मखमली पेन्सिल बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | Velvet pencil making business in hindi

मखमली पेन्सिल बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें (मशीन रेट, लागत, मटेरियल, जोखिम, मार्केट में मांग, फायदा, लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन) How to start velvet pencil making business in hindi (machine rate, investment, material, risk, marketing, benefits, profit)

आजकल मार्केट में बच्चों के बीच वेलवेट पेंसिल की काफी डिमांड है, जिसे मखमली पेंसिल कहा जाता है। मखमली पेंसिल सामान्य पेंसिल की तरह लिखने के ही काम आती है परंतु इसकी बनावट ऐसी होती है कि बच्चों को यह काफी ज्यादा पसंद आती है।

इसलिए बच्चे अक्सर अब मखमली पेंसिल यानी कि वेलवेट पेंसिल की डिमांड कर रहे हैं। ऐसे में अगर मखमली पेंसिल बनाने का बिजनेस स्टार्ट किया जाए, तो यह बिजनेस फायदेमंद साबित हो सकता है। इसलिए इस आर्टिकल में हम “मखमली पेंसिल बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें” के बारे में आज जानकारी देंगे।

velvet pencil

Table of Contents

मखमली पेंसिल क्या है?

अंग्रेजी भाषा में मखमली पेंसिल को वेलवेट पेंसिल कहा जाता है और यह सबसे अधिक बच्चों को ही पसंद होती है, क्योंकि स्पेशल तौर पर बच्चों के लिए ही मखमली पेंसिल को तैयार किया जाता है और बच्चों के लिए बनाए जाने की वजह से बच्चे इसे काफी ज्यादा पसंद करते हैं और इसकी तरफ अट्रेक्ट होते हैं।

मार्केट में मखमली पेंसिल की कीमत सामान्य पेंसिल की तुलना में अधिक होती है। हालांकि इसकी कीमत भले ही मार्केट में अधिक हो परंतु इसकी निर्माण प्रक्रिया काफी आसान है।

मखमली पेंसिल का बिजनेस कैसे शुरू करें?

मखमली पेंसिल बिजनेस को स्टार्ट करने से पहले आपको इस बिजनेस के लिए एक रणनीति तैयार करनी होगी। क्योंकि मखमली पेंसिल का बिजनेस जब आप करने के लिए जाते हैं तो आपके मन में यही सवाल रहता है कि आप पहली ही बार इस बिजनेस को स्टार्ट करने के पश्चात सफलता की ऊंचाइयों को प्राप्त करते जाएं और इसीलिए यह आवश्यक है कि इस बिजनेस के सभी मुद्दों पर विशेष तौर पर ध्यान दिया जाए।

क्योंकि इस बिजनेस में इन्वेस्टमेंट, लोकेशन, पैकेजिंग, मार्केटिंग के साथ ही साथ अन्य कई बातों का ध्यान रखा जाए तो बिजनेस की सफलता के लिए यह अच्छा होता है। इसलिए हम नीचे आपको मखमली पेंसिल का बिजनेस स्टार्ट करने का तरीका विस्तार से बता रहे हैं।

मखमली पेंसिल की मार्केट में मांग

पेंसिल की डिमांड हमेशा मार्केट में बनी ही रहती है क्योंकि हर व्यक्ति को कुछ ना कुछ लिखने के लिए पेंसिल की आवश्यकता पड़ती ही है। हालांकि आज कई जगह पर लोग पेन का इस्तेमाल करते हैं परंतु अभी भी ऐसी कई जगह है school में आज भी छोटे छात्रों को पेन्सिल से लिखने की इजाजत दी जाती है क्योंकि पेंसिल से लिखी हुई चीज को कभी भी मिटाया जा सकता है।

इस प्रकार मखमली पेंसिल के बिजनेस को आपके द्वारा किया जाता है तो इसकी डिमांड कभी भी मार्केट में खत्म नहीं होगी, क्योंकि जब तक इंसान है तब तक वह पढ़ाई करने के लिए या फिर अन्य किसी काम के लिए पेंसिल का इस्तेमाल करेगा ही फिर चाहे वह सामान्य पेंसिल हो या फिर मखमली पेंसिल हो

मखमली पेन्सिल के बिजनेस में लागत

कुल मिलाकर आपको यह समझना है कि इस बिजनेस को अगर छोटे लेवल पर किया जाएगा तो कम इन्वेस्टमेंट और बड़े लेवल पर किया जाएगा तो अधिक इन्वेस्टमेंट लगेगा।

अगर आपके पास खुद की जमीन है तो आपका इन्वेस्टमेंट थोड़ा कम हो जाएगा परंतु अगर आपके पास खुद की जमीन नहीं है और आप इस बिजनेस को करने के लिए किराए पर जमीन लेते हैं तो किराए का पैसा भी आपको देना पड़ेगा।

इसके अलावा मखमली पेंसिल मेकिंग मशीन को खरीदने के लिए आपको ₹60000 से लेकर के ₹70000 तक खर्च करने पड़ेंगे, साथ ही आपको मखमली पेंसिल बनाने के लिए कच्चा माल भी लेना पड़ेगा, जिसके लिए आपको ₹20000 से लेकर के ₹30000 तक खर्च करने पड़ेंगे।

इस प्रकार से इस बिजनेस को छोटे लेवल पर करने के लिए आपको ₹150000 और बड़े लेवल पर करने के लिए ₹300000 से लेकर के ₹350000 तक का इन्वेस्टमेंट करना पड़ेगा।

मखमली पेंसिल बिजनेस के लिए जगह

जिस लेवल का आपका बिजनेस होगा उसी लेवल के हिसाब से आपको जगह का भी प्रबंध करना पड़ेगा। अगर आपने वेलवेट पेंसिल मेकिंग बिजनेस को छोटे स्तर पर स्टार्ट किया है तो आपको कम जगह और बड़े लेवल पर स्टार्ट किया है तो आपको अधिक जगह की आवश्यकता पड़ेगी।

छोटे लेवल पर जब इस बिजनेस को स्टार्ट किया जाता है तो आपको ज्यादा बड़ी जगह की आवश्यकता नहीं पड़ती है परंतु जब आप अपने बिजनेस को बढ़ाते हैं तो उसमें अन्य मशीनों को रखने के लिए साथ ही कच्चे माल को रखने के लिए आपको अधिक जगह की आवश्यकता पड़ती है।

इस प्रकार से इस बिजनेस के लिए आपको 200 से लेकर के 500 स्क्वायर फीट जगह की आवश्यकता पड़ेगी। अपनी सुविधा के अनुसार आप जगह को और भी बढ़ा या कम कर सकते हैं।

मखमली पेन्सिल बिजनेस के लिए रॉ मटेरियल

इस बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए आपको पहले ही मखमली पेंसिल मेकिंग मशीन को खरीद लेना पड़ेगा। उसके पश्चात आपको नीचे दिए हुए कच्चे माल की व्यवस्था करनी पड़ेगी।

  • रॉ पेंसिल
  • गोंद
  • वैल्वेट पाउडर
  • पैकेट(पैकिंग के लिए)

मखमली पेन्सिल बिजनेस के लिए मशीन

इस बिजनेस में इस्तेमाल होने वाली मुख्य मशीन वेलवेट पेंसिल मेकिंग मशीन है, क्योंकि इसके द्वारा आप मखमली पेंसिल का मैन्युफैक्चरिंग स्टार्ट कर सकेंगे। आप अपने लोकल मार्केट में अगर सर्च करेंगे तो आपको वहां पर आसानी से यह मशीन मिल जाएगी और अगर लोकल मार्केट में आपको यह मशीन नहीं मिलती है तो आप इसे ऑनलाइन मंगवा सकते हैं।

मार्केट में इस मशीन की कीमत ₹60000 से लेकर के ₹80000 के आसपास में होती है। आप ऑनलाइन इंडियामार्ट जैसी वेबसाइट पर भी इस मशीन के बारे में सर्च कर सकते हैं और मशीन को बेचने वाले डीलर से संपर्क कर सकते हैं।

मखमली पेन्सिल बनाने की प्रक्रिया

1: पेंसिल का निर्माण करने के लिए रो पेंसिल को सबसे पहले मशीन के साथ में डाला जाता है। इसमें आप चार सांचा एक बार डाल सकते हैं।

2: आपको जितनी भी पेंसिल है, सभी में गोंद लगा देनी है।

3: अब आपको गोंद लगे हुए पेंसिल के साचे को मशीन के अंदर डालना है और मशीन के अंदर फिट कर देना है।।

4: अब आपको मशीन को स्टार्ट कर देना है और 30 सेकंड चलने के बाद मशीन बंद कर देनी है।

5: अब मशीन के अंदर जो वेलवेट पाउडर होता है वह गोंद लगी हुई पेंसिल पर अच्छी तरह से चिपक जाता है।

इस प्रकार से आप की मखमली पेंसिल तैयार हो जाती है।

मखमली पेन्सिल की पैकेजिंग

मखमली पेंसिल खास तौर पर बच्चे खरीदना सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। इसलिए आपको मखमली पेंसिल की पैकिंग को अट्रैक्टिव बनाना चाहिए। आप चाहे तो मखमली पेंसिल की पैकेट के ऊपर कोई कार्टून वाली फोटो प्रिंट कर सकते हैं, क्योंकि अक्सर बच्चों को कार्टून वाली चीजें अधिक पसंद आती है।

हालांकि अगर आपके पास कोई अन्य आईडिया है तो आप उसे भी इंप्लांट्स कर सकते हैं। बस इतना ध्यान रखें कि वेलवेट पेंसिल की पैकिंग को अधिक से अधिक अट्रैक्टिव बनाएं।

मखमली पेन्सिल के बिजनेस हेतु लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन

छोटे लेवल पर अगर इस बिजनेस को स्टार्ट किया जाता है तो किसी भी प्रकार के लाइसेंस को लेने की आवश्यकता आपको नहीं है।

परंतु अगर आप चाहते हैं कि इस बिजनेस को करने के लिए आपको लोन मिल सके, तो इसके लिए आपको कुछ दस्तावेज तैयार रखने पड़ेंगे, साथ ही बड़े लेवल पर बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए आपको अपने बिजनेस का रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा।

इसके लिए आपको अपने बिजनेस के नाम के ऊपर ही पैन कार्ड बनाना पड़ेगा, साथ ही आपको एमएसएमई उद्योग आधार में भी अपने बिजनेस का रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा। इसके अलावा आपको जीएसटी अकाउंट भी बनाना पड़ेगा।

मखमली पेंसिल के बिजनेस हेतु लोन

अगर आपके पास इस बिजनेस को करने के लिए पर्याप्त मात्र में फंड है तो फिर आपको लोन लेने की कोई भी आवश्यकता नहीं है परंतु अगर आपके पास बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए पर्याप्त मात्र में पैसे नहीं है, तो आपको लोन लेना चाहिए।

आप मखमली पेंसिल के बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत मुद्रा लोन पाने के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इसके लिए जिस बैंक में आपका अकाउंट है, आपको उस बैंक में जाकर के इस योजना के अंतर्गत मिलने वाले लोन के बारे में जानकारी हासिल करनी है, वहीं अगर आप किसी अन्य इंस्टिट्यूट या फिर एजेंसी से लोन लेना चाहते हैं तो आपको वहां से भी लोन लेने का प्रयास करना है।

मखमली पेंसिल बिजनेस की मार्केटिंग

अपने बिजनेस को तरक्की के रास्ते पर आगे ले जाने के लिए अपने बिजनेस की मार्केटिंग पर विशेष तौर पर फोकस करें। अपने शहर के अखबार में आप अपने बिजनेस की एडवर्टाइजमेंट दें। व्हाट्सएप और दूसरे सोशल मीडिया पर बिजनेस से संबंधित पोस्ट करें।

अपने दोस्तों और सभी जान पहचान के लोगों को अपने बिजनेस के बारे में बताएं।

चौराहे पर बिजनेस का बैनर लगवाए। बिजनेस का पेंपलेट प्रिंट करवा कर के लोगों में बांटे। लोकल स्टेशनरी दुकान वाले से संपर्क करें। इसके अलावा मखमली पेंसिल का इंपोर्ट एक्सपोर्ट बिजनेस करने वाले लोगों से भी संपर्क करें।

मखमली पेन्सिल के बिजनेस में फायदा

इस बिजनेस के द्वारा आपको तगड़ा मुनाफा हासिल होता है। अगर मखमली पेंसिल को बनाने में जितने भी खर्चे आते हैं, उनका एनालिसिस किया जाए तो सभी खर्चे को निकालने के पश्चात भी हमें इस बिजनेस से अच्छा फायदा प्राप्त होता है।

अगर आपके द्वारा रोजाना 300 से लेकर के 400 पेंसिल बेची जाती है तो आसानी से आप रोजाना के ₹2000 से लेकर के ₹3000 तक कमा सकते हैं। यह कमाई कम अथवा अधिक भी हो सकती है।

मखमली पेंसिल बिजनेस में जोखिम

मखमली पेंसिल जल्दी से खराब नहीं होती है और इसकी एक्सपायरी डेट 5 साल से भी अधिक होती है।

इस प्रकार जोखिम की बात की जाए तो इस बिजनेस में आपको तभी जोखिम का सामना करना पड़ सकता है, जब आप सही प्रकार से मखमली पेंसिल को एक्सपोर्ट ना कर पाए। कहने का मतलब है कि तैयार माल अगर नहीं बिक पाता है तो आपको इस बिजनेस में नुकसान हो सकता है।

इसीलिए बिजनेस के लिए हमने मार्केटिंग के जो तरीके बताए हैं, उसे आपको अवश्य ही फॉलो करना है, क्योंकि मार्केटिंग करके आप अपने बिजनेस के बारे में लोगों को बता सकते हैं। इस प्रकार आप को अधिक से अधिक ग्राहक प्राप्त होंगे, जिसकी वजह से आपको इस बिजनेस में काफी कम जोखिम का सामना करना पड़ेगा।

मखमली पेंसिल बिजनेस में कर्मचारी

जितने बड़े लेवल या फिर छोटे लेवल पर इस बिजनेस को किया जाएगा, उतने ही कर्मचारियों की आवश्यकता आपको पड़ेगी। अगर आपके द्वारा छोटे लेवल पर वेलवेट पेंसिल मेकिंग बिजनेस स्टार्ट किया जाता है, तो आपको कम से कम दो से तीन कर्मचारियों की आवश्यकता पड़ेगी।

और बड़े लेवल पर अगर इस बिजनेस को स्टार्ट किया जाता है तो आपको 15 से 20 कर्मचारियों की आवश्यकता पड़ेगी। हालांकि यह बात भी है कि आवश्यकता के हिसाब से आपको कर्मचारियों की संख्या को घटाना अथवा बढ़ाना भी पड़ सकता है।

FAQ:

Q: मखमली पेंसिल बनाने की मशीन की कीमत कितनी है?

ANS: 70000 से कीमत चालू है।

Q: पेंसिल का आविष्कार किसने किया था?

ANS: कोनराड गेस्नर,निकोलस-जैक्स कोंटे,विलियम मुनरो

Q: पेंसिल किस काम आती है?

ANS: लिखने के लिए, चित्र बनाने के लिए।

Q: पेंसिल बनाने वाली कंपनियों के नाम क्या है?

ANS: अप्सरा, नटराज

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment