प्रधानमंत्री आवास योजना 2018 क्या हैं? व इससे पैसे कैसे कमाएं | How to earn money through PMAY in hindi

प्रधानमंत्री आवास योजना या पीएम आवास योजना क्या हैं? (What is Pradhan Mantri  Awas Yojana and PMAY in hindi)

प्रधानमंत्री मोदी जी ने अपने कार्यकाल में कई महत्वपूर्ण योजनाओं का ऐलान किया उन्हीं में से एक हैं प्रधानमंत्री आवास योजना. यह एक ऐसी योजना हैं जिसका उद्देश्य हैं “हर एक का घर हो अपना”. आज इस आर्टिकल में हम आपको पीएम आवास योजना क्या हैं ?

प्रधानमंत्री आवास योजना

क्या हैं पीएम आवास योजना (What is Pradhan Mantri  Awaas Yojana)

यह योजना 2016 में आई और इसका मुख्य उद्देश्य गरीबों को उनका खुद का घर उपलब्ध करवाना हैं. योजना का मुख्य बिन्दु यह हैं कि इसमें वही व्यक्ति भाग ले सकता है, जिसका खुद का कोई घर ना हो और ना ही उसके नाम से कोई घर रजिस्टर हो. इस योजना को दो मुख्य भागो में बांटा गया हैं जिसमे आवास योजना ग्रामीण और आवास योजना शहरी आती हैं.

  • आवास योजना ग्रामीण (Pradhan Mantri Gramin Awaas Yojana)

सरकार द्वारा देश के जिन स्थानों को ग्रामीण अर्थात रुरल कहा गया है, उन स्थानों पर रहने वाले लोगो को आवास योजना ग्रामीण का लाभ मिलेगा. इसके अंतर्गत मैदानी क्षेत्र के लिये लाभार्थी को 1 लाख 20 हजार रुपये एवं पहाड़ी क्षेत्र के लिये 1 लाख 30 हजार रुपये सरकार द्वारा दिये जायेंगे, और यह राशि डीबीटी का जरिये सीधे बैंक खाते में भेजी जायेगी.

इस योजना के तहत योग्यता के क्या निर्देश हैं ?

  • जिनके पास खुद का घर ना हो, अथवा कच्चा घर हो अथवा घर की छत ना हो वे इस योजना के तहत लाभ लेने योग्य होंगे.
  • इस योजना के भीतर लाभ उठाने के लिए परिवार का नाम एसईसीसी 2011 लिस्ट में दर्ज होना चाहिये.
  • एसईसीसी लिस्ट में नाम होने के बाद में किसे प्राथमिकता दी जायेगी, उसके लिए भी मापदंड तय किए गए हैं –
  1. वह परिवार जिसमे बच्चे अथवा बूढ़े सदस्य ही हो, अर्थात कोई भी व्यक्ति 16 से 59 वर्ष की आयु का न हो.
  2. परिवार का कोई सदस्य दिव्यांग श्रेणी में आता हो, उस परिवार को भी पहले रखा जायेगा.
  3. जिस परिवार की मुखिया महिला हो और उस परिवार में 16 से 59 आयु का कोई न हो.
  4. वह परिवार जिनकी आय का मुख्य जरिया मजदूरी हो, वे भी प्रथम प्राथमिक्ता वाले परिवार माने जायेंगे.

आवास योजना के अंतर्गत मिलने वाले रूपये :

  • योजना में सब्सिडी के रूप में 1 लाख 20 हजार रुपये दिया जायेंगे, इसके साथ ही टोयलेट निर्माण में 12 हजार, अगर व्यक्ति खुद मजदूरी करता हैं, तो उसे मनरेगा की तरफ से 18 हजार रुपये मिल सकते हैं.
  • इसके अलावा अगर कोई कमी हैं, तो 70 हजार तक का लोन भी लिया जा सकता हैं.

योजना के तहत सब्सिडी विभिन्न चरणों में मिलेगी

घर बनाने में 7 स्टेप पूरी की जाती हैं, जो कि मंजूरी मिलना, आधार बनाना, नीव तैयार करना, छत, रूफकास्ट, खिड़की दरवाजे और अंत में तैयार घर. इस प्रकार 7 चरणों में घर पूरा होता हैं जिसके भीतर 3 इन्स्टालमेंट में पैसा मिलेगा.

  • पहली इंस्टालमेंट तब मिलेगी, जब आपका नाम लिस्ट में आ जायेगा और यह पैसा डाइरैक्ट अकाउंट में आयेगा, जिसमें 7 दिन का समय लगेगा.
  • दूसरी इन्स्टालमेंट तब आएगी, जब घर की नींव डल जायेगी.
  • तीसरी इंस्टालमेंट घर की छत बनने के बाद मिलेगी और इन सभी चरणों का वेरीफ़िकेशन ब्लॉक ऑफिसर द्वारा किया जायेगा.

आवेदन प्रक्रिया ( How to apply for Gramin Awaas Yojana):

योजना के लिये आवेदन जन सेवा केंद्र (CSC centers) अथवा ब्लॉक ऑफिस के जरिये होगा. एक  फॉर्म भर के कार्यालय में जमा करना होगा. इसके बाद ऑफिसर निर्देशानुसार लाभार्थी की लिस्ट तैयार करते हैं.

लाभार्थी लिस्ट में अपना नाम देखे (Awas yojana status check online for Rural or Gramin)

आवेदन की प्रक्रिया के बाद आपका नाम सिलेक्ट हुआ हैं या नहीं यह आप चेक कर सकते हैं जिसके लिए लिंक https://iay.nic.in/netiay/home.aspx दी गई हैं. इसके अलावा ब्लॉक ऑफिस में जाकर भी आप लिस्ट में अपना नाम चेक कर सकते हैं.

  • प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी क्या हैं (Pradhan Mantri Urban or Shahri Awas Yojana)

वह स्थान जिन्हे शहरी भागों का दर्जा दिया गया हैं, वहाँ के लोगों को आवास योजना शहरी का लाभ मिलेगा. इसके अंतर्गत यह योजना विभिन्न तरीको के माध्यम से लोगो को उनके घर बनवाने में मदद करेगी. इस योजना को ईडब्ल्यूएस, एलआईजी, एमआईजी 1 और एमआईजी 2 में बांटा गया हैं.

योजना के भीतर झोपड़पट्टी का पुनर्वास करके एवं कैंडिडेट को कम ब्याज पर लोन देकर इस योजना का क्रियान्वयन किया जाएगा. इस योजना के लिये वे ही अप्लाई कर सकते हैं जिनके पास स्वयं का घर ना हो.

ईडबल्यूएस एवं एलआईजी के माप दंड में आने वाले लोगो के लिए निम्न लिखित नियम हैं :

आय लोन इंटरेस्ट सब्सिडी पहली किश्त सब्सिडी के बाद किश्त कोरपेट एरिया
ईडबल्यूएस 0-3 लाख 3 लाख 133640 2895 1605 30 स्कवेर मीटर
एलआईजी 3- 6 लाख 6 लाख 267280 5790 3211 60 स्कवेर मीटर

एमआईजी 1 और एमआईजी 2 के के माप दंड में आने वाले लोगो के लिए निम्न लिखित नियम हैं :

आय की सीमा सब्सिडी दर लौटने की अवधि लोन की राशि कारपेट एरिया वर्तमान ब्याज दर सब्सिडी
एमआईजी 1 6-

12 लाख

4 20 साल 9 लाख 160 9 235068
एमआईजी 2 12-18 लाख 3 20 साल 12 लाख 200 9 230156

आवेदन कैसे करे  (How to apply for PMAY)

शहरी योजना के लिये पंजीयन करवाने के लिये जन सुविधा केंद्र में जाकर संपर्क करे. और इस केंद्र में फॉर्म भरे. अगर ऑनलाइन आवेदन करना हैं तो वेबसाइट https://pmaymis.gov.in/# के माध्यम से फॉर्म भर सकते हैं.

स्टेटस कैसे चेक करें ? (Awas yojana status check online for Urban)

इस योजना के लिए आपका नाम शामिल हुआ हैं या नहीं, यह आप इस साइट पर जाकर चेक कर सकते हैं. नाम शामिल होने के कुछ समय बाद आपको लोन मिल जायेगा, जिसे आपको दिये गए समय में लौटना होगा.

यह एक महत्वपूर्ण योजना हैं जो बहुत तेजी से देश में काम कर रही हैं और उन लोगो को घर दे रही हैं जिनका स्वयं का कोई घर नहीं हैं. अगर आप इन घरो की पहचान करना चाहते हैं, तो आप देख सकते हैं कि इस योजना के अंतर्गत बने घरों के उपर इस योजना का लोगो लगा होता हैं. इस योजना के जरिये आप कमा भी सकते हैं, क्यूंकि इस योजना का उद्देश्य बड़ा हैं, जिससे लोगो को घर भी मिला रहा हैं और कमाने का मौका भी.

Ref :- Pradhan Mantri Awas Yojana in English

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!