SEO कंसलटिंग बिजनेस क्या है? SEO Consulting Business in Hindi

SEO कंसलटिंग बिजनेस क्या है? SEO कंसलटिंग बिजनेस कैसे करें, लाभ, कंसल्टेंसी का मतलब क्या होता है? SEO Consulting Business, what is seo consulting business, seo consulting salary, profit

इंटरनेट पर वेबसाइट बनाने वाले हर व्यक्ति या फिर हर कंपनी का यही प्रयास होता है कि उनकी वेबसाइट गूगल/किसी भी सर्च इंजन के रिजल्ट में टॉप 10 वेबसाइट की लिस्ट में शामिल हो। हालांकि ऐसी ही वेबसाइट को टॉप 10 पहले पेज पर आने वाली वेबसाइट की लिस्ट में जगह मिल पाती है जिनका सेटअप बेहतरीन होता है और जिनकी रैंकिंग काफी अच्छी होती है।

हालांकि कम रैंकिंग की समस्या से काफी वेबसाइट अथवा ब्लॉग के मालिक परेशान होते हैं। ऐसे में वह SEO कंसलटिंग बिजनेस चलाने वाले व्यक्ति अथवा ऑफिस की सहायता लेते हैं। अगर आप भी अपनी वेबसाइट की कम रैंकिंग से परेशान हैं तो आपको एक बार अवश्य ही कंसलटिंग बिजनेस की सर्विस का फायदा लेना चाहिए। इस पेज पर हम जानेंगे कि “SEO कंसलटिंग बिजनेस क्या है” और “SEO कंसलटिंग बिजनेस कैसे करें।”कैसे करें

Seo consulting business

Table of Contents

SEO कंसलटिंग बिजनेस क्या है?

SEO कंसलटिंग बिजनेस करने वाले व्यक्ति के द्वारा क्लाइंट को उनकी वेबसाइट को किस प्रकार से आगे बढ़ाया जा सकता है, इसके बारे में राय सलाह दी जाती है, साथ ही आवश्यकता पड़ने पर क्लाइंट की वेबसाइट को एनालाइज किया जाता है और उनकी वेबसाइट को रैंकिंग में लाने के लिए हर संभव प्रयास किए जाते हैं।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस करने वाले व्यक्ति के द्वारा अपने पास आए हुए कस्टमर की गुप्त वेबसाइट को रैंक वाली वेबसाइट में तब्दील किया जाता है, क्योंकि इस बात से आप भली-भांति परिचित हैं कि आज लोगों को किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करना पड़ता है और जब वह इंटरनेट पर कुछ भी सर्च करते हैं तो सबसे पहले जो वेबसाइट उनकी स्क्रीन पर आती है उन्हीं पर लोगों के द्वारा क्लिक किया जाता है।

ऐसे में जो लोग लंबे समय से अपनी वेबसाइट बनाकर उस पर आर्टिकल डाल रहे हैं परंतु उनकी वेबसाइट इंटरनेट पर टॉप पेज में शामिल नहीं हो पा रही है। ऐसे लोगों के लिए सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस का निर्माण किया गया है, जो उनकी वेबसाइट का पूरा एनालिसिस करता है और उनकी वेबसाइट को रैंक करवाने में उनकी सहायता करता है।

SEO कंसलटिंग बिजनेस कैसे करें?

एसईओ कंसलटिंग बिजनेस करना एक क्रिएटिव बिजनेस आइडिया हो सकता है, जहां से आप अनलिमिटेड इनकम वेबसाइट मालिकों की सहायता करके प्राप्त कर सकते हैं। प्लस पॉइंट यह है कि आपको इस बिजनेस को चलाने के लिए ऑफलाइन फील्ड में कम ही उतरना पड़ता है।

आप अपने ऑफिस में बैठे बैठे ही ऑनलाइन और ऑफलाइन काम कर सकते हैं और बिजनेस के द्वारा अपने क्लाइंट को यह बता सकते हैं कि उन्हें ऐसा क्या करना चाहिए कि उनकी वेबसाइट तेज गति से विभिन्न सर्च इंजन में रैंक करें।

SEO कंसलटिंग बिजनेस की शुरुआत कैसे करें?

SEO कंसलटिंग बिजनेस की शुरुआत करने के लिए आपको महत्वपूर्ण पहलुओं पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है, ताकि आप अपने बिजनेस को शुरू करने के बाद लगातार सफलता के रास्ते पर आगे लेकर के जा सके। नीचे कुछ महत्वपूर्ण बातों के बारे में आपको बताया जा रहा है, जो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस शुरू करने में आपके लिए सहायक साबित हो सकता है।

1: SEO टेकनिक के बारे में सीखें

SEO कंसलटिंग सर्विस प्रोवाइडर के तौर पर आपका यह काम होता है कि आप अपने कस्टमर की वेबसाइट को एनालाइज करें और उन्हें इस बात की जानकारी प्रदान करें कि वह ऐसा क्या कर सकते हैं जिसकी वजह से सर्च इंजन में उनकी वेबसाइट काफी तेज गति के साथ रैंक करें।

अगर आप वेबसाइट का निर्माण करने में एक्सपर्ट नहीं है ना ही आप सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के एक्सपर्ट है तो ऐसे बहुत सारे ट्रेनिंग कोर्स ऑनलाइन और ऑफलाइन उपलब्ध हैं जिन्हें करके आप इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए आवश्यक जानकारी और कौशल प्राप्त कर सकते हैं।

आप चाहे तो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन एक्सपर्ट को भी अपने लिए काम करने के लिए नौकरी पर रख सकते हैं। हालांकि उसे SEO और वेबसाइट डेवलपमेंट के बारे में अच्छी जानकारी होनी चाहिए।

2: SEO कंसलटिंग सर्विस का सिलेक्शन करें

एक नए स्टार्टअप के तौर पर यह अत्यंत आवश्यक है कि आप अपने उस सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन सर्विस का सिलेक्शन करें जो आप अपने कस्टमर को देने जा रहे हैं।

आप जो भी सर्विस अपने कस्टमर को देने जा रहे हैं वह सर्विस ऐसी होनी चाहिए जिसके बारे में आप को पहले से ही अच्छी जानकारी हो और आपके पास उस सर्विस का कौशल हो। नीचे हम आपको कुछ ऐसी सर्विस के नाम दे रहे हैं जो आप अपने कस्टमर को ऑफर कर सकते हैं।

Seo Audits

इसके अंतर्गत ग्राहक की वेबसाइट के ओन पेज ऑप्टिमाइजेशन का काफी गहराई से विश्लेषण किया जाता है और उसमें क्या-क्या सुधार किए जा सकते हैं इसके बारे में कस्टमर को बताया जाता है।

Redesign guidance

इस काम के तहत आप कस्टमर से यह कह सकते हैं कि आप उनकी वेबसाइट को एक नए डॉक्यूमेंट रणनीति के तहत फिर से रिडिजाइन कर देंगे। अगर कस्टमर के द्वारा हामी भरी जाती है तो आप यह काम कर सकते हैं।

 Content Provider

आज के समय में इंटरनेट पर मौजूद हर बिजनेस को एक एक्टिव वेबसाइट की जरूरत होती है और ऐसा करने के लिए उस पर रोजाना कंटेंट डालना आवश्यक होता है। इसलिए आप क्लाइंट को कंटेंट देने का काम कर सकते हैं। इसके लिए आपको खुद कंटेंट लिखना आना चाहिए या फिर आप बेहतरीन कंटेंट लिखने वाले लोगों को नौकरी पर रख सकते हैं और क्लाइंट को प्रोफेशनल लैंग्वेज में लिखी गई पोस्ट प्रदान कर सकते हैं।

Implementation guidelines

इस सर्विस के अंतर्गत आपको अपने कस्टमर का मार्गदर्शन करना होता है।

SEO strategy development

इस काम के अंतर्गत आपको अपने कस्टमर से उसके बजट के बारे में पूछना होता है और फिर कस्टमर के बजट के हिसाब से ही संपूर्ण SEO

योजना बनाना होता है।

 Keyword Research And Analysis

कीवर्ड रिसर्च ऑन-पेज SEO ऑप्टिमाइज़ेशन प्रोसेस का सबसे महत्वपूर्ण पहलू है। कस्टमर की वेबसाइट की रैंकिंग में सुधार करने के लिए आपको कस्टमर की वेबसाइट के लिए कीवर्ड रिसर्च करना होता है और उसका एनालिसिस करने का काम कीवर्ड रिसर्च एंड एनालिसिस के तहत किया जाता है।

 Software Recommendations

सर्च मार्केटिंग इंडस्ट्री हजारों सॉफ्टवेयर के साथ उपलब्ध है। आपको अपने कस्टमर की सहायता करने के लिए किसी बेस्ट सॉफ्टवेयर के द्वारा कस्टमर की वेबसाइट को ट्रैक करना चाहिए, उसकी वेबसाइट को एनालाइज करना चाहिए ताकि कस्टमर के वेबसाइट के कीवर्ड की रैंकिंग हो सके।

 Link building Services

लिंक बिल्डिंग सर्विस के अंतर्गत आपको अपने कस्टमर की सहायता बेहतरीन लिंक बिल्डिंग प्रोसेस के लिए करनी होती है।

3: SEO कंसलटिंग बिजनेस प्लान बनाएं

किसी भी दूसरे बिजनेस की तरह ही आपको सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस शुरू करने के लिए एक बेहतरीन बिजनेस प्लान बनाने की आवश्यकता होती है।

आपके द्वारा जो बिजनेस प्लान बनाया जाता है, वह आपके बिजनेस के लिए एक रोडमैप की तरह काम करता है, जिससे आपको यह पता चलता है कि आपको अपना बिजनेस किस प्रकार से स्थापित करना है और भविष्य में अपने बिजनेस को सफल बनाने के लिए आपको क्या करना पड़ सकता है।

इसके अलावा बिजनेस प्लान बनाने से आपको यह भी पता चलता है कि आपको कितने फंड की आवश्यकता हो सकती है। नीचे आपके सामने हम कुछ ऐसे बेसिक टॉपिक के बारे में बता रहे हैं जिसे आपको अपने बिजनेस प्लान को बनाने के दरमियान उसमें अवश्य ही शामिल करना चाहिए।

  • स्टार्टअप और लगने वाला फंड।
  • टारगेट कस्टमर।
  • आप कौन सी सर्विस देंगे।
  • सर्विस की कीमत।
  • लोगों को नौकरी पर रखना।
  • आप किस प्रकार से कस्टमर तक पहुंच बनाएंगे।

4: अपने SEO कंसलटिंग बिजनेस का अच्छा नाम रखें

SEO कंसलटिंग बिजनेस का एक अच्छा सा नाम रख कर आप अधिक से अधिक कस्टमर को अपने बिजनेस के प्रति आकर्षित कर सकते हैं। आप अपने इस बिजनेस के लिए जो भी नाम रखें, वह आपकी सर्विस से मिलता-जुलता होना चाहिए।

कोई ऐसा नाम ना रखें जो आपकी सर्विस से बिल्कुल भी मेल ना खाएं। अपने बिजनेस का एक अच्छा नाम रखने के पश्चात आगे चलकर के जब आपका बिजनेस सफल हो जाता है तब आपका बिजनेस सिर्फ बिजनेस नहीं बल्कि ब्रांड बन जाता है।

इसलिए बिजनेस के नाम को रखने में सावधानी रखें। इसके साथ ही साथ आपको ऑनलाइन डोमेन वेबसाइट पर भी यह अवश्य चेक कर लेना चाहिए कि आप अपने बिजनेस का जो नाम रख रहे हैं उसका डोमेन ऑनलाइन वेबसाइट पर उपलब्ध है या नहीं। अगर उपलब्ध है तो आपको तुरंत ही डोमेन की खरीदारी करनी चाहिए।

वरना हो सकता है कि बिजनेस सफल हो जाने के बाद आपके बिजनेस का डोमेन नेम किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा खरीद लिया जाए। यह आवश्यक है कि आप अपने बिजनेस के नाम से ही डोमेन की खरीदारी करें, ताकि कस्टमर आसानी से आपकी सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंपनी को ऑनलाइन और ऑफलाइन पहचान सकें।

5: अपने बिजनेस का पंजीकरण करें

अगर आप बिना किसी दिक्कत के अपने बिजनेस को चलाना चाहते हैं या फिर अपनी कंपनी को रन करना चाहते हैं तो आपको अपने बिजनेस का पंजीकरण जरूर करवा लेना चाहिए। इसके लिए आपको लोकल अथॉरिटी से बातचीत करनी चाहिए ताकि उनके द्वारा आपको इस बात की जानकारी प्राप्त हो सके कि आपको अपने बिजनेस के पंजीकरण के लिए कौन सी पंजीकरण की प्रक्रिया की आवश्यकता होगी।

उदाहरण के तौर पर अगर आप भारत देश में अपना सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस शुरू करते हैं तो आपको ऑनलाइन बिजनेस करने के लिए जीएसटी पंजीकरण करवाना आवश्यक होगा अर्थात आपको जीएसटी लाइसेंस लेना जरूरी होगा। इसके अलावा आपको आप जिस इलाके में अपना बिजनेस कर रहे हैं वहां पर अन्य जो भी लाइसेंस प्राप्त किए जाते हैं उन्हें भी आपको हासिल करना पड़ेगा।

6: लाइसेंस और परमिट हासिल करें

यह भी एक महत्वपूर्ण कानूनी पहलू है जिसके बारे में अवश्य ही आपको विचार करना चाहिए। जिस इलाके में आपके द्वारा अपना सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन बिजनेस संचालित किया जा रहा है, आपको उस इलाके में जो भी आवश्यक लाइसेंस और परमिट प्राप्त करने हैं उन्हें अवश्य ही हासिल करना चाहिए।

इसके लिए आप अपनी जान पहचान के या फिर किसी लोकल वकील से संपर्क स्थापित कर सकते हैं। उनके द्वारा आपको इसके बारे में सारी प्रक्रिया के बारे में जानकारी उपलब्ध करवाई जाती है।

7: कौशल प्राप्त लोगों को हायर करें

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस एक बहुत ही बड़ा क्षेत्र है, जहां पर आपको काफी महत्वपूर्ण बातों पर ध्यान रखने की आवश्यकता होती है।

 एक शुरुआती बिजनेस स्थापक के तौर पर सभी बातों को कवर करना आपके लिए मुश्किल होता है। इसीलिए आपको सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस शुरू करने के लिए कौशल प्राप्त लोगों को नौकरी पर रखने की आवश्यकता होती है।

हालांकि अगर आपके पास बजट कम है तो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन एक्सपर्ट को नौकरी पर रखना एक अच्छा आईडिया नहीं हो सकता है, क्योंकि एक प्रोफेशनल सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन एक्सपर्ट हर घंटे का आप से तकरीबन ₹800 से लेकर के ₹1800 तक का चार्ज वसूल करता है।

जो कि एक स्टार्टअप के लिए काफी बड़ा अमाउंट होता है। इसलिए नए सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन सर्विस कंपनी के लिए आपको अपने बजट के हिसाब से ही काम करना चाहिए।

8: SEO कंसलटिंग बिजनेस का प्रमोशन करें

अपने सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस को प्रमोट करने के लिए आपको एक बेहतरीन लोगों का निर्माण करना चाहिए। आपको तैयार किए गए लोगों को अपने बिजनेस कार्ड, ब्राउचर और मीडिया कीट में प्रिंट करवाना चाहिए।

अगली प्रक्रिया में आपको वेबसाइट का निर्माण करवाने के लिए थोड़ा बहुत इन्वेस्टमेंट करने की आवश्यकता होगी, ताकि आप सरलता से ऑनलाइन अपने कस्टमर तक पहुंच सके। याद रखें कि आपके द्वारा जिस वेबसाइट का निर्माण करवाया जा रहा है वह प्रोफेशनल दिखाई देनी चाहिए।

इसके साथ ही साथ आपकी वेबसाइट में आपके सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन बिजनेस की सभी जानकारी उपलब्ध होनी चाहिए, ताकि कोई भी व्यक्ति जब आपकी वेबसाइट को विजिट करें तब उसे यह पता चल जाए कि आप किस प्रकार की सर्विस अपने बिजनेस के अंतर्गत ऑफर करते हैं और उनकी कीमत क्या होती है।

 आपको अपनी वेबसाइट में अपनी कंपनी की जानकारी, पोर्टफोलियो पेज और संपर्क नंबर की जानकारी भी अवश्य देनी चाहिए। ऐसा करने से अधिक से अधिक कस्टमर आपको मिलने की संभावना होगी।

9: SEO कंसलटिंग बिजनेस की मार्केटिंग करें

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस को सफलता के रास्ते पर आगे ले जाने के लिए आपको इसकी मार्केटिंग पर भी विशेष तौर पर ध्यान देना चाहिए। मार्केटिंग करने के लिए आप व्हाट्सएप का इस्तेमाल कर सकते हैं।

व्हाट्सएप स्टेटस पर आप अपने सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस का विजिटिंग कार्ड अपलोड कर सकते हैं या फिर बिजनेस से संबंधित वीडियो स्टेटस के तौर पर अपलोड कर सकते हैं।

इसके अलावा आप अपने घर के आस-पास या फिर बिजनेस ऑफिस के आसपास किसी व्यस्त चौराहे पर अपने बिजनेस का छोटा सा बैनर या फिर बड़ा बैनर लगा सकते हैं, साथ ही आप छोटे-छोटे पेंपलेट प्रिंट करवा करके भी उसे किसी व्यक्ति के द्वारा लोगों तक पहुंचा सकते हैं।

 साथ ही आप यूट्यूब वीडियो के द्वारा या फिर किसी ब्लॉग के द्वारा भी अपने बिजनेस की मार्केटिंग कर सकते हैं। मार्केटिंग करने से ज्यादा से ज्यादा कस्टमर को आपके बिजनेस के बारे में पता चलेगा जिससे आपके पास कस्टमर आने की संभावना काफी अधिक होगी।

SEO कंसलटिंग बिजनेस में इन्वेस्टमेंट

SEO कंसलटिंग बिजनेस में इन्वेस्टमेंट की बात की जाए तो इन्वेस्टमेंट इस बात पर डिपेंड करता है कि आप कितने बड़े या फिर छोटे लेवल पर इस बिजनेस की शुरुआत कर रहे हैं और बिजनेस की शुरुआत करने के लिए आप कौन-कौन सी चीजों की व्यवस्था कर रहे हैं और आप काम करने के लिए जो कर्मचारी रख रहे हैं उनकी महीने की तनख्वाह कितनी दे रहे हैं।

कुल मिलाकर देखा जाए तो शुरुआती तौर पर आपको इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए ₹30000 से लेकर के ₹35000 की व्यवस्था करनी पड़ेगी।

अगर आप कर्मचारियों को काम पर नहीं रखते हैं तो आप आसानी से 15000 से 18000 में इस बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं। अगर बड़े लेवल पर इस बिजनेस को किया जाता है तो इन्वेस्टमेंट 80000 से लेकर के 120000 के आसपास में हो सकता है।

SEO कंसलटिंग बिजनेस में फायदा

SEO कंसलटिंग बिजनेस में आपको बेहतरीन फायदा प्राप्त हो सकता है, क्योंकि आप इस बात को अच्छी तरह से जानते हैं कि इंटरनेट पर हजारों से लेकर के लाखों ऐसी वेबसाइट है जो कम रैंकिंग की समस्या से परेशान हैं।

 ऐसे में लोग अपनी वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए जब हर संभव प्रयास करने के बाद थक जाते हैं तब वह सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कंसलटिंग बिजनेस की शरण में जाते हैं।

ऐसे में आप अपनी सर्विस उन्हें प्रदान करके बेहतरीन पैसा कमा सकते हैं। अब यह आपके ऊपर डिपेंड करता है कि आप क्लाइंट को कौन सी सर्विस दे रहे हैं और उसके बदले में कितने पैसे चार्ज कर रहे हैं। हालांकि अंदाज के अनुसार इस बिजनेस के द्वारा शुरुआती तौर पर ही आप हर महीने 18000 से लेकर के 25000 की कमाई कर सकेंगे।

आगे बढ़ने पर आपकी महीने की कमाई लाखों में हो जाएगी, क्योंकि हमारे भारत देश में ही वेबसाइट की संख्या 18 लाख से ऊपर है और रोजाना नई वेबसाइट/ ब्लॉग का निर्माण भी हो रहा है। इसलिए इस क्षेत्र में काम की कोई भी कमी नहीं रहेगी। बस एक बार आपको अपने बिजनेस को जमा लेने की आवश्यकता होगी।

SEO कंसलटिंग बिजनेस में जोखिम

इस बिजनेस में जोखिम का प्रतिशत बहुत ही कम होता है, क्योंकि आपका अधिकतर काम ऑनलाइन ही होता है। इसलिए ना तो आपको किसी चीज को स्टोर करने की आवश्यकता होती है ना ही उसकी पैकिंग पर ध्यान देने की जरूरत होती है। हालांकि याद रखें कि यहां पर आप जो भी काम करें उसे 100% सही करें, क्योंकि तभी आप लंबे समय तक इस फील्ड में टिक सकेंगे।

अगर काम खराब किया जाता है तो दोबारा से कस्टमर आपके पास नहीं आएगा। इसलिए कस्टमर के भरोसे पर खरे उतरे और कस्टमर को अपनी तरफ से बेस्ट से बेस्ट सर्विस देने का प्रयास करें, क्योंकि जब आपका क्लाइंट खुश रहेगा तो वह दूसरे क्लाइंट को लेकर के भी आपके पास आएगा या फिर दूसरे क्लाइंट को भी आपकी सर्विस लेने की एडवाइज देगा।

SEO कंसलटिंग बिजनेस में साधन

SEO कंसलटिंग बिजनेस के तहत जब आप अपना ऑफिस स्थापित करते हैं, तो आपको कुछ आवश्यक चीजों की भी आवश्यकता पड़ती है। जैसे कि आपको अपने ऑफिस में दो से 4 कुर्सियों को रखने की आवश्यकता हो सकती है, ताकि आप या फिर आप के कर्मचारी बैठकर काम कर सके।

इसके अलावा आपको 1 से 3 कंप्यूटर अथवा लैपटॉप की जरूरत पड़ेगी, साथ ही 2 से 3 मेज की आवश्यकता होगी, साथ ही आपको स्टेशनरी के सामान की भी जरूरत होगी।

इसके अलावा आपके पास अपना पोर्टफोलियो भी होना चाहिए, ताकि कस्टमर को आप यह दिखा सके कि कौन सी सर्विस आप ऑफर करते हैं, साथ ही ऑफिस में इनवर्टर, यूपीएस और अन्य दूसरे साधन भी उपलब्ध होने चाहिए, ताकि पावर कट की अवस्था में भी आपका काम चलता रहे। इसके अलावा ब्रॉडबैंड कनेक्शन की भी जरूरत आपको पड़ेगी।

क्या SEO कंसलटिंग बिजनेस फायदेमंद है?

आप आसानी से इस प्रकार के बिजनेस को अपने घर पर या फिर दुनिया में किसी भी जगह से इंटरनेट कनेक्शन के द्वारा ऑपरेट कर सकते हैं। इस प्रकार का बिजनेस शुरू करने में जो इन्वेस्टमेंट आता है वह काफी कम ही होता है। हालांकि इन्वेस्टमेंट तब बढ़ सकता है जब आप इस बिजनेस को बड़े लेवल पर करते हैं।

आप इस प्रकार के बिजनेस के द्वारा कमाई करने के साथ ही साथ अधिक कमाई करने के लिए एडिशनल सर्विस प्रदान कर सकते हैं। जैसे की वेबसाइट का निर्माण करना या फिर वेबसाइट की डिजाइनिंग करना।

बता दें कि यह बिजनेस परफॉर्मेंस के ऊपर आधारित सर्विस बिजनेस है। इसलिए आपको अपने क्लाइंट के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित होना पड़ेगा और उन्हें हर प्रकार से संतुष्ट करने का प्रयास करना पड़ेगा। आपको यह भी पता करना पड़ेगा कि आखिर आपके कस्टमर आप से क्या उम्मीद करते हैं।

FAQ:

Q: SEO कंसलटिंग बिजनेस के लिए क्या चाहिए?

ANS: आपको सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन मेथड की अच्छी जानकारी होनी चाहिए।

Q: SEO एक्सपर्ट कैसे बने? एक्सपर्ट कैसे बने?

ANS: SEO टेक्निक आप यूट्यूब के द्वारा या फिर ब्लॉग के द्वारा सीख सकते हैं। इसके अलावा आप सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन से संबंधित कोर्स भी कर सकते हैं।

Q: SEO का फुल फॉर्म क्या है?

ANS: Search engine optimization

होम पेज यहाँ क्लिक करें

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment