Business Loan : शिशु मुद्रा लोन योजना के तहत लॉकडाउन में पाए 2 % की ब्याज छूट

शिशु मुद्रा लोन योजना, कैसे पाएं, ऑनलाइन अप्लाई, सब्सिडी, ब्याज दर 2020 (Shishu Mudra Loan, Yojana, Lockdown, Documents, Amount, Interest Rate, Detail in Hindi)

यदि आप किसी सूक्ष्म या छोटे व्यवसाय के साथ जुड़े हुए हैं और आपको कोई व्यवसाय शुरू करना हैं तो आपके लिए केंद्र सरकार प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना चला रही हैं, जिससे आपको कुछ श्रेणी के आधार पर लोन प्रदान किया जाता हैं. ये श्रेणी शिशु, किशोर एवं तरुण श्रेणी है. यदि आप प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना की शिशु श्रेणी में आते हैं तो आपके लिए एक और बड़ी खुशखबरी हैं. केंद्र सरकार द्वारा हालही में शिशु मुद्रा लोन के लिए आवेदन करने वाले लाभार्थियों को 2 % ब्याज में छूट देने का फैसला कर लिया है. जोकि 1 साल के लिए होगा. मुद्रा शिशु लोन योजना क्या हैं और कैसे इसके तहत दी जाने वाली ब्याज में छूट का फायदा आपको मिलेगा. इसकी जानकारी आपको हमारे इस लेख से मिल जाएगी.

shishu mudra loan yojana

शिशु मुद्रा लोन योजना क्या है

ऐसे छोटे या सूक्ष्म व्यापारी जोकि अपना कोई नया व्यवसाय शुरू करने के लिए बैंक से लोन लेना चाहते हैं, तो वे शिशु मुद्रा लोन योजना के तहत 50 हजार रूपये तक की सीमा का लोन प्राप्त करने के लिए सक्षम होते हैं. यह योजना प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना का ही एक हिस्सा है. खास बात यह है कि यह लोन उन्हें बिना किसी गारंटी के प्राप्त हो जाता है. इस मुद्रा लोन योजना को केंद्र सरकार द्वारा साल 2015 के अप्रैल महीने में शुरू किया गया था, जिसका मुख्य उद्देश्य छोटे कारोबारियों की उनका व्यवसाय शुरू करने में मदद करना था. इस योजना में कुछ चयनित बैंकों द्वारा लोन की राशि प्रदान की जाती हैं. इसमें शामिल होने वाले बैंकों में ग्रामीण बैंक, सरकारी बैंक, सहकारी बैंक एवं प्राइवेट बैंक आदि हैं.  

भारत में 2020 में लघु उद्योग के लिए सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

शिशु मुद्रा लोन के लिए दी जाने वाली ब्याज छूट

कुछ दिन पहले कोरोना वायरस संकट को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी जी ने आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था, जो कि कुल 20 लाख करोड़ रूपये का था. इस पैकेज में क्या – क्या सुविधा देश के विभिन्न सेक्टर्स को दी जा रही हैं इसकी जानकारी वित्त मंत्री जी द्वारा प्रेस कांफेरांस के जरिये दी जा रही हैं. वित्त मंत्री जी के आर्थिक पैकेज की घोषणा के दूसरे चरण में शिशु मुद्रा लोन पर ब्याज में 2 % की छूट देने का फैसला किया गया है. यह पैसे केंद्र सरकार द्वारा बैंकों को प्रदान किये जायेंगे. आपको बता दें वर्तमान में करीब 10 से 11 % तक की ब्याज दर से बैंक व्यापारियों को लोन दे रहा है. हालांकि अलग – अलग तरह के बैंक द्वारा अलग – अलग ब्याज दर पर लोन दिया जा सकता है. किन्तु सरकार निश्चित दर में 2 % की छूट देने जा रही हैं. सरकार द्वारा दी जाने वाली यह सुविधा एक साल के लिए मान्य है. केंद्र सरकार का कहना है कि इस राहत का लाभ देश के कम से कम 3 करोड़ लोग उठा सकते हैं. साथ ही ब्याज पर 2 % की छूट देने से जो भी खर्च आयेगा, उसका वहन केंद्र सरकार द्वारा किया जायेगा. ये कम से कम 1500 करोड़ रूपये है.

मुद्रा लोन योजना में अन्य तरह के लोन

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना में 3 श्रेणी के आधार पर लोन लाभार्थियों को दिए जाते हैं.

शिशु मुद्रा लोन :- इसमें लाभार्थी 50 हजार रूपये तक का लोन लेने के लिए पात्र होता है.

किशोर मुद्रा लोन :- इसमें लाभार्थी 50 हजार रूपये से लेकर 5 लाख रूपये तक लोन ले सकता है.

तरुण मुद्रा लोन :- मुद्रा लोन की इस श्रेणी में लाभार्थी को 5 लाख रूपये से लेकर 10 लाख रूपये तक के लोन लेने की सुविधा मिलती हैं.

एमएसएमई क्या हैं एवं इसके तहत उद्योगों के लिए रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

शिशु मुद्रा लोन लेने के लिए पात्रता मापदंड

छोटे कारोबारी :- इस योजना का लाभ केवल छोटे स्तर पर काम करने वाले व्यापारियों को ही दिए जाने का निर्णय सरकार द्वारा किया गया है. जैसे कि पशु पालन, मछली पालन, मधुमक्खी पालन और कृषि कार्य करने वाले छोटे कारोबारी इसके लिए पात्र हैं. इसके अलावा ऐसे लोग जोकि कोई कलाकार, छोटे – मोटे मैन्युफैक्चरर, दूकानदार यहाँ तक कि फल और सब्जी बेचने वाले लोग भी इसमें शामिल हो सकते हैं. 

स्वरोजगार वाले व्यक्ति :- इस योजना के लिए लोन लेने के लिए वे लोग पात्र होंगे, जोकि स्वयं का रोजगार शुरू करना चाहते हैं.

शिशु मुद्रा लोन लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज

पहचान प्रमाण पत्र :- इस योजना के लाभार्थी आवेदकों को लोन लेने के लिए अपनी पहचान स्वरुप आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड या पासपोर्ट में से कोई भी एक दस्तावेज की आवश्यक पड़ सकती है.

पते का प्रमाण :- आवेदकों को लोन पाने के लिए अपने घर के पते के साथ ही उन्हें जिस स्थान पर व्यापार शुरू करना है, वहां के पते का प्रमाण देना आवश्यक है.

जाति प्रमाण पत्र :- लोन के लिए आवेदन करने वाला व्यक्ति किस जाति का हैं, यह प्रमाणित करने के लिए आवेदकों के पास उनका जाति प्रमाण पत्र होना भी आवश्यक है.

व्यापार की प्रोजेक्ट रिपोर्ट :- आपको अपने व्यापार की एक रूपरेखा तैयार करनी होगी, और उसकी एक रिपोर्ट आपको लोन के लिए आवेदन करते समय बैंक में जमा करनी होगी. ताकि बैंक उसके आधार पर ही आपको लोन प्रदान कर सके. 

पासपोर्ट आकार की फोटोग्राफ :- आवेदकों को अपने लोन के लिए भरे जाने वाले आवेदन फॉर्म में पासपोर्ट आकार की फोटोग्राफ लगाना भी जरुरी है.

भारत सरकार द्वारा किसी व्यवसाय को शुरू करने के लिए कौन – कौन से लोन प्रदान किये जाते हैं जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

शिशु मुद्रा लोन के लिए आवेदन कैसे करें

यदि आप किसी व्यवसाय को शुरू करने के लिए पैसा लगाना चाहते हैं और यह पैसा आपके पास नहीं हैं, तो आप मुद्रा लोन देने वाले बैंक से सम्पर्क करते हुए लोन लेकर पैसे प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए आवेदन करने की प्रक्रिया यहाँ हम प्रदर्शित कर रहे हैं.

ऑनलाइन आवेदन :- यदि आप इस लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन करना के बारे में सोच रहे हैं तो इसके लिए निम्न प्रक्रिया को अपनाएं –

सबसे पहले आवेदकों को मुद्रा लोन योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.

यहाँ पहुँचने के बाद आपको सबसे नीचे लोन की श्रेणियां नजर आयेगी, जिसमें से आपको शिशु मुद्रा लोन श्रेणी वाली लिंक पर क्लिक करना होगा.

इसके बाद आपके सामने ‘एप्लीकेशन फॉर्म फॉर शिशु लोन’ लिखा हुआ दिखाई देगा. उसके सामने आपको एक डाउनलोड की बटन दिखाई देगी. उस पर क्लिक करके आप इसका फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं.

फॉर्म डाउनलोड करने के बाद उसका प्रिंट निकाल लें और इसमें पूछी जाने वाली सभी जनकारी भरकर और सभी जरुरी दस्तावेजों को उसमें अटैच कर दें.

आपने अपने फॉर्म में जिस बैंक से आपको लोन लेना हैं उसका नाम दिया होगा आप उसी बैंक की ब्रांच में जाकर ये फॉर्म जमा कर दें.

इसके बाद उस बैंक द्वारा आपके फॉर्म में दी गई जानकारी एवं दस्तावेजों की जाँच की जाएगी. और उसके बाद बैंक आपके लोन के आवेदन को स्वीकृति दे देगा. और आपको लोन की प्राप्ति हो जाएगी.

ऑफलाइन आवेदन :- यदि आप ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आपको सीधे उस बैंक की ब्रांच में जाना होगा जहाँ से आपको लोन लेना हैं. वहां पर आपको इससे संबंधित एक फॉर्म प्राप्त होगा उसे भरकर मांगे जाने वाले सभी दस्तावेजों को उसमें अटैच कर दें. और इसे उसी बैंक में जाकर जमा कर दें. आपके फॉर्म एवं दस्तावेजों के सत्यापन के बाद आपको लोन मिल जायेगा.

इस तरह से स्वयं का रोजगार शुरू करने वाले लोगों को अब पैसों की चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है. क्योंकि अब सरकार आपको बहुत कम ब्याज दर के साथ बिना गारंटी के लोन प्रदान कर रही है. जिससे आप अपना खुद का व्यवसाय आसानी से शुरू कर सकते हैं. 

एफएक्यू‘स (FAQ’s)

Q : शिशु मुद्रा लोन क्या है ?

Ans : शिशु मुद्रा लोन प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के तरह शिशु श्रेणी के अंतर्गत छोटे व्यापारियों को दिया जाने वाला लोन है जिसके तहत लाभार्थी 50 हजार रूपये तक का लोन लेने के लिए सक्षम होते हैं.

Q : कौन ले सकता हैं शिशु मुद्रा लोन ?

Ans : शिशु मुद्रा लोन लेने छोटे – मोटे मैन्युफैक्चरर, दूकानदार, सब्जी एवं फल बेचने वाले या फिर पशु पालन करने वाले कोई भी छोटे व्यापारी लेने के लिए पात्र होते हैं.

Q : शिशु मुद्रा लोन कैसे मिलेगा ?

Ans : शिशु मुद्रा लोन के लिए आवेदक चयनित किये गए किसी भी बैंक की ब्रांच में जाकर आवेदन कर सकते हैं. या मुद्रा लोन की अधिकाकारिक वेबसाइट  पर जाकर भी लोन के लिए आवेदन किया जा सकता है.

Q : शिशु मुद्रा लोन कौन – कौन से बैंक देते हैं ?

Ans : शिशु मुद्रा लोन किसी भी ग्रामीण, सरकारी, सहकारी या निजी बैंक से लिया जा सकता हैं.

Q : शिशु मुद्रा लोन में ब्याज दर कितनी हैं ?

Ans : शिशु मुद्रा लोन के लिए आवेदकों को 10 से 11 % की ब्याज दर से लोन मिलता है जिसमें अभी केंद्र सरकार द्वारा 1 साल के लिए 2 % की छूट दी जा रही हैं.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *