Sunday , November 18 2018

सिल्वर पेपर बनाने का व्यापार कैसे स्थापित करें | How to start silver paper making business in hindi

सिल्वर पेपर रोल बनाने का व्यापार कैसे स्थापित करें | How to start silver paper Role making business Plan in hindi

तात्कालिक समय में विभिन्न स्थानों पर कई तरह के होटल खोले जा रहे है. बड़े बड़े लॉज में विवाह,रिसेप्शन, जन्म दिवस आदि को मनाया जाने लगा है. पार्टी मनाने वालो स्थान पर देखा जाता है कि खाना खाने के लिए सिल्वर पेपर से बनी थाली का पर्योग किया जाता है. अतः इसका व्यापार इन दिनों काफ़ी लाभ दायक है.

सिल्वर पेपर व्यापार बनाने के लिए कच्चा माल (silver paper raw material)

सिल्वर पेपर व्यापार के लिए आवश्यक कच्चा माल इस प्रकार है.

कच्चे माल में ब्राउन पेपर जिसकी कीमत रू 1000, सिल्वर पेपर की क़ीमत रू 38 प्रति किलोग्राम एवं चिपाकने के लिए गम का प्रयोग (रू 200 प्रति लिटर) किया जाता है.

कच्चा माल कहाँ से खरीदे  (where to buy raw materials) : कच्चे माल को खरीदने हेतु आप निम्नलिखित लिंक पर विजिट करके प्राप्त ले.

  • https://dir.indiamart.com/impcat/silver-paper-roll.html

सिल्वर पेपर मशीन (silver paper making machine)

इस व्यापार के लिए प्रयोग की जाने वाली मशीन पूर्ण रूप से स्वचालित होती है.

कहाँ से खरीदे (where to buy silver paper machine) 

http://www.khalsaengineeringworks.co.in/silver-paper-plate-lamination-machine.html#silver-paper-plate-lamination-machine

silver paper

सिल्वर पेपर मशीन की कीमत (silver paper making machine price)

आपको इस मशीन को लगाने के लगभग कीमत 1.25 लाख रूपए जमा कर खरीदनी पड़ती है.  इस मशीन की सहायता से 10 घंटे कार्य करने करीबन 1500 किलोग्राम तक सिल्वर पेपर बनाया जा सकता है.

सिल्वर पेपर मेकिंग व्यापार से लाभ (silver paper business profit)

इस व्यापार में 1 किलोग्राम सिल्वर प्लेट पेपर पर कम से कम 2 से 3 रूपये का लाभ प्राप्त होता है. अतः यदि प्रति दिन 10 घंटे का कार्य करके 1500 किलोग्राम उत्पादन किया जाता है, तो प्रतिदिन लगभग 4000 रूपए का मुनाफा होना सुनिश्चित हो जाता है. यदि महीने के सभी अन्य खर्चे निकाल दिए जाए. तो प्रति महीने लगभग 60,000 रू का मुनाफा प्राप्त कर लेना संभव है.

सिल्वर पेपर बनाने की प्रक्रिया (silver paper manufacturing process in hindi)

मशीन के ऑटोमेटिक होने की वजह से सिल्वर पेपर बनाने की प्रक्रिया बहुत सरल हो जाती है.

  1. सबसे पहले ब्राउन पेपर रोल को इस मशीन में ऐसे लगाया जाता है कि पेपर कहीं से मुड़ अथवा फट न जाए.
  2. इस मशीन के ऊपर से सिल्वर फॉयल का रोल जुड़ा हुआ होता है. इस फॉयल को भी मशीन की उसी हिस्से में लगाया जाता है, जहाँ पर ब्राउन पेपर का रोल लगा होता है.
  3. दोनों पेपर कुछ इस तरह से लगे हुए होते हैं, कि बाहर निकलने के बाद एक दूसरे से पूरी तरह से चिपके हुए हों.
  4. इसके उपरान्त मशीन के उस हिस्से में जहाँ पर दोनों पेपर आपस में मिलते हैं, वहाँ पानी मिश्रित गोंद डाली जाती है, ताकि ये दोनों पेपर एक दूसरे से चिपक सके.
  5. मशीन के चलाने के साथ ही एक तरफ से सिल्वर पेपर और दूसरी तरफ से ब्राउन पेपर आ कर चिपकने लगता है और प्लेट के लिए आवश्यक पेपर का निर्माण होने लगता है.
  6. इसके बाद इस बने हुए पेपर का प्रयोग आप विभिन्न पत्रावली बनाने के लिए कर सकते हैं.

पेपर व्यापार के लिए आवाश्यक स्थान (place for silver paper business)

इस व्यापार के लिए  मध्यम आकार की मशीन की लगानी होती है, जिसे 100 से 150 स्क्वायर फीट स्थान की आवश्यकता पड़ेगी ताकि मशीन को बिना किसी अवरोध के चलाया जा सके. हालांकि इसमें प्रयोग होने वाले सिल्वर पेपर और ब्राउन पेपर को रखने के लिए तथा बनने के बाद प्रोडक्ट को रखने के लिए भी जगह की आवश्यकता होती है. अतः यदि आपके पास 250 वर्ग फीट का स्थान इस व्यापार को आरम्भ करने के लिए बेहतर है. व्यापार की जगह का चुनाव वहां गाड़ियों के आयात निर्यात में सुविधाओ को देखते हुए करें.

सिल्वर पेपर पैकेजिंग कैसे करें (packing silver paper)

आपको पैकेजिंग की आवश्यकता केवल अपने प्रोडक्ट के संरक्षण के लिए पड़ती है, क्योंकि इस प्रोडक्ट की मार्केटिंग किसी भी तरह से इसकी पैकेजिंग के ऊपर निर्भर नही करती. इसकी पैकिंग में साधारण पॉलिथीन का भी इस्तेमाल हो सकता है. इन पैकेट्स में आप चाहें तो आप से जुड़ने की जानकारियाँ देकर प्रचार भी कर सकते है.

सिल्वर पेपर मार्केटिंग कैसे करें (silver paper marketing) 

इस वस्तु की मार्केटिंग पूरी तरह से उस बाज़ार पर निर्भर करती है, जहाँ से लोग शादी विवाह आदि समारोहों के लिए किये जाने वाले भोज के लिए चीज़े खरीदते हैं. आप इन बजारो में अपना प्रोडक्ट बेच सकते है. इसके अतिरिक्त आप चाहें तो अपना यह प्रोडक्ट होलसेल के तौर पर भी बेच सकते हैं.

सिल्वर पेपर बनाने के लिए लाइसेंस (license for silver paper making business)

लाइसेंस की आवश्यकता तो इस व्यापार में पड़ती है. ताकि आपके प्रोडक्ट के लिए लोगों की विश्वसनीयता बनी रहे. आप चाहें तो अपने व्यापार स्थान का पंजीकरण भारत सरकार के एमएसएमई के ज़रिये भी आधार कार्ड के माध्यम से कर सकते हैं.

अन्य पढ़े:

One comment

  1. I need this business

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *