Home प्रिंटिंग और पैकेजिंग टाइल्स, कुशन, प्लेट प्रिंटिंग का व्यापार कैसे शुरू करें | How to...

टाइल्स, कुशन, प्लेट प्रिंटिंग का व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Tiles Cushions and Plates Printing Business Plan in hindi

टाइल्स, कुशन एवं प्लेट आदि प्रिंटिंग का व्यापार कैसे शुरू करें  How to Start Tiles, Cushions and Plates Printing Business in hindi

तत्कालिक दौर फैशन का है. इस समय लोग कई तरह की क्रिएटिविटी का प्रयोग करके पैसा कमाने की चेष्टा करते हैं. जिन लोगों का प्रयास सफल हो रहा है, उन्हें इन क्रिएटिव कार्यों से खूब लाभ होता है. ऐसे कई व्यापार हैं, जो पूरी तरह से सफल हुए हैं और एक लम्बे समय तक चलने वाले व्यापार हैं. टाइल्स आदि प्रिंटिंग व्यापार भी एक स्थायी व्यापार है, जिसके अंतर्गत कम लागत में अधिक मुनाफा कमाया जा सकता है. यहाँ पर इस व्यापार की सभी मुख्य बातों का वर्णन नीचे किया जा रहा है.

टाइल्स, कुशन, प्लेट आदि प्रिंटिंग के लिए मशीनरी (Printing Machines)

इस व्यापार की सबसे खास बात ये है, कि इसमें एक मशीन की सहायता से पांच तरह की चीजों पर प्रिंट किया जा सकता है. इसे आमतौर पर फाइव इन वन प्रिंटिंग मशीन कहा जाता है. यह मशीन पूरी तरह से स्वचालित होती है. इस मशीन की सहायता से लगभग 350 तरह के प्रोडक्ट पर प्रिंटिंग किया जा सकता है. इस मशीन में पांच अटैचमेंट्स होते हैं.  

कीमत : इस मशीन की कीमत रू 12,500 के आस पास की है.

टाइल्स, कुशन, प्लेट आदि प्रिंटिंग के लिए रॉ मटेरियल (Raw Material)

विभिन्न तरह के प्रोडक्ट पर प्रिंटिंग का कार्य करने के लिए यहाँ पर लगभग एक ही तरह के रॉ मटेरियल की आवश्यकता होती है. इसके लिए आवश्यक रॉ मटेरियल इस प्रकार हैं –

  • सब्लिमेशन मशीन : रू 30,000
  • सुब्लिमेशन पेपर : रू 230 में 20 पीस
  • सब्लिमेशन प्रिंटर : रू 30,000
  • टैफलान शीट : रू 300 प्रति किलोग्राम

कहाँ से ख़रीदें : यह मशीन और आवश्यक रॉ मटेरियल को ऑनलाइन खरीदने के लिए नीचे दिए गये वेबसाइट पर विजिट करें.

1.

टाइल्स, कुशन, प्लेट आदि प्रिंटिंग की प्रक्रिया (Printing Process)

इस मशीन की सहायता से प्रिंटिंग की प्रक्रिया दी जा रही है, जिसे समझ कर आप भी इस मशीन की सहायता से प्रिंटिंग कर सकते हैं.

  • सबसे पहले इस मशीन को ऑन करें और इसका तापमान 355 डिग्री पर सेट करें.
  • इसके उपरान्त आपको इस मशीन की टाइमिंग सेट करने की आवश्यकता होती है. आमतौर पर इस मशीन का समय 60 सेकंड का सेट किया जाता है.
  • इसके उपरान्त मशीन को गर्म होने में 3 से 4 मिनट का समय लगता है.
  • इसके बाद इस मशीन में कुछ भी प्रिंट करने से पहले टेफलोन शीट लगाने की आवश्यकता होती है.
  • इसके बाद आप जिस तस्वीर को किसी प्रोडक्ट पर प्रिंट करना चाहते हैं, उसे अपने कंप्यूटर सॉफ्टवेयर से प्रिंट करके निकाल लें.
  • यदि आप किसी कपडे पर प्रिंट करना चाहते हैं, तो उसे मशीन की सहायता से प्रेस कर लेने की आवश्यकता होती है.
  • इसके उपरान्त प्रिंट होने वाले कागज को प्रोडक्ट पर लगाने की आवश्यकता होती है. इस प्रक्रिया में आपको सब्लिमेशन टेप का इस्तेमाल करना पड़ता है.
  • इसके बाद मशीन को प्रेस करके 60 सेकंड का समय सेट करने की आवश्यकता होती है. इसके बाद 60 सेकंड में इमेज किसी भी प्रोडक्ट पर प्रिंट हो जाता है.
  • इसी प्रक्रिया का प्रयोग करके मोबाइल बैक कवर प्रिंटिंग व्यापार एवं टी शर्ट प्रिंटिंग व्यापार आदि भी किया जा सकता है.
  • वस्तुओं के आकार के हिसाब से मशीन का अटैचमेंट बदल बदल कर प्रिंट किया जा सकता है.

टाइल्स, कुशन, प्लेट आदि प्रिंटिंग व्यापार में लाभ (Profit)

इस व्यापार में बहुत अच्छा लाभ प्राप्त किया जा सकता है. कल्पना कीजिये कि आप एक मग पर प्रिंट करने का व्यापार करना चाह रहे हैं. इस मग की कीमत रू 190 है. इसके उपरान्त इसपर प्रिंट के लिए केवल रू 2 से 3 रूपये का खर्च होता है. इस मग को बाज़ार में 500 रूपए की कीमत पर बेचा जा सकता है. इस तरह से इस व्यापार के विभिन्न तरह के वस्तुओं पर प्रिंटिंग करके प्रत्येक वस्तु पर एक अच्छा ख़ासा मुनाफा कमाया जा सकता है. यह प्रिंटिंग कभी निकलती नहीं है, जिसकी वजह से इस प्रोडक्ट को कई लोग खरीदते हैं.

टाइल्स, कुशन, प्लेट आदि प्रिंटिंग व्यापार की मार्केटिंग (Marketing)

इस प्रोडक्ट की मार्केटिंग बेहद आसानी से हो जाती है. आप किसी भी फैंसी मार्केट से इस तरह के प्रिंटिंग के होलसेल आर्डर ले सकते हैं. इसके अलावा आप अपना भी शोरूम खोल कर अपने प्रिंट किये हुए सामान बेच सकते हैं. इस प्रोडक्ट की सबसे अच्छी मार्केटिंग ऑनलाइन ई कॉमर्स वेबसाइट पर होती है. अमेज़न, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील आदि वेबसाइट के साथ मिलकर आप इनके वेबसाइट पर अपने प्रोडक्ट अपलोड करके व्यापार कर सकते हैं और लाभ कमा सकते हैं.

प्रिंटेड टाइल्स, कुशन और प्लेट की पैकेजिंग (Packaging)

आपको पैकेजिंग के समय इस बात का ध्यान रखना पड़ता है कि आपने कौन से प्रोडक्ट पर प्रिंट किया है. मग, टाइल्स, टीशर्ट, कुशन आदि के लिए अलग अलग तरह के पैकेजिंग करने की आवश्यकता होती है. अतः आपको अपने प्रोडक्ट के हिसाब से पैकेट का चयन करना पड़ता हैं.

टाइल्स, कुशन, प्लेट आदि प्रिंटिंग व्यापार के लिए स्थान की आवश्यकता (Location)

इस व्यापार में प्रयोग होने वाली मशीन का आकार बहुत छोटा होता है. इसके लिये आपको बहुत अधिक स्थान की आवश्यकता नहीं पड़ती, किन्तु प्रिंटिंग के बाद सामान के संचय और पैकेजिंग के लिए कुछ अधिक स्थान की आवश्यकता पड़ती है. इसके लिए आपको 200 वर्ग फीट स्थान की आवश्यकता पड़ती है.

टाइल्स, कुशन, प्लेट आदि प्रिंटिंग व्यापार का पंजीकरण (Registration)

आप अपने इस उद्योग को उद्योग आधार अथवा एमएसएमई की सहायता से पंजीकृत करा सकते हैं. भारत सरकार की व्यापार पंजीकरण की यह प्रक्रिया बहुत ही सरल है, जिसमे आधार कार्ड की आवश्यकता होती है. पंजीकरण से आप अपना व्यापार खुल के कर सकेंगे और आपको किसी तरह की कानूनी अड़चनों का सामना नहीं करना पड़ेगा.

FAQ

Q : टाइल्स, कुशन एवं प्लेट प्रिंटिंग बिज़नेस क्या है ?

Ans : टाइल्स, कुशन एवं प्लेट में विभिन्न डिज़ाइन को प्रिंट करने का बिज़नेस है.

Q : टाइल्स, कुशन एवं प्लेट प्रिंटिंग बिज़नेस में मशीन कौन सी लगती है ?

Ans : सब्लिमेंशन मशीन या प्रिंटर एवं फाइव इन वन प्रिंटिंग मशीन.

Q : टाइल्स, कुशन एवं प्लेट प्रिंटिंग बिज़नेस में मशीन कितने में मिलेगी ?

Ans : लगभग 15 से 30 हजार रूपये में.

Q : टाइल्स, कुशन एवं प्लेट प्रिंटिंग बिज़नेस में कितनी लागत लगेगी ?

Ans : लगभग 50 से 60 हजार रूपये.

Q : टाइल्स, कुशन एवं प्लेट प्रिंटिंग बिज़नेस से कितनी कमाई होती है ?

Ans : 1 से 2 लाख रुपये प्रतिमाह. 

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

New Business : ये व्यापार बना सकता है आपको बड़ा बिजनेसमैन,...

0
बांस की बोतल बनाने का व्यवसाय शुरू करें, बिज़नेस, कैसे बनाई जाती है, तरीका, लागत, कच्चा माल, लाभ, मुनाफा (Bamboo Bottle Making...