कैसे करें | Popcorn Making Business in Hindi

पॉपकॉर्न बनाने का बिजनेस, बनने की विधि, रेसिपी, तरीका, मशीन, कहाँ मिलती है, प्राइस (Popcorn Making Business, Plan, Process, Machine, Price, Recipe, in Hindi)

पॉपकॉर्न खाना किसे पसंद नहीं होता बड़े से लेकर बूढें तक सभी ये खाना पसंद करते हैं. पॉपकॉर्न ऐसा व्यंजन है जिसे लोग कभी भी खा सकते हैं चाहे सिनेमाघर में फिल्म देखते हुए, स्टेज शो देखते हुए, या कही सफर पर जाते हुए. इसे खाने से आपके स्वास्थ्य पर भी कोई असर नहीं होता है इसलिए लोग इसे खाना और अधिक पसंद करते हैं. अब अगर लोग इसे खाना ज्यादा पसंद करते हैं तो फिर इसका बिज़नेस करने वाले लोगों को इससे फायदा भी बहुत होता होगा. यह फायदा आप भी उठा सकते हैं हमारे लेख में बताएं गये इस आसान से तरीके से बिज़नेस करके. तो चलिए आपको इस बिज़नेस की शुरुआत करने की जानकारी देते हैं.

popcorn making business in hindi

पॉपकॉर्न क्या होता है    

पॉपकॉर्न एक तरह का स्नैक्स होता है, जिसे खाना लग्बह्ग सभी को पसंद होता है. पॉपकॉर्न को मक्के के दानों से बनाया जाता है. जी हां मक्के के दानों को गर्म करने वे फूलने लगते हैं जिसे पॉपकॉर्न करते हैं. पहले यह बिना मसाले के ऐसे ही बाजार में बिकता था किन्तु फिर धीरे – धीरे इसमें लोगों ने विभिन्न फ्लेवर डालने शुरू कर दिए अब यह कई फ्लावर में बिकता है.

सेवई एवं नूडल्स का बिज़नेस घर से कर सकते हैं, करना होगा बस ये काम.

पॉपकॉर्न के विभिन्न फ्लेवर

  • चीज़ पॉपकॉर्न :- इस तरह के पॉपकॉर्न में मुख्य रूप से चीज़ का इस्तेमाल किया जाता है. जोकि खाने में बहुत टेस्टी होता है.
  • टोमेटो फ्लेवर पॉपकॉर्न :- टोमेटो फ्लेवर पॉपकॉर्न में टमाटर का फ्लेवर मिला कर बनाना जाता है.
  • ग्रीन पॉपकॉर्न :- ग्रीन पॉपकॉर्न वाला फ्लेवर पालक के द्वारा बनाया जाता है.

ऐसे ही और भी फ्लेवर के पॉपकॉर्न आजकल बाजार में मिलते हैं. जिसका बिज़नेस करके लोग बेहतरीन कमाई करते हैं.

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय की शुरुआत कैसे करें

पॉपकॉर्न का बिज़नेस 2 तरीके से शुरू किया जा सकता है, जिसमें से पहला है कि आप इसे छोटे स्तर पर गांव क्षेत्र में एक ठेला लगाकर शुरू करें. या फिर दूसरा है कि आप चाहें तो सिनेमाघरों एवं मॉल के आसपास भी इस बिज़नेस को बड़े लेवल में करके बेहतर मुनाफा कमा सकते हैं.

टोमेटो सॉस या कैचप ऐसा व्यंजन है जिसे घर पर बनाकर अच्छा बिज़नेस शुरू किया जा सकता है.

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय की मांग

पॉपकॉर्न की मांग बड़े – बड़े मॉल या सिनेमाघरों में ज्यादा होती है. वहां पर अनेक प्रकार के स्वाद में पॉपकॉर्न बिकते हैं. ऐसे में इसका बाजार तेजी से उठ रहा है. यदि आप इसके बाजार में खुद का बिज़नेस लेकर आते हैं, तो जरुर यह आपको मुनाफा ही देगा. लोगों को विभिन्न फ्लेवर के पॉपकॉर्न खाने का बहुत शौक होता है. इसलिए इसमें आपको कई तरह के फ्लेवर वाले पॉपकॉर्न बनाकर बेचने में ज्यादा ध्यान देना होगा जिससे कि लोग आकर्षित होकर आपके पास आएंगे.

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय के लिए आवश्क सामग्री

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय में जो सबसे जरुरी सामग्री है वह है मक्के के दाने. इसके अलावा इसमें आपको नमक, तेल या घी, जिस फ्लेवर का पॉपकॉर्न बना रहे हैं उसकी सामग्री, चाट मसाला या फिर गरम मसाला और पैकिंग के लिए बैग या फिर पोलीथिन आदि की आवश्यकता होगी. ये सभी आवश्यक चीजें आपको बाजार में बहुत ही आसानी से मिल जाएगी. मक्के के दाने के लिए आप किसान से सीधे संपर्क कर सकते हैं.

घर के मसालों का व्यवसाय करना आपके लिए बेहद लाभकारी हो सकता है, जानें यह कैसे बनता है.

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय में लगने वाले आवश्यक मशीनरी एवं उपकरण

बाजार में पॉपकॉर्न बनाने के लिए मशीन भी मिलती हैं जोकि कई साइज़ की मिलती हैं आप अपने उत्पादन एवं क्षमता के आधार पर मशीन ले सकते हैं. हालाँकि पॉपकॉर्न बनाने की मशीन के लिए आपको ज्यादा निवेश नहीं करना है यह आपको 20 हजार रूपये तक में मिल जाएगी. इसके अलावा आपको पैकिंग की मशीन की आवश्यकता भी होगी जो पैकेट को सील पैक कर देंगे. यदि आपको इन मशीनों को के संचालन का कार्य करने का अनुभव नहीं है तो आप शुरुआत में इसे छोटे लेवल में शुरू कर सकते हैं. जिसमें आपको गैस, एवं गैस सिलिंडर की आवश्यकता होगी.

पॉपकॉर्न बनाने की प्रक्रिया

पॉपकॉर्न को मशीन के माध्यम से बनाया जाना ज्यादा आसान होता है. इसे बनाने के लिए आपको सबसे पहले मक्के के दानों को अलग – अलग करके कुछ दिनों तक कड़ी धूप में सुखाना होगा. इसके बाद आप मशीन में तेल एवं नमक डालकर उसमें ये मक्के के दाने डाल दें. मशीन चालू होने के बाद यह हीट होंगे और आपके पॉपकॉर्न बनकर रेडी हो जायेंगे.  

पानी पूरी का नाम सुनते ही आ जाता है लोगों के मुंह में पानी, जानें इसका बिज़नेस करने से कितना मुनाफा हो सकता है.

पॉपकॉर्न की पैकिंग

पॉपकॉर्न बनकर तैयार हो जाये तो इसके बाद इसके पैकेट बनाने के लिए आपको पैकिंग मशीन की आवश्यकता होगी. जिससे आपके पॉपकॉर्न के पैकेट पूरी तरह से सील पैक हो जायेंगे. सील पैक होने से पॉपकॉर्न के ख़राब होने की संभावना कम हो जाती है. 

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय में जगह की आवश्यकता

आपको पॉपकॉर्न का बिज़नेस शुरू करने के लिए एक बेहतरीन जगह का चयन करना होगा. तो हम आपको बात दें कि इसके लिए आपको कम से कम 400 से 500 स्क्वेयर फीट की जगह चाहिए होगी. और यह जगह आप बाजार एरिया में सिनेमाघर के आसपास लेते हैं तो ज्यादा अच्छा होगा. आप जिस जगह में इस बिज़नेस की शुरुआत करने जा रहे हैं ध्यान रखें वहन बिजली एवं पानी कि भी अच्छी व्यवस्था होनी चाहिए. साथ ही जगह ऐसी भी होनी चाहिए जहां ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था अच्छी हो.

चपाती या रोटी बनाने के व्यवसाय को आप लोगों के घरों में जाकर कर सकते हैं, इससे भी होती है अच्छी कमाई.

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय में आवश्यक लाइसेंस एवं पंजीकरण

इस व्यवसाय की शुरुआत करने में निम्न लाइसेंस एवं पंजीकरण प्रक्रिया की आवश्यकता होगी –

  • आरओसी पंजीकरण :- सबसे पहले आपको आरओसी पंजीकरण यानि कंपनी का पंजीकरण करना होगा. इसके लिए आपको अपने बिज़नेस को एक ब्रांड नाम देना होगा.
  • एमएसएमई उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन :- इसके बाद आपको एमएसएमई के तहत आने वाले उद्योग आधार में अपने बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन कराना आवश्यक होता है.
  • एफएसएसएआई लाइसेंस :- चुकी यह खाद्य पदार्थ हैं इसलिए आप संबंधित विभाग से एफएसएसएआई लाइसेंस भी प्राप्त कर लें.
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन :- इस बिज़नेस को करने में आपको जीएसटी नंबर भी चाहिए होगा जिसके लिए जीएसटी रजिस्ट्रेशन आवश्यक है.

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय में कुल लागत

इस व्यवसाय में मशीनरी एवं सभी आवश्यक सामग्री को मिलाकर कम से कम 30 से 40 हजार रूपये तक का निवेश करना पड़ेगा. इसमें आपका जगह का किराया भी शामिल है.

आलू चिप्स भी लोगों को बहुत पसंद होता हैं इसका बिज़नेस करने से भी हजारों की कमाई होती है.

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय की मार्केटिंग

आपको अपने पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय की जानकारी लोगों को देनी होगी, इसके लिए जरूरी है इसकी मार्केटिंग करने की. मार्केटिंग के लिए आप अपने विभिन्न फ्लेवर वाले पॉपकॉर्न का एक मैन्युअल बनाकर पेपर में छपवा दें या फिर पेमप्लेट भी बतवा सकते हैं. इसके आलवा यदि आपको इसे अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाना हैं तो इसके लिए आप ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का उपयोग कर सकते हैं. 

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय से लाभ

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय में 50 हजार तक का लाभ प्राप्त हो सकता हैं इसके लिए सबसे जरूरी है आपके द्वारा बनाये जाने वाले पॉपकॉर्न की गुणवत्ता एवं स्वाद की. क्योंकि यदि लोगों को यह पसंद आयेगा तभी लोग आएंगे आपके पास और आपको लाभ प्राप्त होगा.

दाल बनाने की मिल आप गांव क्षेत्र में स्थापित करके ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं, जानें इसकी प्रक्रिया.

पॉपकॉर्न बनाने के व्यवसाय में जोखिम

इस बिज़नेस में सबसे ज्यादा जोखिम इस बात का होता है कि आपके द्वारा बनाएं गये विभिन्न तरह के पॉपकॉर्न लोगों को अच्छा स्वाद देंगे या नहीं. इसलिए आपको गुणवत्ता एवं स्वाद दोनों का विशेष ध्यान देना होगा. नहीं तो आपका यह व्यवसाय जल्द ही बंद हो जायेगा.

FAQ

Q : पॉपकॉर्न किससे बनाते हैं इसका मुख्य आवश्यक कच्चा माल क्या है ?

Ans : मक्के के दानों से.

Q : पॉपकॉर्न का बिज़नेस कहां कैसे स्टार्ट कर सकते हैं ?

Ans : प्लानिंग करके एवं सामग्री और मशीन स्थापित करके.

Q : पॉपकॉर्न बनाने की मशीन की कीमत कितनी होती है ?

Ans : 20 हजार रूपये.

Q : पॉपकॉर्न बनाने के बिज़नेस में कितना मुनाफा होता है ?

Ans : 40 से 50 हजार रूपये तक का.

Q : पॉपकॉर्न कितने प्रकार के बाजार में मिलते हैं ?

Ans : विभिन्न प्रकार के चीज़ पॉपकॉर्न, टोमेटो पॉपकॉर्न एवं ग्रीन पॉपकॉर्न आदि. 

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *