Tuesday , September 25 2018
अन्य व्यापार

कम निवेश के साथ सर्वोत्तम रीसाइक्लिंग व्यवसायिक आइडिया | Best recycling business ideas with low investment in Hindi

कम निवेश के साथ सर्वोत्तम रीसाइक्लिंग व्यवसायिक आइडिया | Best recycling business ideas with low investment in Hindi

आज के समय में कोई भी व्यापार करके पैसा कमाने का आइडिया किसी भी जगह से शुरूआत कर सकेंगे, यहां तक कि कूड़ेदान से भी. उन्हीं में से एक है वेस्ट मटेरियल का इस्तेमाल करके करोड़ो, अरबों का व्यापार करना. कोई भी व्यक्ति रीसाइक्लिंग व्यापार से अच्छा धन अर्जित कर सकता है. वैसे भी हमारे देश में कचरा दिनों दिन बढ़ता जा रहा है और बहुत से लोग कचरे को रिसाइकिल करने के व्यापार से अनजान हैं. कचरा रीसाइक्लिंग उद्योग में मामूली स्तर के निवेश के साथ छोटे से छोटा व्यवसाय को सफलतापूर्वक आरम्भ किया जा सकता है. इस विचार का आधार बहुत सरल है, आपको एक या अधिक अपशिष्ट पदार्थों को निकालने की जरूरत होती है, जिन्हें कचरे से आसानी से अलग थलग कर सकते हैं.

Best Recycling Business Ideas With Low Investment

रीसाइक्लिंग व्यापार की शुरुआत कैसे करें (How To Start Recycling Business in hindi)

  • किसी भी रीसाइक्लिंग व्यवसाय को शुरू करने के लिए, सबसे पहले पुनर्नवीनीकरण (रीसाइक्लिंग) उत्पादों को बेचने का सबसे अच्छा ज्ञान होना जरुरी है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप रीसाइक्लिंग के लिए सामान कब और कैसे प्राप्त करते हैं. इसके अलावा आप घर से रीसाइक्लिंग का कारोबार शुरू कर सकते हैं, लेकिन उसके लिए आपको बहुत सी बातों का ध्यान रखना होगा, जो हम अपने लेख में बताएँगे.
  • रीसाइक्लिंग व्यापार के बारे में जानकारी रखना आपके लिए इकोफ्रैंडली तरीके से पैसे कमाने का साधन बन सकता है. रीसाइक्लिंग व्यापार के अंतर्गत लोग सोचते है कि सोडा के डिब्बे, बोतलों और पुराने पेपर को एकत्रित करना है. बल्कि वास्तव में सबसे अधिक लाभकारी रीसाइक्लिंग व्यवसाय अन्य वस्तुओं और सामग्री पर ध्यान केंद्रित करते हैं. उदाहरण के तौर पर कंप्यूटर, सेल-फोन्स एवं घर की अन्य चीजों में से काम की चीजें निकालना.
  • इसके लिए आपको उत्पाद की रीसाइक्लिंग प्रक्रिया का पता होना चाहिए, जिस उत्पाद को आप रीसाइकल करना चाहते हैं. इसके अतिरिक्त यह एक पर्यावरण-अनुकूल ऑपरेशन भी है. रीसाइक्लिंग व्यापार अधिकांश छोटे पैमाने पर विनिर्माण के रूप में माना जाता है.

व्यापार से सम्बंधित अवसर एवं संरचना का निर्माण (Business plan and Business structure)

इस तरीके के व्यापार में आपको सर्वप्रथम ध्यान रखना होगा, कि आप किस मटेरियल को रीसायकल करने के बारे में सोच रहे हैं, फिर उसी हिसाब से व्यापार की संरचना का निर्माण करें.  उदाहरण के तौर पर अगर आप कचरे से कोई फ्यूल उत्पन्न करने वाले हैं और फिर उसी हिसाब से कंपनी  के लिए इक्विपमेंट खरीदें एवं संरचना का निर्माण करें.

  1. रीसाइक्लिंग व्यावसायिक योजना एवं व्यापार संरचना का निर्माण (Create a business plan and business structure)

नाम का चयन (Selection of business name)

अपनी रीसाइक्लिंग कंपनी का एक नाम भी निश्चित करना होगा, जिसकी मदद से कम्पनी का पंजीकरण आसानी से हो सकेगा. वहीं अगर आपका काम बेहतर हुआ, तो आप एक ब्रांड की तरह भी प्रसिद्ध हो सकते हैं.

संरचना का निर्माण (Define company’s structure)

हर कंपनी के लिए जरुरी है कि पहले से ही कंपनी का स्ट्रक्चर परिभाषित किया जा चुका हो . जिसमें आपको अपनी फर्म का काम करने का तरीका समय एवं वर्कर कैसे काम करेंगे और क्या करेंगे सब कुछ निश्चित होना चाहिए.

  1. बजट एवं जगह का चुनाव (Budget and Location)

किसी भी तरह के रीसाइक्लिंग व्यापार को शुरू करने से पहले देख लें कि आपका बजट कितना है, क्योंकि बहुत से ऐसे रीसाइक्लिंग व्यापार हैं जो काफी मात्रा में निवेश मांगते हैं. इसलिए अपने बजट के अनुसार ही रीसाइक्लिंग के व्यापार का चुनाव करें.

दूसरा सबसे बड़ा बिंदु है स्थान का चुनाव, जिसका चयन सोच समझ कर किया जाना अति आवश्यक है. खासतौर पर रीसाइक्लिंग व्यापार से सम्बंधित फैक्ट्रियां उस जगह खोली जाती है जहां आने जाने के संसाधन आसानी से प्राप्त हो जाएं.

  1. रीसाइक्लिंग व्यापार के लिए लाइसेंस प्राप्त करना (Licence requirement for recycling business)
  • रीसाइक्लिंग व्यापार को चलाने के लिए सरकार से सम्बंधित सभी नियमों के चलते पंजीकरण कराना होगा, जिस शहर से आप व्यापार शुरू कर रहे हो व्यापार पंजीकरण वहीं से हो जाएगा. इसके अलावा सरकार के खतरनाक अपशिष्ट (मैनेजमेंट, हैंडलिंग एवं ट्रांस बॉउंड्री मूवमेंट) सम्बन्धी नियमों की जांच कर लेनी चाहिए, जो कि केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा निश्चित किए गए हैं.
  • व्यवसाय को सुचारु रूप से चलाने के लिए निर्धारित कानूनी प्राधिकरण से लाइसेंस की लेना भी आवश्यक है, जिसके लिए आपको कुछ और नियमों को ध्यान में रखना होगा, जैसे कि पर्यावरण संरक्षण अधिनियम (ईपीए), ई-कचरा (पमैनेजमेंट और हैंडलिंग) नियम और नगरपालिका ठोस वेस्ट (प्रबंधन और हैंडलिंग) नियम इत्यादि.
  1. रीसाइक्लिंग व्यापार में होने वाला लाभ (Recycling business profit margin in India)
  • रीसाइक्लिंग के व्यापार में होने वाला फायदा रीसायकल हो रहे प्रोडक्ट की मार्किट वैल्यू पर निर्भर करता है. वहीं अगर ऐसे रीसायकल व्यवसायों की बात करें, जिनमें धातुओं को रीसायकल किया जाता है तो उसमें लगभग 50 प्रतिशत तक का लाभ कमाया जा सकता है. लेकिन सोने के केस में 100 प्रतिशत तक का लाभ कमाना संभव है.
  • आकड़ो को देखते हुए बात करें, तो स्क्रैप रीसाइक्लिंग इंडस्ट्रीज इन कॉपोरेशन के संसथान के अनुसार संयुक्त राज्य अमेरिका ने अकेले चीन में 4 लाख 80 हजार करोड़ की स्क्रैप धातु का निर्यात किया था.
  • एक कंसाइनमेंट सेंटर जो हाउसहोल्ड आइटम को रीसायकल करते है या फिर सेकंड हैंड स्टोर धनराशि के साथ 20 से 50 प्रतिशत तक लाभ को आसानी से बचा लेते हैं. कभी-कभी इस व्यवसाय से 100 प्रतिशत तक का भी लाभ प्राप्त हो जाता है. जब कोई आइटम आपको मुफ्त में ही मिल जाता है.
  • पुराने अखबारों को रीसाइक्लिंग करने के बाद आप प्रति टन 3246 रुपय का लाभ हासिल कर सकते हैं. जबकि कार्डबोर्ड को रीसाइक्लिंग के जरिए प्राप्त करने में 4869 रुपय प्रति टन लाभ हो सकता है. ऑफिस पेपर में लगभग 1 लाख रुपय प्रति टन की भारी कमाई हो सकती है, बस इस कागज रीसाइक्लिंग के व्यापार को अधिक मात्रा में स्थान की जरुरत पड़ती रहती है.
  1. रीसाइक्लिंग व्यापार में लगने वाली लागत (How much does it cost to start a recycling business)

स्टार्ट-अप की लागत करीब 1 लाख 30 हजार के आस पास पड़ती है, हालांकि कोई भी इस तथ्य को मना नहीं करेगा कि लागत व्यापार हिसाब से बढ़ भी सकती है.  इसके साथ साथ आप किस तरह का प्रोडक्ट रीसायकल कर रहे है आपकी लागत इस बात पर भी निर्भर करेगी. इसके अतिरिक्त कुछ पैसे आपको अपनी फर्म के पंजीकरण, लाइसेंस एवं अन्य दस्तावेजों में खर्च करने पड़ेंगे.

टॉप 5 बेहतर रीसाइक्लिंग व्यवसाय (Best 5 recycling business ideas with low investment)

  1. बुक बंधन और मरम्मत करने का व्यापार (A Home Based Business with Book Binding and Repair Services)
  • घर से किताब बाइंडिंग सेवा उपलब्ध कराने वाला व्यापार बहुत कम पूंजी लगाने वाले किसी व्यक्ति के लिए एकदम सही व्यापार है. क्योंकि बुकबाइंडिंग उपकरण बेहद सस्ते मिलते हैं और न्यूनतम प्रयास से बुकबाइंडिंग कार्य संपन्न किया जा सकता है. आप बाइंडिंग और छोटी मात्रा में पुस्तकों की मरम्मत के साथ अपना रीसाइक्लिंग का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं. ऐसे कई लोग हैं जो पुरानी किताबों को इकट्ठा करने एवं काफी लम्बे समय तक पास रखने में इच्छा रखते हैं और ऐसे लोगों को आपका लक्षित ग्राहक होना चाहिए.
  • अपने व्यापार को बढ़ावा देने हेतु आपको बुक कलेक्टर क्लब और पुरानी पुस्तक खुदरा विक्रेताओं (रिटेलर्स) के साथ अपने सम्बन्ध स्थापित करने होंगे, उसके लिए आपके पास बहुत सारे बुकबाइंडिंग और मरम्मत करने वाले लोग होने चाहिए. आप कम कीमत पर पुरानी पुस्तकों को खरीद सकते हैं, उनकी मरम्मत कर सकते हैं और उनमें बाइंडिंग का कार्य भी सकते हैं.
  • जिसको आप फिर से अधिक कीमत में बेच सकते हैं. इस रीसाइक्लिंग व्यापार के लिए एक और विचार कस्टम नोटबुक का निर्माण करना है जो आप प्रीमियम मूल्य पर भी बेच पाएंगे. ये व्यापार सबसे सस्ता एवं टिकाऊ व्यापार है
  1. प्लास्टिक रीसाइक्लिंग व्यापार (Plastic Recycling business)
  • इस संसार में प्लास्टिक कचरे का लगभग 400-500 मिलियन टन हर साल उत्पन्न होता है और केवल 10-20% कचरे का रीसाइक्लिंग यानी पुनर्नवीनीकरण हो पाता है, जिससे वायुमंडल में प्रदूषण की वृद्धि होती जा रही है. इसलिए सीधे तौर पर आपको कच्चा मॉल तो आसानी से मुफ्त में प्राप्त हो जाएगा, जिससे आपकी निवेश (इन्वेस्टमेंट) राशि में कमी आएगी.
  • कोई भी व्यवसायी प्लास्टिक के कचरे को रीसाइक्लिंग की मदद से अपने व्यापार को स्थापित करने में उपयोग कर सकता है. एक निश्चित अवधि के लिए प्लास्टिक का उपयोग किया जाने के बाद उसका फिर से पुनर्नवीनीकरण करना पड़ता है. जिसके द्वारा कोई भी प्लास्टिक रीसाइक्लिंग व्यापार करके अच्छा लाभ कमाने में सफलता प्राप्त कर सकता है, इसके साथ-साथ समाज से अपशिष्ट पदार्थों की संख्या भी कम कर सकता है.
  • प्लास्टिक अपशिष्ट पदार्थों एवं रीसाइक्लिंग में उत्पन्न पदार्थों का इस्तेमाल अन्य प्लास्टिक उत्पादों जैसे पॉलीथीन, प्लास्टिक की बोतलें, प्लास्टिक के डिब्बे, टब, बाल्टी, आदि को बनाते समय किया जाता है या बना सकते हैं. क्योंकि इस प्लास्टिक का उपयोग मानव उपयोग के लिए करना संभव नहीं है लेकिन इसके बावजूद कोई भी इसका इस्तेमाल करना ही चाहता है तो प्लास्टिक अपशिष्ट पदार्थों का उपयोग सड़कों के निर्माण के समय किया जा सकता है.
  1. दफ्ती (कार्टून) बॉक्स रीसाइक्लिंग व्यापार (Carton Box Recycling Business)
  • कार्टून बॉक्स कार्डबोर्ड से बना हुआ होता है और पैकेजिंग सामग्री के रूप में कंपिनयों द्वारा अपने प्रोडक्ट को पैक करने के लिए अक्सर उपयोग करते हैं. इनमें से अधिकांश कार्टून बक्से एक बार उपयोग होने के बाद बर्बाद हो जाते हैं.
  • कोई भी इन कार्टून बॉक्स को आसानी से एकत्र कर सकता है और रीसाइक्लिंग मशीन का इस्तेमाल करके उन्हें रीसायकल करके पुनः उपयोगी बॉक्स में परिवर्तित कर सकता है.
  • इस व्यापार को आरम्भ करने के लिए केवल एक चीज की आवश्यकता होती है. इन कार्टून्स को इकठ्ठा करना, जिसे आप स्क्रैप की दुकानों से आसानी से उठा कर ला सकते हैं.
  • आपको इस व्यापार को आरम्भ देने हेतु एक प्रोसेसिंग यूनिट (प्रसंस्करण संयंत्र) एवं मैन्युफैक्चरिंग मशीन को स्थापित करना होगा और यानि आपको का इन्वेस्टमेंट होगा बांकी कार्टून बॉक्स तो आसानी से एवं काफी सस्ते दामों में मिल जाएंगे. अतः कार्टून बॉक्स रीसाइक्लिंग व्यापार भी कम लागत में शुरू करने वाला व्यापार है.
  1. स्क्रैप मेटल कलेक्टर व्यवसाय(Scrap Metal Recycling business)
  • यदि आप एक कम लागत के व्यवसाय से आरम्भ करने की सोच रखते हैं, तो आप केवल स्क्रैप मेटल को इकठ्ठा करने और बिक्री करने पर ही अपना ध्यान केंद्रित कर लें. स्क्रैप मेटल वह धातु है जिसको एक बार इस्तेमाल करके फेक दिया जाता है. जिसको आप उठा लें और अपने व्यापार में इस्तेमाल करलें.
  • इसको शुरू करने की कीमत करीब 1 लाख 30 हजार के आस पास पड़ती है. इस व्यवसाय में आपको कच्चा मॉल लगभग मुफ्त में ही मिल सकता है बस एक बार आप अपने व्यवसाय को शुरुआत दे दीजिये और धीरे-धीरे अपने व्यवसाय का स्तर बढ़ाते रहिए.
  • हालांकि स्क्रैप मेटल कलेक्टर व्यवसाय में आपको एक पिकअप, ट्रक या यूटिलिटी ट्रेलर, नेट और टाई-डाउन की आवश्यकता पड़ेगी, साथ ही कुछ बुनियादी उपकरण और व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण जैसे दस्ताने और सुरक्षा जूते भी खरीदने होंगे.
  • स्क्रैप धातु को होम ओनर्स, मरम्मत परियोजनाओं एवं अन्य स्रोतों से आसानी से प्राप्त किया जा सकता है. उसके बाद इसको ईंटों के रूप में बदलकर अन्य कम्पनियों को उच्चत्तम दामों में आसानी से बेचा जा सकता है, ये व्यापार सभी रीसाइक्लिंग सम्बन्धी व्यवसायों में सबसे श्रेष्ठ है.
  1. अपशिष्ट रीसाइक्लिंग व्यापार (E-Waste Recycling business)

ई-कचरा या इलेक्ट्रॉनिक कचरा कैलकुलेटर, मोबाइल फोन, घड़ियां, रिमोट, लैपटॉप, टैबलेट और कई अन्य जैसे इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं द्वारा उत्पन्न अपशिष्ट (वेस्ट) है. ये अपशिष्ट प्रकृति में जहर की तरह काम कर सकते हैं. इसलिए बेहतर यही है कि इन वेस्ट पदार्थों का रीसाइक्लिंग किया जाए. ई-कचरे की रीसाइक्लिंग करना एक बहुत ही लाभदायक व्यवसाय है, क्योंकि कई कंपनियां आपके रीसाइक्लिंग उत्पाद को उच्च दरों पर सीधे खरीदती लेती हैं.

अन्य आईडिया (Some others ideas)

इन पांच के अलावा भी बहुत से आईडिया है, जिनको आप फॉलो करके अपने व्यापार को आगे बड़ा सकते हो. उदाहरण के तौर पर क्लॉथ डायपर सेवा, कुकिंग आयल फिल्ट्रेशन एंड रीसाइक्लिंग, कॉपर और स्टील रीसाइक्लिंग, पेपर रीसाइक्लिंग बिजनेस, बैटरी रीसाइक्लिंग, जल रीसाइक्लिंग प्लांट इत्यादि.

निष्कर्ष (Conclusion)

भारत में ही नहीं सभी देशों में रीसाइक्लिंग का व्यापार तेज से बढ़ता जा रहा है, क्योंकि भविष्य में इसी की वजह से मानव जाती का जिन्दा रह पाना संभव हो सकेगा. अगर बात व्यापार की करें तो आजकल बहुत सी कंपनियां अरबों रुपये कमा रही हैं. ऊपर से इन्वेस्टमेंट भी बहुत कम है.  आप चाहें तो इस व्यवसाय को अपना लें क्योंकि इसमें प्रकृति आपका और लोगों तीनो का फायदा होता है. इसके अलावा पूरी दुनिया में रीसाइक्लिंग का व्यवसाय अच्छी ग्रोथ कर रहा है, इसलिए आपका इस व्यवसाय में पैसे लगाना सुरक्षित भी है.

न्य नए व्यापार शुरू करने के बारे में पढ़े:

One comment

  1. Sir…
    Please tell me about the plastics recycling plant.I am ready for open the recycling plants.. please send all details to my Gmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *