Home कृषि एवं फार्मिंग Agriculture Business : स्ट्रॉबेरी की खेती दे सकती हैं प्रति एकड़ लाखों...

Agriculture Business : स्ट्रॉबेरी की खेती दे सकती हैं प्रति एकड़ लाखों कमाने का मौका, जानें पूरी प्रक्रिया

स्ट्रॉबेरी की खेती कैसे करें, कहाँ होती हैं, कैसे करते हैं तरीका, बीज कहाँ मिलेंगे, कमाई (Strawberry Farming in Hindi) (Profit, Temperature, Cost, Investment, Risk)

स्ट्रॉबेरी खाने में भी टेस्टी होती है और अनेक आइसक्रीम में भी स्ट्रॉबेरी का फ्लेवर दिया जाता है. स्ट्रॉबेरी फल बहुत नरम और बहुत ही स्वादिष्ट होता है. यह ठंडे इलाके में होने वाला फल है, लेकिन आज अनेक तकनिकी सुविधाओं की मदद से इसे किसी भी क्षेत्र में लगाया जा सकता है. स्ट्रॉबेरी की खेती आज मुनाफे वाली खेतियों में शामिल की गई है. यह पोली हाउस की मदद से और उसके बिना भी की जाने वाली खेती है. आज हम इस आर्टिकल में आपको स्ट्रॉबेरी की खेती कैसे करें, इसके करने में कितनी लागत आ सकती है और इससे प्रॉफिट कैसे कमाया जाता है. यानि स्ट्रॉबेरी की खेती से जुड़ी सभी जानकारियां हम इस आर्टिकल में शामिल करने वाले हैं. ताकि आपको किसी भी तरह का कन्फ्यूजन ना हो. आइये पढ़ते हैं स्ट्रॉबेरी क्या है और इसकी खेती कैसे करें –

strawberry ki kheti

स्ट्रॉबेरी के बारें में जानकारी

स्ट्रॉबेरी की खेती करने के बारें में जानने से पहले हमें यह जानना जरूरी है की इसकी कितनी किस्में मौजूद है और सबसे अच्छी किस्म कौनसी है. अगर बात करें स्ट्रॉबेरी की किस्मों की तो अभी तक इसकी 600 प्रजातियों की पहचान हो चुकी है. लेकिन मुख्यत: खेती के लिए उपयोग में ली जाने वाली प्रजातियान कुछ ही है. जिनके बारें में हम आगे बता रहे हैं.

स्ट्रॉबेरी की प्रजातियाँ

हम यहाँ पर स्ट्रॉबेरी की 4 मुख्य प्रजातियों की बात करने वाले हैं, यह प्रजातियाँ आप खेतों में उपयोग कर सकते हैं. अगर आप स्ट्रॉबेरी की खेती करने के बारें में सोच रहे हैं तो इन प्रजातियों में से कोई भी एक प्रजाति के पौधे अपने खेत में लगा सकते हैं. यह प्रजातियाँ इस प्रकार है –

  1. कैमारोज – यह केलिफोर्निया में बनाई गई किस्म है, यह बहुत जल्दी फल देने वाली स्ट्रॉबेरी की प्रजातियों में से एक है. इसके फल काफी ठोस और स्वाद में बहुत अच्छे होते हैं. इस प्रजाति के पौधे लम्बे समय तक जीवित रहते हैं.
  2. ओसो ग्रैंड – यह भी केलिफोर्निया में बनाई गई किस्म है, इसके फल काफी बड़े होते है लेकिन यह फल ज्यादा दिन सरवाईव नहीं करते हैं. लेकिन कम समय में ज्यादा फल अगर चाहिए तो आप इस किस्म का स्ट्रॉबेरी पौधा लगा सकते हैं.
  3. ओफरा – यह इजराईल में बनाई गई किस्म है, इसकी खेती आप समय से पहले कर सकते है यानि यह अगेती खेती करने वाली किस्म है. इसके फल और महक शानदार होती है.
  4. चैंडलर – अगर आप खूब मीठा और अच्छा फल चाहते है तो इस प्रजाति के स्ट्रॉबेरी के पौधे खोजें. यह पौधे रोग प्रतिरोधक होते हैं और काफी समय तक फल देने वाले पौधों में सुमार है. इस प्रजाति के पौधे केलिफोर्निया में सबसे ज्यादा उगाये जाते हैं.

स्ट्रॉबेरी की खेती भारत में कैसे करें     

स्ट्रॉबेरी की खेती मुखत: हिमाचल जैसे ठंडे इलाकें में की जाती है. लेकिन आज समय और तकीनीकी काफी बदल गई है अब आप भारत के किसी भी क्षेत्र में इसकी खेती कर सकते हैं. हाँ स्ट्रॉबेरी की खेती करने के लिए आपको काफी मेहनत और काफी बातों का ख्याल रखना पड़ेगा. अन्यथा यह बिजनेश आपके लिए रिस्की बन सकता है. आगे हम बताने वाले हैं की स्ट्रॉबेरी की खेती करने के लिए हमें क्या करना होगा.

खेत की मिट्टी का टेस्ट करवाएं

स्ट्रॉबेरी की खेती करने के लिए सबसे उपयुक्त है अपने खेत की मिट्टी का टेस्ट करवाना, क्योंकि हमें यह पता होना चाहिए की जो पौधे हम लगाने के लिए ला रहे हैं वो आपके खेत में लगेंगे या नहीं. इसके लिए आपको मिट्टी की जांच करने वालों से संपर्क करना होगा और अपने खेत की मिट्टी की जांच करवानी होगी. स्ट्रॉबेरी की खेती करने के लिए तापमान 18 से 30 होना बहुत आवश्यक है.

स्ट्रॉबेरी की खेती के लिए PH 5.0 से PH 6.5 वाली मिट्टी अच्छी मानी जाती है, अगर आपके खेत की मिट्टी अपना टेस्ट पूरा करती है तो आप स्ट्रॉबेरी की खेती आसानी से कर सकते हैं. इसके साथ अगर खेत में बलुई दोमट मिट्टी है तो आपके खेत में स्ट्रॉबेरी की उपज दोगुनी हो जायेगी.

स्ट्रॉबेरी की खेती में लागत कितनी आती है और प्रॉफिट कितना है

अगर हम बात करें की स्ट्रॉबेरी की खेती करने में लागत कितनी आएगी तो कुल-मिलाकर एक  एकड़ में आपको तीन से चार लाख रूपए की लागत आ सकती है. इसमें पौधे का रेट, सिंचाई, पोली हाउस और कीटनाशक भी शामिल है. अगर आप एक एकड़ में इसकी खेती करते हैं तो आपको इससे करीब 15 लाख रूपए तक की पैदावर मिल सकती है.

स्ट्रॉबेरी के पौधे कहाँ से खरीद सकते हैं

भारत में स्ट्रॉबेरी के पौधे आपको हिमाचल, उतराखंड और पंजाब में आसानी से मिल जायेंगे.

स्ट्रॉबेरी के पौधे कब लगाने चाहिए

अगर आप स्ट्रॉबेरी की खेती करना चाहते हैं तो आप 10 सितंबर से 15 अक्टूबर तक स्ट्रॉबेरी के पौधे अपने खेत में लगा सकते हैं. यह बहुत परफेक्ट समय स्ट्रॉबेरी के पौधे लगाने का.

स्ट्रॉबेरी के पौधे लगाने से पहले खेत में तैयारी

स्ट्रॉबेरी के पौधे खेत में लगाने से पहले आपको अपने खेत को ऐसे तैयार करना है –

  • सितंबर के पहले हफ्ते ही खेत में तीन बार अच्छे से जुताई करनी चाहिए.
  • एक एकड़ खेत है तो उसमे 75 टन तक अच्छी सड़ी हुई खाद डालनी चाहिए.
  • पोटाश और फोस्फोरस मिट्टी के अनुसार मिला सकते हैं.

स्ट्रॉबेरी की खेती के लिए खेत में क्यारियां कैसी होनी चाहिए

  • जमीन से 25 – 30 सेंटीमीटर ऊँची उठी हुई होनी चाहिए.
  • इनकी चोड़ाई 100 से 130 सेंटीमीटर होनी चाहिए.
  • दो क्यारियों के बिच 40 से 60 सेंटीमीटर का गैप होना चाहिए.
  • टपक सिंचाई यन्त्र स्थापित करने के लिए सही से जगह बनानी चाहिए.

स्ट्रॉबेरी की सिंचाई कैसे करनी चाहिए

अगर आपने स्ट्रॉबेरी के पौधे लगा लिए है और उनकी सिंचाई आप सही से नहीं कर रहे हैं तो आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. इसलिए आपको सिंचाई की सही विधि यानि इस तरह सिंचाई करनी चाहिए जैसे –

  • पौधे लगाने के तुरंत बाद सिंचाई करनी चाहिये.
  • नमी को ध्यान में रखते हुए समय-समय पर सिंचाई करनी चाहिए.
  • जब स्ट्रॉबेरी के फल आने लगे तब सूक्ष्म फव्वारे की मदद से सिंचाई करें.
  • जब फल आ जाए तो टपक सिंचाई विधि का उपयोग करें.

स्ट्रॉबेरी के पौधों को रोगों से कैसे बचाएं

स्ट्रॉबेरी को अनेक तरह के रोग जैसे – पती सपाट, खस्ता फफूंदी, पत्ता ब्लाईट एंव सड़न जैसे रोग हो सकते है. इसलिए रोग की सही पहचान करके कृषि वैज्ञानिक की सलाह से कीटनाशक का छिड़काव करें.

पोली हाउस नहीं है तो स्ट्रॉबेरी के पौधों को सर्दी से कैसे बचाएं

जैसा की हमने उपर बताया है स्ट्रॉबेरी की खेती पोली हाउस और बिना पोली हाउस के भी की जा सकती है. अगर पोली हाउस पहले से बना हुआ है तो पौधों को सर्दी यानि पाला लगने के चांस बहुत कम है. लेकिन अगर नहीं है तो पाले से बचाव के लिए आपको प्लास्टिक लो टनल का उपयोग करना चाहिए. यह प्लास्टिक पारदर्शी होनी चाहिए और 100 से 200 माइक्रोन वाली होनी चाहिए.

स्ट्रॉबेरी की खेती पर सरकार कितनी मदद करती है

जैसा की आज भारत सरकार खेती को आगे बढाने के लिए किसानो को प्रोत्साहित कर रही है. अगर आप स्ट्रॉबेरी की खेती करते हैं तो अपने राज्य के कृषि विभाग में जाकर जानकारी ले सकते हैं. लगभग सभी राज्यों में सरकार 40 से 60 प्रतिशत तक का अनुदान देती है. ज्यादा जानकारी के लिए कृषि विभाग में संपर्क करें.

स्ट्रॉबेरी फल की तुड़ाई कब करनी चाहिए

स्ट्रॉबेरी का पौधा 6-7 महीने तक लगातार फल देता है. आप एक मौसम में एक पौधे से करीब 700 से 800 ग्राम स्ट्रॉबेरी प्राप्त कर सकते हैं. अब बात करते हैं की इसे तोड़ने की सही विधि क्या है –

  • फल पूरी तरह से लाल होने लग जाए उस समय आप फल को तोड़ सकते हैं.
  • अगर आप बहुत दूर भेजते हैं तो इसे लाल होने से पहले भी तोड़ सकते हैं.
  • अगर आप पूरी तरह से लाल हुआ फल तोड़ते हैं तो वह आपके लिए काफी अच्छा होगा लेकिन यह पूरी तरह से लाल होने के बाद बहुत जल्दी खत्म हो जाता है.
  • एक साथ फल ना तोड़ें.
  • फलों वाली दंडी को काटना चाहिए, भूलकर भी फलों को हाथ ना लगायें.

स्ट्रॉबेरी के फल की पैकिंग कैसी होनी चाहिए

स्ट्रॉबेरी को सही से रखने के लिए आपको इसे प्लास्टिक की प्लेट में पैकिंग करना चाहिए. उनमे हवा जाने के लिए भी छिद्र होने चाहिए. ताकि तापमान कंट्रोल किया जा सके. अगर आप स्ट्रॉबेरी को एक साथ स्टोर कर रहे हो तो एक दिन तापमान 5 डिग्री सेल्सियस रखना होगा और एक दिन 0 डिग्री सेल्सियस.

स्ट्रॉबेरी का फल हम कहां-कहां बेच सकते हैं और किस भाव में

हर साल, हर महीने स्ट्रॉबेरी के भाव बढ़ते जा रहे हैं, पहले यह 200 रूपए किलो के भाव से बिकते थे लेकिन अब यह 600 रूपए तक हो गये हैं. लेकिन अगर आप खेती कर रहे हैं तो इन्हें आप आसानी से 300 रूपए तक बेच सकते हैं.

आपको खरीददार खोजने की जरूरत नहीं है जैसे ही फल शुरू होंगे आपके पास खरीददार भी आ जायेंगे. अगर खरीददार नहीं आते हैं तो आप अपनी लोकल मार्किट में भी इन्हें आसानी से बेच सकते हैं. यह काफी ज्यादा बिकने वाला फल है और इसके स्वास्थ्य लाभ भी बहुत अधिक है.

स्ट्रॉबेरी की खेती में रिस्क कितना है

किसी भी व्यापार में रिस्क तो जरुर होता है, लेकिन अगर मैं बात करूं स्ट्रॉबेरी की खेती में कितना रिस्क है तो यह आपके उपर निर्भर करता है की आप यह खेती किस तरह से करेंगे. अगर आपको कम रिस्क में यह खेती करनी है तो आप सरकार की मदद ले सकते हैं. क्योंकि अनेक तरह के बीमा इत्यादि कृषि विभाग आपको देंगे. वही अगर आपको इससे प्रॉफिट होगा तो आप मात्र 3 से 5 लाख रूपए लगाकर 12 से 15 लाख रूपए कमा सकते हैं.

अगर आप खेती को अपना बिजनेस बनाना चाहते हैं तो आपको स्ट्रॉबेरी की खेती जरुर करनी चाहिए. हमने यह खेती कैसे होती है इसकी जानकारी आपको यहाँ इस आर्टिकल में दी है. अगर आपको इस खेती से जुड़ी कोई और जानकारी चाहिए तो आप यहाँ कमेंट कर सकते हैं. हम जल्द ही आपके सवालों का जवाब देंगे.

FAQ

Q : स्ट्रॉबेरी का पौधा हमें कितने रूपए का मिलता है ?

Ans : 3 से 15 रूपए प्रति पौधे के देने होंगे.

Q : स्ट्रॉबेरी की खेती कितने महीनो तक चलती है ?

Ans : 7 से 8 महीने तक.

Q : इसकी खेती के लिए कितनी जमीन होनी चाहिए ?

Ans : आप जितनी चाहो उतनी भूमि पर इसकी खेती कर सकते हैं, मात्र 15 पौधों से भी अपना बिज़नस शुरू कर सकते हैं.

Q : भारत में इसकी खेती कहाँ-कहाँ होती है ?

Ans : उत्तराखण्ड, हिमाचल प्रदेश, कश्मीर घाटी, महाराष्ट्र, कालिम्पोंग, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, बिहार आदि राज्यों में इसकी खेती की जाने लगी है.

Q : एक एकड़ में खेती करने के बाद हम कितना कमा सकते हैं ?

Ans : 10 से 12 लाख रूपए आसानी से कमाए जा सकते हैं.

Q : स्ट्रॉबेरी की खेती कब तक चलती है ?

Ans : करीब 7 महीने सितंबर से अप्रेल तक चलती है.

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

New Business : ये व्यापार बना सकता है आपको बड़ा बिजनेसमैन,...

0
बांस की बोतल बनाने का व्यवसाय शुरू करें, बिज़नेस, कैसे बनाई जाती है, तरीका, लागत, कच्चा माल, लाभ, मुनाफा (Bamboo Bottle Making...