वॉल पुट्टी बनाने का व्यवसाय शुरू करें | Wall Putty Manufacturing Business in Hindi, Plant, Companies

वॉल पुट्टी बनाने का व्यवसाय शुरू करें, बनाने की विधि, तरीका, फ़ॉर्मूला, कैसे करें, फायदे,प्राइस लिस्ट,मशीन, डिजाईन, निवेश, लाभ, जोखिम,मार्केटिंग, लाइसेंस (Wall Putty Manufacturing Business in Hindi) (Plant, Companies, Process, Raw Materials, Machine, Formula, Cost, Project Report, Profit, Marking, License, Risk)

मल्टी टावर बिल्डिंग, इमारतें, टैनामेंट, अपार्टमेंट डैम, पुल और घरों में बाहर तथा अंदर की ओर सिमेंटेड दीवारों पर वॉल पुट्टी का यूज किया जाता है। वॉल पुट्टी लगाने से दीवारों में अच्छी साइनिंग आ जाती है।वॉल पुट्टी या फिर सीमेंट पेंट का यूज सामान्य पब्लिक के द्वारा अपने प्राइवेट हाउस में तो किया ही जाता है, साथ ही में इसका इस्तेमाल बिज़नेस पर्पस के लिए बनाई जा रही बिल्डिंगो में भी वर्तमान के समय में होने लगा है। इसीलिए आज जब वर्तमान के समय में इस प्रोडक्ट की डिमांड तेजी से बढ़ रही है, तो ऐसे में wall putty making business करना एक फायदेमंद बिजनेस साबित हो सकता है। इस आर्टिकल में हम आपको wall putty manufacturing business in Hindi में कैसे करें, इसकी इंफॉर्मेशन प्रदान कर रहे हैं।

wall putty manufacturing business in hindi

Table of Contents

वॉल पुट्टी बनाने का व्यवसाय शुरू करें (Wall Putty Manufacturing Business)

वॉल पुट्टी क्या है

वॉल पुट्टी का निर्माण cement powder और दूसरे प्रकार की सामग्रियों को कच्चे माल के तौर पर इस्तेमाल करके किया जाता है और इसीलिए इसे cemented paint भी कहा जाता है। सामान्य तौर पर दीवार पर किसी भी प्रकार के महंगे पेंट को लगाने से पहले खुरदरी या फिर खराब चिनाई कि सतहों को वॉल पुट्टी के माध्यम से ठीक-ठाक कर दिया जाता है, जिससे दीवार की सतह चिकनी बन जाती है और फिर उसमें आसानी से महंगे पेंट को लगाया जा सकता है। वॉल पुट्टी को दीवार पर लगाने से दीवारों पर काफी अच्छी फिनिशिंग आ जाती है, जिसके कारण दीवारें देखने में बहुत ही शानदार और अट्रैक्टिव लगती है। इसीलिए वॉल पुट्टी का इस्तेमाल अधिकतर लोग अपने घरों में करने लगे हैं। कभी-कभी Wall Putty का इस्तेमाल घर की छतों में मौजूद छोटे-छोटे छेदो को बंद करने के लिए भी किया जाता है।

वॉल पुट्टी फायदे एवं उपयोग (Benefit and Uses)

  • जैसा कि आप जानते हैं कि सूरज की किरणों में अल्ट्रावायलेट किरणें होती है, जिसके कारण चिनाई सतहों को सीमेंट पेंट या फिर वॉल पुट्टी काफी अच्छी सिक्योरिटी प्रदान करती है।
  • वॉल पुट्टी का इस्तेमाल दीवारों पर मौजूद खुरदरी सतह को छुपाने के लिए किया जाता है।
  • इसके अलावा छत पर से जहां से पानी टपकता है वहां पर पानी के टपकने को रोकने के लिए भी वॉल पुट्टी का इस्तेमाल किया जाता है।
  • वॉल पुट्टी के विभिन्न प्रकार के कलर अब मार्केट में मौजूद है, जिसका इस्तेमाल लोग अपने अपने हिसाब से घरों को रंगने के लिए करते हैं।
  • घर की दीवारों को वॉल पट्टी विभिन्न प्रकार के मौसम जैसे कि सर्दी, गर्मी, बरसात, नमी इत्यादि से सुरक्षा प्रदान करती है।
  • जिस दीवार पर वॉल पुट्टी का इस्तेमाल किया जाता है उस दीवार की रक्षा कवक और बैक्टीरिया से होती है।
  • वॉल पुट्टी दीवारों को काफी आकर्षक बना देता है जिसके कारण लोगों का घर देखने में काफी मनमोहक लगता है। यह दीवारों को बढ़िया लुक प्रदान करता है।

वॉल पुट्टी बिक्री की संभावना (Market Research)

वॉल पुट्टी में अधिक सिक्योरिटी, डेकोरेशन, सौंदर्यीकरण और टिकाऊ गुण मौजूद होते हैं और इसीलिए इसका इस्तेमाल लगभग सभी प्रकार की सीमेंटेड चिनाई सतहों जैसे कि बंगला, बहुमंजिला इमारत, बिल्डिंग, पुल, डैम, सरकारी भवन, स्कूल इत्यादि में बड़े पैमाने पर किया जाता है। हमारा देश काफी बड़ा है और यहां पर रोजाना लाखों घरों का, भवनों का और बिल्डिंगों का निर्माण होता रहता है। ऐसे में वॉल पुट्टी की मांग सभी क्षेत्रों में काफी तेजी से बढ़ रही है, क्योंकि हर नागरिक अपना घर बनाना चाहता है, हर संस्था अपना ऑफिस बनाना चाहती है। और सभी यह चाहते हैं कि उनका घर, ऑफिस या फिर उनकी बिल्डिंग शानदार दिखे और इसके लिए लोग वॉल पुट्टी का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में इसकी बिक्री की संभावना वर्तमान में और आने वाले समय में भी काफी अच्छी रहने वाली है। जिसके पीछे मुख्य कारण यह है कि वॉल पुट्टी की कीमत कम है और यह कम कीमत में काफी शानदार इंप्रेशन बिल्डिंगों पर छोड़ती है।

वॉल पुट्टी बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें (Project Report)

Wall putty banane ka business चालू करने के लिए व्यक्ति को विभिन्न प्रकार की जानकारियों को सबसे पहले इकट्ठा करना होता है। वॉल पुट्टी के बिजनेस को चालू करने के लिए आपको इसमें लगने वाली लागत, आवश्यक कर्मचारी, आवश्यक संसाधन, बिजनेस के चलने की संभावना, बिजनेस को स्टार्ट करने की जगह सहित अन्य कई बातों पर गौर करना पड़ता है। आइए नीचे हम आपको वॉल पुट्टी मेकिंग बिजनेस कैसे स्टार्ट करें, इसकी प्रक्रिया के बारे में बताते हैं।

वॉल पुट्टी बिजनेस लोकल लेवल पर रिसर्च

किसी भी बिजनेस को चालू करने से पहले रिसर्च की काफी आवश्यकता होती है। ऐसे में जो भी व्यक्ति wall putty making business start करना चाहता है, उसे सबसे पहले लोकल लेवल पर रिसर्च करने का काम करना चाहिए। ऐसी किसी जगह पर इस बिजनेस के चलने की संभावना ज्यादा होती है जहां पर कंस्ट्रक्शन से संबंधित काम काफी तेजी से चलता है। अगर देखा जाए तो वॉल पुट्टी मेकिंग बिजनेस करने के लिए व्यक्ति को शहर के आसपास इस बिजनेस को चालू करना चाहिए, क्योंकि अक्सर शहरों में लोगों के नए नए मकान बनते रहते हैं और लोग अपने मकान को अच्छे से डेकोरेट करने के लिए वॉल पुट्टी का इस्तेमाल अवश्य करते हैं। ऐसे में अगर आपकी दुकान शहर में मौजूद है तो निश्चित ही वॉल पुट्टी की सेलिंग तगड़ी होगी।

वॉल पुट्टी बिजनेस जगह का प्रबंध  (Location)

Wall putty manufacturing business स्थापित करने के लिए व्यक्ति को जगह का प्रबंध करने की भी आवश्यकता होती है। व्यक्ति को वॉल पुट्टी मेकिंग बिजनेस को चालू करने के लिए एक ऐसी जगह का चयन करना चाहिए, जहां पर बिजली की सप्लाई अच्छी हो क्योंकि अक्सर वॉल पुट्टी मेकिंग बिजनेस में मशीनों का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में बिजली की सप्लाई अच्छी होना आवश्यक है। इसके अलावा उसे जनरेटर सेटअप भी कर लेना चाहिए, ताकि सटडाउन होने पर वह जनरेटर से अपना बिजनेस चालू कर सके।

इसके अलावा व्यक्ति को एक छोटा सा ऑफिस भी फैक्ट्री के पास में ही स्थापित करना चाहिए। इसके लिए व्यक्ति को लगभग 800 से लेकर 1000 स्क्वायर फीट की जगह की आवश्यकता पड़ेगी। अगर वॉल पुट्टी मेकिंग बिजनेस की लोकेशन के बारे में बात की जाए तो उसे अपने बिजनेस को यातायात की अच्छी सुविधा जहां पर उपलब्ध हो, जहां पर बिजली की अच्छी सुविधा हो, पानी की अच्छी सुविधा हो और वर्कर की अच्छी सुविधा हो वहीं पर चालू करना चाहिए।

वॉल पुट्टी बिजनेस रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस (License)

वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस के लिए रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस की जानकारी निम्नानुसार है।

  • वॉल पुट्टी मेकिंग बिजनेस को चालू करने के लिए व्यक्ति को अपने बिजनेस को proprietorship के तहत रजिस्टर करा लेना चाहिए।
  • इस बिजनेस को चालू करने के लिए उसे अपना GST registration भी करवा लेना चाहिए।
  • वॉल पुट्टी मेकिंग बिजनेस करने के लिए उसे लोकल महानगरपालिका से factory licence या फिर trade licence भी प्राप्त कर लेना चाहिए।
  • वॉल पुट्टी का इस्तेमाल सरकारी भवनों में काफी बड़ी मात्रा में किया जाता है, ऐसे में व्यक्ति को अपने वॉल पुट्टी मेकिंग बिजनेस कंपनी को MSME के तौर पर आइडेंटी दिलाने के लिए MSME data Bank में भी रजिस्टर करवा लेना चाहिए।
  • अगर व्यक्ति अपनी खुद की ब्रांड स्थापित करके इस बिजनेस को चालू कर रहा है, तो उसे अपने ब्रांड की सिक्योरिटी के लिए अपने ब्रांड को Trademark registration करवा लेना चाहिए।

वॉल पुट्टी बनाने का बिजनेस मशीनरी (Machinery)

वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में इस्तेमाल होने वाली कुछ जरूरी मशीनरी और साधनों की लिस्ट निम्नानुसार है।

• मोटर और दूसरे उपकरणों के साथ माइल्ड स्ट्रीट बॉल मिल

• काउंटर (10 किलो की मापन क्षमता वाला)

• स्केल बैलेंस

• फायर एक्स्टिंगयूसर

• ड्राई पाउडर मिक्सर

• हैण्ड टूल्स

• रिडक्शन गियर

• एज रनर

• प्लेटफोर्म टाइप भार मापने वाली मशीन

• टेस्टिंग लेबोरेटरी इक्विपमेंट और केमिकल टेस्टिंग टेबल

वॉल पुट्टी बिजनेस कच्चा माल (Raw Material)

ऊपर बताए गए मशीनरी और साधनों से कच्चे माल का यूज करके उद्यमी वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग से संबंधित सभी प्रोसेस को बड़ी ही आसानी से काफी कम टाइम में पूरा कर सकता है। वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में इस्तेमाल में लाई जाने वाली कच्चे माल (Raw material) की लिस्ट कुछ इस प्रकार है।

• सिलिका एग्रीगेट

• पिगमेंट जिंक सल्फेट, कैल्शियम कार्बोनेट

• वाइट सीमेंट

• हाइड्रेटेड लाइम

• वाटरप्रूफ मटेरियल

• पैकेजिंग मटेरियल  

वॉल पुट्टी बिजनेस कर्मचारी एवं क्वालिटी (Staff and Material Quality)

ऊपर बताई गई machinery equipment और कच्चे माल की सहायता से वॉल पुट्टी की मैन्युफैक्चरिंग करने के लिए एक्सपीरियंस वाले वर्कर की जरूरत होती है, साथ ही वॉल पुट्टी या फिर सीमेंट पेंट की अच्छे क्वालिटी को मेंटेन करने के लिए अच्छे quality engineer की आवश्यकता होती है। इसके अलावा एक कार्य स्टेशन से दूसरे कार्य स्टेशन तक सामग्रियों को पहुंचाने के लिए भी वर्कर की आवश्यकता होती है तथा ऑफिस का काम और अन्य document के मैनेजमेंट के लिए भी 1 से 2 शिक्षित और अच्छे कारीगरों की आवश्यकता हो सकती है। इस प्रकार से यह business start करने के लिए व्यक्ति को 7 से 8 कर्मचारियों की आवश्यकता पड सकती है। जहां तक बात अगर वॉल पुट्टी की क्वालिटी की करें तो व्यक्ति को कस्टमर की पसंद और जरूरत के हिसाब से वॉल पुट्टी की quality को मेंटेन करने की आवश्यकता होती है।

वॉल पुट्टी बनाने का तरीका (Formula, Process)

  • Cement paint यानी कि वॉल पुट्टी की बात की जाए तो वॉल पुट्टी को सामान्य तौर पर बाईंडर, पिगमेंट और सॉल्वेंट का यूज करके बनाया जाता है।
  • पिगमेंट के तौर पर वॉल पुट्टी में टाइटेनियम डाइऑक्साइड, ब्लू फथलोसाइनिन, ग्रीन फथलोसाइनिन, कार्बन ब्लैक, रेड ऑक्साइड जैसे प्रमुख केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है, वही बाइंडर के तौर पर इसमें सफेद सीमेंट या फिर 33 ग्रेड के Portland cement का यूज किया जाता है।
  • इस प्रोडक्ट के निर्माण में बॉल मिल्स और एज रनर का भी यूज किया जाता है।
  • सभी बाइंडर और पिगमेंट को फैलने वाले एजेंटों के अनुसार बोल मिल में चार्ज किया जाता है और जब तक मन के मुताबिक grinding result नहीं प्राप्त होता है, तब तक इसे चलाया जाता है।
  • वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस में जो मटेरियल ग्राइंड किया जाता है, उसे बाइंडर के बाकी पार्ट की मदद से एज रनर मशीन की ओर ले कर जाया जाता है और उसके बाद उसे पीस करके एक सामान्य मिक्सचर तैयार किया जाता है।
  • मिक्सर तैयार होने के बाद उस मिक्सर में antifungi side और दूसरे जरूरी केमिकल शामिल किए जाते हैं।
  • उसके बाद इसकी shade matching कस्टमर की जरूरत के हिसाब से की जाती है और उसके बाद इसकी क्वालिटी को चेक किया जाता है और फिर इसे पैकिंग कर के मार्केट में सेल करने के लिए उपलब्ध करवाया जाता है।

वॉल पुट्टी प्रोडक्ट की पैकेजिंग (Packaging)

अपने वॉल पुट्टी ब्रांड को लोगों की नजरों में लाने के लिए आपको उसकी पैकेजिंग पर विशेष तौर पर ध्यान देना चाहिए। आपको पैकेजिंग को आकर्षक बनाने का प्रयास करना चाहिए, ताकि लोग उसे खरीदने के लिए अट्रैक्ट हो सके। वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस की पैकेजिंग के लिए आप किसी डिज़ाइनर का सहारा ले सकते हैं। आपको अपने प्रोडक्ट की पैकेजिंग को मजबूत रखना चाहिए, ताकि जब लोग उसे खरीदे तो उन्हें लगे कि हां उन्होने वास्तव में कुछ बढ़िया सामान लिया है।

वॉल पुट्टी प्रोडक्ट की मार्केटिंग (Marketing)

अपने वॉल पुट्टी प्रोडक्ट की ज्यादा सेलिंग के लिए आपको इसकी मार्केटिंग पर भी विशेष तौर पर ध्यान देना पड़ेगा।अपने बिजनेस अथवा प्रोडक्ट की मार्केटिंग करने के लिए आप अखबार में विज्ञापन दे सकते है।अगर आपका बजट अच्छा है तो आप टीवी में भी एडवर्टाइजमेंट दे सकते हैं। चौराहे पर अपने बिजनेस के पोस्टर लगवा सकते हैं।पेंपलेट प्रिंट करवाकर बटवा सकते हैं। व्हाट्सएप और सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग कर सकते हैं।रिक्शा के पीछे भी अपने बिजनेस के पोस्टर को प्रिंट करवा सकते हैं।

वॉल पुट्टी बिजनेस निवेश (Investment)

देखिए यह निश्चित तौर पर तो नहीं कहा जा सकता कि वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में आपको कितना इन्वेस्टमेंट करना पड़ेगा, क्योंकि इन्वेस्टमेंट की कॉस्ट इस बात पर आधारित होती है कि आप अपने बिजनेस को कितने बड़े या छोटे पैमाने पर स्टार्ट कर रहे हैं।इसके अलावा किराया, जमीन, जगह, बिजली बिल, पानी बिल तथा अन्य कई ऐसे फैक्टर हैं जिनके ऊपर इसमें कितना इन्वेस्टमेंट लग सकता है यह बात आधारित होती है। फिर भी अगर एक अंदाज के तौर पर देखा जाए तो वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में आपको शुरुआत में तकरीबन ₹7,00000 से लेकर ₹12,00000 तक लगानी पड़ सकते हैं। अगर आपके पास इतना बड़ा बजट नहीं है, तो आप तो बैंकों से लोन भी ले सकते हैं।

वॉल पुट्टी बिजनेस में प्रॉफिट (Profit)

अब यह जाहिर सी बात है कि आपका प्रोडक्ट जितना ज्यादा अच्छा होगा, उसकी सेलिंग भी उतनी ही ज्यादा होगी। इसीलिए आपको इसमें कितना फायदा हो सकता है, यह आपके प्रोडक्ट की सेलिंग पर आधारित है। ज्यादा सेलिंग मतलब ज्यादा मार्जिन ज्यादा मार्जिन मतलब ज्यादा प्रॉफिट। इसलिए आपको अपने प्रोडक्ट को इस तरह से मार्केट में स्थापित करना है कि उसकी सेलिंग ज्यादा हो और अधिक से अधिक लोग आपके प्रोडक्ट को खरीदें। आप चाहे तो वॉल पुट्टी के हर Bag के पीछे अपना मार्जिन जोड़ सकते हैं। इससे लगभग 2 से 3 लाख रूपये तक की कमाई आसानी से हो जाती है.

वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में जोखिम (Risk)

अगर इस बिजनेस में जोखिम की बात की जाए तो आपको तब इस बिजनेस में जोखिम उठाना पड़ सकता है जब आपके प्रोडक्ट की क्वालिटी सही ना हो, क्योंकि जिस प्रोडक्ट की क्वालिटी सही नहीं होती है उसे कस्टमर खारिज कर देते हैं। इसलिए आपको बस एक चीज का ध्यान रखना है कि आपको अपने प्रोडक्ट की क्वालिटी से कोई भी समझौता नहीं करना है और बेस्ट क्वालिटी के प्रोडक्ट प्रोड्यूस करना है क्योंकि ग्राहक हमेशा सर्वोत्तम ही मांगता है।

FAQ

Q : क्या वॉल पुट्टी को ही सीमेंटेड पुट्टी कहा जाता है ?

Ans : जी हां।

Q : क्या वॉल पुट्टी सफेद कलर के अलावा भी अन्य कलर में मौजूद है ?

Ans : जी हां यह अन्य कई रंगों में मार्केट में मौजूद है।

Q : वॉल पुट्टी के बिजनेस में कितनी लागत आ सकती हैं ?

Ans : लगभग 7 से 12 लाख रूपये।

Q : वॉल पुट्टी बिजनेस चलने की संभावना क्या है ?

Ans : घरों का निर्माण रोजाना होता ही रहता है, ऐसे में लोग अपने घरों को अच्छे से डेकोरेट करने के लिए वॉल पुट्टी का इस्तेमाल करते हैं। इसीलिए इसके चलने की संभावना बरकरार है।

Q : वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में कितना फायदा हो सकता है ?

Ans : लगभग 2 से 3 लाख रूपये तक।

Q : वॉल पुट्टी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में कौन से लाइसेंस लगते हैं ?

Ans : इसकी इंफॉर्मेशन हमने आपको ऊपर आर्टिकल मे दी है।

अन्य पढ़ें –

Latest articles

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here