एक स्टार्टअप में निवेश करने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें

एक स्टार्टअप में निवेश करने से पहले आपको ध्यान रखने योग्य बातें (Things You Need to Check Before Investing in a Startup in Hindi)

वैसे तो किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले हर चीज का ध्यान रखना होता है, ताकि उस व्यवसाय में निवेश करते समय आप यह निर्धारित कर लें, कि आपको उससे कितनी सफलता प्राप्त होगी. आजकल के यंगस्टर्स को देखा जाए, तो वह नौकरी व किसी पेशा को छोड़कर स्टार्टअप की ओर अपने कदम बढ़ा रहे हैं. एक स्टार्टअप तभी सफल होता है, जब उसे सही तरीके और सही नीतियों के साथ अपनाया जाए. स्टार्टअप में निवेश करना तो आसान है, परंतु उसमें सही नीतियों के साथ निवेश करना मुश्किल है. आज हम आपको स्टार्टअप में निवेश करते समय ध्यान रखने वाली 10 बातों के बारे में बताएंगे. जिन्हें जानने के बाद आपका स्टार्टअप कभी भी फेल नहीं हो सकता है.

Startup investment

स्टार्टअप में निवेश करने से पहले ध्यान रखने योग्य 10 मुख्य बातें (Top 10 Things Before Investing in a Startup)

  1. उद्योग को जाने और उस पर रिसर्च करें :-

किसी भी उद्योग में यदि आप निवेश करने का मन बना रहे हैं और एक स्टार्टअप की ओर बढ़ रहे हैं तो सर्वप्रथम आप यह ध्यान रखें कि आप उस उद्योग के बारे में क्या जानते हैं. एक स्टार्टअप को बेहतर रूप से समझने के लिए आप गूगल की मदद ले सकते हैं और निवेश किए जाने वाले व्यवसाय के बारे में अच्छी तरह से जांच परख कर समझ सकते हैं. जब तक आप एक स्टार्टअप को बेहतरीन रूप से समझ नहीं सकते हैं, तब तक उसमें निवेश करने का कोई फायदा नहीं है. किसी भी स्टार्टअप को शुरू करते समय आपके दिलो-दिमाग में बस यही होना चाहिए कि आपको उस स्टार्टअप में निवेश करने से एक अच्छा मुनाफ़ा प्राप्त हो. परंतु यदि आप उस स्टार्टअप के बारे में अच्छी तरह से जानते नहीं है तो आप उस स्टार्टअप से मुनाफ़ा प्राप्त नहीं कर पाएंगे.

अतः आपको कोई स्टार्टअप शुरू करते समय उस व्यवसाय के बारे में अच्छी तरह से जानकरी प्राप्त कर लेना चाहिए.

  • टीम को समझें :-

वैसे तो इंसान अकेले ही सब कुछ कर सकता है और उसमें सफलता भी प्राप्त कर सकता है, किन्तु एक टीम के साथ वही काम करना और भी आसान होता हैं. एक स्टार्टअप में निवेश करने से पहले उस व्यवसाय से जुड़े टीम के सदस्यों के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर लें, क्योंकि एक स्टार्टअप को सफल बनाने में उनका योगदान बहुत महत्वपूर्ण होता हैं. अतः इसके लिए आप उस टीम के बारे में जान लें कि वे अपना काम किस तरह से करते हैं. टीम के सभी सदस्यों पर कौन सी जिम्मेदारियां दी गई हैं और वे उनका वहन किस प्रकार से करते हैं. इन सभी बातों की जानकारी आपको नए स्टार्टअप में निवेश करने के लिए मजबूती प्रदान करती है.

  • निवेश का आंकलन करें :-

यदि आप एक ऐसे स्टार्टअप में निवेश करने की सोच रहे हैं जिसमें एक योग्य टीम के साथ साथ कुछ उचित प्लानिंग भी है तो आप स्टार्टअप में सफलता प्राप्त कर सकते हैं. आप जिस भी स्टार्टअप में निवेश करने की सोच रहे हैं सबसे पहले जान लें कि वह स्टार्टअप आपको कितनी सफलता प्रदान कर सकता है. आप कितनी धनराशि उस स्टार्टअप में निवेश कर रहे हैं और आपको उसके बदले कितना मुनाफ़ा प्राप्त हो सकता है, आप जिस संस्था के साथ निवेश करना चाह रहे हैं वह संस्था कितनी सफल और सक्षम है, भविष्य में कभी वह स्टार्टअप फेल हो जाता है तो आप अपने नुकसान की भरपाई किस तरह करेंगे इस बात की रणनीति आपको पहले से ही बना लेना चाहिए जोकि बेहतर होगा. अतः आप जिस कंपनी या संस्था में निवेश करने की सोच रहे हैं उस कंपनी या संस्था के बारे में आप पूरी जानकारी प्राप्त करें.

  • प्रतिद्वन्दी को पहचानें :-

किसी भी संस्था या कंपनी में निवेश करने से पहले इस बात की जानकारी भी जरूर प्राप्त कर लें, कि उस कंपनी की कितनी प्रतियोगिता बाजार में है. प्रतियोगिता से हमारा आशय यह है कि बाजार में उस कंपनी के समक्ष कितनी कंपनी ऐसी हैं जो उनको बाजार के स्तर पर कड़ी टक्कर देते हैं. वह कंपनी या संस्था अपनी प्रतियोगी कंपनियों से निपटने के लिए कौन सी रन नीतियों को अपनाते हैं ये सभी बातें आपको पता होनी चाहिए. आपका निवेश सफल होकर आपको एक अच्छा मुनाफ़ा दे सके इसलिए आपको निवेश कर रहे कंपनी के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए.

  • सलाहकारों की जांच करें :-

प्रत्येक कंपनी में एक ऐसा सलाहकार जरूर होता है जो कंपनी की दयनीय स्थिति में अपनी सलाह के जरिए सहायता करता है. किसी भी कंपनी को बेहतर से बेहतर बनाने में अपना पूरा योगदान देता है और अपनी उचित सलाह से एक कंपनी को सफलता की ओर ले जाता है. यदि आप भी किसी स्टार्टअप में निवेश करने की सोच रहे हैं तो सबसे पहले उस कंपनी के सलाहकार के बारे में अवश्य जान ले, कि वह सलाहकार कितना सक्षम है. इस बात की जानकारी आपको प्राप्त होना अति आवश्यक है. उस कंपनी के सलाहकार को आप जांच सकते हैं, समय-समय पर सहायता और सलाह लेकर आप उसकी योग्यता को भी माप सकते हैं. इससे आपको भविष्य में अपने स्टार्टअप के बदले एक अच्छा मुनाफ़ा कमाने में बहुत सहायता मिलती है. निवेश करने से पहले ही यह जान ले कि वह कंपनी का सलाहकार किस तरह लोगों की मदद करता है और किस तरह की सलाह उन्हें देता है.

  • कंपनी का मूल्यांकन :-

जिस कंपनी में आप निवेश करने की सोच रहे हैं उस कंपनी का मूल्यांकन करना आपके लिए बेहद आवश्यक है. इससे आपको भविष्य में मिलने वाले मुनाफ़े का भी एक रफ आइडिया मिल जाता है. कंपनी में कितना स्टॉक उपलब्ध है, कंपनी में निवेश करने वाले लोगों की सूची कितनी लंबी है, कंपनी अपनी विकट परिस्थितियों में कैसे सहायता करती है, इन सभी बातों की गहन जांच पड़ताल आपको किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले कर लेनी चाहिए. भविष्य में उस कंपनी के जरिए एक बेहतर और उचित लाभ कमाने के लिए आपको कंपनी का मूल्यांकन करना बेहद आवश्यक हो जाता है.

  • कंपनी की वित्तीय जांच करें :-

किसी भी कंपनी का सबसे अहम हिस्सा उसकी वित्तीय स्थिति होती है. इसलिए किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले आपको उसकी वित्तीय जांच करनी बेहद आवश्यक है. कंपनी के लोग किस तरह से कंपनी में जमा राशि का उपयोग करते हैं, वे कितनी धनराशि कंपनी की प्रगति के लिए खर्च कर रहे हैं, उनका खर्च करने का तरीका ठीक है या नहीं, कंपनी में धन राशि का किस तरह इस्तेमाल किया जाता है, इन सभी बातों की पूरी जांच परख आपको निवेश करने से पहले कर लेनी चाहिए. ताकि आपको भविष्य में कंपनी से जुड़े वित्त को लेकर कोई भी नुकसान न हो.

  • फ़्यूचर फंडिंग से जुड़ी योजनाओं को जांच लें :-

किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले उसके फ़्यूचर फंडिंग से जुड़ी योजनाओं के बारे में आपको पूरी जानकारी होनी बेहद आवश्यक है. भविष्य में उस कंपनी द्वारा कहां पर अधिक और उचित धनराशि खर्च होने वाली है इस बात की ठोस जानकारी आपके पास होनी चाहिए. वह अपने स्टार्टअप के विकास, मार्केटिंग और कंपनी के विकास के लिए किस तरह फंडिंग को खर्च करने वाले हैं. इन बातों की भी पूरी जानकारी आपके पास होनी चाहिए. भविष्य में कंपनी द्वारा होने वाले वित्तीय खर्चे कितने अधिक और किस मात्रा में होने वाले हैं इस पर भी ध्यान देना आवश्यक है.

  • कंपनी की वित्तीय स्थिति पर ध्यान दें :-

किसी भी कंपनी में एक उचित राशि निवेश करने के बाद इस बात की जानकारी आपके पास होनी चाहिए कि वह राशि कितने समय तक कंपनी को एक दृढ़ स्थिति प्रदान कर सकती है. अर्थात आपके निवेश की गई राशि कितने समय तक कंपनी को उचित रूप से चलाने में मदद कर सकती है. यह ध्यान रखना आवश्यक हैं. उस स्टार्टअप में निवेश की गई राशि 6 महीने चलेगी या 12 महीने इस बात की जानकारी आपके पास होनी बेहद आवश्यक है. सबसे उचित समय अवधि 15 महीने की होती है जिस दौरान आपकी निवेश राशि एक कंपनी को बेहतर रूप से चलाने के लिए उचित होती है.

  1. कंपनी के कानूनी दस्तावेज़ जांच लें :-

किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले उसके कानूनी दस्तावेज़ों को जांच लेना आपका सर्वप्रथम अधिकार है. उस कंपनी के संस्थापक कौन है, निवेशक कौन है, नियंत्रक कौन है, इन सभी बातों की जानकारी आपको उस कंपनी के कानूनी दस्तावेज़ के जरिए प्राप्त हो सकती है. कंपनी से जुड़ने से पहले उसके कानूनी दस्तावेज़ को जांच परख लेना आपका कर्तव्य है ताकि आपको भविष्य में ऐसे लोगों के साथ काम ना करना पड़े जिनको कंपनी से जुड़ी बातों की कोई जानकारी ही ना हो. कंपनी के साथ जोड़ने वाला प्रत्येक व्यक्ति अपनी योग्यता के अनुसार उचित जानकार होना चाहिए, ताकि कंपनी की सफलता में अपना पूरा योगदान दे सकें. अतः इस बात की जानकारी आपको कंपनी के दस्तावेज़ जांच परखने के बाद ही प्राप्त हो सकती है.

निष्कर्ष (Conclusion)

किसी भी कंपनी में निवेश के बदले आप एक उचित मुनाफ़ा प्राप्त कर सके इसके लिए आपको ऊपर दिए गए सभी 10 बिंदुओं की जांच परख कर लेना अति आवश्यक है. यदि आप किसी कंपनी में निवेश करने जा रहे हैं और यह सभी 10 बिंदु सटीक बैठते हैं तो आप उस कंपनी में बिना सोचे समझे निवेश कर लीजिए क्योंकि भविष्य में आपको ऐसी कंपनी के साथ जोड़ने के बाद उचित मुनाफ़ा प्राप्त हो सकता है.

अन्य बिज़नेस के बारे में जाने:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!