Businesses Idea : स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन के साथ शुरू करें ये बिज़नस और पाए लाखों का मुनाफा

स्वदेशी बिजनेस प्लान, वस्तुएं, नाम, उपयोग, मैन्युफैक्चरिंग क्या है, कौन सी है (Swadeshi Businesses, Plan, Products, Marketing, Earn, Money, India in Hindi)

प्रधानमंत्री मोदी जी ने कुछ दिनों पहले देश में कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन 4.0 लगाने की घोषणा की थी. इस घोषणा के साथ ही मोदी जी ने कुछ अन्य अहम बाते भी कहीं थी, जैसे आत्मनिर्भर भारत अभियान की शुरूआत की, आर्थिक पैकेज का ऐलान किया और इसके साथ ही देश में ‘वोकल से लोकल’ के फंडे को अपनाने के ऊपर भी जोर दिया. वोकल से लोकल की बात करें तो मोदी जी का यह कहना था कि, हमें हमारे देश में स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन एवं उसके सेल पर विशेष ध्यान देना चाहिए. अब अगर आप कुछ स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन का कार्य शुरू करते हैं, तो आपके सामने बिज़नस शुरू करने के काफी सारे अवसर आ जाते हैं. इस लेख में हम आपके लिए कुछ ऐसे ही स्वदेशी व्यवसाय के अवसर की जानकारी दे रहे हैं, जिसे शुरू करने से आपको काफी अधिक मुनाफा प्राप्त हो सकता है.

Swadeshi Business ideas hindi

स्वदेशी वस्तुओं का आशय (What is Swadeshi Product Means)

यहाँ पर स्वदेशी वस्तुओं से आशय भारत में निर्मित की गई वस्तुओं से हैं. जी हाँ ऐसे वस्तुएं जिनका उत्पादन हमारे भारत देश में ही किया जाता हैं वह स्वदेशी है. इसकी खरीद एवं सेल के चलते भारत का पैसा भारत में ही रहता हैं. आपको बता दें कि मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत अभियान को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य है कि देश को किसी दूसरे देश के उत्पादन पर निर्भर नहीं रहना चाहिए. बल्कि देश में ही उसका उत्पादन किया जाना चाहिये. यहाँ तक कि खुद के ब्रांड के साथ यदि उत्पादन का कार्य भारत में शुरू किया जाये तो वह आत्मनिर्भरता को ही दर्शायेगा और साथ भारत का पैसा भी कहीं और नहीं जा पायेगा. इससे भारत की अर्थव्यवस्था में मजबूती भी आयेगी. इन्हीं सब चीजों के चलते मोदी जी ने इस पर विशेष ध्यान देने के लिए देश की जनता से आग्रह किया है, कि स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन एवं उसके क्रय – विक्रय को बढ़ावा दें, ताकि उन्हें रोजगार के अवसर भी मिलें और देश आत्मनिर्भर बन सके.

कम पूंजी निवेश के साथ शुरू किये जाने वाले व्यवसाय के नये आइडियाज की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन से साथ शुरू किये जाने वाले व्यवसाय (Swadeshi Products Manufacturing Business Ideas)

कुछ स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन के कार्य से शुरू किये जाने वाले विभिन्न व्यवसाय की जानकारी इस प्रकार हैं –

स्वदेशी कोल्डड्रिंक :- आप विदेशी कंपनियों द्वारा निर्मित की गई कोको- कोला, फेंटा, स्प्राइट, पेप्सी आदि के स्थान पर विभिन्न तरह के सोडा जैसे लेमन सोडा, काला खट्टा और कुछ अन्य कॉल्डड्रिंक्स जैसे रूहअफजा, शरबत, बादाम शेक, दूध, लस्सी, ठंडाई, फ्रूटी, नारियल का पानी एवं इसकी तरह के अन्य चीजों से एक बेहतर स्वदेशी कोल्डड्रिंक बना सकते हैं. और उसे अपना खुद का एक ब्रांड नाम भी दे सकते है. इससे आपको काफी मुनाफा हो सकता है.

स्वदेशी टूथब्रश :- सुबह – सुबह जब हम उठते हैं तो सबसे पहले हम जिस चीज का इस्तेमाल करते हैं वह है टूथब्रश. टूथब्रश बहुत सी विदेशी कंपनियों के आते हैं. लेकिन यदि आप अजय, अजंता, रॉयल, क्लासिक, डॉ स्ट्रोक जैसी कंपनियों के टूथब्रश का इस्तेमाल करते हैं तो ये सब स्वदेशी कंपनियां है. अतः आप भी टूथब्रश की मैन्युफैक्चरिंग करके इसी तरह की कोई कंपनी शुरू कर सकते हैं.

बाथरूम क्लीनर बनाने का व्यवसाय शुरू करने की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

स्वदेशी साबुन :- भारत में बहुत सी ऐसी कंपनियां हैं जोकि साबुन का उत्पादन करती हैं. आपको बता दें कि आप भी विभिन्न प्राकृतिक जड़ी – बूटियों एवं पौधों से विभिन्न तरह के साबुन का निर्माण कर सकते हैं जोकि काफी लाभकारी भी होते हैं. क्योकि बाहर की कंपनियों द्वारा बनाए गये साबुन में काफी रसायनिक पदार्थ पाएं जाते हैं जोकि एक समय के बाद नुकसान पहुँचाने लगते हैं. अतः आप स्वयं प्राकृतिक चीजें से निर्मित नहाने के एवं कपड़े धोने के साबुन बनाने का व्यवसाय शुरू कर अच्छी खासी आमदनी प्राप्त कर सकते हैं. 

स्वदेशी डिटर्जेंट पाउडर :- कपड़े धोने के लिए हमें डिटर्जेंट पाउडर की आवश्यकता होती हैं. आप एक छोटे रूप में डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं. इसमें आपको बहुत कम पूँजी की आवश्यकता होती हैं. और आपको इससे मुनाफा भी काफी मिलता है.

नई – नई डिज़ाइन की मोमबत्ती बनाने का व्यवसाय शुरू करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

स्वदेशी चाय एवं काफी :- चाय एवं कॉफ़ी एक ऐसा पेय पदार्थ हैं जिसका सेवन करना हमारे देश में लगभग 99 % आबादी को पसंद होता है. ऐसे में यदि आप रेड लेबल, लिप्टन ग्रीन टी, नेस्ले, नेस्कैफे जैसी कंपनियों द्वारा बनाई जाने वाली चायपत्ती एवं कॉफ़ी के साथ पर भारत में ही इनकी खेती करते हैं, तो आपके लिए यह बहुत ही अच्छा व्यवसाय शुरू करने का अवसर साबित हो सकता है. क्योकि बाजार में इसकी मांग भी बहुत अधिक होती है. आप चायपत्ती के बैग बनाकर बेचने का व्यवसाय भी कर सकते हैं. 

स्वदेशी शेविंग क्रीम एवं ब्लेड :- सुबह – सुबह पुरुषों को शेविंग के लिए शेविंग क्रीम एवं ब्लेड की आवश्यकता होती हैं. भारत में गैलेंट, पुखराज, लेजर, प्रीमियम, गोदरेज, इमामी, निविया जैसी कुछ कंपनियां हैं जोकि शेविंग क्रीम एवं ब्लेड का उत्पादन करती हैं. आप भी इसके उत्पादन का व्यवसाय शुरू कर इस तरह की एक खुद की कंपनी शुरू कर सकते हैं. प्रत्येक पुरुष के द्वारा इसका इस्तेमाल किया ही जाता हैं, इसलिए इसकी बाजार में खरीद ज्यादा होने की वजह से आपको इसके व्यवसाय से काफी लाभ हो सकता है.

अगरबत्ती के व्यवसाय से भी आप घर बैठे कम सकते हैं हजारों रूपये प्रतिमाह जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

स्वदेशी मोबाइल कनेक्शन :- भारत में रिलायंस, आईडिया, एयरटेल एवं बीएसएनएल जैसी कंपनियां हैं जोकि मोबाइल कनेक्शन प्रदान करती हैं. आपका भी अगर इसमें कौशल हैं, तो आप खुद की एक कंपनी का निर्माण कर यह सेवा लोगों को दे सकते हैं. और कमाई कर सकते हैं.

स्वदेशी मोबाइल :- माइक्रोमैक्स, लावा एवं कार्बन जैसी कुछ भारतीय कंपनियां है जोकि मोबाइल की मैन्युफैक्चरिंग करती हैं. आप चाहे तो आप भी विभिन्न विशेषताओं के साथ मोबाइल का निर्माण कर स्वयं का एक नाम देते हुए एक मोबाइल कंपनी की शुरूआत कर सकते हैं.

मोबाइल के बैक कवर की प्रिंटिंग के व्यवसाय की शुरूआत करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें.

स्वदेशी वस्त्र :- हमारा देश के गुजरात राज्य में कपड़े का एक बहुत बड़ा उद्योग हैं, जोकि बहुत नामी है. अगर आपको कपड़े के उत्पादन में रुचि हैं तो आप भी कपड़े के उत्पादन का व्यवसाय शुरू कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं, क्योकि भारत में ही बहुत सी कपड़े की कंपनियां है जोकि स्वयं का उत्पादन का कार्य कर एक ब्रांड के साथ अपना व्यवसाय कर रही हैं. और काफी अधिक मुनाफा बी अर्जित कर रही हैं.

स्वदेशी टी – शर्ट एवं जींस :- टी – शर्ट एवं जेन्स लोगों को ब्रांडेड कंपनियों के पहनना पसंद होते हैं, यदि आप बेहतर कपड़ों को डिज़ाइन करना जानते हैं तो आप भी विशेष तरह के जींस एवं टी – शर्ट का निर्माण कर इसका व्यवसाय शुरू कर सकते हैं. लोगों को यह जितना आकर्षक लगेगा आपके इस व्यवसाय को उतना ही अधिक लाभ प्राप्त होगा. आप टी – शर्ट प्रिटिंग का व्यवसाय भी साथ में ही शुरू कर सकते हैं, इससे आपकी कमाई हो सकती है. 

कॉटन की शर्ट बनाने के व्यवसाय में भी है मुनाफा, शुरू करने के लिए यहाँ क्लिक करें.  

स्वदेशी घड़ियाँ :- अब हम बात करते हैं घड़ी हैं जिसकी जरूरत हमें हर किसी भी समय पड़ सकती हैं जब हमें समय दिखना होता है. इन घड़ियों की मैन्युफैक्चरिंग विदेश के साथ – साथ कुछ भारतीय कंपनियों द्वारा भी की जाती हैं. आप इसका व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं.

स्वदेशी नमक :- नमक एक ऐसी वस्तु हैं जिसके बिना खाने की किसी भी चीज का स्वाद कुछ भी नहीं रहता है. नमक हर एक व्यक्ति के लिए आवश्यक है. भारत में टाटा, पतंजलि सेंधा नामक, लो सोडियम, आयरन – 45, सूर्या, तारा आदि कंपनियां है जोकि भारत में नमक का उत्पादन करती हैं. आप भी इसके उत्पादन का कार्य बहुत ही आसानी से शुरू कर सकते हैं, आपको इससे अधिक लाभ की प्राप्ति हो सकती है.   

बिस्कुट या कुकीज बनाने के व्यवसाय को शुरू करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

स्वदेशी आइसक्रीम एवं बिस्कुट :- सभी को आइसक्रीम एवं बिस्कुट खाने का बहुत शौक होता है. आपको बता दें कि आप इन चीजों का निर्माण खुद से बहुत ही आसानी से कर सकते हैं. आप बिस्कुट एवं आइसक्रीम बनाने का व्यवसाय घर से शुरुआत कर आगे जाकर खुद की एक कंपनी खोल सकते हैं. और जब यह आपको अधिक मुनाफा देने लगेगी तो आप इसे एक बड़े ब्रांड के रूप में भी शुरू कर लाभ कमा सकते हैं. आप आइसक्रीम की कोन बनाने का व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं.

स्वदेशी जल :- जल हर एक जीव के जीवन में सबसे जरुरी चीज हैं, लेकिन यह शुद्ध होना बहुत आवश्यक है. क्योकि जब तक यह शुद्ध नहीं होगा, तो इसकी अशुद्धियों से होने वाली बीमारियाँ बढती रहेंगी. अतः आप शुद्ध पीने के पानी का व्यवसाय अपने एक ब्रांड नाम के साथ शुरू कर अच्छा खासा मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं.  

लजवाब पानी पूरी बनाने के व्यवसाय की जानकारी प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

स्वदेशी ब्यूटी प्रोडक्ट्स :- ब्यूटी प्रोडक्ट्स जिसे कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स भी कहा जाता है. ये विदेशों की कंपनियों द्वारा विभिन्न रसायनिक पदार्थों को मिलाकर बनाया जाता है, जोकि त्वचा के लिए हानिकारक साबित हो सकते हैं. इसके जरुरी हैं कि प्राकृतिक चीजों से इन प्रोडक्ट्स का निर्माण किया जाये ताकि इससे किसी पर कोई बुरा प्रभाव न पड़े. अतः आप प्राकृतिक चीजों से निर्मित इन प्रोडक्ट्स को बनाकर अपने देश में ही खुद की कंपनी शुरू कर लाभ कमा सकते हैं.   

स्वदेशी तेल :- हम खाने में जिस तेल का उपयोग करते हैं वह भी विदेशी कंपनियों द्वारा उत्पादित किया जाता है. हालांकि परम घी, अमूल, हाथ से बनाया हुआ गाय का घी, एवं पतंजलि सरसों का तेल आदि हमारे देश में तेल या घी का उत्पादन करने वाली कुछ कंपनियां जो आज लाखों – करोड़ों को कमाई कर रही हैं. ऐसी कमाई आप भी कर सकते हैं तेल की मिल का व्यवसाय को शुरू करके.

पोहा बनाने की मिल का व्यवसाय शुरू कर मुनाफा कमाने के लिए यहाँ क्लिक करें.

स्वदेशी पेन :- कहने को तो पेन एक बहुत ही छोटी सी चीज हैं लेकिन अधिकतर पेन भी हम विदेशी कंपनियों द्वारा निर्मित ही उपयोग में लाते हैं. किन्तु आज भारत में कुछ कंपनियों ने इस छोटे से उत्पाद से भी लाखों की कमाई कर ली हैं. यदि आप भी यह बनाना चाहते हैं तो फिर आप भी पेन बनाने का व्यवसाय आसानी से शुरू कर सकते हैं.

स्वदेशी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी :- आज के समय में ऑनलाइन शॉपिंग का महत्व बहुत अधिक हो गया है. हालांकि अब भारत में बहुत ही ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियां हैं जिसका उपयोग लोग करते हैं और कंपनियों को इससे फायदा मिलता है. आप अपनी खुद की एक ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी खोल कर व्यवसाय शुरू कर सकते हैं. हालांकि इसका मार्केट में कम्पटीशन बहुत अधिक हैं लेकिन यदि आपका व्यवसाय चल गया तो इससे बहत अधिक लाभ आपको मिल सकता है.

फ्लिपकार्ट एफिलिएट अकाउंट बनाकर पैसे कैसे कमायें जा सकते हैं, जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

स्वदेशी इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद :- हम दिन भर में कई सारे इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स का उपयोग करते हैं, जैसी कि अभी भी हम एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का ही उपयोग कर रहे हैं. इसलिए आज के इस डिजिटल जमाने में इस तरह के उत्पाद का निर्माण करना बहुत लाभकारी हो सकता है. इसलिए आप भारत में ही रहकर इसका भी व्यवसाय आरंभ कर धन अर्जित कर सकते हैं. 

स्वदेशी कार :- जब हमें घर से ऑफिस या कहीं बाहर जाना होता है तो हमें कार की आवश्यकता होती हैं. कार का निर्माण विभिन्न कंपनियों द्वारा किया जाता हैं. ये कंपनियां स्वदेशी एवं विदेशी दोनों होती हैं. भारत में टाटा, महिंद्रा, हिंदुस्तान मोटर्स और मारुति जैसी कुछ कंपनियां जो कार का निर्माण कर करोड़ों की कमाई करती हैं. यदि आप भी कार बना सकते हैं तो आप भी इस व्यवसाय को शुरू करें खुद का एक ब्रांड बना सकते हैं और करोड़ों रूपये की कमाई कर सकते हैं.

कार को किरायें पर देने के व्यवसाय को शुरू कर पैसे कमाने के लिए यहाँ क्लिक करें.

इस तरह से ये सभी हमारे दैनिक जीवन में सुबह से लेकर रात तक में उपयोग किये जाने वाले कुछ उत्पाद हैं, जिसका निर्माण आप भारत में ही करके अच्छा खासा मुनाफा वाला व्यवसाय शुरू कर सकते हैं.

एफएक्यू (FAQ’s)

Q : स्वदेशी वस्तुएं क्या होती हैं ?     

Ans : ऐसी वस्तुएं जिसका निर्माण अपने देश में किया जाता हैं वह वस्तुएं स्वदेशी वस्तुएं होती हैं.

Q : स्वदेशी प्रोडक्ट्स की पहचान कैसे करें ?

Ans : हर एक मैन्युफैक्चर वस्तु में एक बार कोड दिया हुआ होता हैं. और उसका कुछ कोड नंबर भी होता हैं. यह कोड नंबर की पहली 3 – 4 डिजिट उस देश की होती हैं जिस देश में उसका उत्पादन किया जाता हैं. स्वदेशी प्रोडक्ट्स की पहचान के लिए कोड नंबर 890 हैं जोकि मेड इन इंडिया का कोड नंबर है.

Q : स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन के क्या फायदे हैं ?

Ans : स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन का मुख्य फायदा यह हैं कि इससे देश का पैसा देश में ही रहता है. और जितना ज्यादा उत्पादन का कार्य देश में होता है, उससे उतना ही ज्यादा रोजगार भी बढ़ता है, जिससे बेरोजगारी की समस्या खत्म हो सकती हैं.

Q : स्वदेशी प्रोडक्ट्स का उत्पादन कौन – कौन सी कंपनियों द्वारा किया जाता हैं ?

Ans : भारत में बहुत सी कंपनियां हैं जो स्वदेशी प्रोडक्ट्स का निर्माण करती हैं. सबसे लोकप्रिय स्वदेशी कंपनियां अमूल, पतंजलि एवं डाबर जैसी कुछ कंपनियां हैं जोकि विभिन्न तरह के स्वदेशी उत्पाद का निर्माण करती हैं.

Q : क्या स्वदेशी वस्तुएं से उत्पादन के व्यवसाय से लाभ प्राप्त होगा ?

Ans : यदि आप अच्छी गुणवत्ता के साथ किसी उत्पाद का निर्माण करते हैं और उसका व्यवसाय शुरू करते हैं, तो उससे आपको लाभ होता ही है. ठीक ऐसा ही स्वदेशी वस्तुओं के साथ भी है.

अन्य पढ़ें –

किसान क्रेडिट कार्ड के तहत शुरू करने वाले व्यवसाय

शिशु मुद्रा लोन योजना के तहत पाए ब्याज छूट

लॉकडाउन के चलते घर बैठे शुरू किये जाने वाले व्यवसाय

गृहणियों के लिए व्यवसाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *