पीपीई किट मैन्युफैक्चरिंग व्यवसाय शुरू करें

0

पीपीई किट बनाने का व्यवसाय (PPE Kit Manufacturing Business Plan in Hindi) (Full Form, online)

आप सभी ये तो जानते होंगे कि विदेशों के साथ – साथ देश की वर्तमान में कोरोना वायरस के चलते क्या स्थिति हैं. इस वायरस से निपटने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा अपनी जान हथेली में रखकर कोरोना संक्रमण का ईलाज किया जा रहा है. आपको बता दें कि ये स्वास्थ्य कर्मी कोरोना संक्रमणों का ईलाज करने के लिए विशेष तरह की सावधानियां बरतते हैं. उन्हीं में से एक हैं पीपीई किट का इस्तेमाल करना. इसकी वजह से इसकी मांग देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी बहुत अधिक बढ़ गई है. ये किट का निर्माण भारत की कई बड़ी – बड़ी कंपनियों द्वारा किया जा रहा हैं. साथ ही सरकार का यह कहना है कि आने वाले कुछ समय में इन पीपीई किट के निर्यात का व्यापार भी शुरू किया जा सकता है. ऐसे में ये पीपीई किट बनाने के व्यवसाय का अवसर आपके लिए काफी लाभकारी सिद्ध हो सकता है. हम आपको पीपीई किट है क्या एवं इसका व्यवसाय आप कैसे शुरू कर सकते हैं इसकी जानकारी दे रहे हैं. इसे अंत तक पढियें.

ppe kits bussiness idea hindi

पीपीई किट क्या है (What is PPE Kit)

पीपीई किट का पूरा नाम हैं पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट किट. इसे आप स्वयं की सुरक्षा के लिए उपयोग होने वाले हथियार के रूप में भी समझ सकते हैं. इसका अधिकतर वैज्ञानिकों एवं डॉक्टर्स द्वारा उपयोग किया जाता हैं. जोकि विभिन्न केमिकल, रेडियोलॉजिकल, फिजिकल, इलेक्ट्रोनिकल, एवं मैकेनिकल आदि विभिन्न तरह के अनुसन्धान करने के दौरान संक्रमण से बचने के लिए पहना जाता है, ताकि वे खुद की सुरक्षा कर सकें. 

कोरोना वायरस के संक्रामण से बचने के लिए उपयोग में लाये जाने वाले हैण्ड वाश सोप का व्यवसाय शुरू करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

पीपीई किट में शामिल होने वाली चीजें

पीपीई किट से शरीर को पूरी तरह से कवर किया जाता हैं ताकि किसी भी प्रकार का संक्रमण उनके शरीर में प्रवेश न करे. इसके लिए पीपीई में कुछ निम्न लिखित चीजें शामिल होती हैं, जिन्हें पहनने पर ही पीपीई किट पूरी मानी जाती है.

फेस कवर मास्क :- पीपीई किट में फेस को कवर करने के लिए प्लास्टिक का बना हुआ एक ऐसा ढाल की तरह दिखाई देने वाली चीज होती हैं, जो आपके मुंह, कान एवं नाक से होते हुए आपके शरीर के अंदर प्रवेश कर सकने वाले जीवाणुओं को अंदर जाने से रोकने के लिए ढाल की तरह काम करती है.

ग्लोव्स :- इसके बाद इसमें हाथों में पहनने वाले ग्लोव्स शामिल होते हैं. जोकि हाथों के माध्यम से आपके अंदर जाने वाले जीवाणुओं को आपके शरीर में पहुँचने से रोकने में मददगार होते हैं.

चश्मे :- पीपीई किट में आँखों को अच्छे से कवर करने के लिए विशेष तरह के चश्मे भी शामिल किये गये हैं. जोकि आपकी आँखों के माध्यम से हो सकने वाले संक्रमण के खतरे को रोकता है.

एन95 मास्क :- एन95 एक विशेष तरह के सबसे अच्छी गुणवत्ता वाले मास्क होते हैं, जोकि आपके स्वसन तंत्र के माध्यम से आपके शरीर के अंदर जाने वाले जीवाणुओं से आपकी रक्षा करते हैं. ये जीवाणु वातावरण में फैले हुए होते हैं जिससे इस तरह के मास्क आपको संक्रमण से बचाने में कारीगर सिद्ध होते हैं. इसे भी पीपीई किट में शामिल किया गया हैं.

गाउन या सूट :- पीपीई किट में जो सबसे जरूरी चीज शामिल है वह है गाउन या सूट. आपके पूरे शरीर को संक्रमण के खतरे से रोकने के लिए इस गाउन या सूट से उसे पूरा कवर किया जाता हैं. ये गाउन या सूट डिस्पोजेबल होते हैं. इसे एक बार उपयोग करने के बाद इसे विशेष तरह से उतार कर नष्ट कर दिया जाता है. जिससे की उस किट में मौजूद कोई भी कीटाणु किसी भी व्यक्ति तक न पहुँच सकें.

हेड कवर :- पीपीई किट में एक और सबसे महत्वपूर्ण चीज शामिल होती हैं आपके सिर को ढकने वाले हेड कवर की. क्योकि संक्रमण आपके शरीर के किसी भी भाग से आपके अंदर प्रवेश कर सकता है. इसलिए यह भी कोरोना वायरस जैसे खतरनाक संक्रमण को रोकने के लिए बहुत जरुरी चीज है.

पैरों का कवर :- आपने बाकी शरीर तो ढक लिया लेकिन आपका पैर खुले हुए हैं तो यह भी आपके शरीर में संक्रमण पहुंचा सकते हैं. भले ही आपने जूते क्यों न पहने हुए हो. दरअसल जूते पर भी कोरोना वायरस का संक्रमण कुछ समय तक रहता हैं ऐसे में यह आपके शरीर में प्रवेश कर सकता हैं इसलिए जरुरी हैं कि आपके जूते को भी कवर किया जाये. इसलिए पीपीई किट में जूते कवर को भी शामिल किया गया हैं.

पीपीई किट बनाने के व्यवसाय में आवश्यक लाइसेंस

पीपीई किट एक ऐसा बिज़नस हैं जोकि हालही में कुछ समय पहले से ही शुरू हुआ है. यह कोरोना वायरस के आने के बाद से ज्यादा लोकप्रिय एवं जरूरतमंद व्यवसाय बन गया हैं. देश में गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश एवं तमिलनाडु जैसे कुछ राज्य हैं जहाँ कुछ कंपनियों द्वारा इसका निर्माण किया जा रहा हैं. ये सभी कंपनी लाइसेंस प्राप्त कंपनियां हैं.

आपको बता दें कि देश में फेक पीपीई किट बनाने वाली बहुत सारी कंपनियां भी मौजूद हैं जिनके पास लाइसेंस नहीं है. उनके लिए केंद्र सरकार द्वारा सख्त से सख्त कार्यवाही की जा रही हैं. इसलिए जब आप इस व्यवसाय को शुरू करने का मन बना रहे हैं, तो आपको सबसे पहले अपने इस व्यवसाय के लिए कानूनी प्रक्रिया पूरी करते हुए आवश्यक लाइसेंस प्राप्त कर लेना चाहिए. ताकि आपका व्यवसाय अच्छे से बिना किसी परेशानी के चल सके. 

अपने व्यवसाय को उद्योग आधार के तहत रजिस्टर करने की प्रक्रिया जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

पीपीई किट के लिए रॉ मटेरियल (Raw Material)

पीपीई किट में शामिल सभी चीजों के उत्पादन के लिए विशेष तरह का रॉ मटेरियल उपयोग में लाया जाता हैं. जोकि कोरोना वायरस के संक्रमण को मानव शरीर के अंदर प्रवेश करने से रोकता हैं. यह रॉ मटेरियल अलग – अलग कम्पनी द्वारा बनाये गए पीपीई किट के लिए अलग – अलग हो सकता है. हम यहाँ एक प्रकार के रॉ मटेरियल की बात कर रहे हैं जोकि स्प्लैश प्रूफ है इसे एसएमएस प्रूफ मेडिकल ग्रेड नॉन वोवन फैब्रिक भी कहा जा सकता है. इस मटेरियल से बने पीपीई किट से कोरोना वायरस का ईलाज हमारे कोरोना वोर्रीएर्स आसानी से कर सकते हैं. इसके अलावा कुछ अन्य कच्चे माल की भी आवश्यकता पड़ सकती हैं जैसे कि वेल्प्रो, गाउन में लगाने के लिए चैन, डोरी, इलास्टिक आदि. ये सभी चीजें आपको मार्केट में आसानी से उपलब्ध हो जायेगी.

पीपीई किट बनाने के लिए मशीनरी (Manufacturing Machinery)

पीपीई किट का उत्पादन भारत में कई सारी बड़ी – बड़ी कंपनियों द्वारा किया जा रहा हैं, जोकि एक दिन में 10 से 20 हजार पीपीई किट का निर्माण करती हैं. ये सभी कंपनियां पीपीई किट का निर्माण कुछ स्वचालित मशीनरी के तहत करती हैं. ये मशीनरी विदेशों से आयात की जाती हैं. यदि आप इस व्यवसाय को करना चाहते हैं तो आपको पहले मशीनरी की आवश्यकता होगी. इसके लिए आप बड़ी – बड़ी कंपनियों से सम्पर्क कर सकते हैं जोकि इस तरह के किट बनाती हैं. हालांकि इसे ऑनलाइन इंडियामार्ट, अलीबाबा जैसी ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट के माध्यम से भी आर्डर देकर ख़रीदा जा सकता हैं.   

फ्री में अपनी वेबसाइट बनाकर ब्लॉगिंग का व्यवसाय शुरू करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

पीपीई किट बनाने का तरीका

पीपीई किट बनाने के लिए मशीनरी का इस्तेमाल करना होता हैं. इसके बिना पीपीई किट नहीं बनाया जा सकेगा. इस पीपीई किट में कई सारी चीजें कवर की गई हैं इसलिए आपको सभी चीजें के लिए अलग – अलग मशीनरी का उपयोग करना पड़ सकती हैं. अगर आपके पास लाइसेंस हैं तो आप ये सभी मशीनें ऑनलाइन आसानी से खरीद सकते हैं, और इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं.

पीपीई किट बनाने के व्यवसाय में आवश्यक स्टाफ

पीपीई किट बनाने की व्यवसाय यूनिट शुरू करने पर आप इसमें कुछ मजदूरों को भी रखें. क्योंकि यह एक ऐसा व्यवसाय हैं जिसमें आपको मशीनरी के संचालन, पैकेजिंग एवं और भी विभिन्न कार्य को करने में इनकी आवश्यकता पड़ेगी. आपको उन्हें कार्य पर रखने के बदले में एक निश्चित वेतन भी प्रदान करना होगा. इससे आपके व्यवसाय को सुचारू रूप से चलाने में मदद तो मिलेगी ही साथ ही बहुत से मजदूरों को रोजगार की प्राप्ति भी हो जाएगी.

ट्रांसपोर्ट का व्यवसाय भी दे सकता है आपको लाखों रूपये प्रतिमाह कमाने का मौका, कैसे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

पीपीई किट की पैकेजिंग (PPE Kit Packaging)

पीपीई किट में शामिल किये जाने वाले सभी प्रोडक्ट बनकर तैयार हो जायें तो इसके बाद इसकी पैकेजिंग की बारी आती है. पैकेजिंग के लिए यह ध्यान रखा जाता हैं एक पैकेट में पीपीई किट की सभी चीजें शामिल हो कोई भी चीज छूटे नहीं. इसे एक निर्धारित आकार के पैकेट में रख कर पैक किया जाता है. ये पैकेट भी बाजार में आसानी से उपलब्ध हो जायेंगे. जब यह पैक हो जाये, तो फिर यह डॉक्टर्स के द्वारा इस्तेमाल करने योग्य हो जाता है.

पीपीई किट की ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग

पीपीई किट की पैकेजिंग के साथ ही उसकी ब्रांडिंग करना भी जरुरी हैं, क्योकि बिना ब्रांडिंग के आप इस व्यवसाय की मार्केटिंग नहीं कर सकते हैं. केंद्र सरकार द्वारा यह जानकारी दी गई हैं कि पीपीई किट की हमारे देश में प्रतिपूर्ति हो जाती हैं, तो इसे विदेशों में निर्यात भी किया जा सकता है. जिससे देश की अर्थव्यवस्था को लाभ पहुंचें. इसलिए आपके द्वारा बनाये जाने वाले पीपीई किट की ब्रांडिंग होना बहुत आवश्यक हैं, ताकि इसे विदेशों में आपके ब्रांड के नाम से निर्यात किया जा सके. ब्रांड का नाम होने से आपको इसकी मार्केटिंग करने के बेहतर तरीके मिल जाते हैं. और जितनी ज्यादा इसकी मार्केटिंग होगी, आपका ब्रांड उतना ही अधिक लोकप्रिय होगा और इससे आपको लाभ पहुंचेगा.

डिजिटल मार्केटिंग से किस तरह पैसा कमाया जा सकता हैं इसकी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

पीपीई किट बनाने के व्यवसाय में कुल लागत (Total Cost)

पीपीई किट बनाने के व्यवसाय में कुल लागत की बात करें, तो रॉ मटेरियल, मशीनरी, कर्मचारियों का खर्च, लाइसेंस एवं पैकेजिंग आदि में लगनी वाली कुल लागत 10 से 15 लाख रूपये तक जा सकती हैं. जिसमें आपको मशीनरी के लिए केवल एक बार निवेश करना होगा, बाकि के लिए आपको 5 लाख के अंदर के ही निवेश की आवश्यकता होगी. सरकार द्वारा वर्तमान में लोन से संबंधित काफी सारी राहत दी जा रही है, ऐसे में आपको यदि निवेश में कुछ परेशानी आती हैं तो आप लोन ले सकते हैं.     

पीपीई किट बनाने के व्यवसाय में लाभ

पीपीई किट बनाने के व्यवसाय की इन दिनों काफी अधिक मांग हैं क्योकि कोरोना वायरस पूरी दुनिया में अपना कहर दिखा रहा हैं. ऐसे में कोरोना वोर्रीएर्स के लिए कोरोना का ईलाज करने के लिए यह अत्यंत ही आवश्यक हैं. एक पीपीई किट की एमआरपी 1000 से 1500 रूपये तक होती हैं. यह कम भी हो सकती हैं, जोकि कंपनी के ऊपर निर्भर करता है. यदि आप एक दिन में 2 से 3 हजार पीपीई किट बनाते हैं, तो इससे आपकी एक दिन में 10 से 20 लाख रूपये तक की कमाई हो सकती है.

केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया एमएसएम्ई का एक ऐसा पोर्टल जो सिर्फ एक इनोवेटिव आइडियाज से आपको बिज़नसमेन बना सकता है, पोर्टल की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.  

इस तरह से यह व्यवसाय इन दिनों आपके लिए काफी मुनाफा वाला व्यवसाय साबित हो सकता हैं. क्योकि इन दिनों इन पीपीई किट की बहुत अधिक मांग है. और यह मांग देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हैं. इसलिए आप इस व्यवसाय को शुरू कर लाखों की कमाई कर सकते हैं, और मजदूरों को रोजगार देकर उन्हें अपनी आजीविका चलाने में मदद भी कर सकते हैं.

एफएक्यू (FAQ’s)

Q : पीपीई किट क्या है ?

Ans : पीपीई किट वैज्ञानिकों एवं डॉक्टर्स के द्वारा प्रैक्टिकल रिसर्च के दौरान संक्रमण से बचने के लिए सुरक्षा के रूप में पहना जाता है. जिसे पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट कहा जाता है.

Q : पीपीई किट किस मटेरियल की बनती हैं ?

Ans : पीपीई किट स्प्लैश प्रूफ मेडिकल ग्रेड नॉन वोवन फैब्रिक का बना होता हैं जिसे एसएमएस प्रूफ भी कहा जाता है. हालांकि अलग – अलग मैन्युफैक्चरिंग यूनिट अलग तरह का मटेरियल का उपयोग कर सकती हैं.

Q : पीपीई किट में क्या – क्या चीजें शामिल होती हैं ?

Ans : पीपीई किट में 7 चीजें शामिल होती हैं जोकि फेस कवर मास्क, ग्लव्स, चश्मे, एन95 मास्क, गाउन या सूट, हेड कवर, और पैरों को कवर करने वाले आदि उपकरण हैं.

Q : पीपीई किट का निर्माण कैसे किया जाता है ?

Ans : पीपीई किट का निर्माण करने के लिए विशेष स्वचालित मशीनरी की आवश्यकता होती है जोकि बाजार में आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं.

Q : पीपीई किट बनाने के व्यवसाय में कितना प्रॉफिट होता है ?

Ans : पीपीई किट बनाने के व्यवसाय में 5 से 10 लाख रूपये तक का प्रॉफिट होता हैं. केंद्र सरकार द्वारा इसका निर्यात का कार्य भी जल्द शुरू हो सकता हैं जिससे यह प्रॉफिट डबल भी हो सकता है.   

अन्य पढ़ें –

शिशु मुद्रा लोन योजना

कम पूंजी निवेश के व्यापार शुरू करने के आइडिया

लॉकडाउन बिज़नस आईडियाजमास्क बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

मास्क बनाने का व्यवसाय शुरू करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here